पाक और बांग्लादेश में हिन्दुओं के ऊपर हो र है हमलों के खिलाफ भारत कोई दबाव क्यों नहीं बनाता?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे पाकिस्तान और बांग्लादेश की हम बात करें उसके पहले हमको भारत के अंदर नहीं हिंदुओं के ऊपर हुए अत्याचार के विषय में चर्चा करनी पड़ेगी और उसमें भारत की सरकारों का क्या रूल रहा उस पर भी प्रकाश डालना पड़ेगा 47 में हिंदुओं को शर्मिला कि वह इस देश में स्वतंत्रता के साथ सुरक्षा के साथ अपना जीवन जी सके दुर्भाग्य से 90 के दशक में कश्मीर से हिंदुओं को मारा गया उनके साथ अत्याचार हुआ और वह फ्लाइट होने पर मजबूर हुए 3:30 लाख से ज्यादा हिंदू अपने ही देश में शरणार्थी हो गए आसाम में हिंदुओं को मारा गया वहां से हिंदू अप्लाई थे नॉर्थ ईस्ट के प्रदेशों से हिंदू फ्लाइट हुए या फिर अल्पसंख्यकों के धर्म परिवर्तन कराया गया उनका अंडमान निकोबार में हिंदू कभी बहुतायत में अजीतगढ़ पर्सेंट बचा है दक्षिण में हिंदुओं के ऊपर अत्याचार हुए तो कहने का तात्पर्य यह है कि हमारी सरकारों ने पूर्व में हिंदुओं के ऊपर हुए अत्याचार के विरुद्ध ना कोई कार्यवाही की और ना कोई ऐसी राजनीतिक इच्छाशक्ति ही दिखाया जिससे कि उन पर भरोसा हिंदुओं का जग सके रही पाकिस्तान और बांग्लादेश की जहां तक बात है वह इस्लामिक मुल्क रहे हैं और वहां पर इस्लामिक शरिया कानून है तो वह उसके हिसाब से अन्य सभी धर्म को का दमन करते हैं और हिंदुओं पर अत्याचार कोई नया नहीं है वहां 20% से अधिक का हिंदू अब 1% बचा है वह भी अत्याचार का शिकार है लेकिन 2014 में नरेंद्र मोदी की सरकार ने नया कानून इस देश में लाया न सिर्फ नया कानून लाया बल्कि उन देशों में हो रहे अत्याचार के खिलाफ भारत के राजनेता भारत की सरकार आवाज भी उठाने लगी आज भारत में पाकिस्तान और बांग्लादेश के अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोगों को नागरिकता देने की व्यवस्था है कानून है साथ में जो भारत में शरणार्थी के रूप में रह रहे थे अल्पसंख्यक उन देशों के उनको भी नागरिकता देने की भारत सरकार ने किया है

dekhe pakistan aur bangladesh ki hum baat kare uske pehle hamko bharat ke andar nahi hinduon ke upar hue atyachar ke vishay mein charcha karni padegi aur usme bharat ki sarkaro ka kya rule raha us par bhi prakash dalna padega 47 mein hinduon ko sharmila ki vaah is desh mein swatantrata ke saath suraksha ke saath apna jeevan ji sake durbhagya se 90 ke dashak mein kashmir se hinduon ko mara gaya unke saath atyachar hua aur vaah flight hone par majboor hue 3 30 lakh se zyada hindu apne hi desh mein sharanarthi ho gaye assam mein hinduon ko mara gaya wahan se hindu apply the north east ke pradeshon se hindu flight hue ya phir alpsankhyako ke dharm parivartan raya gaya unka andaman nicobar mein hindu kabhi bahutayat mein ajitagadh percent bacha hai dakshin mein hinduon ke upar atyachar hue toh kehne ka tatparya yah hai ki hamari sarkaro ne purv mein hinduon ke upar hue atyachar ke viruddh na koi karyavahi ki aur na koi aisi raajnitik ichchhaashakti hi dikhaya jisse ki un par bharosa hinduon ka jag sake rahi pakistan aur bangladesh ki jaha tak baat hai vaah islamic mulk rahe hain aur wahan par islamic shariya kanoon hai toh vaah uske hisab se anya sabhi dharm ko ka daman karte hain aur hinduon par atyachar koi naya nahi hai wahan 20 se adhik ka hindu ab 1 bacha hai vaah bhi atyachar ka shikaar hai lekin 2014 mein narendra modi ki sarkar ne naya kanoon is desh mein laya na sirf naya kanoon laya balki un deshon mein ho rahe atyachar ke khilaf bharat ke raajneta bharat ki sarkar awaaz bhi uthane lagi aaj bharat mein pakistan aur bangladesh ke alpsankhyak hindu samuday ke logo ko nagarikta dene ki vyavastha hai kanoon hai saath mein jo bharat mein sharanarthi ke roop mein reh rahe the alpsankhyak un deshon ke unko bhi nagarikta dene ki bharat sarkar ne kiya hai

देखे पाकिस्तान और बांग्लादेश की हम बात करें उसके पहले हमको भारत के अंदर नहीं हिंदुओं के ऊप

Romanized Version
Likes  365  Dislikes    views  4314
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!