क्या करने से माता पिता हमें ज़्यादा पॉकेट मनी देंगे और उसे कैसे बचाएँ?...


user

Ankur Nautiyal

Career & Relationship Counsellor, Motivator

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपके माता-पिता को ज्यादा पॉकेट मनी देंगे तो आपको ऐसा लगता है कि ऐसा क्या करें कि हमें भी हमारे मम्मी पापा हमें पॉकेट मनी देंगे और फिर हम होने से कैसे बचाएं भाई सबसे पहले तो आपके पापा मम्मी आपको क्यों देंगे ज्यादा पॉकेट मनी आप उन्हें बताते हैं कि पापा मम्मी हम सेविंग अकाउंट में या जैसा मर आपकी बहन के तो हम इस तरह से हम बता रहे हैं बाबा और हम अपने पैसों को ऐसे खर्च नहीं करते सही काम आने पर या हमारी जरूरत के अकॉर्डिंग हम उसे यूज करते हैं तो आपके पापा मम्मी आपको ज्यादा पॉकेट मनी देंगे अगर आप क्यों आप उन्हें मां बाप को आप अपने मां बाप को नहीं बताना बताओगे कि हम ऑफिस मनी मांग रहे हैं और क्यों चाहिए आपको आप हमको नहीं बताओगे कि आप जमा कर रहे हो एक लड़की आंख मारे पास पिगी बैंक है या छोटी सी गुल्लक है कि आप इसमें पैसा जमा कर रहे हैं तो उन्हें भी अच्छा लगेगा तो वह आपको पैसा अगर ₹10 तो आपको ₹100 देंगे कि हां ठीक है मेरा बच्चा शेर मैं बच्चों को सीधा करना आता है वह करने लगा है हमारे अपनी जरूरतों के अकॉर्डिंग वह हमसे पैसे देखे जमा कर रहा है कि इन फ्यूचर कभी उसको जरूरत पड़े तो वह उसके काम आएंगे तो आपका जरूर अगर आप हमको रीजन बता दो और सही नहीं बताते हो तो आपके पापा मम्मी आपका सपोर्ट करेंगे और आपको ज्यादा पॉकेट मनी देंगे क्योंकि आप उसको उसका फायदा उनको दिखा रहे हो उनको रिटर्न बता दो तो जान सही रीजन होता है तो वह पेरेंट्स बात सुनते हैं और समझते भी धन्यवाद

dekhiye aapke mata pita ko zyada pocket money denge toh aapko aisa lagta hai ki aisa kya kare ki hamein bhi hamare mummy papa hamein pocket money denge aur phir hum hone se kaise bachaen bhai sabse pehle toh aapke papa mummy aapko kyon denge zyada pocket money aap unhe batatey hain ki papa mummy hum saving account me ya jaisa mar aapki behen ke toh hum is tarah se hum bata rahe hain baba aur hum apne paison ko aise kharch nahi karte sahi kaam aane par ya hamari zarurat ke according hum use use karte hain toh aapke papa mummy aapko zyada pocket money denge agar aap kyon aap unhe maa baap ko aap apne maa baap ko nahi batana bataoge ki hum office money maang rahe hain aur kyon chahiye aapko aap hamko nahi bataoge ki aap jama kar rahe ho ek ladki aankh maare paas piggy bank hai ya choti si gullak hai ki aap isme paisa jama kar rahe hain toh unhe bhi accha lagega toh vaah aapko paisa agar Rs toh aapko Rs denge ki haan theek hai mera baccha sher main baccho ko seedha karna aata hai vaah karne laga hai hamare apni jaruraton ke according vaah humse paise dekhe jama kar raha hai ki in future kabhi usko zarurat pade toh vaah uske kaam aayenge toh aapka zaroor agar aap hamko reason bata do aur sahi nahi batatey ho toh aapke papa mummy aapka support karenge aur aapko zyada pocket money denge kyonki aap usko uska fayda unko dikha rahe ho unko return bata do toh jaan sahi reason hota hai toh vaah parents baat sunte hain aur samajhte bhi dhanyavad

देखिए आपके माता-पिता को ज्यादा पॉकेट मनी देंगे तो आपको ऐसा लगता है कि ऐसा क्या करें कि हमे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sapna

Social Worker

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें अपने माता-पिता से कुछ भी मांग कर उन्हें दुखी नहीं करना है क्योंकि हमारी माता पिता ने हमें पहले से ही इतना देर रखा है कि हम उसका ही कर्ज नहीं उतार सकते फिर आगे भी मांग मांग कर उनको हमें दुखी नहीं करना है हमें आगे यह प्रयास करना है कि हम हम इतना करते रहे कि हम अपना भी जीवन अच्छा बनाएं और अपने माता-पिता को भी हमेशा खुश रखने का रतन करें उनकी सेवा करें उनको किसी चीज से दुखी ना होने दे रहा अपना सवाल तो उसके लिए हमें जो भी पैसे की जरूरत होती है उसके लिए हमें कुछ करते रहना चाहिए और अपना पेट भरने के बाद अगर बच्चा है तो वह माता-पिता को तो सबसे पहले खिलाना है खिलाना है उसके बाद खुद खाना है उसके बाद भी अगर बचता है तो वह ऐसे लोगों को खिलाना है जिसको कोई खिलाने वाला नहीं है अगर आपको मेरी साला सही लगी हो तो मुझे जरूर बताएं सपना शर्मा

hamein apne mata pita se kuch bhi maang kar unhe dukhi nahi karna hai kyonki hamari mata pita ne hamein pehle se hi itna der rakha hai ki hum uska hi karj nahi utar sakte phir aage bhi maang maang kar unko hamein dukhi nahi karna hai hamein aage yah prayas karna hai ki hum hum itna karte rahe ki hum apna bhi jeevan accha banaye aur apne mata pita ko bhi hamesha khush rakhne ka ratan kare unki seva kare unko kisi cheez se dukhi na hone de raha apna sawaal toh uske liye hamein jo bhi paise ki zarurat hoti hai uske liye hamein kuch karte rehna chahiye aur apna pet bharne ke baad agar baccha hai toh vaah mata pita ko toh sabse pehle khilana hai khilana hai uske baad khud khana hai uske baad bhi agar bachta hai toh vaah aise logo ko khilana hai jisko koi khilane vala nahi hai agar aapko meri sala sahi lagi ho toh mujhe zaroor bataye sapna sharma

हमें अपने माता-पिता से कुछ भी मांग कर उन्हें दुखी नहीं करना है क्योंकि हमारी माता पिता ने

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

Suresh Jeswani

Life Coach

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माता-पिता से पॉकेट मनी की जो आपकी इच्छा है वह आप पहले ही समझ लीजिए कि आपके माता-पिता जो कमा रहे हैं वह सच में उतना कमा रहे हैं क्या कि आपको जो आशा है क्या कुछ ज्यादा पॉकेट मनी चाहिए उतना आपको दे सकें और दूसरी बात है कि उसे कैसे बचाएं छोटा-मोटा कारोबार कीजिए छोटा-मोटा कोई सेविंग स्कीम में डाली है यहां और कुछ ऐसा कुछ प्रयोग कीजिए कि जिससे आपका पैसा जो है वह मल्टीप्लाई होना शुरू हो जाए और आप जब उनको इस चीज को करके दिखाएंगे कि उन्होंने जो आपको पॉकेट मनी दी है उसका आपने इस प्रकार से सदुपयोग किया है तो मैं शर्त लगाता हूं कि वह आपको यह बोलेंगे कि भैया थोड़ा सा और तू मेरे से ज्यादा ले ले कि मैं खुद मेरे बच्चों को इसी प्रकार से पकड़ नहीं देता हूं तो यह मेरा है वैसा वाला अनुभव है कि मैं आपके उनकी जगह पर हूं मैं पैरंट हूं और मेरे बच्चों को मैं इस प्रकार से पॉकेट मनी बड़ा कर देता हूं करता हूं मेरे सवाल का जवाब

mata pita se pocket money ki jo aapki iccha hai vaah aap pehle hi samajh lijiye ki aapke mata pita jo kama rahe hain vaah sach mein utana kama rahe kya ki aapko jo asha hai kya kuch zyada pocket money chahiye utana aapko de sake aur dusri baat hai ki use kaise bachaen chota mota karobaar kijiye chota mota koi saving scheme mein dali hai yahan aur kuch aisa kuch prayog kijiye ki jisse aapka paisa jo hai vaah maltiplai hona shuru ho jaaye aur aap jab unko is cheez ko karke dikhayenge ki unhone jo aapko pocket money di hai uska aapne is prakar se sadupyog kiya hai toh main sart lagaata hoon ki vaah aapko yah bolenge ki bhaiya thoda sa aur tu mere se zyada le le ki main khud mere baccho ko isi prakar se pakad nahi deta hoon toh yah mera hai waisa vala anubhav hai ki main aapke unki jagah par hoon main pairant hoon aur mere baccho ko main is prakar se pocket money bada kar deta hoon karta hoon mere sawaal ka jawab

माता-पिता से पॉकेट मनी की जो आपकी इच्छा है वह आप पहले ही समझ लीजिए कि आपके माता-पिता जो कम

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  217
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों पढ़ाई लिखाई में होगी सबसे ज्यादा से मान सम्मान दोगी माता-पिता का कष्ट करोगी माता प्रणाम करना जगह पालन करना अपने को करना और उनको बताना कि मां मैं यह कर सकता हूं मैं यह करना चाहता हूं कि लाइफ में मैं यहां से करना चाहता हूं ठीक है तो पैसे ही नहीं है हम सेव करना आपके हाथ में पैसे से या फिर फ्यूचर मैं क्या कर सकता हूं कि मुझे करो माता-पिता की कुछ लेकर पॉकेट मनी और दे सकते हैं चैटिंग कर सकते हो

kyon padhai likhai me hogi sabse zyada se maan sammaan dogi mata pita ka kasht karogi mata pranam karna jagah palan karna apne ko karna aur unko batana ki maa main yah kar sakta hoon main yah karna chahta hoon ki life me main yahan se karna chahta hoon theek hai toh paise hi nahi hai hum save karna aapke hath me paise se ya phir future main kya kar sakta hoon ki mujhe karo mata pita ki kuch lekar pocket money aur de sakte hain chatting kar sakte ho

क्यों पढ़ाई लिखाई में होगी सबसे ज्यादा से मान सम्मान दोगी माता-पिता का कष्ट करोगी माता प्र

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Poonamgupta

housewife

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप माता पिता के कहने को मानते हैं और उनसे प्यार से बात करें तो आपको पाकर मनी ज्यादा देंगे और उसे आप बचाने के लिए किसी भी ऐसे पांच में डालें जिससे आप ज्यादा से ज्यादा ना निकाल सकें तब आपका पैसा बच सकता है

agar aap mata pita ke kehne ko maante hain aur unse pyar se baat kare toh aapko pakar money zyada denge aur use aap bachane ke liye kisi bhi aise paanch mein Daalein jisse aap zyada se zyada na nikaal sake tab aapka paisa bach sakta hai

अगर आप माता पिता के कहने को मानते हैं और उनसे प्यार से बात करें तो आपको पाकर मनी ज्यादा दे

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
play
user

Likes  2  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई भी काम अगर माता-पिता का करें और बचत करके हम कोई काम करते हैं वह हमको निश्चित करेंगे और बेटा यह काम करो करके ऐसा भरोसे कोई काम

koi bhi kaam agar mata pita ka kare aur bachat karke hum koi kaam karte hain vaah hamko nishchit karenge aur beta yah kaam karo karke aisa bharose koi kaam

कोई भी काम अगर माता-पिता का करें और बचत करके हम कोई काम करते हैं वह हमको निश्चित करेंगे और

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हम अपने माता-पिता के कोई भी मन का काम कर देते हैं तो हमारे माता-पिता खुश हो गया में ज्यादा पानी देने के लिए राजी होते और उनकी पकड़ में नहीं बचाने के लिए कुछ हमें अपने अभी मेहनत करनी पड़ती है तभी अपने माता-पिता की फोटो नहीं बचा सकते हैं

agar hum apne mata pita ke koi bhi man ka kaam kar dete hain toh hamare mata pita khush ho gaya me zyada paani dene ke liye raji hote aur unki pakad me nahi bachane ke liye kuch hamein apne abhi mehnat karni padti hai tabhi apne mata pita ki photo nahi bacha sakte hain

अगर हम अपने माता-पिता के कोई भी मन का काम कर देते हैं तो हमारे माता-पिता खुश हो गया में ज्

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  57
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

घर के कार्य में मदद करने पर और अच्छे से आपकी पढ़ाई करने से आपकी रिजल्ट्स बहुत अच्छा रखने से और उनकी बात सुनने से मां-बाप का पॉकेट मनी देंगे लेकिन पॉकेट मनी को सेव करना जल्दी से आपको सेविंग आएगी तो उसे बचाने के लिए आप उसको अपने कुंदन वाली जो आती है मिट्टी की गुल्लक पंडाल से जाइए किस तरह से निकाले जा सकते उसमें जमा करते जाइए नहीं तो क्या होगा कैसे रखेंगे तो फिर से जल्दी हो जाएंगे फिर उनको एक नजर फुल हो जाए तो निकाल कर मैं जाकर बैंक में जमा कर दो

ghar ke karya me madad karne par aur acche se aapki padhai karne se aapki results bahut accha rakhne se aur unki baat sunne se maa baap ka pocket money denge lekin pocket money ko save karna jaldi se aapko saving aayegi toh use bachane ke liye aap usko apne kundan wali jo aati hai mitti ki gullak pandal se jaiye kis tarah se nikale ja sakte usme jama karte jaiye nahi toh kya hoga kaise rakhenge toh phir se jaldi ho jaenge phir unko ek nazar full ho jaaye toh nikaal kar main jaakar bank me jama kar do

घर के कार्य में मदद करने पर और अच्छे से आपकी पढ़ाई करने से आपकी रिजल्ट्स बहुत अच्छा रखने स

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  61
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माता-पिता हमें हमेशा जरूरत से ज्यादा पैसे दे सकते हैं या देते हैं यदि हम और हमारा चरित्र अच्छा है हम मितव्यई है तो हम उस पैसे को किसी न किसी रूप में बचा कर रखें क्योंकि पैसा मुसीबत के समय काम आता है चाहे वह हमारी मुसीबत हो या परिवार की मुसीबत हो

mata pita hamein hamesha zarurat se zyada paise de sakte hain ya dete hain yadi hum aur hamara charitra accha hai hum mitavyai hai toh hum us paise ko kisi na kisi roop me bacha kar rakhen kyonki paisa musibat ke samay kaam aata hai chahen vaah hamari musibat ho ya parivar ki musibat ho

माता-पिता हमें हमेशा जरूरत से ज्यादा पैसे दे सकते हैं या देते हैं यदि हम और हमारा चरित्र अ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  37
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माता-पिता की कमाई पर नजर मत देखो तुम खुद मेहनत करोगे तो तुम्हें यह पता चलेगा कि मेहनत की कमाई का पैसा कहां से आता है और कहां खराब करते हो तुम मेहनत ही नहीं करोगे तो तुम्हारे पैसे खराब हो गए और तुम्हें यह दिमाग के अकल नहीं आएगी कि मेरा पैसा कैसे खराब हो रहा है तुम अपने माता-पिता की कमाई के सारे ही जीना चाहते हो जंप माने तुम अपनी ही कमाई से ही जियो और अपनी कमाई से ही यह पता लगाओ कि मेरी मेहनत के पैसे कहां जा रहे हैं कहां खराब हो रहे हैं मैं भी अपने माता-पिता के पैसों से ऐसी ही जिया करता था ऐसे ही दिख रहा क्या करता रहता कि मैंने खुद मेहनत की है 4 साल मेहनत की है जब मुझे पता चला कि मेरा पैसा कहां खराब हो रहा है लेकिन अब पैसा भी मेरा खराब नहीं होता सही जगह सही काम में जाता है किसी की जरूरत के लिए चाहता किसी को जरूरत पड़ती है तो मेरे को बोलता मैं उसको कभी पैसों की मना नहीं करता क्योंकि मेरे पैसा मुझे पता है कि मेरे मेहनत का पैसा वापस आ जाएगा लेकिन चुप मत की पैसों की मदद जरूर करना चाहिए जय हिंद

mata pita ki kamai par nazar mat dekho tum khud mehnat karoge toh tumhe yah pata chalega ki mehnat ki kamai ka paisa kaha se aata hai aur kaha kharab karte ho tum mehnat hi nahi karoge toh tumhare paise kharab ho gaye aur tumhe yah dimag ke akal nahi aayegi ki mera paisa kaise kharab ho raha hai tum apne mata pita ki kamai ke saare hi jeena chahte ho jump maane tum apni hi kamai se hi jio aur apni kamai se hi yah pata lagao ki meri mehnat ke paise kaha ja rahe hain kaha kharab ho rahe hain main bhi apne mata pita ke paison se aisi hi jiya karta tha aise hi dikh raha kya karta rehta ki maine khud mehnat ki hai 4 saal mehnat ki hai jab mujhe pata chala ki mera paisa kaha kharab ho raha hai lekin ab paisa bhi mera kharab nahi hota sahi jagah sahi kaam me jata hai kisi ki zarurat ke liye chahta kisi ko zarurat padti hai toh mere ko bolta main usko kabhi paison ki mana nahi karta kyonki mere paisa mujhe pata hai ki mere mehnat ka paisa wapas aa jaega lekin chup mat ki paison ki madad zaroor karna chahiye jai hind

माता-पिता की कमाई पर नजर मत देखो तुम खुद मेहनत करोगे तो तुम्हें यह पता चलेगा कि मेहनत की क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  53
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नंबर वन फिल्म आता पिता का यदि आप उनको कह दे कि के बेटा उस काम को तेरे को नहीं करना उसके साथ तेरे को नहीं घूमना जैसे कि माता-पिता की कामना माता-पिता को कभी नीचे नहीं दिखाना नंबर 3 माता-पिता का कच्ची ऊंचा सिर उठाकर माता-पिता किसी को कह सके कि मेरा बेटा ऐसा नहीं है नंबर फोर चेकिंग माता-पिता आज्ञा का पालन करना चाहिए नंबर 5 जचगी मनी कैसे बताएं बच्चा नहीं आता यदि माता-पिता हमारी को प्ले कराओ ₹1 को यदि छल्ला किस दिन से शुरू होंगे मिनी बचाना यदि शुरू की भारतीय शक्ति शक्ति सो रुपए होते हैं 1 साल के अंदर दो इसे कहते हैं मीनिंग बचाना

number van film aata pita ka yadi aap unko keh de ki ke beta us kaam ko tere ko nahi karna uske saath tere ko nahi ghumana jaise ki mata pita ki kamna mata pita ko kabhi niche nahi dikhana number 3 mata pita ka kachhi uncha sir uthaakar mata pita kisi ko keh sake ki mera beta aisa nahi hai number four checking mata pita aagya ka palan karna chahiye number 5 jachagi money kaise bataye baccha nahi aata yadi mata pita hamari ko play karao Rs ko yadi chhalla kis din se shuru honge mini bachaana yadi shuru ki bharatiya shakti shakti so rupaye hote hain 1 saal ke andar do ise kehte hain meaning bachaana

नंबर वन फिल्म आता पिता का यदि आप उनको कह दे कि के बेटा उस काम को तेरे को नहीं करना उसके सा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  60
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन बकवास है मैं इस पर कोई कमेंट नहीं करना चाहता

aapka question bakwas hai main is par koi comment nahi karna chahta

आपका क्वेश्चन बकवास है मैं इस पर कोई कमेंट नहीं करना चाहता

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उनकी केयर करना और उनके कामों पर हाथ बटाना खुश रहते हैं और हमें पॉकेट मनी क्या जान भी देती है

unki care karna aur unke kaamo par hath batana khush rehte hai aur hamein pocket money kya jaan bhi deti hai

उनकी केयर करना और उनके कामों पर हाथ बटाना खुश रहते हैं और हमें पॉकेट मनी क्या जान भी देती

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अबाउट आपने पूछा क्या करें माता-पिता हमें ज्यादा पॉकेट मनी आपके मम्मी पापा आप के पॉकेट मनी डबल करके ट्रिपल कर देंगे

about aapne poocha kya kare mata pita hamein zyada pocket money aapke mummy papa aap ke pocket money double karke triple kar denge

अबाउट आपने पूछा क्या करें माता-पिता हमें ज्यादा पॉकेट मनी आपके मम्मी पापा आप के पॉकेट मनी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user
2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या करने से माता-पिता में ज्यादा पॉकेट मनी देंगे और उसे कैसे बचाएं इसका सरल और सिंपल तरीका है कि आप घर में बेहद ईमानदार और बेहद अच्छा स्वभाव अपने आप में रखें और अपने मां-बाप की नजर में एकदम ईमानदार बने और इमानदारी वाला काम करें उनके कामों में हाथ बताएं और उनकी मतलब उनको ऐसा मतलब आप उनको यह क्लियर होना चाहिए कि हमारे बच्चा जो है कोई भी पैसा लेकर जाता उसका एक एक रुपए का हमेशा देता है और वह सारा पैसा मैं वापस करता है उसके बाद क्या है जब वह आपसे विश्वास बिल्कुल जिस नहीं हो जाएगी क्योंकि इतना अच्छा है कि एक रुपए का भी इधर-उधर नहीं करता है तो फिर उसमें क्या होता है कि जब विश्वास हो जाएगा फिर आप जब भी पैसे जैसे मांगोगे और उनको बताओगे के एडेड मेरे को याद आ पाया पिताजी मेरे को ऐसे करके यह पैसे चाहिए होंगे तो वह आपको पैसे लेंगे उनको पता है कि मैं लड़का इधर उधर नहीं करता है पैसे और जो है हर चीज़ का हिसाब किताब करके और इतना अच्छा वीवीआरएस का अच्छा हिसाब किताब है तो और बचाने के लिए जहां तक की बात है तो आप जो है फिजूलखर्ची होती है जो हमें कभी नहीं भी करना होता है तो कैसे उसे बगल में चलो यह कर ही देते हैं ले लेते हो खरीदी लेते तो उसमें थोड़ा सा अपने मन को समझा ही अपने मन को थोड़ा कंट्रोल करें उसे पैसे भी बचेंगे और पैसे आपको मिलेंगे इमानदारी से ही और वह भी जब आप ईमानदार बनेंगे और ईमानदारी वाले काम करें थैंक यू

kya karne se mata pita mein zyada pocket money denge aur use kaise bachaen iska saral aur simple tarika hai ki aap ghar mein behad imaandaar aur behad accha swabhav apne aap mein rakhen aur apne maa baap ki nazar mein ekdam imaandaar bane aur imaandari vala kaam kare unke kaamo mein hath bataye aur unki matlab unko aisa matlab aap unko yah clear hona chahiye ki hamare baccha jo hai koi bhi paisa lekar jata uska ek ek rupaye ka hamesha deta hai aur vaah saara paisa main wapas karta hai uske baad kya hai jab vaah aapse vishwas bilkul jis nahi ho jayegi kyonki itna accha hai ki ek rupaye ka bhi idhar udhar nahi karta hai toh phir usme kya hota hai ki jab vishwas ho jaega phir aap jab bhi paise jaise mangoge aur unko bataoge ke added mere ko yaad aa paya pitaji mere ko aise karke yah paise chahiye honge toh vaah aapko paise lenge unko pata hai ki main ladka idhar udhar nahi karta hai paise aur jo hai har cheez ka hisab kitab karke aur itna accha VVRS ka accha hisab kitab hai toh aur bachane ke liye jaha tak ki baat hai toh aap jo hai fijulakharchi hoti hai jo hamein kabhi nahi bhi karna hota hai toh kaise use bagal mein chalo yah kar hi dete hai le lete ho kharidi lete toh usme thoda sa apne man ko samjha hi apne man ko thoda control kare use paise bhi bachenge aur paise aapko milenge imaandari se hi aur vaah bhi jab aap imaandaar banenge aur imaandaari waale kaam kare thank you

क्या करने से माता-पिता में ज्यादा पॉकेट मनी देंगे और उसे कैसे बचाएं इसका सरल और सिंपल तरीक

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  64
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माता पिता की सेवा करो उनकी हर बात मानो उनसे ऊंची जगह ऊंची आवाज में बातें ना करो जब जाकर आपके माता-पिता आपको अच्छे और अब ऐसे बोलेंगे क्या हमारा बेटा सुधर गया है जब जाकर आपकी पॉकेट मनी बढ़ाएंगे आपको प्यार से भी प्यार भी करेंगे सब कुछ करेंगे सब तो मां-बाप तो करने में तो सब ठीक प्यार व्यार सब कुछ करते हैं लेकिन उससे भी कई गुना गुना ज्यादा मां-बाप के लिए सब समान होते हैं अगर आप बहन भाई भी हो तो ठीक है

mata pita ki seva karo unki har baat maano unse uchi jagah uchi awaaz mein batein na karo jab jaakar aapke mata pita aapko acche aur ab aise bolenge kya hamara beta sudhar gaya hai jab jaakar aapki pocket money badhaenge aapko pyar se bhi pyar bhi karenge sab kuch karenge sab toh maa baap toh karne mein toh sab theek pyar vyar sab kuch karte hain lekin usse bhi kai guna guna zyada maa baap ke liye sab saman hote hain agar aap behen bhai bhi ho toh theek hai

माता पिता की सेवा करो उनकी हर बात मानो उनसे ऊंची जगह ऊंची आवाज में बातें ना करो जब जाकर आप

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने माता-पिता की बात माननी चाहिए क्योंकि माता पिता की सेवा करना ही हमारा धर्म है तभी वह आपको चाहेंगे तभी आपको पैसा देंगे आपको पैसा बचाना चाहिए क्योंकि माता पिता के पैसों से सिर्फ जरूरत ही पूर्ण होती है और कुछ नहीं होता है माता पिता की सेवा ही करनी चाहिए धन्यवाद

apne mata pita ki baat maanani chahiye kyonki mata pita ki seva karna hi hamara dharm hai tabhi vaah aapko chahenge tabhi aapko paisa denge aapko paisa bachaana chahiye kyonki mata pita ke paison se sirf zarurat hi purn hoti hai aur kuch nahi hota hai mata pita ki seva hi karni chahiye dhanyavad

अपने माता-पिता की बात माननी चाहिए क्योंकि माता पिता की सेवा करना ही हमारा धर्म है तभी वह आ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माता-पिता की हर बात सुने उनके कहे अनुसार अपनी पढ़ाई करें और उनका काम करें उनकी हर बात मानी से ज्यादा वह आपको पैसे नहीं देंगे या नेता नहीं अगर बात नहीं मानी तो वह आपको नहीं देंगे लेकिन

mata pita ki har baat sune unke kahe anusaar apni padhai kare aur unka kaam kare unki har baat maani se zyada vaah aapko paise nahi denge ya neta nahi agar baat nahi maani toh vaah aapko nahi denge lekin

माता-पिता की हर बात सुने उनके कहे अनुसार अपनी पढ़ाई करें और उनका काम करें उनकी हर बात मानी

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मात-पिता आपके ऊपर विश्वास करते हैं पार्क पॉकेट मनी ज्यादा मत बोलो आपके लिए कमा रहे हैं आपके लिए ही उसको सुरक्षित रखते हैं मां-बाप के दो पेट होते हैं वह सब कुछ नहीं खाते हैं अपने बच्चों के लिए संभाल कर रखते हैं और किसी ने बोला था एक आदमी था उसने बोला था फिर भी तू अपने लड़कियों के लिए क्यों कुछ नहीं कर रहा है मैं तो अपने लड़के के लिए इसमें बहुत कुछ कुछ नहीं बोला अगर मेरे लड़के लाइक होंगे तो मुझे कुछ करने की जरूरत नहीं है मेरे बच्चे नहीं नालायक होंगे तो उसके क्या राय को भी बर्बाद कर देंगे

maat pita aapke upar vishwas karte hain park pocket money zyada mat bolo aapke liye kama rahe hain aapke liye hi usko surakshit rakhte hain maa baap ke do pet hote hain vaah sab kuch nahi khate hain apne baccho ke liye sambhaal kar rakhte hain aur kisi ne bola tha ek aadmi tha usne bola tha phir bhi tu apne ladkiyon ke liye kyon kuch nahi kar raha hai toh apne ladke ke liye isme bahut kuch kuch nahi bola agar mere ladke like honge toh mujhe kuch karne ki zarurat nahi hai mere bacche nahi nalayak honge toh uske kya rai ko bhi barbad kar denge

मात-पिता आपके ऊपर विश्वास करते हैं पार्क पॉकेट मनी ज्यादा मत बोलो आपके लिए कमा रहे हैं आपक

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मां-बाप का कहना माने और फिजूलखर्ची से बचें

maa baap ka kehna maane aur fijulakharchi se bache

मां-बाप का कहना माने और फिजूलखर्ची से बचें

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  41
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेहनत करने से

mehnat karne se

मेहनत करने से

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  54
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आधी कि अगर आपको आपके माता-पिता से ज्यादा पॉकेट मनी चाहिए तो मेरे हिसाब से उसके लिए कुछ ज्यादा काम नहीं करना पड़ेगा या फिर आपको ऐसे ही तरीके नहीं और ढूंढने होगी जिससे वह आपको ज्यादा पॉकेट मनी दे क्योंकि अगर आपको आपके माता-पिता से ज्यादा पैसे चाहिए तो बता पंजाब मांग सकता है कि हम जितने पैसे चाहिए मुझे यह काम है और अगर उन्हें लगता है कि वह पैसे जो ऐसे ही कामों के लिए जाने वाले तो आपको पक्का हां जो है पैसे दे देंगे लेकिन उसे कोई चीज करने से सब कुछ है यह बताना या फिर से प्रूफ दिया नहीं गया कि माता-पिता यह घर ही चीज करोगे तो अब ज्यादा पॉकेट में नहीं देंगे लेकिन फिर भी अगर आपको चाहिए क्या आपके माता-पिता जो आपको ज्यादा पॉकेट मनी दे तो मेरे हिसाब से जितना हो सके उतना करो हम आप हम को खुश रखे आप उनकी बातों का जो है पालन करें आज्ञा करें या फिर हम कहे जितना से जितना आप अच्छे से पढ़ाई करोगे या फिर माता-पिता को खुश रखोगी तो को ज्यादा पैसे मिलेगा और उन पैसों का आप कैसे बचाएगा जितना हो सके उतना अगर आप एकदम प्लानिंग करते हैं सेविंग सकते हैं अगर आपको दिन के आधार में अगर मैंने आपको सारा रुपया पता है कि मुझे इसमें से बस 500 ही मेरे ख्वाजा आएंगे तो जितना हो सके उतना कर आपसी विंग्स करोगे या फिर हम कहां बेफाल्तू के अगर आप पास पेंडिंग से अगर आप नहीं करते हो या फिर और सिगरेट यार को वैसे आप गलत नहीं है तो उतना ही अच्छा होगा जिस प्रकार से जो पैसे बचा सकते हो और अगर आपको अपने माता-पिता से ज्यादा पॉकेट मनी चाहिए तो जितना से कितना आप अच्छा काम करें या फिर उन्हें खुश करे तो उसे वापस वापस आते पकड़ने देंगे और सेविंग सरकार कितना से कितना रखेंगे फिर भी फालतू की चीजों पर ज्यादा हो सके उतना इंग्लिश नहीं करोगे या फिर शराब हाई क्वालिटी ऐसी चीज़ नहीं करोगे तो आप मैसेज को बचा सकते हैं

aadhi ki agar aapko aapke mata pita se zyada pocket money chahiye toh mere hisab se uske liye kuch zyada kaam nahi karna padega ya phir aapko aise hi tarike nahi aur dhundhne hogi jisse vaah aapko zyada pocket money de kyonki agar aapko aapke mata pita se zyada paise chahiye toh bata punjab maang sakta hai ki hum jitne paise chahiye mujhe yah kaam hai aur agar unhe lagta hai ki vaah paise jo aise hi kaamo ke liye jaane waale toh aapko pakka haan jo hai paise de denge lekin use koi cheez karne se sab kuch hai yah bataana ya phir se proof diya nahi gaya ki mata pita yah ghar hi cheez karoge toh ab zyada pocket mein nahi denge lekin phir bhi agar aapko chahiye kya aapke mata pita jo aapko zyada pocket money de toh mere hisab se jitna ho sake utana karo hum aap hum ko khush rakhe aap unki baaton ka jo hai palan kare aagya kare ya phir hum kahe jitna se jitna aap acche se padhai karoge ya phir mata pita ko khush rakhogi toh ko zyada paise milega aur un paison ka aap kaise bachega jitna ho sake utana agar aap ekdam planning karte hai saving sakte hai agar aapko din ke aadhaar mein agar maine aapko saara rupya pata hai ki mujhe isme se bus 500 hi mere khwaja aayenge toh jitna ho sake utana kar aapasi wings karoge ya phir hum kahaan befaltu ke agar aap paas pending se agar aap nahi karte ho ya phir aur cigarette yaar ko waise aap galat nahi hai toh utana hi accha hoga jis prakar se jo paise bacha sakte ho aur agar aapko apne mata pita se zyada pocket money chahiye toh jitna se kitna aap accha kaam kare ya phir unhe khush kare toh use wapas wapas aate pakadane denge aur saving sarkar kitna se kitna rakhenge phir bhi faltu ki chijon par zyada ho sake utana english nahi karoge ya phir sharab high quality aisi cheez nahi karoge toh aap massage ko bacha sakte hain

आधी कि अगर आपको आपके माता-पिता से ज्यादा पॉकेट मनी चाहिए तो मेरे हिसाब से उसके लिए कुछ ज्य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पॉकेट मनी तो मां-बाप ज्यादा दे ऐसे प्रयास कर पाए तो चलिए ठीक है प्रयास तो कर सकते हैं पर मां बाप पॉकेट मनी जाता है उसका तरीका होता है कि आप उसका सही इस्तेमाल करके दिखाएं अगर आप अपने बाप के सामने सारा हिसाब साफ रख रहे हैं उनको हर एक चीज में इन्वॉल्व कर रहे हैं उनको बताया नहीं कि कुछ पैसा मिल रहा है वह किस तरफ जा रहा है तो वापस आ सकते हैं तो उनको बस यह देखना चाहिए कि जो पैसा जा रहे हो सही से इस्तेमाल हो अगर वह इस्तेमाल नहीं होगा तो आपको पैसे दादा नहीं मिलेंगे तो तरीका तो यही है कि आप उनको दिखाइए की और आप सही समझे बिना सब दिखाइए बल्कि कीजिए बीयर पीने का सही इस्तेमाल बचाने का तरीका आसान है अपने मन में यह मां-बाप से ले रहे हैं तो अभी आपको जरूरत जितनी हो उतनी ही खर्च करें इसके अलावा ब्रांडेड कपड़े या फिर कोई भी सामान आपको चाहिए वह उसको लेने से पहले सोच लें कि यार एक बार अगर कैरियर बन जाएगा तो जब जब होगी पैसे आएंगे तब अपनी समाधि जाने कि हमेशा मैं आपको उस बात को सुनकर रखिए कि ऐसे मां बाप के हैं क्योंकि आपको देर और आप जल्दी-जल्दी अगर आपने अपने लिए और आपका इंतजार करना पड़ेगा हम आपकी जरुरत पूरी कर रहे हैं आपकी शौक नहीं पूरे करेंगे तो यह आपको मानना पड़ेगा क्या आपको अपने शौक अपने पैसों पर ही करने होंगे और यूएन अपने मां-बाप के शौक भी आपको उनके पैसों पर ही करने अपने पैसे पर ही पूरा पूरा कराने होंगे तभी दिमाग में रखना आसान हो जाएगा कि आप जहां भी रहे हो इसका ज्यादा है यहां जरूरत नहीं है खर्चे खर्चे भी काम चला लोगे

pocket money toh maa baap zyada de aise prayas kar paye toh chaliye theek hai prayas toh kar sakte hain par maa baap pocket money jata hai uska tarika hota hai ki aap uska sahi istemal karke dikhaen agar aap apne baap ke saamne saara hisab saaf rakh rahe hain unko har ek cheez mein involve kar rahe hain unko bataya nahi ki kuch paisa mil raha hai vaah kis taraf ja raha hai toh wapas aa sakte hain toh unko bus yah dekhna chahiye ki jo paisa ja rahe ho sahi se istemal ho agar vaah istemal nahi hoga toh aapko paise dada nahi milenge toh tarika toh yahi hai ki aap unko dikhaaiye ki aur aap sahi samjhe bina sab dikhaaiye balki kijiye beer peene ka sahi istemal bachane ka tarika aasaan hai apne man mein yah maa baap se le rahe hain toh abhi aapko zarurat jitni ho utani hi kharch kare iske alava branded kapde ya phir koi bhi saamaan aapko chahiye vaah usko lene se pehle soch le ki yaar ek baar agar carrier ban jaega toh jab jab hogi paise aayenge tab apni samadhi jaane ki hamesha main aapko us baat ko sunkar rakhiye ki aise maa baap ke hain kyonki aapko der aur aap jaldi jaldi agar aapne apne liye aur aapka intejar karna padega hum aapki zarurat puri kar rahe hain aapki shauk nahi poore karenge toh yah aapko manana padega kya aapko apne shauk apne paison par hi karne honge aur un apne maa baap ke shauk bhi aapko unke paison par hi karne apne paise par hi pura pura karane honge tabhi dimag mein rakhna aasaan ho jaega ki aap jaha bhi rahe ho iska zyada hai yahan zarurat nahi hai kharche kharche bhi kaam chala loge

पॉकेट मनी तो मां-बाप ज्यादा दे ऐसे प्रयास कर पाए तो चलिए ठीक है प्रयास तो कर सकते हैं पर म

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंडे के सारे सवाल का जवाब मुझे मालूम हो जाता तो मैं भी अपने पेरेंट्स को कन्वेंस कर लेते कि मुझे ज्यादा पॉकेट में नहीं दे फटाक से कुछ नहीं है अगर आप अगर आप एक अच्छे सानिया डॉक्टर हैं और आप एक अच्छे बेटे हैं बेटी है अपने पेरेंट्स के तो वह आप और आपको जरूरत है पैसों की तो आप उन्हें डायरेक्टली बोल सकते हैं वह आपको वैसे भी दे ही देंगे ज्यादा पैसे कि आप अपने पेरेंट्स को बिठाकर समझाइए कि आपको नींद होती है पैसों की आपको जरूरत होती है तो वह कुछ आता पॉकेट मनी दे और उसके अलावा आप जो भी हो काम बोले आप आराम से वह कर दे पढ़ाई में भी अगर आप ठीक है आपका फ्रेंड सर्कल भी बुरा नहीं है और अगर आपके पैरेंट्स को थोड़ा idea कि पैसे कहां खर्च हुआ है तो वह आपको ऐसी पैसे दे देंगे दोस्तों कोई टेंशन वाली बात नहीं है रही बात पैसे बचाने कि तू जो मैं करती हूं वहीं चले मुझे पॉकेट में नहीं मिलती है मैं उस पर से कुछ अंश निकाल की अलग सर्जरी कि अगर मुझे ₹5000 ऑफिस में नहीं मिलती है तो मैं उसमें से करीबन हजार 15 सो रुपए अलग से रख देती हूं जो मैं बिल्कुल खुश नहीं करती जब तक सिचुएशन बहुत खराब ना हो जाए अगर ऐसा हो कि मुझे को पैसे खर्च करने ही पड़ेंगे तू ही मैं परसों कल करूंगी अदर वाइज अगर कोई चीज को मैं डाल सकते हो तो मैं उन्हें खर्च नहीं करती आप भी ट्राई कर सकती या फिर बैंक अकाउंट खुलवा कर दो कुछ पैसे अपने अकाउंट में डलवा सकते हैं उससे भी पैसे से हो जाएंगे

ande ke saare sawaal ka jawab mujhe maloom ho jata toh main bhi apne parents ko convence kar lete ki mujhe zyada pocket mein nahi de fatak se kuch nahi hai agar aap agar aap ek acche saniya doctor hai aur aap ek acche bete hai beti hai apne parents ke toh vaah aap aur aapko zarurat hai paison ki toh aap unhe directly bol sakte hai vaah aapko waise bhi de hi denge zyada paise ki aap apne parents ko bithakar samjhaiye ki aapko neend hoti hai paison ki aapko zarurat hoti hai toh vaah kuch aata pocket money de aur uske alava aap jo bhi ho kaam bole aap aaram se vaah kar de padhai mein bhi agar aap theek hai aapka friend circle bhi bura nahi hai aur agar aapke pairents ko thoda idea ki paise kahaan kharch hua hai toh vaah aapko aisi paise de denge doston koi tension wali baat nahi hai rahi baat paise bachane ki tu jo main karti hoon wahi chale mujhe pocket mein nahi milti hai us par se kuch ansh nikaal ki alag surgery ki agar mujhe Rs office mein nahi milti hai toh main usme se kariban hazaar 15 so rupaye alag se rakh deti hoon jo main bilkul khush nahi karti jab tak situation bahut kharab na ho jaaye agar aisa ho ki mujhe ko paise kharch karne hi padenge tu hi main parso kal karungi other wise agar koi cheez ko main daal sakte ho toh main unhe kharch nahi karti aap bhi try kar sakti ya phir bank account khulwa kar do kuch paise apne account mein dalwa sakte hai usse bhi paise se ho jaenge

अंडे के सारे सवाल का जवाब मुझे मालूम हो जाता तो मैं भी अपने पेरेंट्स को कन्वेंस कर लेते कि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
play
user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप अपने माता-पिता के साथ कुछ वडील सेट कर सकते हैं आपसे कह लीजिए किया और उन पोर्टल सेट करके आप अपनी पॉकेट मनी बढ़ा सकते हैं ऐसे ना कह सकते हैं कि यह पैसे मैं आपके इन कामों में हेल्प करूंगा आप मुझे इन कामों के बीच कितने पैसे दे दो और वह इतने पैसे हमने मेरे ऑफिस में नहीं मैं आज कर दो जैसे कि वह आज मार्केट से सामान लेकर आना आप अकेली चीज मामा करती है तो वह काम अगर आप करें और लो उसके बाद उनकी कुछ चीज़ों महल कराना घर की भी तुम्हें हेल्प कर आना पापा के साथ फैक्ट्री जाना या बिज़नस ऑफिस जो भी वह करते हैं काम उसमें जाना वहां पर कुछ नया सीखना मापन का हाथ बटाना उनको जो चीज नहीं आती है आज कल देखा था जैसे कि आजकल की जनरेशन को यह ज्ञात Android काफी अच्छी बात है बड़े अपने माता पिता को नहीं आता है आपके घर पर आऊं तो इस हेल्थ के कारण अमेरिका कंपनी न्यूज़ बढ़ा दीजिए और उसका सिर पर ना देखिए आप पहले तो लिखेगा को कितनी पॉकेट मनी मिलती है उसके बाद उसका 22:50 90% आप चेक कर सकते हैं आज अगर आपको 2000 3000 पॉकेट मनी मिलती है तो मन की तो आप उस में से 500 + को ही मिलती है फालतू ऐसा सोचते भी पैसे हैं अब उसको एक पहली ही साइड पर रख दी थी कि मेरे पास सिर्फ 2000 है और मैं दो तीन में से दो हजार है मुझे पूरा महीने 2000 में चलाना है या फिर बाकी कैसे बने पैसे जो साइड में रखे हैं वह 500 या ₹700 या मैं भी हजार रुपए देखी जितना डिपेंड करता है कि आप कितना मैं चला सकते हैं आप अपना पूरा महीने का या फिर पूरे हफ्ते का देश में मिलती है सब कितना बचा सकते हैं तो आप ऐसे लड़के को सेव कर सकते हैं

dekhiye aap apne mata pita ke saath kuch wadila set kar sakte hai aapse keh lijiye kiya aur un portal set karke aap apni pocket money badha sakte hai aise na keh sakte hai ki yah paise main aapke in kaamo mein help karunga aap mujhe in kaamo ke beech kitne paise de do aur vaah itne paise humne mere office mein nahi main aaj kar do jaise ki vaah aaj market se saamaan lekar aana aap akeli cheez mama karti hai toh vaah kaam agar aap kare aur lo uske baad unki kuch cheezon mahal krana ghar ki bhi tumhe help kar aana papa ke saath factory jana ya business office jo bhi vaah karte hai kaam usme jana wahan par kuch naya sikhna maapan ka hath batana unko jo cheez nahi aati hai aaj kal dekha tha jaise ki aajkal ki generation ko yah gyaat Android kaafi achi baat hai bade apne mata pita ko nahi aata hai aapke ghar par aaun toh is health ke karan america company news badha dijiye aur uska sir par na dekhiye aap pehle toh likhega ko kitni pocket money milti hai uske baad uska 22 50 90 aap check kar sakte hai aaj agar aapko 2000 3000 pocket money milti hai toh man ki toh aap us mein se 500 ko hi milti hai faltu aisa sochte bhi paise hai ab usko ek pehli hi side par rakh di thi ki mere paas sirf 2000 hai aur main do teen mein se do hazaar hai mujhe pura mahine 2000 mein chalana hai ya phir baki kaise bane paise jo side mein rakhe hai vaah 500 ya Rs ya main bhi hazaar rupaye dekhi jitna depend karta hai ki aap kitna main chala sakte hai aap apna pura mahine ka ya phir poore hafte ka desh mein milti hai sab kitna bacha sakte hai toh aap aise ladke ko save kar sakte hain

देखिए आप अपने माता-पिता के साथ कुछ वडील सेट कर सकते हैं आपसे कह लीजिए किया और उन पोर्टल से

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि हिंदुस्तान के अंदर माता पिता अपने बेटे से यही उम्मीद करते हैं कि उनका जो भी बेटा है या बेटी है वह पढ़ाई में बहुत ज्यादा पर फोन करें बहुत अच्छा परफॉर्म करें इस फिल्म में उसका इंटर उसमें बहुत अच्छा परफॉर्म करें तो मुझे लगता है उसकी वजह से पूरे वर्ल्ड में मिलता है ठीक है जैसे फॉर example अगर आपने देखा होगा आपके पैरेंट्स आप से बोलते कि बेटा अगर आप 93% मार्क्स लेकर आऊंगा तो कहीं ना कहीं उनके उसके पीछे उनका प्यारी होता है तो मुझे लगता है कि वह चीज आपको ज्यादा करनी चाहिए जिसमें पेरेंट्स की भी खुशी हो और डेफिनेटली आपकी पॉकेट मनी बढ़ेगी जंगली पेरेंट्स की जो ओपिनियन होती अपने बच्चों के रिकॉर्डिंग हो यही है कि उनके बेटे स्टडी में है बेटा या बेटी इंटरसिटी में बहुत अच्छा परफॉर्म मेरे क्लास में टॉप करें अच्छे मार्क्स लेकर आए तो मुझे लगता है कि आप यह सारे काम करते हैं तो जरूर आपके पास आपकी पॉकेट मनी जरूर बनाएंगे

lekin mujhe lagta hai ki Hindustan ke andar mata pita apne bete se yahi ummid karte hain ki unka jo bhi beta hai ya beti hai vaah padhai mein bahut zyada par phone kare bahut accha perform kare is film mein uska inter usme bahut accha perform kare toh mujhe lagta hai uski wajah se poore world mein milta hai theek hai jaise for example agar aapne dekha hoga aapke pairents aap se bolte ki beta agar aap 93 marks lekar aaunga toh kahin na kahin unke uske peeche unka pyaari hota hai toh mujhe lagta hai ki vaah cheez aapko zyada karni chahiye jisme parents ki bhi khushi ho aur definetli aapki pocket money badhegi jungli parents ki jo opinion hoti apne baccho ke recording ho yahi hai ki unke bete study mein hai beta ya beti intercity mein bahut accha perform mere class mein top kare acche marks lekar aaye toh mujhe lagta hai ki aap yah saare kaam karte hain toh zaroor aapke paas aapki pocket money zaroor banayenge

लेकिन मुझे लगता है कि हिंदुस्तान के अंदर माता पिता अपने बेटे से यही उम्मीद करते हैं कि उनक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपने पेरेंट्स से आप यह से बात कर सकते कि मैं अगर इतना घर का काम करूंगा तो मेरे को इतनी पॉकेट मनी मिलेंगे तो वैसे आपको थोड़ा ज्यादा आप कर सकते हो कि मैं नाम है थोड़ा-थोड़ा इनक्रीस करने का वह रख सकते उनके सामने उसका डीलर रख सकते हो सामने और फिर आप इसको हर दिन हर मैंने काफी रखिए कि मेरे को सिर्फ इसमें से इतना खर्च करना है यह हर दिन आप मेरी 10 से ₹20 अलग रखिए अपने पूरे में से ताकि मनावर में आपको 21 थोड़ा मिल जाएगा इंडिया एंड वह बचावा रहेगा जो अलग से रहेगा

aap apne parents se aap yah se baat kar sakte ki main agar itna ghar ka kaam karunga toh mere ko itni pocket money milenge toh waise aapko thoda zyada aap kar sakte ho ki main naam hai thoda thoda increase karne ka vaah rakh sakte unke saamne uska dealer rakh sakte ho saamne aur phir aap isko har din har maine kaafi rakhiye ki mere ko sirf isme se itna kharch karna hai yah har din aap meri 10 se Rs alag rakhiye apne poore mein se taki manavar mein aapko 21 thoda mil jaega india and vaah bachava rahega jo alag se rahega

आप अपने पेरेंट्स से आप यह से बात कर सकते कि मैं अगर इतना घर का काम करूंगा तो मेरे को इतनी

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप अपने माता-पिता से अपनी पॉकेट मनी ज्यादा चाहते हैं तो वह सबसे पहले तो ऐसे काम कुछ भी ना करें जो कि आपके माता-पिता को पसंद नहीं है और यह सिर्फ 1 दिन के लिए नहीं बल्कि वह पूरे टाइम के लिए चीज को अपने दिमाग में बैठा ले क्या आपको कोई भी ऐसा काम नहीं करना है और जो कि आपके माता पिता को पसंद ना आता हो या वह चीज के लिए मना करते हो क्योंकि हर माता-पिता चाहता है कि उनके बच्चों की लाइफ में कोई भी प्रॉब्लम ना आए और उनको हेल्थ वाइजर किसी और की तरह से कोई भी दिक्कत नहीं पड़े तो इसीलिए वह आपको हमेशा भोंकते रहते हैं तो उनकी बात माने और वह जो कह रहे हैं उसको अच्छे से लेकर उसको उसको काम को करना बंद कर दें जैसे कि सारी माता पिता चाहते हैं कि आप सोशल मीडिया ज्यादा यूज ना करें पढ़ाई पर ध्यान दें खेल कूद में ध्यान दें और अपना खान पीन अपनी लाइफ स्टाइल सही रखें तो आपको सब अगर करेंगे तो आप यह सब करने के बाद आपके माता-पिता आपसे खुश रहेंगे और उसके बाद अगर आप अपने माता-पिता से कहेंगे कि आपकी पॉकेट मनी बढ़ा दे तो वह बिल्कुल मना नहीं करेंगे और आपकी पॉकेट में नहीं जरूर बढ़ा देंगे कि कि वह आपसे एक तरह से जब खुश होते हैं तो आपको इसमें किसी तरह से रिपोर्ट देना पसंद करते हैं तो उसकी जांच रिपोर्ट की तरह आप अपनी पॉकेट में नहीं बनवा सकते हैं और ऐसा नहीं है क्या आप से एक पॉकेट मनी बनवाने के लिए काम करें उसके बाद फिर वापस अपने नॉर्मल लाइफ स्टाइल पर आ जाए बल्कि उस चीज को वहीं से कंटिन्यू करके रखें जब तक वह आपको बिल्कुल पूरी तरह से छोड़ नहीं देती हो जितना हो सके अपने माता पिता की बात मानने की कोशिश करें उसके बाद कैसे बचाई जा सकती है पॉकेट मनी तो आप बाहर का खाना या जंक फूड क्या है जो चीज आपकी हेल्थ के लिए अच्छी नहीं है उन सब पर ज्यादा खर्चा ना करें उसके बाद ऐसी कोई चीज ना खरीदें और जो आपकी यूज़ में ज्यादा नहीं आने वाली है या फिर कोई भी चीज खरीदने से पहले इसका आकलन कर ले कि वह आपकी यूज़फुल है कि नहीं है या फिर वह सिर्फ आप ऐसे ही खरीद रहे हैं और दूसरी सी चीज है कि जब भी आप कोई चीज खरीदने वाले हो तो पहले उसकी पूरी तरह से प्राइसिंग चेक करने कि कहीं नई जगह पर जिंदगी तो नहीं मिल रही है कहीं और यह चीज सस्ती नहीं मिल रही है तो यह सब चीज देख कर ही आप चीजें खरीदता पॉकेट में नहीं बचा भी पाएंगे

agar aap apne mata pita se apni pocket money zyada chahte hai toh vaah sabse pehle toh aise kaam kuch bhi na kare jo ki aapke mata pita ko pasand nahi hai aur yah sirf 1 din ke liye nahi balki vaah poore time ke liye cheez ko apne dimag mein baitha le kya aapko koi bhi aisa kaam nahi karna hai aur jo ki aapke mata pita ko pasand na aata ho ya vaah cheez ke liye mana karte ho kyonki har mata pita chahta hai ki unke baccho ki life mein koi bhi problem na aaye aur unko health waheguru kisi aur ki tarah se koi bhi dikkat nahi pade toh isliye vaah aapko hamesha bhonkte rehte hai toh unki baat maane aur vaah jo keh rahe hai usko acche se lekar usko usko kaam ko karna band kar de jaise ki saree mata pita chahte hai ki aap social media zyada use na kare padhai par dhyan de khel kud mein dhyan de aur apna khan pin apni life style sahi rakhen toh aapko sab agar karenge toh aap yah sab karne ke baad aapke mata pita aapse khush rahenge aur uske baad agar aap apne mata pita se kahenge ki aapki pocket money badha de toh vaah bilkul mana nahi karenge aur aapki pocket mein nahi zaroor badha denge ki ki vaah aapse ek tarah se jab khush hote hai toh aapko isme kisi tarah se report dena pasand karte hai toh uski jaanch report ki tarah aap apni pocket mein nahi banwa sakte hai aur aisa nahi hai kya aap se ek pocket money banwane ke liye kaam kare uske baad phir wapas apne normal life style par aa jaaye balki us cheez ko wahi se continue karke rakhen jab tak vaah aapko bilkul puri tarah se chod nahi deti ho jitna ho sake apne mata pita ki baat manne ki koshish kare uske baad kaise bachai ja sakti hai pocket money toh aap bahar ka khana ya junk food kya hai jo cheez aapki health ke liye achi nahi hai un sab par zyada kharcha na kare uske baad aisi koi cheez na khariden aur jo aapki use mein zyada nahi aane wali hai ya phir koi bhi cheez kharidne se pehle iska aakalan kar le ki vaah aapki yuzful hai ki nahi hai ya phir vaah sirf aap aise hi kharid rahe hai aur dusri si cheez hai ki jab bhi aap koi cheez kharidne waale ho toh pehle uski puri tarah se pricing check karne ki kahin nayi jagah par zindagi toh nahi mil rahi hai kahin aur yah cheez sasti nahi mil rahi hai toh yah sab cheez dekh kar hi aap cheezen kharidata pocket mein nahi bacha bhi payenge

अगर आप अपने माता-पिता से अपनी पॉकेट मनी ज्यादा चाहते हैं तो वह सबसे पहले तो ऐसे काम कुछ भी

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
user

Simranpreet Singh

B.Tech in CE from SRM

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मैं यह मानता हूं कि भारत में जो माता पिता होते हैं वह पॉकेट मनी देते समय अपने बच्चों को सबसे पहली चीज यह देखते हैं कि अगर उनका बेटा या बेटी कहीं गलत जगह पैसे तो खर्च नहीं कर रहा है फिर उसके बाद एक दूसरी आदत यह भी रहते हैं कि उसी उसी दिए हुए पैसे में से वह कितने खास कर रहा है और कितना उसको बचाने की कोशिश कर रहा है तो मैं यह मानता हूं कि यह दो कारण है जिनकी वजह से तुम को देखने के बाद आप जॉब करने के बाद माता पिता को लगता है कि हां पॉकेट मनी देनी चाहिए और तीसरी चीज में यह भी मानता हूं कि छोटी h स्टार्ट करते हुए जब हम लोग कॉलेज स्टूडेंट या कॉलेज कॉलेज में जाते हैं तो उसके बाद मैं यह मानता हूं कि रिक्वायरमेंट भर्ती है सबकी उतना ही ज्यादा पॉकेट मनी की फिर ज्यादा जरूरत होती है तो मैं यह मानता हूं कि इस चीज को भी ध्यान रखकर पॉकेट मनी बढ़ाई जाती है और जहां तक बात आती है पैसे बचाने की तो पैसे बचाने के लिए मैं यह चीज कहूंगा कि आपको जितनी भी पॉकेट मनी दी जाती है आप कोशिश करिए महीने के स्टार्टिंग में ही उसमें से कुछ हिस्सा निकाल कर आप पहले ही अपने अंदर अलमारी में या किसी तरह किस देश में या कहीं पर बचा कर रखें अगर आप हर महीने थोड़ा थोड़ा थोड़ा थोड़ा करके बताएंगे फिर उसके बाद इंडिया एंड आप 10 महीने बाद 12 महीने बाद अगर कुछ अपने ही बचाए हुए पैसों से चीज खरीदेंगे तो मैं यह मानता हूं कि उसकी खुशी बहुत ही ज्यादा अलग होती है तो मैं यह मानता हूं कि पैसे बचाना बहुत ही ज्यादा जरूरी है आजकल के जमाने में क्योंकि पैसा खर्च करना तो बहुत आसान होता है बचाना और बचाने की क्वालिटी रखना यह बहुत ही कम लोगों को आता है तो वह चीज हम सबको सीखनी चाहिए और उसको इंप्लीमेंट करना चाहिए

lekin main yah manata hoon ki bharat mein jo mata pita hote hai vaah pocket money dete samay apne baccho ko sabse pehli cheez yah dekhte hai ki agar unka beta ya beti kahin galat jagah paise toh kharch nahi kar raha hai phir uske baad ek dusri aadat yah bhi rehte hai ki usi usi diye hue paise mein se vaah kitne khaas kar raha hai aur kitna usko bachane ki koshish kar raha hai toh main yah manata hoon ki yah do karan hai jinki wajah se tum ko dekhne ke baad aap job karne ke baad mata pita ko lagta hai ki haan pocket money deni chahiye aur teesri cheez mein yah bhi manata hoon ki choti h start karte hue jab hum log college student ya college college mein jaate hai toh uske baad main yah manata hoon ki requirement bharti hai sabki utana hi zyada pocket money ki phir zyada zarurat hoti hai toh main yah manata hoon ki is cheez ko bhi dhyan rakhakar pocket money badhai jaati hai aur jaha tak baat aati hai paise bachane ki toh paise bachane ke liye main yah cheez kahunga ki aapko jitni bhi pocket money di jaati hai aap koshish kariye mahine ke starting mein hi usme se kuch hissa nikaal kar aap pehle hi apne andar alamari mein ya kisi tarah kis desh mein ya kahin par bacha kar rakhen agar aap har mahine thoda thoda thoda thoda karke batayenge phir uske baad india and aap 10 mahine baad 12 mahine baad agar kuch apne hi bachaye hue paison se cheez khareedenge toh main yah manata hoon ki uski khushi bahut hi zyada alag hoti hai toh main yah manata hoon ki paise bachaana bahut hi zyada zaroori hai aajkal ke jamane mein kyonki paisa kharch karna toh bahut aasaan hota hai bachaana aur bachane ki quality rakhna yah bahut hi kam logo ko aata hai toh vaah cheez hum sabko sikhni chahiye aur usko implement karna chahiye

लेकिन मैं यह मानता हूं कि भारत में जो माता पिता होते हैं वह पॉकेट मनी देते समय अपने बच्चों

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!