क्या पाकिस्तान सच में आंतरिक आतंकवाद से मुकाबला करने की कोशिश कर रहा है?...


user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान आतंकवाद से आंतरिक आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए कुछ भी कोशिश कर रहा है जिस तरह से अभी अमेरिका के प्रेसिडेंट ने खुद बताया जिस तरह से उसने जो भी हेल्प उस को पाकर एक्टिविटीज को खत्म करने के लिए टेरर कैंप को खत्म करने के लिए मिलती थी अमेरिका से उसका उसने क्यों मिस यूज किया उसने उन पैसों का यूज़ डायरेक्टर धोनी को बढ़ाने के लिए क्या अगर पाकिस्तान ने अपने इंटरव्यू आतंकवाद को कम करने के लिए कुछ भी किया होता तो मुझे नहीं लगता कि हमारे देश में इतनी ज्यादा स्पेशल कश्मीर के अंदर इतनी ज्यादा इंफिल्ट्रेशन हो रही होती तो मुझे लगता है कि पाकिस्तान अपनी बात को लेकर बिल्कुल टाइम नहीं है वह एक आतंकवादी को प्रोड्यूस कर रहा है आतंकी ट्रेनिंग कैंप हमको फाइनेंस लिया है तो मुझे नहीं लगता कि इंटरनेट आतंकवाद को खत्म करने की कोई भी कोशिश कर रहा है हां यह जरूर हो सकता है कि वह एक दिखावे के लिए अटेंड करें कि हां वह आतंकवाद को खत्म करे लेकिन ठीक वैसा कुछ भी नहीं कर रहा है

vicky mujhe nahi lagta ki pakistan aatankwad se aantarik aatankwad se muqabla karne ke liye kuch bhi koshish kar raha hai jis tarah se abhi america ke president ne khud bataya jis tarah se usne jo bhi help us ko pakar activities ko khatam karne ke liye terror camp ko khatam karne ke liye milti thi america se uska usne kyon miss use kiya usne un paison ka use director dhoni ko badhane ke liye kya agar pakistan ne apne interview aatankwad ko kam karne ke liye kuch bhi kiya hota toh mujhe nahi lagta ki hamare desh mein itni zyada special kashmir ke andar itni zyada imfiltreshan ho rahi hoti toh mujhe lagta hai ki pakistan apni baat ko lekar bilkul time nahi hai vaah ek aatankwadi ko produce kar raha hai aatanki training camp hamko finance liya hai toh mujhe nahi lagta ki internet aatankwad ko khatam karne ki koi bhi koshish kar raha hai haan yah zaroor ho sakta hai ki vaah ek dikhaave ke liye attend kare ki haan vaah aatankwad ko khatam kare lekin theek waisa kuch bhi nahi kar raha hai

विकी मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान आतंकवाद से आंतरिक आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए कुछ भी क

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:44

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी की अमेरिका का जो निर्णय है क्यों पाकिस्तान को बिल्कुल फोन नहीं करेंगे जब तक पाकिस्तान जय आतंकवाद से मुक्त नहीं हो जाता है आतंकवाद से जो है पूरी तरीके से आतंकवाद को पाकिस्तान में निकाल नहीं देता यह जो निर्णय है पाकिस्तान को बड़ा झटका लगा है क्या पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति की बात करें तो बहुत ही बहुत बहुत ही करीब देती है और पाकिस्तान जो है अभी से दलदल में फंस चुका है कि वह अगर आतंकवाद को सपोर्ट नहीं करेंगे अगर आतंकवाद के खिलाफ जाएंगे तो उनके घर पर जो आतंकवाद जो है वह पाकिस्तान पर या फिर पाकिस्तान के आज जनता पर फिर से हम लेकर आएंगे जिस प्रकार से 2014 में आर्मी स्कूल में बच्चों पर हमला हुआ था वैसे ही वह हमले वापस से करेंगे और अगर सरकार आतंकवाद को सपोर्ट करती है तो पाकिस्तान की इस जज जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और अमेरिका जो है जिस प्रकार से उन्हें पैसे नहीं देगा तो खाना खाकर पाकिस्तान पूरी तरीके से फंस जाएगा मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान जो मेरे को आतंकवाद से मुकाबला कर रही है हां खत्म आज से मुकाबला करने की कोशिश कर रही है जिस प्रकार आपकी सेहत को जेल में बंद करके रखा था परंतु ने कई सारी लग्जरी जाकर कह सकते हैं कई तरीके की सेवाएं मिल रही थी और ग्रुप वालों की बात करें तो पाकिस्तान ने जो है वह जमात-उल-दावा चुकी है ऑफिस सैयद की पार्टी है उसे दान कर दिया है तो मेरी सबसे यह थोड़ी अच्छी खबर होगी परंतु मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान जो सच में आतंकवाद का मुकाबला करने की कोशिश कर रहा है परंतु इस समय बताएगा कि पाकिस्तान सच में आतंकवाद का मुकाबला कर रहा है या नहीं आ रहा सहयोगी क्या आने वाले दिनों में जो है पाकिस्तान जो आतंकवाद को पूरी तरीके से अपने देश से निकाल दे

hindi ki america ka jo nirnay hai kyon pakistan ko bilkul phone nahi karenge jab tak pakistan jai aatankwad se mukt nahi ho jata hai aatankwad se jo hai puri tarike se aatankwad ko pakistan mein nikaal nahi deta yah jo nirnay hai pakistan ko bada jhatka laga hai kya pakistan ki aarthik sthiti ki baat kare toh bahut hi bahut bahut hi kareeb deti hai aur pakistan jo hai abhi se duldula mein fans chuka hai ki vaah agar aatankwad ko support nahi karenge agar aatankwad ke khilaf jaenge toh unke ghar par jo aatankwad jo hai vaah pakistan par ya phir pakistan ke aaj janta par phir se hum lekar aayenge jis prakar se 2014 mein army school mein baccho par hamla hua tha waise hi vaah hamle wapas se karenge aur agar sarkar aatankwad ko support karti hai toh pakistan ki is judge jo antararashtriya sthar par aur america jo hai jis prakar se unhe paise nahi dega toh khana khakar pakistan puri tarike se fans jaega mujhe nahi lagta ki pakistan jo mere ko aatankwad se muqabla kar rahi hai haan khatam aaj se muqabla karne ki koshish kar rahi hai jis prakar aapki sehat ko jail mein band karke rakha tha parantu ne kai saree luxury jaakar keh sakte hai kai tarike ki sevayen mil rahi thi aur group walon ki baat kare toh pakistan ne jo hai vaah jamaat ul daawa chuki hai office saiyed ki party hai use daan kar diya hai toh meri sabse yah thodi achi khabar hogi parantu mujhe nahi lagta ki pakistan jo sach mein aatankwad ka muqabla karne ki koshish kar raha hai parantu is samay batayega ki pakistan sach mein aatankwad ka muqabla kar raha hai ya nahi aa raha sahyogi kya aane waale dino mein jo hai pakistan jo aatankwad ko puri tarike se apne desh se nikaal de

हिंदी की अमेरिका का जो निर्णय है क्यों पाकिस्तान को बिल्कुल फोन नहीं करेंगे जब तक पाकिस्ता

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य मैं तो इस बात से सहमत नहीं हूं कि पाकिस्तान में आंतरिक आतंकवाद से मुकाबला करने की कोशिश की है या को कर रहा है क्योंकि देखा जाए तो अमेरिका ने जो अभी सोना हेल्प करने की घोषणा किया डिसीजन लिया है कि वह पाकिस्तान को बिल्कुल भी हद नहीं करेंगे तो इसे यही साबित होता है कि पाकिस्तान उनके बोलने पर फोन नहीं है क्योंकि वह बोलते हैं और करते एक है अगर वह सच में ऐसा कर रहे होते उनके आंतरिक आतंकवाद को खत्म करने के नुस्खे मुकाबला करने की कोशिश कर रहे होते तो वाक्य में ही सारे देश को सपोर्ट करते या बाकी लोगों को समझ में आता कि नहीं सच में पाकिस्तान इसके लिए कितना स्ट्रीट ही आदमी का काम करता है और कश्मीर का देखे तो वहां पर जो आतंकवाद फैला हुआ है तो वह केवल पाकिस्तानियों की वजह से है आतंकवादी के जो लोग हैं उनकी वजह से तो पाकिस्तान अगर यह देखते हैं सूची समझती है तो उन्होंने वहां आतंकवाद को खत्म करने का प्रयास कब से कर चुका होता है ऐसा बिल्कुल भी नहीं कर रही है और हालांकि जो कुछ कर रही है तो मेरे ख्याल से यह बिल्कुल भी गलत है और पाकिस्तान को बिल्कुल भी कोशिश नहीं कर रही है जब आतंकवाद को खत्म करो

aditya main toh is baat se sahmat nahi hoon ki pakistan mein aantarik aatankwad se muqabla karne ki koshish ki hai ya ko kar raha hai kyonki dekha jaaye toh america ne jo abhi sona help karne ki ghoshana kiya decision liya hai ki vaah pakistan ko bilkul bhi had nahi karenge toh ise yahi saabit hota hai ki pakistan unke bolne par phone nahi hai kyonki vaah bolte hain aur karte ek hai agar vaah sach mein aisa kar rahe hote unke aantarik aatankwad ko khatam karne ke nuskhe muqabla karne ki koshish kar rahe hote toh vakya mein hi saare desh ko support karte ya baki logo ko samajh mein aata ki nahi sach mein pakistan iske liye kitna street hi aadmi ka kaam karta hai aur kashmir ka dekhe toh wahan par jo aatankwad faila hua hai toh vaah keval pakistaniyon ki wajah se hai aatankwadi ke jo log hain unki wajah se toh pakistan agar yah dekhte hain suchi samajhti hai toh unhone wahan aatankwad ko khatam karne ka prayas kab se kar chuka hota hai aisa bilkul bhi nahi kar rahi hai aur halaki jo kuch kar rahi hai toh mere khayal se yah bilkul bhi galat hai aur pakistan ko bilkul bhi koshish nahi kar rahi hai jab aatankwad ko khatam karo

आदित्य मैं तो इस बात से सहमत नहीं हूं कि पाकिस्तान में आंतरिक आतंकवाद से मुकाबला करने की क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
kya kar raha hai ; mukala mukabala ; muqabla ; आतंकवाद ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!