महाभारत काल का अश्वत्थामा कहाँ है?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार महाभारत के अनुसार अश्वत्थामा कुमार हैं क्योंकि उनको अमर होने का वरदान भगवान श्रीकृष्ण ने दिया और वह भी ईडियट अश्वत्थामा ने कौरवों का साथ दिया और कौरवों के वर्गों का पक्ष लेते हुए अपने दोस्त से पांडवों के पांच पुत्रों की हत्या की उस समय में रात में अटैक करना सबसे बड़ा पाप अगर माना जाता था और उसने पांच अबोध बच्चों की हत्या की थी तो वहां श्री कृष्ण ने कंस को यह कहां के भाई तुम लोग मर करके शांति प्राप्त कर देते हैं लेकिन मृत्यु को प्राप्त नहीं कर आओगे आप ही दूर रह कर के जहां भी रहोगे वहां कष्ट में दुख में पीड़ा में जीवन विचारों के हैं कि आज भी अश्वत्थामा इस्तरी को विभिन्न प्रकार की कहावतें जिम में बहुत सारा पी बहता है मवाद भरी हुई यह बहुत बड़ा एक गंदगी से बना हुआ है और वे कहीं एकांत में पड़े रहते हैं ऐसा कहते हैं

hindu dharm shastron ke anusaar mahabharat ke anusaar ashvatthaama kumar hain kyonki unko amar hone ka vardaan bhagwan shrikrishna ne diya aur vaah bhi idiot ashvatthaama ne kauravon ka saath diya aur kauravon ke vargon ka paksh lete hue apne dost se pandavon ke paanch putron ki hatya ki us samay mein raat mein attack karna sabse bada paap agar mana jata tha aur usne paanch abodh baccho ki hatya ki thi toh wahan shri krishna ne kans ko yah kahaan ke bhai tum log mar karke shanti prapt kar dete hain lekin mrityu ko prapt nahi kar aaoge aap hi dur reh kar ke jaha bhi rahoge wahan kasht mein dukh mein peeda mein jeevan vicharon ke hain ki aaj bhi ashvatthaama istree ko vibhinn prakar ki kahavaten gym mein bahut saara p bahta hai mavad bhari hui yah bahut bada ek gandagi se bana hua hai aur ve kahin ekant mein pade rehte hain aisa kehte hain

हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार महाभारत के अनुसार अश्वत्थामा कुमार हैं क्योंकि उनको अमर होन

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  21
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत के युद्ध के बाद अश्वत्थामा ने जब पांडवों के पांच पुत्रों का वध किया तब उसके शरीर माथे में लगी जो बनी थी उसको निकाल लिया गया था और श्री कृष्ण जी के साथ के अनुसार उन्हें अमरता वरदान प्राप्त हो गया था कि वो जब उन्हें मरते वरदान तो पहले से ही प्राप्त था कि जब तक वह इस धरती पर रहेंगे वह ऐसे ही उस दर्द के साथ जो है इस धरती पर विचरण करेंगे आज तक यह तो उनका कोई पता नहीं लगा पाया वैसे मनगढ़ंत कहानियां तो आपको बहुत से मिल जाएंगे यूट्यूब पर इन पर भी मिल जाएंगे पर आज तक उनका प्रेसिडेंट का कोई भी आंसर आपको कोई नहीं दे पाएगा डेट शीट

mahabharat ke yudh ke baad ashvatthaama ne jab pandavon ke paanch putron ka vadh kiya tab uske sharir mathe me lagi jo bani thi usko nikaal liya gaya tha aur shri krishna ji ke saath ke anusaar unhe amarata vardaan prapt ho gaya tha ki vo jab unhe marte vardaan toh pehle se hi prapt tha ki jab tak vaah is dharti par rahenge vaah aise hi us dard ke saath jo hai is dharti par vichran karenge aaj tak yah toh unka koi pata nahi laga paya waise managdhant kahaniya toh aapko bahut se mil jaenge youtube par in par bhi mil jaenge par aaj tak unka president ka koi bhi answer aapko koi nahi de payega date sheet

महाभारत के युद्ध के बाद अश्वत्थामा ने जब पांडवों के पांच पुत्रों का वध किया तब उसके शरीर म

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  65
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!