सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर काफ़ी खराब है तो क्या इसका निजीकरण होना चाहिए?...


play
user

Sarvesh Kumar Satyarthi

Admin Head@Career First

0:47

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकारी स्कूलों का स्तर सही करने के लिए उसका निजीकरण करना आवश्यक नहीं है उसका मेहंदी जने की हमारे जो शिक्षा स्तर है और सरकारी स्कूलों में वह डिपेंड कर्ता हमारी अध्यापकों के ऊपर और हमारे जो पुरानी अध्यापक हैं उनका स्तर इतना बेहतर नहीं है जो होना चाहिए क्योंकि पहले जो सिलेक्शन होते थे वह मेरिट बेस होते थे पर अब जो इस तरह टीचर्स का वह बेहतर होता याद आए वह इसलिए क्योंकि अब यूपीटेट सुपर टेट सीटीईटी क्वालीफाई करने के बाद ही आप टीचर बन सकते हैं और उसे क्वालीफाई करने के बाद मुझे नहीं लगता कि कोई ट्यूशन टीचर बेहतर नहीं है जितने भी टीचर आ पाएंगे चिति के अध्यापक आएंगे वह सब बेहतर होंगे उसके उनके बेहतर होने से ही हमारा जो शिक्षण है वह बेहतर होता जाएगा

sarkari schoolon ka sthar sahi karne ke liye uska nijikaran karna aavashyak nahi hai uska mehendi jane ki hamare jo shiksha sthar hai aur sarkari schoolon mein vaah depend karta hamari adhyapakon ke upar aur hamare jo purani adhyapak hain unka sthar itna behtar nahi hai jo hona chahiye kyonki pehle jo selection hote the vaah merit base hote the par ab jo is tarah teachers ka vaah behtar hota yaad aaye vaah isliye kyonki ab UPTET super tet CTET qualify karne ke baad hi aap teacher ban sakte hain aur use qualify karne ke baad mujhe nahi lagta ki koi tuition teacher behtar nahi hai jitne bhi teacher aa payenge chiti ke adhyapak aayenge vaah sab behtar honge uske unke behtar hone se hi hamara jo shikshan hai vaah behtar hota jaega

सरकारी स्कूलों का स्तर सही करने के लिए उसका निजीकरण करना आवश्यक नहीं है उसका मेहंदी जने की

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  1569
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!