ज्योतिष विद्या किस हद तक सच है?...


user
1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आप ही जानना चाहते हैं कि ज्योतिष विद्या की शतक सकते हैं जो प्रश्न यह है कि आपका अपना मन क्या कहता है अगर आप ही सोचते हैं कि ज्योतिष विद्या में सच्चाई है तो जीत निश्चित ही यह पुरातन हिंदू शास्त्रों के विद्या है हिंदू धर्म में इसका वर्णन है हम या हिंदू धर्म जो है पुनर्जन्म में विश्वास रखता है और ज्योतिष उस पर धर्म की अवधारणा को पुष्ट करती है ज्योतिषी बताती है कि एक यात्रा हमारी कहीं पर खत्म हुई और एक उसकी अगली यात्रा मारी शुरू हुई है जो इसका चार्ट है वही हमारा हॉरोस्कोप के लाता है वह कुंडली कहलाती है और जुकाम के सिद्धांत हैं उस पर यह पूरी छोरी याद आ रही थी कि आप अगर अच्छा कर्म करेंगे तो आपको अच्छा फल मिलेगा अगर आप बुरा कर्म करेंगे तो पूरा फल मिलेगा लेकिन अंतर सिर्फ इतना ही है टाइम और स्पेस में कब मिलेगा यह आपको भी पता नहीं होता इसी का नक्शा हमारे कुंडली और यही जानने की विद्या का नाम है ज्योतिष विद्या तो निश्चित तौर पर पुराने लोगों को बहुत ज्योतिष का ज्ञान था वह अपने आप में पुराने समय में परिपूर्ण थी लेकिन लोग उसको बांटा नहीं चाहते थे उसको अपने तक ही रखना चाहते थे इसलिए जो जिसका उत्तर विस्तार नहीं हो पाया लेकिन अगर विद्या के सच की बात आप करें तो ज्योतिष विद्या निश्चित तौर पर पूरी तरह से परिपूर्ण है पूरी तरह से पूर्ण विद्या

dekhi aap hi janana chahte hain ki jyotish vidya ki shatak sakte hain jo prashna yah hai ki aapka apna man kya kahata hai agar aap hi sochte hain ki jyotish vidya me sacchai hai toh jeet nishchit hi yah puratan hindu shastron ke vidya hai hindu dharm me iska varnan hai hum ya hindu dharm jo hai punarjanm me vishwas rakhta hai aur jyotish us par dharm ki avdharna ko pusht karti hai jyotishi batati hai ki ek yatra hamari kahin par khatam hui aur ek uski agli yatra mari shuru hui hai jo iska chart hai wahi hamara horoscope ke lata hai vaah kundali kahalati hai aur zukam ke siddhant hain us par yah puri chhori yaad aa rahi thi ki aap agar accha karm karenge toh aapko accha fal milega agar aap bura karm karenge toh pura fal milega lekin antar sirf itna hi hai time aur space me kab milega yah aapko bhi pata nahi hota isi ka naksha hamare kundali aur yahi jaanne ki vidya ka naam hai jyotish vidya toh nishchit taur par purane logo ko bahut jyotish ka gyaan tha vaah apne aap me purane samay me paripurna thi lekin log usko baata nahi chahte the usko apne tak hi rakhna chahte the isliye jo jiska uttar vistaar nahi ho paya lekin agar vidya ke sach ki baat aap kare toh jyotish vidya nishchit taur par puri tarah se paripurna hai puri tarah se purn vidya

देखी आप ही जानना चाहते हैं कि ज्योतिष विद्या की शतक सकते हैं जो प्रश्न यह है कि आपका अपना

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  79
KooApp_icon
WhatsApp_icon
17 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
jyotish vidya ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!