क्या डकवर्थ लु IAS सिस्टम निष्पक्ष है? क्या इसे बदला जाना चाहिए? क्यों?...


play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विजय रावत मशरूम तो मुझे लगता कि दोनों टीमों पर बराबर लागू होता है होता क्या है कि कभी-कभी जो टीम जीत रही होती है और अचानक बारिश हो जाती तो डकवर्थ लुईस जो लगाया जाता उसकी वैसे जो टीम जिसकी जीतने की उम्मीद ज्यादा होती है कभी-कभी वह हार जाती है तो कभी-कभी इसकी वेलिडिटी पर क्वेश्चन मार्क होता है लेकिन मुझे लगता है कि डकवर्थ लुईस मेरी पत्नी ने बिल्कुल निष्पक्ष और अगर बदलाव भी होगा तो मुझे लगता है कि आई सी चीज के लिए एलिजिबल है अब उनको इस से अच्छा कोई रूल मिलता है तो डेफिनेटली उसको एग्जिट क्यूट करेंगे लेकिन सवाल यह नूर है और इसी पर हम को तरस भी करना पड़ेगा

vijay rawat mushroom toh mujhe lagta ki dono teamo par barabar laagu hota hai hota kya hai ki kabhi kabhi jo team jeet rahi hoti hai aur achanak barish ho jaati toh duckworth Louis jo lagaya jata uski waise jo team jiski jitne ki ummid zyada hoti hai kabhi kabhi vaah haar jaati hai toh kabhi kabhi iski validity par question mark hota hai lekin mujhe lagta hai ki duckworth Louis meri patni ne bilkul nishpaksh aur agar badlav bhi hoga toh mujhe lagta hai ki I si cheez ke liye elligible hai ab unko is se accha koi rule milta hai toh definetli usko exit cute karenge lekin sawaal yah noor hai aur isi par hum ko taras bhi karna padega

विजय रावत मशरूम तो मुझे लगता कि दोनों टीमों पर बराबर लागू होता है होता क्या है कि कभी-कभी

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  175
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

322 सिस्टम जो कि क्रिकेट में लगाया जाता है वह इंग्लैंड के क्वेश्चन स्टेशन से जनों ने मिलकर के डकवर्थ और निवेश इन दोनों ने मिलकर के इस नियम को बनाया था और यह जो कि हम सब जानते हैं कि इंग्लैंड क्रिकेट क्लब फादर है उसी ने क्रिकेट को जन्मा है तो ऐसे मौके पर डकवर्थ लुईस को गलत साबित कर देना तो गलत होगा सिस्टम सही है और बिल्कुल कंडीशन के हिसाब से है बारिश लाइट देने में प्रॉब्लम है किसी की वजह से वह करना चाहता है तो फिर आप 10 पत्नियों का इस्तेमाल कर सकते हो तो अगर ऐसा आपको लगता है कि यह जो नियम है इसको बदला जाना चाहिए या इसका नुकसान होता है तो कई बार अगर सिंह रुखसाना तो यह नुकसान हमको होता लेकिन फायदा भी हमको होता है तो चेंज सिस्टम कॉल स्टडी टाइम पर टीम का नुकसान होता है रे समथिंग लाइक यह भी क्रिकेट का एक पाठ है परंतु इसमें कुछ बदलाव की जरूरत है बेहतर बनाने का अगर सच में कोई उपाय है तो बिल्कुल किया जा सकता है लेकिन फिलहाल मुझे नहीं लगता किसी भी बदलाव की जरूरत है कि नुकसान हर्टिंग जलती है तो फायदा भी हसीन को मिलता है तो इसमें बदला जैसे ही चीज की कोई जरूरत नहीं है बिल्कुल सही नहीं है और अभी तक की हिस्ट्री में इसी तरह से नियम का इस्तेमाल हुआ है और गलत साबित नहीं हुआ जाता तो ज्यादा निशान नहीं उठाने पर उंगलियां नहीं होती है तो दुनिया में सही है

322 system jo ki cricket mein lagaya jata hai vaah england ke question station se jano ne milkar ke duckworth aur nivesh in dono ne milkar ke is niyam ko banaya tha aur yah jo ki hum sab jante hain ki england cricket club father hai usi ne cricket ko janma hai toh aise mauke par duckworth Louis ko galat saabit kar dena toh galat hoga system sahi hai aur bilkul condition ke hisab se hai barish light dene mein problem hai kisi ki wajah se vaah karna chahta hai toh phir aap 10 patniyon ka istemal kar sakte ho toh agar aisa aapko lagta hai ki yah jo niyam hai isko badla jana chahiye ya iska nuksan hota hai toh kai baar agar Singh rukhsana toh yah nuksan hamko hota lekin fayda bhi hamko hota hai toh change system call study time par team ka nuksan hota hai ray something like yah bhi cricket ka ek path hai parantu isme kuch badlav ki zarurat hai behtar banane ka agar sach mein koi upay hai toh bilkul kiya ja sakta hai lekin filhal mujhe nahi lagta kisi bhi badlav ki zarurat hai ki nuksan hurting jalti hai toh fayda bhi Haseen ko milta hai toh isme badla jaise hi cheez ki koi zarurat nahi hai bilkul sahi nahi hai aur abhi tak ki history mein isi tarah se niyam ka istemal hua hai aur galat saabit nahi hua jata toh zyada nishaan nahi uthane par ungaliyan nahi hoti hai toh duniya mein sahi hai

322 सिस्टम जो कि क्रिकेट में लगाया जाता है वह इंग्लैंड के क्वेश्चन स्टेशन से जनों ने मिलकर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की डकैत रोहित सिस्टम या फिर हम कहते थे DLF मैटर जो कि जिस से लाया गया था ताकि हम रिजल्ट देखना है जब कोई भी क्रिकेट में आज जो है उसे रोका जा जा चुका है वहां बारिश के द्वारा और खाना खा प्रक्रम देखे तो जलता को रेलवे स्टेशन से निष्पक्ष है क्योंकि जब बारिश होती है या फिर थोड़ी बहुत हल्का बूंदे भी गिरती है तब हमने अक्सर देखा है किस प्रकार से क्रिकेट खेलना या फिर आप कैसे दिख खेलना बहुत मुश्किल हो जाएगी की बहुत जल्दी पड़ी हो जाता है और प्लीज कोई जो है इस मूविंग बोल किधर हो जाना पड़ता है जो कि फुटबॉल में ऐसा नहीं होता और सीबीआई नहीं वेट ग्राउंड जो होता है उसे ज्यादा ही सीरियस भी हो जाती है और सिर्फ यही नहीं अगर हम देखें तो T20 या फिर हम का कोई भी अंतरराष्ट्रीय टीम के आईसीसी रैंकिंग देखे तो वह आए हुए रैंकिंग पॉइंट पर निर्भर करती है वह पॉइंट जो है वह निर्भर करते हैं अपने कितने दिन जीते और हारे और अगर वह इन पॉइंट्स अच्छे से मिले और पॉइंट में हेरा फेरी ना हो इसलिए जो ढकोसलों सिस्टम लगाया जा चुका ऐसी भी नहीं वह कोई भी ICC का टूर्नामेंट है और उसमें नॉकआउट चाहिए सूरत में बारिश आ जाए तो इससे ऊपर ऐसे सिचुएशन स्पाइडर को जो सिस्टम जो है वह मकाम आता है मोहब्बत लेकिन मेरे हिसाब से आर्डर कर लो सिस्टम में जो है बदलाव होने चाहिए कि जिस प्रकार से और ढोकले सिस्टम जो ऐसे बाबा टिंग टिंग की पहली बार करती है उस पर ज्यादा अच्छे से निर्भर करता है हमने अक्सर देखा है और यह बदलाव होना चाहिए क्योंकि आज इस प्रकार से यह निर्भर करता है कि कितने सारे लोग जो है वह जा चुके हैं या फिर स्टेज ऑफ द इवनिंग जॉब पर हो बॉस खत्म हो चुके या फिर आज कितने विकेट से तो यह सारे जग मुझे कुछ बदलाव लाने चाहिए जितना हो सके उतना करो आप बदलाव लाते हैं या फिर हम दोनों ही टीम स्कोर अकोला कुछ नहीं दे दे तो उतना अच्छा होगा तो आर्डर कुछ भी सिस्टम निष्पक्ष है

aaj ki dacoit rohit system ya phir hum kehte the DLF matter jo ki jis se laya gaya tha taki hum result dekhna hai jab koi bhi cricket mein aaj jo hai use roka ja ja chuka hai wahan barish ke dwara aur khana kha prakram dekhe toh jalta ko railway station se nishpaksh hai kyonki jab barish hoti hai ya phir thodi bahut halka bundein bhi girti hai tab humne aksar dekha hai kis prakar se cricket khelna ya phir aap kaise dikh khelna bahut mushkil ho jayegi ki bahut jaldi padi ho jata hai aur please koi jo hai is moving bol kidhar ho jana padta hai jo ki football mein aisa nahi hota aur cbi nahi wait ground jo hota hai use zyada hi serious bhi ho jaati hai aur sirf yahi nahi agar hum dekhen toh T20 ya phir hum ka koi bhi antararashtriya team ke icc ranking dekhe toh vaah aaye hue ranking point par nirbhar karti hai vaah point jo hai vaah nirbhar karte hai apne kitne din jeete aur hare aur agar vaah in points acche se mile aur point mein hera pheri na ho isliye jo dhakosalon system lagaya ja chuka aisi bhi nahi vaah koi bhi ICC ka tournament hai aur usme knockout chahiye surat mein barish aa jaaye toh isse upar aise situation SPYDER ko jo system jo hai vaah makam aata hai mohabbat lekin mere hisab se order kar lo system mein jo hai badlav hone chahiye ki jis prakar se aur dhokle system jo aise baba ting ting ki pehli baar karti hai us par zyada acche se nirbhar karta hai humne aksar dekha hai aur yah badlav hona chahiye kyonki aaj is prakar se yah nirbhar karta hai ki kitne saare log jo hai vaah ja chuke hai ya phir stage of the evening job par ho boss khatam ho chuke ya phir aaj kitne wicket se toh yah saare jag mujhe kuch badlav lane chahiye jitna ho sake utana karo aap badlav laate hai ya phir hum dono hi team score akola kuch nahi de de toh utana accha hoga toh order kuch bhi system nishpaksh hai

आज की डकैत रोहित सिस्टम या फिर हम कहते थे DLF मैटर जो कि जिस से लाया गया था ताकि हम रिजल्ट

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जियो डकवर्थ लुईस सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड भी करते हैं जो कि TV ऑल चैनल से निवेदन किया जाता है और हमारे क्रिकेट का एक पाठ है इसे फ्रेंड रिक्वेस्ट और धोनी ने स्टार्ट किया था और 2014 में रिटायर दोस्त है इसके बाद में जॉइन किया है तब से इसका नाम डकवर्थ लुईस चढ़ गया सेट करने के लिए की कितनी ऑफिस के मैच होंगे और फिर कितने विकेट नहीं रहते कितने ओवर के मैच होंगे दोनों टीम खेलेंगे आपस में तो कुछ हद तक यह मेथड बहुत सही रहता है लेकिन कभी-कभी यह तय करता है कर पाना बहुत मुश्किल होता है कि कितने ओवर के कितने स्कोर से की बैटिंग को सेट किया जाए ऐसा होता है कि अगर आप 25 वर्ष के मैसेज कर रहे हो और फिर भी आप के पास 10 खिलाड़ी खेलने के लिए तो बहुत आप अच्छे से खेल सकते हो लेकिन अगर ऐसा है कि आप ₹50 मैसेज कर रहे हो और आपके पास फिर भी 10 खिलाड़ी हैं सब को बहुत आराम से खेलना पड़ता है यह डिपेंड करता है कि और कैसी मैच हो रही है इसका इससे आप IPL और वर्ल्ड कप से डिफरेंस क्रिएट करके देख सकते हो तो आपको यह ज्यादा समझ में आएगा तो इसमें अब बदलाव लाना चाहिए मुझे नहीं लगता क्योंकि 2014 के बाद वाकई इसमें बदलाव हुआ है तब से यह सिस्टम बहुत अच्छा काम कर रहा है और बहुत हेल्पफुल है तो मुझे नहीं लगता इसमें बहुत ज्यादा बदलाव की बहुत जरूरत है

jio duckworth Louis system private limited bhi karte hain jo ki TV all channel se nivedan kiya jata hai aur hamare cricket ka ek path hai ise friend request aur dhoni ne start kiya tha aur 2014 mein retire dost hai iske baad mein join kiya hai tab se iska naam duckworth Louis chad gaya set karne ke liye ki kitni office ke match honge aur phir kitne wicket nahi rehte kitne over ke match honge dono team khelenge aapas mein toh kuch had tak yah method bahut sahi rehta hai lekin kabhi kabhi yah tay karta hai kar paana bahut mushkil hota hai ki kitne over ke kitne score se ki batting ko set kiya jaaye aisa hota hai ki agar aap 25 varsh ke massage kar rahe ho aur phir bhi aap ke paas 10 khiladi khelne ke liye toh bahut aap acche se khel sakte ho lekin agar aisa hai ki aap Rs massage kar rahe ho aur aapke paas phir bhi 10 khiladi hain sab ko bahut aaram se khelna padta hai yah depend karta hai ki aur kaisi match ho rahi hai iska isse aap IPL aur world cup se difference create karke dekh sakte ho toh aapko yah zyada samajh mein aayega toh isme ab badlav lana chahiye mujhe nahi lagta kyonki 2014 ke baad vaakai isme badlav hua hai tab se yah system bahut accha kaam kar raha hai aur bahut helpful hai toh mujhe nahi lagta isme bahut zyada badlav ki bahut zarurat hai

जियो डकवर्थ लुईस सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड भी करते हैं जो कि TV ऑल चैनल से निवेदन किया जाता

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user

Simranpreet Singh

B.Tech in CE from SRM

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मैं यह मानता हूं कि क्रिकेट में डकवर्थ लुईस सिस्टम एक बहुत अच्छा सिस्टम भी मारा जा सकता है जिसके अंदर थोड़ी बहुत कमियां है तो मैं अगर जंगल में मैं देखूं तो हर चीज कोई भी चीज परफेक्ट नहीं होती है उसके अंदर कोई ना कोई चीज कमी होती होती है हां उस कमी को हम लोग और इंप्रूव कर सकते हैं वही चीज डब्लू सिस्टम के साथ लागू होती है हालांकि डकवर्थ लुईस सिस्टम कोशिश करता है कि वह फेयर रिजल्ट फेयर मतलब टारगेट प्रपोज करें लेकिन कभी-कभी ऐसा हो जाता है कि जो टीम जीत रही होती है वह बारिश के बाद ऐसी कोई सिचुएशन डेवलप हो जाती है जिसमें वह हार नहीं लगती है तो उस जगह पर उस सिचुएशन में क्या करना चाहिए वह चीज मुझे लगता है कि ICC को उस चीज का तोड़ निकालना चाहिए क्योंकि ऐसे पहले भी कई मैसेज आए हैं अगर हम लोग को याद 22 एक बार वर्ल्ड कप की बात है 1999 के वर्ल्ड कप के साथ बात है तो साउथ अफ्रीका उस समय शायद मैच जीत रहा था लेकिन जब बारिश हुई तो उसके बाद साउथ अफ्रीका साउथ अफ्रीका को 1 बॉल पर 22 रन चाहिए थे जो कि बनना नामुमकिन है तो इस तरह की सिचुएशन को डील करने के लिए मुझे लगता है कि थोड़ा सा कुछ और अल्टरनेटर निकालना चाहिए वरना तो मैं यह मानता हूं कि डॉक्टर सिस्टम एकदम सही है

lekin main yah manata hoon ki cricket mein duckworth Louis system ek bahut accha system bhi mara ja sakta hai jiske andar thodi bahut kamiyan hai toh main agar jungle mein main dekhu toh har cheez koi bhi cheez perfect nahi hoti hai uske andar koi na koi cheez kami hoti hoti hai haan us kami ko hum log aur improve kar sakte hai wahi cheez w system ke saath laagu hoti hai halaki duckworth Louis system koshish karta hai ki vaah fair result fair matlab target propose kare lekin kabhi kabhi aisa ho jata hai ki jo team jeet rahi hoti hai vaah barish ke baad aisi koi situation develop ho jaati hai jisme vaah haar nahi lagti hai toh us jagah par us situation mein kya karna chahiye vaah cheez mujhe lagta hai ki ICC ko us cheez ka tod nikalna chahiye kyonki aise pehle bhi kai massage aaye hai agar hum log ko yaad 22 ek baar world cup ki baat hai 1999 ke world cup ke saath baat hai toh south africa us samay shayad match jeet raha tha lekin jab barish hui toh uske baad south africa south africa ko 1 ball par 22 run chahiye the jo ki banna namumkin hai toh is tarah ki situation ko deal karne ke liye mujhe lagta hai ki thoda sa kuch aur alternator nikalna chahiye varna toh main yah manata hoon ki doctor system ekdam sahi hai

लेकिन मैं यह मानता हूं कि क्रिकेट में डकवर्थ लुईस सिस्टम एक बहुत अच्छा सिस्टम भी मारा जा स

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!