ज्योतिष विद्या किस हद तक सच है?...


user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न ज्योतिष विद्या किस हद तक सच है मैं आपको बता दूं ज्योतिष विद्या शत प्रतिशत सच है किंतु प्रश्न उठता है किसी जातक के बारे में जो भविष्यवाणियां की जाती है वह शख्स नहीं होता कभी सच हो जाते कभी-कभी वह जोशी पर निर्भर करता है जोशी का अध्ययन कितना है उसका अनुभव कितना है और वह किस पर किस से भविष्यवाणियां कर रहा है क्योंकि ज्योतिष में प्रथम सूत्र है देश कार्ड पात्र तीनों को देखते हुए ज्योतिष एक शोध विद्या है समय-समय पर इसमें शोध भी होना चाहिए अतः जोशी जॉब दुश्मनी करते हैं उस पर निर्भर करता है जो भविष्य बनिया कितनी भविष्य के लिए सटीक हो सकती है अगर किसी को भविष्यवाणी नहीं मिलती है इसका मतलब ज्योतिष विद्या ही गलत है यह गलत है ज्योति गलत हो सकता है ज्योतिष विद्या गलत नहीं हो सकता जब सही से भविष्यवाणी की जाए तो पल पल का समय और हम शुभम निकाली जा सकती है लेकिन इसके लिए बहुत ज्यादा समय की आवश्यकता है शोध की आवश्यकता है जो उतना समय एक ज्योतिषी दे नहीं पाते हैं और उनको उतना पारिश्रमिक भी नहीं मिल पाता है इसलिए वह गोल फल के तरह भविष्यवाणी कर देते हैं जो 25% से 50% मिलता है नहीं मिलता है धन्यवाद

namaskar aapka prashna jyotish vidya kis had tak sach hai main aapko bata doon jyotish vidya shat pratishat sach hai kintu prashna uthata hai kisi jatak ke bare me jo bhavishyavaniyan ki jaati hai vaah sakhs nahi hota kabhi sach ho jaate kabhi kabhi vaah joshi par nirbhar karta hai joshi ka adhyayan kitna hai uska anubhav kitna hai aur vaah kis par kis se bhavishyavaniyan kar raha hai kyonki jyotish me pratham sutra hai desh card patra tatvo ko dekhte hue jyotish ek shodh vidya hai samay samay par isme shodh bhi hona chahiye atah joshi job dushmani karte hain us par nirbhar karta hai jo bhavishya baniya kitni bhavishya ke liye sateek ho sakti hai agar kisi ko bhavishyavani nahi milti hai iska matlab jyotish vidya hi galat hai yah galat hai jyoti galat ho sakta hai jyotish vidya galat nahi ho sakta jab sahi se bhavishyavani ki jaaye toh pal pal ka samay aur hum subham nikali ja sakti hai lekin iske liye bahut zyada samay ki avashyakta hai shodh ki avashyakta hai jo utana samay ek jyotishi de nahi paate hain aur unko utana parishramik bhi nahi mil pata hai isliye vaah gol fal ke tarah bhavishyavani kar dete hain jo 25 se 50 milta hai nahi milta hai dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न ज्योतिष विद्या किस हद तक सच है मैं आपको बता दूं ज्योतिष विद्या शत प्रत

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  285
KooApp_icon
WhatsApp_icon
17 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
jyotish vidya ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!