काला जादू क्यों किया जाता है?...


user

Varun Tiwari

Astrologer, Life Coach

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार काला जादू मुकित अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए किया जाता है या कभी किसी को लक्ष्य करके भी काला जादू किया जाता है मान लीजिए किसी से आपका बैर हो गया तो वह आपके लिए तांत्रिक क्रियाएं कराता है जिसमें कोई कानूनी फंदे में फंसने का चांस नहीं रहता और आपका शरीर भी मारो बढ़िया दुर्घटनाग्रस्त हो करके खत्म हो जाता है तो काला जादू का मुख्य उद्देश्य दूसरों की हानि करना ही है क्योंकि यह इसी उद्देश्य से ही सीखे जाते हैं और तांत्रिक शक्तियों का स्वभाव ही होता है कि यह आपसे वह कोई न कोई बली नरबलि या जीव हत्या लेंगी ही नहीं यहां तक कि आपके जीवन को भी नर्क बना कर रख देती हैं क्योंकि आप मनुष्य की तरह नहीं जी सकते आपको एकांत में रहना होता है आप वस्त्र ऐसा नहीं पहन सकते जो देखने में सुंदर हो सकता है आपको शक्तियां तथा दी जाए लेकिन उन सारी शक्तियों का प्रभाव अंत में नकारात्मक ही होता है और मरने के बाद बिग्तित प्रेत को प्राप्त होता है इसकी तुलना में आप सात्विक शक्तियां साधना करें क्योंकि इनकी साधना से सिद्धि होने के बाद इस संसार में तो आप सफल हो ही जाते हैं साथ में मरने के बाद भी आप को मोक्ष मिल धन्यवाद

namaskar kaala jadu mukit apni ikchao ki purti ke liye kiya jata hai ya kabhi kisi ko lakshya karke bhi kaala jadu kiya jata hai maan lijiye kisi se aapka bair ho gaya toh vaah aapke liye tantrika kriyaen karata hai jisme koi kanooni fande me fansane ka chance nahi rehta aur aapka sharir bhi maaro badhiya durgatanaagrast ho karke khatam ho jata hai toh kaala jadu ka mukhya uddeshya dusro ki hani karna hi hai kyonki yah isi uddeshya se hi sikhe jaate hain aur tantrika shaktiyon ka swabhav hi hota hai ki yah aapse vaah koi na koi bali narbali ya jeev hatya leangi hi nahi yahan tak ki aapke jeevan ko bhi nark bana kar rakh deti hain kyonki aap manushya ki tarah nahi ji sakte aapko ekant me rehna hota hai aap vastra aisa nahi pahan sakte jo dekhne me sundar ho sakta hai aapko shaktiyan tatha di jaaye lekin un saari shaktiyon ka prabhav ant me nakaratmak hi hota hai aur marne ke baad bigtit pret ko prapt hota hai iski tulna me aap Satvik shaktiyan sadhna kare kyonki inki sadhna se siddhi hone ke baad is sansar me toh aap safal ho hi jaate hain saath me marne ke baad bhi aap ko moksha mil dhanyavad

नमस्कार काला जादू मुकित अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए किया जाता है या कभी किसी को लक्ष्य क

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  123
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
हां काला ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!