शिक्षा के निजीकरण के महत्व पर निबंद कैसे लिखें?...


play
user
0:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखित शिक्षा का निजीकरण किया जाए तो अगर उसको अच्छी शास्त्री की दिया जाए तो शिक्षक में हम काफी आगे बढ़ सकते हैं बच्चे को भी अच्छे हम आगे की तरफ बढ़ा सकते हैं लेकिन पीछे नुकसान भी है क्या क्या शिक्षा का निजीकरण हो जाएगा तो जो गरीब बच्चे हैं उनके पढ़ाई पर काफी असर पड़ेगा वह एडमिशन या से पढ़ाई नहीं कर पाएंगे क्योंकि सरकारी स्कूल में बिना किसी चीज के या फिर बहुत ही कम फीस के बच्चे पढ़ लेते हैं गरीबी के बच्चे लेकिन अभी से निजीकरण कर दिया जाए तो गरीबों के बच्चों को पढ़ाई में काफी ज्यादा मुश्किलें आ सकती है और यह सुविधा जिनके माता-पिता के पास ज्यादा पैसे हैं वह उसका सिर्फ लाभ उठा पाएंगे जैसे कि प्राइवेट स्कूल में चलते हैं उसी तरीके से अगर हम सरकार के द्वारा चलाए जा रहे किसी स्कूल में बच्चे को डालते हैं तो वह अपनी शिक्षा पूरी कर सकते हैं

likhit shiksha ka nijikaran kiya jaaye toh agar usko achi shastri ki diya jaaye toh shikshak mein hum kaafi aage badh sakte hain bacche ko bhi acche hum aage ki taraf badha sakte hain lekin peeche nuksan bhi hai kya kya shiksha ka nijikaran ho jaega toh jo garib bacche hain unke padhai par kaafi asar padega vaah admission ya se padhai nahi kar payenge kyonki sarkari school mein bina kisi cheez ke ya phir bahut hi kam fees ke bacche padh lete hain garibi ke bacche lekin abhi se nijikaran kar diya jaaye toh garibon ke baccho ko padhai mein kaafi zyada mushkilen aa sakti hai aur yah suvidha jinke mata pita ke paas zyada paise hain vaah uska sirf labh utha payenge jaise ki private school mein chalte hain usi tarike se agar hum sarkar ke dwara chalaye ja rahe kisi school mein bacche ko daalte hain toh vaah apni shiksha puri kar sakte hain

लिखित शिक्षा का निजीकरण किया जाए तो अगर उसको अच्छी शास्त्री की दिया जाए तो शिक्षक में हम क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!