लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने से क्या फायदा होगा?...


user

Ranjeet Verma

UPSC Coach(M.tech)

2:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्त लद्दाख क्षेत्र को संगराज क्षेत्र घोषित करते के अनेक फायदे हैं उन फायदों को दो तीन आयामों में बैठकर देखने की जरूरत है प्रथम सामाजिक आर्थिक राजनीतिक विकास के साथ-साथ आंतरिक सुरक्षा और सुरक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण कदम होगा सामाजिक आर्थिक और राजनीतिक विकास के संदर्भ में देखें तो लगता क्षेत्र को केंद्र शासित प्रदेश बनाने से वहां की इतनी सिटी और कल्चर के विकास के साथ-साथ वहां निवास कर रही जनजातियों को भारत के संविधान की छठी अनुसूची इंक्लूड किया जाएगा जिससे उनको अपनी अपनी सिटी और कल्चर को प्रसन्न करने में मदद मिलेगी साथ P7 राजनीतिक और आर्थिक क्षमता जो जम्मू कश्मीर राज्य में रहते हुए उनको घाटी के क्षेत्र से हो रही थी और इस समस्या का निदान भी होगा प्रशासनिक विकास भी होगा क्योंकि स्वायत्त क्षेत्र घोषित होने से केंद्र सरकार किसकी थी अंदर नहीं आएगा जिससे प्रशासन में जो कठिनाइयां आती हो दुरुस्त होंगी दूसरे आयाम मैंने देखे तो आंतरिक सुरक्षा लद्दाख क्षेत्र के लिए बहुत जरूरी है आंतरिक सुरक्षा के साथ-साथ लद्दाख का क्षेत्र बाढ़ सुरक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह एक तरफ चीन से घिरा है दूसरी तरफ पाकिस्तान से घिरा है दोनों तरफ से सुरक्षा चिंता बनी रहती है केंद्र सरकार के नियंत्रण में सीधे आने से सैन्य और अर्धसैनिक बल का सीधा असर इस क्षेत्र में होगा प्रशासनिक जटिलता और लालफीताशाही के बीच में रहकर जो योजनाओं परियोजनाओं और निर्णय में विलंब होता था उससे फायदा मिलेगी धन्यवाद

namaskar dost ladakh kshetra ko sangaraj kshetra ghoshit karte ke anek fayde hain un faayadon ko do teen aayamon me baithkar dekhne ki zarurat hai pratham samajik aarthik raajnitik vikas ke saath saath aantarik suraksha aur suraksha ke liye bahut mahatvapurna kadam hoga samajik aarthik aur raajnitik vikas ke sandarbh me dekhen toh lagta kshetra ko kendra shasit pradesh banane se wahan ki itni city aur culture ke vikas ke saath saath wahan niwas kar rahi janjatiyon ko bharat ke samvidhan ki chathi anusuchi include kiya jaega jisse unko apni apni city aur culture ko prasann karne me madad milegi saath P7 raajnitik aur aarthik kshamta jo jammu kashmir rajya me rehte hue unko ghati ke kshetra se ho rahi thi aur is samasya ka nidan bhi hoga prashaasnik vikas bhi hoga kyonki svayat kshetra ghoshit hone se kendra sarkar kiski thi andar nahi aayega jisse prashasan me jo kathinaiyaan aati ho durast hongi dusre aayam maine dekhe toh aantarik suraksha ladakh kshetra ke liye bahut zaroori hai aantarik suraksha ke saath saath ladakh ka kshetra baadh suraksha ke liye bahut mahatvapurna hai kyonki yah ek taraf china se ghira hai dusri taraf pakistan se ghira hai dono taraf se suraksha chinta bani rehti hai kendra sarkar ke niyantran me sidhe aane se sainya aur ardhasainik bal ka seedha asar is kshetra me hoga prashaasnik jatilata aur lalfitashahi ke beech me rahkar jo yojnao pariyojanaon aur nirnay me vilamb hota tha usse fayda milegi dhanyavad

नमस्कार दोस्त लद्दाख क्षेत्र को संगराज क्षेत्र घोषित करते के अनेक फायदे हैं उन फायदों को द

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

राकेश

Journalist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लता को केंद्रशासित प्रदेश घोषित करने का सीधा फायदा यह है कि वहां पर केंद्र का अधिकार हो जाएगा और लद्दाख में ₹2 हैं काफी संभावनाएं हैं काफी लोग वहां पर जो रहते हैं उनकी रोजगार का व्यवस्था कर सकते हैं केंद्र सरकार सीधे उसे अपने हाथों में रखकर एकसा एकसा दो चीजों का नंबर 1 लाख चीन के बॉर्डर के बहुत नजदीक हमें सुरक्षा भी करनी है नंबर दूसरा वहां के लोगों के लिए रोजगार भी करना है और तीसरा हमें उसको बहुत अच्छी तरह से विकसित करना और केंद्र सरकार उसे अपने हाथ में रखता सीधे-सीधे और शासन की मदद से उसका विकास कर सकती

lata ko kendrashasit pradesh ghoshit karne ka seedha fayda yah hai ki wahan par kendra ka adhikaar ho jaega aur ladakh me Rs hain kaafi sambhavnayen hain kaafi log wahan par jo rehte hain unki rojgar ka vyavastha kar sakte hain kendra sarkar sidhe use apne hathon me rakhakar ekasa ekasa do chijon ka number 1 lakh china ke border ke bahut nazdeek hamein suraksha bhi karni hai number doosra wahan ke logo ke liye rojgar bhi karna hai aur teesra hamein usko bahut achi tarah se viksit karna aur kendra sarkar use apne hath me rakhta sidhe sidhe aur shasan ki madad se uska vikas kar sakti

लता को केंद्रशासित प्रदेश घोषित करने का सीधा फायदा यह है कि वहां पर केंद्र का अधिकार हो जा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  62
WhatsApp_icon
play
user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

1:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपके पास तो मैंने पढ़ लिया है आपने प्रश्न पूछा है कि यह लता को केंद्रशासित प्रदेश घोषित करने में क्या फायदा होगा उसने आपके लता को केंद्रशासित प्रदेश घोषित करने के बाद बहुत फायदा होगा आप जानते होंगे कि लद्दाख जम्मू कश्मीर स्टेट का एक बड़ा इंपॉर्टेंट पार्ट था उसकी इंपोर्टेंट कोल्ड डेजर्ट के रूप में किया जाता है और इसमें टूरिस्ट पूरे विश्व से टूरिस्ट आ रही थी कि जम्मू-कश्मीर में डेवलपमेंट जो है वह लव साइलेंट था जो भी कोई डेवलपमेंट सभी तथा उसके आर्टिकल 370 कार्ड में उसका निशापुरी पर सोता था और कुछ बगल के पास पैसा जाता है बाकी इतना डेवलपमेंट जम्मू में बिना बिल्कुल पूरे केंद्रशासित हो जाएगा यूपी हो जाएगा यूनियन टेरिटरी विदाउट लेजिसलेशन उसका मतलब जो भी कोई डिस्टर्ब होगा डेवलपमेंटल डिस्टर्ब हो सभी में सीधा केंद्र सरकार क्या करेंगे तो क्या होगा कि हर टाइप का बेनिफिट जो दूसरे स्टेट को है केंद्र को मिलता है पूरा मैनिक्विन लद्दाख को मिलेगा लगा को डिप्राइव नहीं रहेगा लता को और कोई चांद से से वंचित नहीं रहेगा और उसमें टूरिस्ट आएंगे सिक्योरिटी बढ़ेगा डेवलपमेंट का काम होगा बाहर का लॉक भूल जाएंगे एरिया का जो अभी तक पूरे 70 साल के बाद तो ट्रेलर था उसका पूर्णा का विकास संभव हो पाएगा धन्यवाद

namaskar aapke paas toh maine padh liya hai aapne prashna poocha hai ki yah lata ko kendrashasit pradesh ghoshit karne mein kya fayda hoga usne aapke lata ko kendrashasit pradesh ghoshit karne ke baad bahut fayda hoga aap jante honge ki ladakh jammu kashmir state ka ek bada important part tha uski important cold desert ke roop mein kiya jata hai aur isme tourist poore vishwa se tourist aa rahi thi ki jammu kashmir mein development jo hai vaah love silent tha jo bhi koi development sabhi tatha uske article 370 card mein uska nishapuri par sota tha aur kuch bagal ke paas paisa jata hai baki itna development jammu mein bina bilkul poore kendrashasit ho jaega up ho jaega union Territory without lejisleshan uska matlab jo bhi koi disturb hoga developmental disturb ho sabhi mein seedha kendra sarkar kya karenge toh kya hoga ki har type ka benefit jo dusre state ko hai kendra ko milta hai pura mainikwin ladakh ko milega laga ko deprive nahi rahega lata ko aur koi chand se se vanchit nahi rahega aur usme tourist aayenge Security badhega development ka kaam hoga bahar ka lock bhool jaenge area ka jo abhi tak poore 70 saal ke baad toh trelar tha uska poorna ka vikas sambhav ho payega dhanyavad

नमस्कार आपके पास तो मैंने पढ़ लिया है आपने प्रश्न पूछा है कि यह लता को केंद्रशासित प्रदेश

Romanized Version
Likes  352  Dislikes    views  4692
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे लद्दाख को अगर केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया है तो लद्दाख का बहुत विकास होगा लद्दाख की शिक्षा व्यवस्था अच्छी होगी लद्दाख के जो युवा हो पढ़ाई अच्छे से करेंगे पढ़ाई अच्छे से करेंगे तो उनकी जॉब भी लगेगी उनको नौकरी भी मिलेगा और केंद्र शासित प्रदेश हो जाने से क्या होगा कि गवर्नमेंट का भी पूरा ध्यान रहेगा उस पर और वहां का डेवलपमेंट होगा रोड सड़क बढ़िया बनेगी बिजली की बढ़िया व्यवस्था की जाएगी और इंडस्ट्रीज लगाई जाएगी जिसके माध्यम से बेरोजगारी दूर होगी तो केंद्र शासित प्रदेश प्रदेश बनाने से बहुत विकास होगा लद्दाख का आज देखिए आप लद्दाख में काफी कम एजुकेशन है वहां किस से उच्च शिक्षा व्यवस्था इतनी अच्छी नहीं है और वहां का उतना ज्यादा डेवलपमेंट नहीं हुआ है और हॉस्पिटल की संख्या भी आप देखेंगे तो बहुत कम है तो बहुत सारी चीजें हैं जो कि विकास के अंदर आते हैं तो सब कुछ होगा आप अगर 5 साल में देखेंगे कि लद्दाख काफी अच्छा विकास कर गया होगा अगर वहां केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है तो देखिए लगातार काम होगा 5 सालों में इतना ज्यादा विकसित कर दिया जाएगा लद्दाख की लोग लद्दाख का नाम लेने लगेंगे कि लद्दाख बहुत विकसित राज्य है तो हम सभी लोगों को भारतीय जनता पार्टी के ऊपर भरोसा है और लद्दाख को अगर केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है वहां का विकास होकर रहेगा धन्यवाद

dekhe ladakh ko agar kendra shasit pradesh ghoshit kiya gaya hai toh ladakh ka bahut vikas hoga ladakh ki shiksha vyavastha achi hogi ladakh ke jo yuva ho padhai acche se karenge padhai acche se karenge toh unki job bhi lagegi unko naukri bhi milega aur kendra shasit pradesh ho jaane se kya hoga ki government ka bhi pura dhyan rahega us par aur wahan ka development hoga road sadak badhiya banegi bijli ki badhiya vyavastha ki jayegi aur industries lagayi jayegi jiske madhyam se berojgari dur hogi toh kendra shasit pradesh pradesh banane se bahut vikas hoga ladakh ka aaj dekhiye aap ladakh mein kaafi kam education hai wahan kis se ucch shiksha vyavastha itni achi nahi hai aur wahan ka utana zyada development nahi hua hai aur hospital ki sankhya bhi aap dekhenge toh bahut kam hai toh bahut saree cheezen hai jo ki vikas ke andar aate hai toh sab kuch hoga aap agar 5 saal mein dekhenge ki ladakh kaafi accha vikas kar gaya hoga agar wahan kendra shasit pradesh banaya gaya hai toh dekhiye lagatar kaam hoga 5 salon mein itna zyada viksit kar diya jaega ladakh ki log ladakh ka naam lene lagenge ki ladakh bahut viksit rajya hai toh hum sabhi logo ko bharatiya janta party ke upar bharosa hai aur ladakh ko agar kendra shasit pradesh banaya gaya hai wahan ka vikas hokar rahega dhanyavad

देखे लद्दाख को अगर केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया है तो लद्दाख का बहुत विकास होगा लद्द

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Shailesh Thakur

Abhi To Graduate hu.

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गड्ढा को केंद्रशासित प्रदेश घोषित करने से वह लाभ मिल सकता है जो अब तक उसे नहीं मिला है कि जो जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री जो आधिकारिक तौर पर थी पहले जब तक युवती गडाख नहीं बनाता उससे पहले उनको नए-नए विधानसभा की सीट नहीं दी जाती थी जो विकास के जो योजना थे वह सीधे ने लद्दाख तक नहीं पहुंचे थे और अब केंद्र शासित प्रदेश होने से सीधे केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ लदाख को मिल पाएगा और शिक्षा व्यवस्था में भी सिद्ध केंद्र सरकार का लाभ मतलब की सारी योजनाओं का लाभ सीधा केंद्र सरकार से लड़ाकू और लड़ा के लोगों को मिलेगा

gaddha ko kendrashasit pradesh ghoshit karne se vaah labh mil sakta hai jo ab tak use nahi mila hai ki jo jammu kashmir ke mukhyamantri jo adhikarik taur par thi pehle jab tak yuvati gadakh nahi banata usse pehle unko naye naye vidhan sabha ki seat nahi di jaati thi jo vikas ke jo yojana the vaah sidhe ne ladakh tak nahi pahuche the aur ab kendra shasit pradesh hone se sidhe kendra sarkar ki yojnao ka labh ladakh ko mil payega aur shiksha vyavastha me bhi siddh kendra sarkar ka labh matlab ki saari yojnao ka labh seedha kendra sarkar se ladaku aur lada ke logo ko milega

गड्ढा को केंद्रशासित प्रदेश घोषित करने से वह लाभ मिल सकता है जो अब तक उसे नहीं मिला है कि

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया बिल्कुल सत्य है और सही भी है क्योंकि लद्दाख हमारे भारत और चीन की सीमा पर आया हुआ वहां पर बौद्ध धर्म के लोग ज्यादा रहते हैं वह इतनी ऊंची स्थान पर आया हुआ है कि वहां पर कोई फसल नहीं होती वहां के लोग पशुपालन में ज्यादा विश्वास करते हैं और पशुपालन गाय कार्यकर्ता अगर उसे टाइम शासित प्रदेश घोषित किया गया इसका अर्थ है कि वहां के प्रशासनिक ढांचा को सीधे तरीके से केंद्र सरकार नियंत्रण में रखे कि केंद्र सरकार वहां पर वह विकास कार्य करेंगी जो दूसरे केंद्र शासित प्रदेशों में हुआ है इस प्रकार हम यह कह सकते हैं कि अगर उसे केंद्रशासित घोषित प्रदेश किया गया बहुत ही अच्छी बात है और होना भी चाहिए यह पिछले 70 वर्षों में नहीं हुआ आप देखेंगे जम्मू और कश्मीर के अंदर यह जब लद्दाख आता था और कैन जम्मू एंड कश्मीर एक राज्य था उसे विशेष दर्जा प्राप्त था वहां पर अब्दुल्ला परिवार और महबूबा मुफ्ती परिवार के जो लोग हैं वही वहां पर मुख्यमंत्री बनते हैं वहां पर कश्मीर का ही एक दंगा था जो चित्र वर्षों से चला आ रहा था केंद्र सरकार द्वारा दिया जाने वाला फंड राज्य सरकार से प्राप्त होने वाला सभी फंड मात्र और मात्र आतंकवादियों के झगड़े में ही समाप्त होता था वहां के आम लोग जो नागरिक है जम्मू एंड कश्मीर लद्दाख के उनको किसी भी प्रकार का फायदा रात नहीं था वहां पर बुनियादी ढांचा बुनियादी सुविधा है बहुत ही कमजोर है अगर उसे केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया तो वहां के आम नागरिकों को फायदा होगा और सरकार का मुख्य उद्देश्य ही यही है कि आम नागरिकों को फायदा मिले केवल उसका राजनीति की करण करना बिल्कुल गलत है और मैं यह मानता हूं उसे केंद्रशासित घोषित किया गया है तो आप देखेंगे कि आने वाले कुछ वर्षों में वहां का जो विकास होगा वह आंखें फाड़ने वाले होगा और वहां पर जो आप पर्यटन विभाग की बात करें तो वहां पर पर्यटकों की स्थिति बहुत सुधरेगी आम लोग वहां पर पर्यटन की स्थिति मजबूत करेंगे इससे विश्व व्यापक रूप से लद्दाख उच्च स्तर पर आएगा बहुत ही अच्छी मोदी सरकार की पहल है मैं उन्हें हृदय से आभार व्यक्त करता हूं और उनकी प्रशंसा करता हूं

ladakh ke kendra shasit pradesh ghoshit kiya gaya bilkul satya hai aur sahi bhi hai kyonki ladakh hamare bharat aur china ki seema par aaya hua wahan par Baudh dharm ke log zyada rehte hain vaah itni unchi sthan par aaya hua hai ki wahan par koi fasal nahi hoti wahan ke log pashupalan me zyada vishwas karte hain aur pashupalan gaay karyakarta agar use time shasit pradesh ghoshit kiya gaya iska arth hai ki wahan ke prashaasnik dhancha ko sidhe tarike se kendra sarkar niyantran me rakhe ki kendra sarkar wahan par vaah vikas karya karengi jo dusre kendra shasit pradeshon me hua hai is prakar hum yah keh sakte hain ki agar use kendrashasit ghoshit pradesh kiya gaya bahut hi achi baat hai aur hona bhi chahiye yah pichle 70 varshon me nahi hua aap dekhenge jammu aur kashmir ke andar yah jab ladakh aata tha aur can jammu and kashmir ek rajya tha use vishesh darja prapt tha wahan par abdullah parivar aur mahbuba mufti parivar ke jo log hain wahi wahan par mukhyamantri bante hain wahan par kashmir ka hi ek danga tha jo chitra varshon se chala aa raha tha kendra sarkar dwara diya jaane vala fund rajya sarkar se prapt hone vala sabhi fund matra aur matra aatankwadion ke jhagde me hi samapt hota tha wahan ke aam log jo nagarik hai jammu and kashmir ladakh ke unko kisi bhi prakar ka fayda raat nahi tha wahan par buniyadi dhancha buniyadi suvidha hai bahut hi kamjor hai agar use kendra shasit pradesh ghoshit kiya gaya toh wahan ke aam nagriko ko fayda hoga aur sarkar ka mukhya uddeshya hi yahi hai ki aam nagriko ko fayda mile keval uska raajneeti ki karan karna bilkul galat hai aur main yah maanta hoon use kendrashasit ghoshit kiya gaya hai toh aap dekhenge ki aane waale kuch varshon me wahan ka jo vikas hoga vaah aankhen fadne waale hoga aur wahan par jo aap paryatan vibhag ki baat kare toh wahan par paryatakon ki sthiti bahut sudharegi aam log wahan par paryatan ki sthiti majboot karenge isse vishwa vyapak roop se ladakh ucch sthar par aayega bahut hi achi modi sarkar ki pahal hai main unhe hriday se abhar vyakt karta hoon aur unki prashansa karta hoon

लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया बिल्कुल सत्य है और सही भी है क्योंकि लद्दाख ह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  75
WhatsApp_icon
user
1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कश्मीर की लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बुक करने से क्या फायदा होगा तुझे क्या है कि केंद्र शासित प्रदेशों में केंद्र सरकार का शासन चलता है केंद्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रपति के लिए कार्य कार्यक्रम होते हैं केंद्र शासित प्रदेशों के लिए विधानसभा का होना अनिवार्य नहीं केंद्र शासित प्रदेशों में शक्तियां शक्तियां केंद्र के हाथों में होती अब भारत में केंद्र शासित प्रदेशों को क्यों मनाया गया तो इसका कोई स्पष्ट कारण नहीं है बल्कि इसके कई कारण जिम्मेदार हैं जैसे छोटा आकार और कम जनसंख्या अलग संस्कृति अन्य राज्यों से दूरी प्रशासनिक महत्व स्थानीय संस्कृतियों की सुरक्षा करना शासन के मामलों से संबंधित राजनीतिक उथल-पुथल को दूर करना शादी

kashmir ki ladakh ko kendra shasit pradesh book karne se kya fayda hoga tujhe kya hai ki kendra shasit pradeshon me kendra sarkar ka shasan chalta hai kendra shasit pradeshon me rashtrapati ke liye karya karyakram hote hain kendra shasit pradeshon ke liye vidhan sabha ka hona anivarya nahi kendra shasit pradeshon me shaktiyan shaktiyan kendra ke hathon me hoti ab bharat me kendra shasit pradeshon ko kyon manaya gaya toh iska koi spasht karan nahi hai balki iske kai karan zimmedar hain jaise chota aakaar aur kam jansankhya alag sanskriti anya rajyo se doori prashaasnik mahatva sthaniye sanskritiyon ki suraksha karna shasan ke mamlon se sambandhit raajnitik uthal puthal ko dur karna shaadi

कश्मीर की लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बुक करने से क्या फायदा होगा तुझे क्या है कि केंद्र

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
user

Suresh Jat

History & Politics Student

3:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो एंड वेलकम टू माय फोकल सैंडल एक सवाल पर चर्चा करते हैं लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने से क्या फायदा होगा देख दाख केंद्र शासित प्रदेश घोषित हो चुका है और जम्मू-कश्मीर भी केंद्र शासित प्रदेश बन चुके हैं अभी वर्तमान में यानी मार्च 2020 में भारत में कुल 8 केंद्र शासित प्रदेश है लोग थे अब लक्षदीप दादर नगर हवेली मसूरी लक्ष्यदीप में दमन व दीव दादरा नगर हवेली को मिलाकर एक कर दिया गया सो से क्या फायदा हुआ कि जम्मू कश्मीर और लद्दाख को एक यूनियन टेरिटरीज केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया है कि कोई भी स्टेट है उसमें अगर कोई भी संवेदनशील स्थिति पैदा होती है तो सबसे पहले वहां राज्य का हस्तक्षेप होता है उसके बाद केंद्र का होता है जब स्थिति राज्य के कंट्रोल में नहीं हो इसलिए अब उसकी ज्योग्राफिकल लोकेशन लेने लद्दाख की जोरों से का लोकेशन और जम्मू कश्मीर के ज्योग्राफिकल लोकेशन एक संवेदनशील स्थिति में है एक तरफ पाकिस्तान का बॉर्डर लगता है उनसे दूसरी तरफ चाइना का सियाचिन और अक्साई चीन का जो एरिया है उनके बीच में है इसलिए वहां की स्थिति संवेदनशील है अगर राज्य का वहां हस्तक्षेप होगा तो राज्य के राज्य की जो हाथ में स्थिति है राज्य की जो राज्य सरकार के हाथ में जो स्थिति है अगर वह कंट्रोल नहीं कर पाया इन्हीं राज्य अगर स्थिति को काबू नहीं कर पाए और कहीं राईट हो गए या दंगे प्रसाद एक या कोई भी आतंकवादी गतिविधि होगी तो उसको हैंडल करने के लिए अब क्या है कि केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद उन पर सीधा अधिपत्य केंद्र सरकार का होगा और केंद्र से ही वहां पोस्ट भेजी जाएगी और केंद्र ही उनका संचालन करेगा इसलिए सबसे बड़ा फायदा नहीं हुआ है कि कि वहां पर जो फोर्स फुल स्थिति होगी जो फोर्स की स्थिति होगी वह केंद्र के अंदर होगी और किसी भी दंगे या आतंकवादी गतिविधियों को रोकने के लिए केंद्र तुरंत अपने डिसीजन लेगा और उन्हें रोकने में कामयाब भी रहेगा दूसरा फायदा टैक्स का पहले राज्य के अंडर में राज्य सरकार के अंदर में था तो टैक्स कलेक्शन और जो टैक्स का डिस्ट्रीब्यूशन है वह थोड़ा भी होता है राज्य सर घर के अंदर और केंद्र में जो टैक्स कलेक्शन होता है वह पूरे देश से लिया जाता है और केंद्र फिर उसे डिवाइड करता है तो अब केंद्र शासित प्रदेश है जोकि तो केंद्र उस पर टैक्स कलेक्शन अच्छे से डिवाइड डिसटीब्यूट कर पाएगा और उसके सतत विकास के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए एक अच्छा बजट तैयार कर सकेगा और राज्य का विकास कर सकेगा वहां की पर्यटन स्थिति सुधार सकेगा वहां की नागरिकता सुधार सकें यही कुछ 12 फायदे थे जहां तक मुझे मालूम है और मुझे सुनने के लिए धन्यवाद थैंक यू

hello and welcome to my focal sandal ek sawaal par charcha karte hain ladakh ko kendra shasit pradesh ghoshit karne se kya fayda hoga dekh dakh kendra shasit pradesh ghoshit ho chuka hai aur jammu kashmir bhi kendra shasit pradesh ban chuke hain abhi vartaman me yani march 2020 me bharat me kul 8 kendra shasit pradesh hai log the ab lakshadip dadar nagar haweli masoori lakshyadweep me daman va diu dadara nagar haweli ko milakar ek kar diya gaya so se kya fayda hua ki jammu kashmir aur ladakh ko ek union teritrij kendra shasit pradesh bana diya gaya hai ki koi bhi state hai usme agar koi bhi samvedansheel sthiti paida hoti hai toh sabse pehle wahan rajya ka hastakshep hota hai uske baad kendra ka hota hai jab sthiti rajya ke control me nahi ho isliye ab uski jyografikal location lene ladakh ki joron se ka location aur jammu kashmir ke jyografikal location ek samvedansheel sthiti me hai ek taraf pakistan ka border lagta hai unse dusri taraf china ka siachen aur aksai china ka jo area hai unke beech me hai isliye wahan ki sthiti samvedansheel hai agar rajya ka wahan hastakshep hoga toh rajya ke rajya ki jo hath me sthiti hai rajya ki jo rajya sarkar ke hath me jo sthiti hai agar vaah control nahi kar paya inhin rajya agar sthiti ko kabu nahi kar paye aur kahin right ho gaye ya dange prasad ek ya koi bhi aatankwadi gatividhi hogi toh usko handle karne ke liye ab kya hai ki kendra shasit pradesh banne ke baad un par seedha adhipatya kendra sarkar ka hoga aur kendra se hi wahan post bheji jayegi aur kendra hi unka sanchalan karega isliye sabse bada fayda nahi hua hai ki ki wahan par jo force full sthiti hogi jo force ki sthiti hogi vaah kendra ke andar hogi aur kisi bhi dange ya aatankwadi gatividhiyon ko rokne ke liye kendra turant apne decision lega aur unhe rokne me kamyab bhi rahega doosra fayda tax ka pehle rajya ke under me rajya sarkar ke andar me tha toh tax collection aur jo tax ka distribution hai vaah thoda bhi hota hai rajya sir ghar ke andar aur kendra me jo tax collection hota hai vaah poore desh se liya jata hai aur kendra phir use divide karta hai toh ab kendra shasit pradesh hai joki toh kendra us par tax collection acche se divide distibyut kar payega aur uske satat vikas ke liye infrastructure ke liye ek accha budget taiyar kar sakega aur rajya ka vikas kar sakega wahan ki paryatan sthiti sudhaar sakega wahan ki nagarikta sudhaar sake yahi kuch 12 fayde the jaha tak mujhe maloom hai aur mujhe sunne ke liye dhanyavad thank you

हेलो एंड वेलकम टू माय फोकल सैंडल एक सवाल पर चर्चा करते हैं लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

SANJEEV CHOUDHARY

अध्यापक बीकॉम बीएड

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लूपर दोस्तों आपने जो पोस्ट नहीं चाय बहुत ही अच्छा कुछ पूछा लड्डा को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद वहां पर कई प्रकार के फायदे होंगे जैसे वहां पर बौद्धिक टू कपीस और पाली वहां का विकास नहीं हो पाता था केंद्र शासित प्रदेश होने के बाद वह केंद्र की अधीन हो जाएगा और जिसे वहां पर बहुत ही अधिक है जिसे वहां पर टूरिस्ट के लोग आते हैं ऐसे तीन से रूस अमेरिका से मूवी पुलिस बहुत अधिक आते हैं देखने के लिए इसलिए वहां पर विकास होगा और बॉडी जोहा के हैं उनकी भी अच्छी खासी पकड़ होगी और विकास होने के बाद वहां पर अच्छे से अच्छे लोग आएंगे जिसे धन्यवाद साथियों आप खा लो तेरी फॉलो करिए

lupar doston aapne jo post nahi chai bahut hi accha kuch poocha ladda ko kendra shasit pradesh banane ke baad wahan par kai prakar ke fayde honge jaise wahan par baudhik to kapis aur paali wahan ka vikas nahi ho pata tha kendra shasit pradesh hone ke baad vaah kendra ki adheen ho jaega aur jise wahan par bahut hi adhik hai jise wahan par tourist ke log aate hain aise teen se rus america se movie police bahut adhik aate hain dekhne ke liye isliye wahan par vikas hoga aur body joha ke hain unki bhi achi khasee pakad hogi aur vikas hone ke baad wahan par acche se acche log aayenge jise dhanyavad sathiyo aap kha lo teri follow kariye

लूपर दोस्तों आपने जो पोस्ट नहीं चाय बहुत ही अच्छा कुछ पूछा लड्डा को केंद्र शासित प्रदेश बन

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

munmun

Volunteer

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अनिल दा को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने से क्या लाभ होगा कि लद्दाख जनता है हमेशा कश्मीर के भेदभाव से दूर होना चाहती थी जो आज हो रहा है और इसका का विकास होगा और यहां की जनता जो हमेशा केंद्र सरकार से सीधे तौर पर जुड़ना चाहती थी इसलिए ही हम लद्दाख को जो है केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने की मांग कर रहे थे और इस फैसले से ज्यादा के विकास और सीमा सुरक्षा को जो है लाभ होगा और क्षेत्रीय दलों की ओर से हो रही निंदा को लेकर जो है नामग्याल से ने कहा है कि यह राजनीतिक पार्टियां जो है राष्ट्र का बेहतर आवेदन नहीं चाहती हैं यह केवल अपना परिवार चलाना चाहती हैं और यही कह रही हैं और कश्मीर में राजनीतिक पार्टियों ने रमेश राधा को भेदभाव भरी नजरों से देखा नहीं बे विकास फंडिंग या फिर रोजगार का चित्र

anil the ko kendra shasit pradesh ghoshit karne se kya labh hoga ki ladakh janta hai hamesha kashmir ke bhedbhav se dur hona chahti thi jo aaj ho raha hai aur iska ka vikas hoga aur yahan ki janta jo hamesha kendra sarkar se sidhe taur par judna chahti thi isliye hi hum ladakh ko jo hai kendra shasit pradesh ghoshit karne ki maang kar rahe the aur is faisle se zyada ke vikas aur seema suraksha ko jo hai labh hoga aur kshetriya dalon ki aur se ho rahi ninda ko lekar jo hai namagyal se ne kaha hai ki yah raajnitik partyian jo hai rashtra ka behtar avedan nahi chahti hai yah keval apna parivar chalana chahti hai aur yahi keh rahi hai aur kashmir mein raajnitik partiyon ne ramesh radha ko bhedbhav bhari nazro se dekha nahi be vikas funding ya phir rojgar ka chitra

अनिल दा को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने से क्या लाभ होगा कि लद्दाख जनता है हमेशा कश्मीर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!