मेक इन इंडिया से इम्पोर्ट और एक्सपोर्ट पर क्या असर पड़ा है? भारत में मेक इन इंडिया के लागु से क्या फायदा हुआ है?...


play
user

Rampal Meghwal

Indian Politician

1:57

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेक इन इंडिया वास्तव में खुश्की हो रहा है आजकल सेल्फी फूफा विस्तार हुआ है आज उसका अपने हिंदुस्तान का विकास होने के पीछे आईपीएल का मैच इन इंडिया का भूत बड़ा यानी मान्य प्रधानमंत्री जी का बहुत बड़ा कलाकार अच्छा जीवन व्यतीत कर रहा है आपको निवेदन करूं एक छोटे छोटे में कब तक आ जाएगी गरम-गरम चपाती सारे परिवार के साथ 40 दिन में काम करने का मौका मिल रहा है पिकअप करने में उनको मिल रहा है जिसके को आरक्षण दिया

make in india vaastav mein khushki ho raha hai aajkal selfie fufa vistaar hua hai aaj uska apne Hindustan ka vikas hone ke peeche IPL ka match in india ka bhoot bada yani manya pradhanmantri ji ka bahut bada kalakar accha jeevan vyatit kar raha hai aapko nivedan karu ek chote chhote mein kab tak aa jayegi garam garam chapati saare parivar ke saath 40 din mein kaam karne ka mauka mil raha hai pickup karne mein unko mil raha hai jiske ko aarakshan diya

मेक इन इंडिया वास्तव में खुश्की हो रहा है आजकल सेल्फी फूफा विस्तार हुआ है आज उसका अपने हिं

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  420
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेक इन इंडिया योजना या मिशन का मकसद देश को मैन्युफैक्चरिंग का केंद्र बनाना है यह प्रधानमंत्री मोदी जी का एक ड्रीम प्रोजेक्ट है घरेलू और विदेशी दोनों ही निवेशकों को अनुकूल माहौल मिले और रोजगार के अवसर पैदा हो मेक इन इंडिया को आर्थिक विवेक व प्रशासनिक सुधार के न्याय संगत मिश्रण के रूप में भी देखा जा सकता है मेक इन इंडिया के तहत कम ही समय में सरकार ने पुराने ढांचे को नए ढांचे में बदल दिया है ताकि नवाचार व कौशल विकास बढ़ाया जा सके इसके तहत सरकार विभिन्न देशों की कंपनी को भारत में टेस्ट की छूट देकर उद्योग अपने भारत में लगाने को प्रोत्साहित करेगी जिससे भारत का आयात बिल कम होगा तथा नए रोजगार पैदा होंगे भारत के बने उत्पाद भी दुनिया के किसी भी कोने में बेची जा सकेंगे इस योजना में

make in india yojana ya mission ka maksad desh ko manufacturing ka kendra banana hai yah pradhanmantri modi ji ka ek dream project hai gharelu aur videshi dono hi niveshako ko anukul maahaul mile aur rojgar ke avsar paida ho make in india ko aarthik vivek va prashaasnik sudhaar ke nyay sangat mishran ke roop mein bhi dekha ja sakta hai make in india ke tahat kam hi samay mein sarkar ne purane dhanche ko naye dhanche mein badal diya hai taki navachar va kaushal vikas badhaya ja sake iske tahat sarkar vibhinn deshon ki company ko bharat mein test ki chhut dekar udyog apne bharat mein lagane ko protsahit karegi jisse bharat ka ayat bill kam hoga tatha naye rojgar paida honge bharat ke bane utpaad bhi duniya ke kisi bhi kone mein bechi ja sakenge is yojana mein

मेक इन इंडिया योजना या मिशन का मकसद देश को मैन्युफैक्चरिंग का केंद्र बनाना है यह प्रधानमंत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  31
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंडिया से इंपोर्ट एक्सपोर्ट पर क्या असर प्राइस को समझाने के लिए 90 सिक्सर इकोनॉमिक्स है वह बताना चाहूंगा आपको इसकी कोई भी एक्सपोर्ट इंपोर्ट वर्ल्ड में कैसे सरवाइव होता है ऐसी कोई भी चीज एक्सपोर्ट करें हमारी कंट्री का दूसरे कंट्री को तो उसके बदले में आपको उसका NCC के डॉलर है यूरो है उसका साथ आपको पैसा मिलता है तो वह सब ठीक तो है डाउनलोड नहीं होता और डॉलर रेट ज्यादा है तो आप के पास कितना डॉलर होगा अब इतनी ज्यादा चीज से अप इंडिया के लिए कर सकते हैं इससे मेक इन इंडिया की बात करें तो उसी हिसाब होता है अगर कोई इंडिया में फैक्चर होगा कि हम उस चीज को एक्सपोर्ट करते हैं दूसरे गट कंट्री में तो हम उस चीज के ज्यादा रेट ले सकते हैं $50000 होगा तो उस चीज को ज्यादा यूज़ कर सकते हैं और इससे बिल्कुल फायदा बिल्कुल बहुत होगा एंप्लॉयमेंट है बेहतर मिलेगी उससे जुड़े लोगों का स्टैंड ऑफ लिविंग जो है वह बेहतर होगा तो इस वजह

india se import export par kya asar price ko samjhane ke liye 90 sixer economics hai vaah bataana chahunga aapko iski koi bhi export import world mein kaise survive hota hai aisi koi bhi cheez export kare hamari country ka dusre country ko toh uske badle mein aapko uska NCC ke dollar hai euro hai uska saath aapko paisa milta hai toh vaah sab theek toh hai download nahi hota aur dollar rate zyada hai toh aap ke paas kitna dollar hoga ab itni zyada cheez se up india ke liye kar sakte hain isse make in india ki baat kare toh usi hisab hota hai agar koi india mein facture hoga ki hum us cheez ko export karte hain dusre gat country mein toh hum us cheez ke zyada rate le sakte hain 50000 hoga toh us cheez ko zyada use kar sakte hain aur isse bilkul fayda bilkul bahut hoga employment hai behtar milegi usse jude logo ka stand of living jo hai vaah behtar hoga toh is wajah

इंडिया से इंपोर्ट एक्सपोर्ट पर क्या असर प्राइस को समझाने के लिए 90 सिक्सर इकोनॉमिक्स है वह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!