ज्योतिष विद्या किस हद तक सच है?...


user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न ज्योतिष विद्या किस हद तक सच है मैं आपको बता दूं ज्योतिष विद्या शत प्रतिशत सच है किंतु प्रश्न उठता है किसी जातक के बारे में जो भविष्यवाणियां की जाती है वह शख्स नहीं होता कभी सच हो जाते कभी-कभी वह जोशी पर निर्भर करता है जोशी का अध्ययन कितना है उसका अनुभव कितना है और वह किस पर किस से भविष्यवाणियां कर रहा है क्योंकि ज्योतिष में प्रथम सूत्र है देश कार्ड पात्र तीनों को देखते हुए ज्योतिष एक शोध विद्या है समय-समय पर इसमें शोध भी होना चाहिए अतः जोशी जॉब दुश्मनी करते हैं उस पर निर्भर करता है जो भविष्य बनिया कितनी भविष्य के लिए सटीक हो सकती है अगर किसी को भविष्यवाणी नहीं मिलती है इसका मतलब ज्योतिष विद्या ही गलत है यह गलत है ज्योति गलत हो सकता है ज्योतिष विद्या गलत नहीं हो सकता जब सही से भविष्यवाणी की जाए तो पल पल का समय और हम शुभम निकाली जा सकती है लेकिन इसके लिए बहुत ज्यादा समय की आवश्यकता है शोध की आवश्यकता है जो उतना समय एक ज्योतिषी दे नहीं पाते हैं और उनको उतना पारिश्रमिक भी नहीं मिल पाता है इसलिए वह गोल फल के तरह भविष्यवाणी कर देते हैं जो 25% से 50% मिलता है नहीं मिलता है धन्यवाद

namaskar aapka prashna jyotish vidya kis had tak sach hai main aapko bata doon jyotish vidya shat pratishat sach hai kintu prashna uthata hai kisi jatak ke bare me jo bhavishyavaniyan ki jaati hai vaah sakhs nahi hota kabhi sach ho jaate kabhi kabhi vaah joshi par nirbhar karta hai joshi ka adhyayan kitna hai uska anubhav kitna hai aur vaah kis par kis se bhavishyavaniyan kar raha hai kyonki jyotish me pratham sutra hai desh card patra tatvo ko dekhte hue jyotish ek shodh vidya hai samay samay par isme shodh bhi hona chahiye atah joshi job dushmani karte hain us par nirbhar karta hai jo bhavishya baniya kitni bhavishya ke liye sateek ho sakti hai agar kisi ko bhavishyavani nahi milti hai iska matlab jyotish vidya hi galat hai yah galat hai jyoti galat ho sakta hai jyotish vidya galat nahi ho sakta jab sahi se bhavishyavani ki jaaye toh pal pal ka samay aur hum subham nikali ja sakti hai lekin iske liye bahut zyada samay ki avashyakta hai shodh ki avashyakta hai jo utana samay ek jyotishi de nahi paate hain aur unko utana parishramik bhi nahi mil pata hai isliye vaah gol fal ke tarah bhavishyavani kar dete hain jo 25 se 50 milta hai nahi milta hai dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न ज्योतिष विद्या किस हद तक सच है मैं आपको बता दूं ज्योतिष विद्या शत प्रत

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  282
WhatsApp_icon
17 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ramesh Bait

Astrologer & Spiritual Healer

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां ज्योतिष विद्या सही है मगर वह ज्योतिष जो है वह गलत हो सकता है जैसे एक विद्यार्थी आता है और पूछेगा कुंडली देखकर मैं में पास होगा कि नहीं होगा आप मुझे बताइए अभी भगवान कहते हैं कि आप कर्म करो अगर आप अच्छे कर्म करोगे तो अच्छा फल मिलेगा तो अगर वह लड़का पढ़ाई करता है तो पास हो जाएगा ज्योतिष से क्या बता सकता है ज्योतिष उसे बता सकता है कि अगर समय खराब चल रहा है तो क्या वह परीक्षा के वर्क बीमार गिरेगा क्या उसको वहां जाते वक्त कुछ तकलीफ होगी एक्सीडेंट होगा ऐसे कुछ संभावना कुछ ऐसी ग्रह स्थिति बन रही क्या उसमें आने वाली है तो अगर अड़चन आती है तो वह डेफिनेटली उसकी आराधना उपासना करके वह सॉल्व किया जा सकता है पास होगा कि नहीं होगा यह तो उसकी पढ़ाई बताइए ना इसके लिए लोग सवाल गलत पूछते और ज्योतिष जो जवाब देता है और ज्योतिष बताते हैं कि तुझे 78% आने वाला है 90% आने वाला है तो पुराने कालों में तो परेशान नहीं था ऐसा कुछ यह अभी वह बता रहे हैं आपको उसी लिए एक सीमा है उसकी उसकी माता को देखना सही है थैंक यू

ji haan jyotish vidya sahi hai magar vaah jyotish jo hai vaah galat ho sakta hai jaise ek vidyarthi aata hai aur puchhega kundali dekhkar main me paas hoga ki nahi hoga aap mujhe bataiye abhi bhagwan kehte hain ki aap karm karo agar aap acche karm karoge toh accha fal milega toh agar vaah ladka padhai karta hai toh paas ho jaega jyotish se kya bata sakta hai jyotish use bata sakta hai ki agar samay kharab chal raha hai toh kya vaah pariksha ke work bimar girega kya usko wahan jaate waqt kuch takleef hogi accident hoga aise kuch sambhavna kuch aisi grah sthiti ban rahi kya usme aane wali hai toh agar adachan aati hai toh vaah definetli uski aradhana upasana karke vaah solve kiya ja sakta hai paas hoga ki nahi hoga yah toh uski padhai bataiye na iske liye log sawaal galat poochhte aur jyotish jo jawab deta hai aur jyotish batatey hain ki tujhe 78 aane vala hai 90 aane vala hai toh purane kaalon me toh pareshan nahi tha aisa kuch yah abhi vaah bata rahe hain aapko usi liye ek seema hai uski uski mata ko dekhna sahi hai thank you

जी हां ज्योतिष विद्या सही है मगर वह ज्योतिष जो है वह गलत हो सकता है जैसे एक विद्यार्थी आ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आप ही जानना चाहते हैं कि ज्योतिष विद्या की शतक सकते हैं जो प्रश्न यह है कि आपका अपना मन क्या कहता है अगर आप ही सोचते हैं कि ज्योतिष विद्या में सच्चाई है तो जीत निश्चित ही यह पुरातन हिंदू शास्त्रों के विद्या है हिंदू धर्म में इसका वर्णन है हम या हिंदू धर्म जो है पुनर्जन्म में विश्वास रखता है और ज्योतिष उस पर धर्म की अवधारणा को पुष्ट करती है ज्योतिषी बताती है कि एक यात्रा हमारी कहीं पर खत्म हुई और एक उसकी अगली यात्रा मारी शुरू हुई है जो इसका चार्ट है वही हमारा हॉरोस्कोप के लाता है वह कुंडली कहलाती है और जुकाम के सिद्धांत हैं उस पर यह पूरी छोरी याद आ रही थी कि आप अगर अच्छा कर्म करेंगे तो आपको अच्छा फल मिलेगा अगर आप बुरा कर्म करेंगे तो पूरा फल मिलेगा लेकिन अंतर सिर्फ इतना ही है टाइम और स्पेस में कब मिलेगा यह आपको भी पता नहीं होता इसी का नक्शा हमारे कुंडली और यही जानने की विद्या का नाम है ज्योतिष विद्या तो निश्चित तौर पर पुराने लोगों को बहुत ज्योतिष का ज्ञान था वह अपने आप में पुराने समय में परिपूर्ण थी लेकिन लोग उसको बांटा नहीं चाहते थे उसको अपने तक ही रखना चाहते थे इसलिए जो जिसका उत्तर विस्तार नहीं हो पाया लेकिन अगर विद्या के सच की बात आप करें तो ज्योतिष विद्या निश्चित तौर पर पूरी तरह से परिपूर्ण है पूरी तरह से पूर्ण विद्या

dekhi aap hi janana chahte hain ki jyotish vidya ki shatak sakte hain jo prashna yah hai ki aapka apna man kya kahata hai agar aap hi sochte hain ki jyotish vidya me sacchai hai toh jeet nishchit hi yah puratan hindu shastron ke vidya hai hindu dharm me iska varnan hai hum ya hindu dharm jo hai punarjanm me vishwas rakhta hai aur jyotish us par dharm ki avdharna ko pusht karti hai jyotishi batati hai ki ek yatra hamari kahin par khatam hui aur ek uski agli yatra mari shuru hui hai jo iska chart hai wahi hamara horoscope ke lata hai vaah kundali kahalati hai aur zukam ke siddhant hain us par yah puri chhori yaad aa rahi thi ki aap agar accha karm karenge toh aapko accha fal milega agar aap bura karm karenge toh pura fal milega lekin antar sirf itna hi hai time aur space me kab milega yah aapko bhi pata nahi hota isi ka naksha hamare kundali aur yahi jaanne ki vidya ka naam hai jyotish vidya toh nishchit taur par purane logo ko bahut jyotish ka gyaan tha vaah apne aap me purane samay me paripurna thi lekin log usko baata nahi chahte the usko apne tak hi rakhna chahte the isliye jo jiska uttar vistaar nahi ho paya lekin agar vidya ke sach ki baat aap kare toh jyotish vidya nishchit taur par puri tarah se paripurna hai puri tarah se purn vidya

देखी आप ही जानना चाहते हैं कि ज्योतिष विद्या की शतक सकते हैं जो प्रश्न यह है कि आपका अपना

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user

Awdhesh Singh

Director AwdheshAcademy.com

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्योतिष जो है वह विश्वास की चीज है कुछ लोग जो मांगते हैं वह हर चीज हो जो किसी से पूछकर करते हैं और कुछ लोग बिल्कुल नहीं मानते जो जिसको वह हर काम अपने मन से करते हैं और दोषियों की बात को बिल्कुल विश्वास नहीं कर सकते लेकिन मैं नहीं समझता कि ज्योतिष जो है उसमें किसी तरीके के साइंटिफिक कर छोरी है कोई भी ऐसा साइंस उसके अंदर की सबसे बड़ी बाजू ज्योतिष में होती है कि उसमें रीजनल वेरिएशन होते हैं जो इंडिया में जो ज्योतिष का जोर मूल्यांकन होगा वह किसी और कंट्री के ज्योतिष के मूल्यांकन खराब होगा ही में भारत के अंदर जो है ना उसका ज्योतिष सलाहकार समिति समिति सदस्य किसी भी चीज़ में किस देश में है और किसी भी तरीके से वैज्ञानिक ने किया गया है तुम्हें नहीं समझता किस के अंदर कोई भी असत्य होने की संभावना है

jyotish jo hai wah vishwas ki cheez hai kuch log jo mangate hain wah har cheez ho jo kisi se puchakar karte hain aur kuch log bilkul nahi manate jo jisko wah har kaam apne man se karte hain aur doshiyon ki baat ko bilkul vishwas nahi kar sakte lekin main nahi samajhata ki jyotish jo hai usamen chahiye kisi tarike ke scientific kar chhori hai koi bhi aisa science uske andar ki sabse badi baju jyotish mein hoti hai ki usamen chahiye regional chahiye verieshan hote hain jo india mein jo jyotish ka chahiye jor mulyankan hoga wah kisi aur country ke jyotish ke mulyankan kharab hoga hi mein bharat ke andar jo hai na uska jyotish salahkar samiti samiti sadasya kisi bhi cheese mein kis desh mein hai aur kisi bhi tarike se vaegyanik ne kiya chahiye gaya hai tumhein nahi samajhata kis ke andar koi bhi asatya hone ki sambhavna hai

ज्योतिष जो है वह विश्वास की चीज है कुछ लोग जो मांगते हैं वह हर चीज हो जो किसी से पूछकर करत

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  2165
WhatsApp_icon
user

Raju Singh

IT professional

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे बहुत ही प्राचीन इतिहास रहा है ज्योतिष का पहले से पता चला आया मेरे देश में अभी भी बहुत बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो ज्योतिष को मानते हैं अपनी कुंडली को देखते हैं उनमें बातों को पढ़ते रहते हैं पेपर में हो या फोन में वह देख कर रहते हैं अब उनकी जो क्या मान्यता है वह क्या सोचते हैं यह तो मैं नहीं जानता लेकिन मैं अपने बारे में बता दूं पहले जो ज्योतिषाचार्य होते थे या फिर ऋषि मुनि जो भविष्यवाणी कर देते थे ज्योतिष के आधार पर उन्हें इतना तपोवन का इतना ज्यादा मजबूती थी तब तक उनका स्ट्रांग था कि डायरेक्ट उनके कनेक्शन भगवान से जुड़े होते थे वह समझ जाते थे और उसी आधार पर एक भविष्यवाणी करते थे और ग्रहों के मेल को देखकर ज्योतिष के आधार पर जो भी बहुत बढ़िया टी बुक करते रहते थे आज का युग है आज के युग में ऐसा कुछ दिखता नहीं है क्योंकि इतना तो बोल तो किसी में होगा नहीं कि वह किसी का भविष्य देख ले या फिर ग्रह पर जो हजारों करोड़ों वर्ष दूर है हमसे उनको उनका मिलान करके उनको मैच करके और आपके ज्योतिष ज्योतिष बन जाए आपके लिए और आपको बताएं कि आपके आपके नक्षत्र में क्या है आपकी राशियों में क्या है तो यह मेरे हिसाब से एक अंधविश्वास की तरह है आज के माहौल में और आज के परिवेश को देखकर मुझे यही लगता है कि इंसान को इसमें सबसे पहले खुद पर भरोसा करना चाहिए अपनी मेहनत पर भरोसा करना चाहिए जीता स्ट्रांग मेहनत होगी उत्तर सक्सेस आपको मिलेगा और कोई रास्ता नहीं है धन्यवाद

dekhe bahut hi prachin itihas raha hai jyotish ka chahiye pehle se pata chala aaya mere desh mein abhi bhi bahut bahut sare aise log hain jo jyotish ko manate hain apni kundali ko dekhte hain unmen chahiye baaton ko padhte rehte hain paper mein ho ya phone mein wah dekh kar rehte hain ab unki jo kya manyata hai wah kya sochte hain yeh to main nahi jaanta lekin main apne bare mein bata doon pehle jo jyotishacharya hote the ya phir rishi muni jo bhavishyavaani kar dete the jyotish ke aadhar par unhen chahiye itna tapovan ka chahiye itna zyada majbuti thi tab tak unka strong tha ki direct unke connection bhagwan se jude hote the wah samajh jaate the aur ussi aadhar par ek chahiye bhavishyavaani karte the aur grahon ke mail ko dekhkar jyotish ke aadhar par jo bhi bahut badhiya t book karte rehte the aaj ka chahiye yug hai aaj ke yug mein aisa kuch dikhta nahi hai kyonki itna to bol to kisi mein hoga nahi ki wah kisi ka chahiye bhavishya dekh le ya phir grah par jo hajaron chahiye karodo varsh dur hai humse unko unka milaan karke unko match karke aur aapke jyotish jyotish ban jaye aapke liye aur aapko chahiye bataen chahiye ki aapke aapke nakshtra mein kya hai aapki raashiyon mein kya hai to yeh mere hisab se ek chahiye andhavishvas ki tarah hai aaj ke maahaul mein aur aaj ke parivesh ko dekhkar mujhe yahi lagta hai ki insaan ko isme sabse pehle khud par bharosa karna chahiye apni mehnat par bharosa karna chahiye jita strong mehnat hogi uttar success aapko chahiye milega aur koi rasta nahi hai dhanyavad

देखे बहुत ही प्राचीन इतिहास रहा है ज्योतिष का पहले से पता चला आया मेरे देश में अभी भी बहुत

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  306
WhatsApp_icon
user

Ghanshyam Tiwari

Astrology And Vastu Spacilist

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्योतिष की कोई हद नहीं है पहली बात तो आपके प्रश्न का मैं जवाब दे दूं ज्योतिष एक महासागर है इसका अगर एक चलू भी पी लिया जाए तो हमारी नैया पार हो जाएगी इसमें कोई शक नहीं है तो ज्योतिष की कोई हद नहीं होती पहली बात तो यह है और ज्योतिष कि अगर मैं बात करूं तो ज्योतिष अपने आप में ही एक हद है यह हर चीज की हद तोड़ देती है इसके उपाय जो है कि अगर कोई हद से ज्यादा परेशान कर रहा है तो इसकी जो उपाय हैं उस की हद को खत्म कर देते हैं हर चीज की हद तोड़ देती है ज्योतिष ज्योतिष की हद ना जाने तो अच्छा है

jyotish ki koi had nahi hai pehli baat toh aapke prashna ka main jawab de doon jyotish ek mahasagar hai iska agar ek chalu bhi p liya jaye toh hamari naiya par ho jayegi ismein koi shak nahi hai toh jyotish ki koi had nahi hoti pehli baat toh yeh hai aur jyotish ki agar main baat karu toh jyotish apne aap mein hi ek had hai yeh har cheez ki had tod deti hai iske upay jo hai ki agar koi had se zyada pareshan kar raha hai toh iski jo upay hain us ki had ko khatam kar dete hain har cheez ki had tod deti hai jyotish jyotish ki had na jaane toh accha hai

ज्योतिष की कोई हद नहीं है पहली बात तो आपके प्रश्न का मैं जवाब दे दूं ज्योतिष एक महासागर है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
play
user

Garvita

Influencer

2:00

Likes  12  Dislikes    views  448
WhatsApp_icon
user

vivek singh

versatile

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी मैं ज्योतिष को एक टाइम का पार्टी मानता हूं ठीक है जैसे कि आप फिजिक्स देखते हैं जो फिजिक्स होती मैथमेटिक्स के बिना अधूरी होती है वैसे ही ज्योतिषी होती है ठीक है जैसे न्यूटन लॉ दिया लेकिन उसका प्रूफ नहीं है ठीक है न्यूटन के तीनों ला है उसका प्रूफ नहीं वैसे ज्योतिष में कई लॉजिक लिए कई चीजों का रिसर्च किया गया है और वह अपने हिसाब से सही होती हैं इस में ग्रह नक्षत्रों का खेल होता है और यह बाईलोजी किसी तरह सही है और पूरा पूरा साइंस से रिलेटेड बस दिक्कत यह है किसको मैथमेटिकल की डेरी बजे तक किसी पुरुष नहीं किया पाए आज तक किया जा सकता है बस केवल इतनी प्रॉब्लम है लेकिन ग्रह नक्षत्रों का खेल होता है मैं यह मानता हूं मैं उन लोगों की बात नहीं कर रहा हूं जो कल पैसा कमाने के लिए जिन को बिल्कुल भी थोड़ा सा ज्ञान नहीं है बहुत ज्यादा है और वह पैसा कमाने के लिए यह सब काम करते हैं तो मैं उनकी बात नहीं कर रहा हूं मैं एक लॉजिकल पसंद की बात करुं जिसको रियल में ऐसे कई लोग इंडिया में है जिनको रियल में ज्योतिष का ज्ञान है लेकिन बस प्रॉब्लम इतनी है कि वह मैथमेटिकल प्रूफ नहीं हो सकती बस वह किस स्टेट में

dekhi main jyotish ko ek chahiye time ka chahiye party manata hoon theek hai jaise ki aap physics dekhte hain jo physics hoti mathematics ke bina adhuri hoti hai waise hi jyotishi hoti hai theek hai jaise newton law diya lekin uska proof nahi hai theek hai newton ke tatvo la hai uska proof nahi waise jyotish mein kai logic liye kai chijon ka chahiye research kiya chahiye gaya hai aur wah apne hisab se sahi hoti hain is mein grah nakshatro ka chahiye khel hota hai aur yeh bailoji kisi tarah sahi hai aur pura pura science se related bus dikkat yeh hai kisko mathematical ki dairy baje tak kisi purush nahi kiya chahiye paye aaj tak kiya chahiye ja sakta hai bus kewal itni problem hai lekin grah nakshatro ka chahiye khel hota hai yeh manata hoon main un logo chahiye ki baat nahi kar raha hoon jo kal paisa kamane ke liye jin ko bilkul bhi thoda sa gyaan nahi hai bahut zyada hai aur wah paisa kamane ke liye yeh sab kaam karte hain to main unki baat nahi kar raha hoon main ek chahiye logical pasand ki baat karu chahiye jisko real mein aise kai log india mein hai jinako real mein jyotish ka chahiye gyaan hai lekin bus problem itni hai ki wah mathematical proof nahi ho sakti bus wah kis state mein

देखी मैं ज्योतिष को एक टाइम का पार्टी मानता हूं ठीक है जैसे कि आप फिजिक्स देखते हैं जो फिज

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  75
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर मैं अपनी खुद की ओपीनियन ना मैं बात करूं तो मेरे हिसाब से ज्योतिष विद्या जो है अब आप पूरी तरह से हम सच नहीं मान सकते हैं और ज्यादातर चीजे हमारे कर्मों पर और जो हम काम करते हैं जैसी हमारी सोच होती है उस पर डिपेंड करती है ना की किसी ज्योतिष विद्या क्योंकि इस द साइंटिफिक है साइंटिफिक स्टडी भी जितनी हुई है उन सब के अनुसार भी ज्योतिष विद्या को इतनी सच नहीं मानी गई है और जो काम होता है वह किसी ना किसी साइंस से किसी न किसी वजह से होता है तो और ज्योतिष विद्या जो कहती है कि एस्ट्रोलॉजी है यह सब चीजें हैं तो इन सबमें मैं थोड़ा कम विश्वास रखती हूं और मेरा मानना है कि अगर आप अच्छे कर्म करेंगे तो वह आपका भाग्य अभी और आपकी जो किस्मत हम लोग कहते हैं वह भी बदल सकते हैं और ज्योतिष विद्या में जो चीजें होती हैं वह भी सब बदल ही जा सकती है तो सबसे इंपोर्टेंट चीज़ यही होती है कि जो आप काम करें वह हमेशा अच्छे करें और दूसरों के प्रति अच्छे रहें और जो आप कर रहे हैं उसमें पूरी लगन के साथ करें क्योंकि अगर आप अपनी मेहनत के साथ काम नहीं कर ज्योतिष विद्या या आपकी किस्मत भी कोई भी चीज उस चीज को बदल नहीं सकती है और जो जैसा है वह वैसा ही रहेगा और दूसरी बात अगर हम पुराने समय में जाकर देखें तो पुराने समय में भी और जो लोग ठीक जय हो छत्रिय हो या किसी और कास्ट के लोगों उसे अपने कर्म में बिलीव करते थे और तभी से यह चीज चली आ रही है कि ज्योतिष विद्या कुंडली और इन सब को कोई नहीं मानता था एस्ट्रोलॉजी को भी नहीं माना जाता था लेकिन अब जब से साइंटिफिक स्टडी ने एस्ट्रोलॉजी को प्रूफ किया तब से थोड़ा बहुत लोग मानने लगे हैं लेकिन कई के बारे ज्योतिष विद्या की वजह से और लोग अंधविश्वास में भी पड़ जाते हैं जो कि बहुत गलत चीज है तो मेरा मानना है कि आप अपने घर में बिलीव करें जैसा कर्म करेंगे वैसा ही आपको उसका फल फल मिलेगा तो और ज्योतिष विद्या ज्यादा मायने नहीं रखते अगर आप अच्छे काम करते हैं तो

agar main apni khud ki opiniyan na main baat karu chahiye to mere hisab se jyotish vidya jo hai ab aap puri tarah se hum sach nahi maan sakte hain aur jyadatar cheeje hamare karmon par aur jo hum kaam karte hain jaisi hamari soch hoti hai us chahiye par depend karti chahiye hai na ki kisi jyotish vidya kyonki is the chahiye scientific hai scientific study bhi jitni hui hai un sab ke anusar bhi jyotish vidya ko itni sach nahi maani gayi hai aur jo kaam hota hai wah kisi na kisi science se kisi n kisi wajah se hota hai to aur jyotish vidya jo kahti hai ki astrology hai yeh sab cheezen hain to in sabme main thoda kam vishwas rakhti hoon aur mera manana hai ki agar aap acche karm karenge to wah aapka bhagya abhi aur aapki jo kismat hum log kehte hain wah bhi badal sakte hain aur jyotish vidya mein jo cheezen hoti hain wah bhi sab badal hi ja sakti hai to sabse important cheese yahi hoti hai ki jo aap kaam kare chahiye wah hamesha acche kare chahiye aur dusro ke prati acche rahen aur jo aap kar rahe hain usamen chahiye puri lagan ke saath kare chahiye kyonki agar aap apni mehnat ke saath kaam nahi kar jyotish vidya ya aapki kismat bhi koi bhi cheez us chahiye cheez ko badal nahi sakti hai aur jo jaisa hai wah waisa hi rahega aur dusri baat agar hum purane samay mein jaakar dekhen to purane samay mein bhi aur jo log theek jai ho " chatriy " ho ya kisi aur caste ke logo chahiye use apne karm mein believe karte the aur tabhi se yeh cheez chali aa rahi hai ki jyotish vidya kundali aur in sab ko koi nahi manata tha astrology ko bhi nahi mana jata tha lekin ab jab se scientific study ne astrology ko proof kiya chahiye tab se thoda bahut log manne lage hain lekin kai ke bare jyotish vidya ki wajah se aur log andhavishvas mein bhi padh jaate hain jo ki bahut galat cheez hai to mera manana hai ki aap apne ghar mein believe kare chahiye jaisa karm karenge waisa hi aapko chahiye uska fal fal milega to aur jyotish vidya zyada maayne nahi rakhate agar aap acche kaam karte hain to

अगर मैं अपनी खुद की ओपीनियन ना मैं बात करूं तो मेरे हिसाब से ज्योतिष विद्या जो है अब आप पू

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अभी तक ऐसी कोई साइंटिफिक स्टडी हुई नहीं है जिससे पता लग सके कि पूर्व हो सके कि ज्योतिष विद्या सच है या नहीं है जहां तक मेरे ओपिनियन की बात है तो मुझे ऐसा नहीं लगता कि वैदिक समय में ज्योतिष विद्या की कोई मान्यता थी इसका अंदाजा हम रामायण या महाभारत से लगा देते लगा सकते हैं जहां पर राम अर्जुन और बाकी कई राजाओं ने स्वयं बड़ों के जरिए शादी करी थी कुंडली मिलाकर या ऐसा कुछ कर कर नहीं रही बात ज्योतिष विद्या के आगे जाकर मान्यता बढ़ने की तो आगे भी ऐसे भारत में कई दिग्गजों मैथेमैटिशन थे जिन्होंने प्लानेट का द प्लानेट को साइंटिफिक के लिए कैसे यूज किया जा सके वह पता लगाया था कि दुनिया गोल है या फिर कैसे प्लानेट के जरिए पता लगा सकते हैं कि कौन सा मौसम आने वाला है यह सब चीजें भारत में सबसे पहले हुई थी और मुझे लगता है कि अगर औरत को प्यार ज्योतिष विद्या भी पता लग नहीं होती अगर उसकी कोई चीज होती तो वह भी हमें उस टाइम पर पता लग जाती है जब हमें यह सारी बाकी चीजें पता चली थी जबकि हमें यह तब पता चली थी इसे पूरे दुनिया में किसी और को पता नहीं थी तो मुझे लगता है ज्योतिष विद्या सिर्फ एक डर के उस पर कुछ लोगों का बनाया गया एक चीज है और मुझे नहीं लगता हमें से मानना चाहिए क्योंकि एक साथ इतने करोड़ों लोगों की किस्मत एक जैसी नहीं हो सकती मुझे लगता है तो ज्योतिष विद्या मुझे लगता है सच नहीं है

dekhie chahiye abhi tak aisi koi scientific study hui nahi hai jisse pata lag sake ki purv ho sake ki jyotish vidya sach hai ya nahi hai jaha tak mere opinion ki baat hai to mujhe aisa nahi lagta ki vaidik samay mein jyotish vidya ki koi manyata thi iska andaja hum ramayana ya mahabharat se laga dete laga sakte hain jaha par ram arjun aur baki kai rajao ne swayam badon ke jariye shadi kari thi kundali milakar ya aisa kuch kar kar nahi rahi baat jyotish vidya ke aage jaakar manyata badhne ki to aage bhi aise bharat mein kai diggajon chahiye maithemaitishan the jinhone planet ka chahiye the chahiye planet ko scientific ke liye kaise use kiya chahiye ja sake wah pata lagaya tha ki duniya gol hai ya phir kaise planet ke jariye pata laga sakte hain ki kaon sa mausam aane vala hai yeh sab cheezen bharat mein sabse pehle hui thi aur mujhe lagta hai ki agar aurat ko pyar jyotish vidya bhi pata lag nahi hoti agar uski koi cheez hoti to wah bhi hume us chahiye time par pata lag jati hai jab hume yeh saree baki cheezen pata chali thi jabki hume yeh tab pata chali thi ise poore duniya mein kisi aur ko pata nahi thi to mujhe lagta hai jyotish vidya sirf ek chahiye dar ke us chahiye par kuch logo chahiye ka chahiye banaya gaya ek chahiye cheez hai aur mujhe nahi lagta hume se manana chahiye kyonki ek chahiye saath itne karodo logo chahiye ki kismat ek chahiye jaisi nahi ho sakti mujhe lagta hai to jyotish vidya mujhe lagta hai sach nahi hai

देखिए अभी तक ऐसी कोई साइंटिफिक स्टडी हुई नहीं है जिससे पता लग सके कि पूर्व हो सके कि ज्योत

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  208
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो माने उसके लिए सब सच ज़माने उसके लिए सब झूठ जो लोग मानते हैं उनके लिए भगवान एडजस्ट करते हैं जो लोग नहीं मानते उनके लिए सिर्फ पत्थर की मूर्ति है वहीं अगर हम एस्ट्रोलॉजी या फिर जॉब ज्योतिषी विज्ञानं की बात करें तो इसमें भी मैं पोस्ट अंकुश बिलीव नहीं करती हूं ज्योतिष ज्योतिष विज्ञान में पर मेरे पेरेंट्स मैं मेरे ग्रैंड पेरेंट्स लोग प्लीज करते हैं कि मुझे ऐसा लगता है कि थोड़ा-बहुत अगर कोई बिलीव कर रहा है किसने अपना राशिफल पढ़ लिया वह ठीक है बट वो राशिफल को सच मान कर बैठ जाना उसमें लिखा है कि कुछ गड़बड़ होने वाली है तो उस गड़बड़ के बारे में सोचते रहना या शादी के लिए कोई अच्छी लड़की मिली है पढ़ी लिखी है नौकरी करती है सब अच्छा है उसके लिए सुंदर है और उसको सिर्फ इसलिए मना कर देना क्योंकि वह मांगलिक थी या फिर गुड नहीं मिले कुंडली मिलाने पर ज्योतिषी विज्ञानं की चीजें मुझे ज्यादा अच्छी नहीं लगती या फिर हाथ देख कर बताना की लकीरों में क्या लिखा है तुम जिंदा रहने वाली हो तुम्हारे साथ क्या होगा कौन से साइन कौन से सारी साइंस के लोक आपके फ्रेंड हो गए कौन सी दुश्मन होंगे किससे शादी होगी क्या जॉब करोगे यह सब प्रेक्टिकली पॉसिबल नहीं है देखे पर ऐसा होता कि ज्योतिष विज्ञान सब सिस्टम तो पूरी दुनिया को पता होता कि आगे क्या होने वाला भट्ट हमें नहीं पता अगले सेकंड भी क्या होने वाला है और यह एक चीज है जिसे कि घर किस दिशा में बनाना चाहिए हां अगर धूप चाहिए तो बनाओ जैसे सूरज निकलता हो लेकिन इधर पूरा के झरोखे बनाम पश्चिम की तरफ से यह मुझे समझ नहीं आती और मुझे ठीक भी नहीं लगती है पर जो मिली पहचान की जरूरत ही से गिफ्ट करते होंगे बट मेरे लिए नहीं

likhe jo mane uske liye sab sach jamaane uske liye sab jhuth jo log manate hai unke liye bhagwan adjust karte hai jo log nahi manate unke liye sirf pathar ki murti hai wahi agar hum astrology ya phir job jyotishi vigyan ki baat kare chahiye to isme bhi main post ankush chahiye believe nahi karti chahiye hoon jyotish jyotish vigyan mein par mere parents main mere great parents log please karte hai ki mujhe aisa lagta hai ki thoda bahut agar koi believe kar raha hai kisne apna rashifal padh liya wah theek hai but vo rashifal ko sach maan kar baith jana usamen chahiye likha hai ki kuch gadbad hone wali hai to us chahiye gadbad ke bare mein sochte rehna ya shadi ke liye koi acchi ladki mili hai padhi likhi hai naukri karti chahiye hai sab accha hai uske liye sundar hai aur usko sirf isliye mana kar dena kyonki wah manglik thi ya phir good nahi mile kundali milaane par jyotishi vigyan ki cheezen mujhe zyada acchi nahi lagti ya phir hath dekh kar batana ki lakiiron mein kya likha hai tum zinda rehne wali ho tumhare saath kya hoga kaon se sign kaon se saree science ke lok aapke friend ho gaye kaon si dushman honge kisse shadi hogi kya job karoge yeh sab prektikali possible nahi hai dekhe par aisa hota ki jyotish vigyan sab system to puri duniya ko pata hota ki aage kya hone vala bhatt hume nahi pata agle second bhi kya hone vala hai aur yeh ek chahiye cheez hai jise ki ghar kis disha mein banana chahiye haan agar dhoop chahiye to banao jaise suraj nikalta ho lekin idhar pura ke jharokhe banam paschim ki taraf se yeh mujhe samajh nahi aati aur mujhe theek bhi nahi lagti hai par jo mili pehchaan ki zarurat hi se gift karte honge but mere liye nahi

लिखे जो माने उसके लिए सब सच ज़माने उसके लिए सब झूठ जो लोग मानते हैं उनके लिए भगवान एडजस्ट

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हर चीज एक लिमिट में अच्छी होती है वहां तक उस पर टच भी किया जाता है कि ज्योतिष की बात की जाए हमारे वेदों में शास्त्रों में ज्योतिष के बारे में बताया गया और मैं कुछ हद तक इसको सही भी मानता हूं लेकिन ज्योतिष के कारण में साइंस को इग्नोर नहीं कर सकता क्योंकि दोनों चीजों की इंपोर्टेंस है और दोनों 17 असली चलती है तो ठीक है ज्योतिष का एक स्थान है हमारे देश के अंदर और बड़े बड़े ज्योतिषी भी हमारे देश के अंदर हुए लेकिन उनकी भी एक लिमिट है कोई भगवान से बड़ा नहीं हो सकता वह साइन से बड़ा भी नहीं हो सकता मुझे लगता है तो मुझे लगता है कि हर चीज की एक लिमिट करना लिमिट में वह चीज है तो वह ठीक है अगर लिमिट से ऊपर जा रही है तो फिर आप के लिए प्रॉब्लम क्रिएट होगी

dekhie chahiye har cheez ek chahiye limit mein acchi hoti hai wahan tak us chahiye par touch bhi kiya chahiye jata hai ki jyotish ki baat ki jaye hamare vedo mein shashtro mein jyotish ke bare mein bataya gaya aur main kuch had tak isko sahi bhi manata hoon lekin jyotish ke kaaran mein science ko ignore nahi kar sakta kyonki dono chijon ki importance hai aur dono 17 asli chalti hai to theek hai jyotish ka chahiye ek chahiye sthan hai hamare desh ke andar aur bade bade jyotishi bhi hamare desh ke andar huye lekin unki bhi ek chahiye limit hai koi bhagwan se bada nahi ho sakta wah sign se bada bhi nahi ho sakta mujhe lagta hai to mujhe lagta hai ki har cheez ki ek chahiye limit karna limit mein wah cheez hai to wah theek hai agar limit se upar ja rahi hai to phir aap ke liye problem create hogi

देखिए हर चीज एक लिमिट में अच्छी होती है वहां तक उस पर टच भी किया जाता है कि ज्योतिष की बात

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  336
WhatsApp_icon
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्योतिषाचार्य का ज्योतिष जो है वह प्रेडिक्शंस का खेल होता है होता क्या है कि शॉर्ट एंड टाइमिंग पर आपकी जो आपकी जब डेट ऑफ बर्थ होती है डेट ज्वार पैदा होने की होती है उसके साथ कुछ आइटम को चीज होती है जो कि आपके नेचर भी से जुड़ी हुई होती हैं उसी के बलबूते पर आपका फ्यूचर पास्ट प्रेजेंट सब बताया जाता निकाला जाता है तो यह फंक्शन है कि इसे सबसे अच्छा होना चाहिए लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो आप लोग को लगता है कि ज्योतिषाचार्य गलत लेकिन ऐसा नहीं हो सकता किसी किसी के लिए 70% किसी किसी किसी किसी के लिए और भी कम बसंती बसंती बसंती है कि किस तरह से आप जो नेचर आपका होना चाहिए आप उसको बदल चुके हैं यह आप उसी की नेचर के अभी बने हुए तो यह तो नहीं कहा जा सकता कि कितना सही है कितना गलत लेकिन हर किसी के लिए को ज्योतिष के हिसाब से उसका सही गलत का आकलन होता है तो मेरे मामले अगर मैं अपनी बात करूं तो मुझे 60% सही लगता है जो मुझे बताया गया मेरे बारे में सबसे पैसे मुझे लगता है 60% के आगे जो फोटो पसंद है वह मुझे गलत लगता है या गलत की है या थोड़ा मटका बॉस लगता है क्योंकि पैसा है नहीं मेरे साथ तो 60% मुसलमानों की फोटो को सुंदर जो कि मेरे साथ हुआ है बट हर किसी के अलग-अलग परसेंटेज होती

jyotishacharya ka chahiye jyotish jo hai wah predikshans ka chahiye khel hota hai hota kya hai ki short end timing par aapki jo aapki jab date of birth hoti hai date jowar paida hone ki hoti hai uske saath kuch item ko cheez hoti hai jo ki aapke nature bhi se judi hui hoti hain ussi ke balbute par aapka future past present sab bataya jata nikaala jata hai to yeh function hai ki ise sabse accha hona chahiye lekin agar aisa nahi hota hai to aap log ko lagta hai ki jyotishacharya galat lekin aisa nahi ho sakta kisi kisi ke liye 70% kisi kisi kisi kisi ke liye aur bhi kam basanti basanti basanti hai ki kis tarah se aap jo nature aapka hona chahiye aap usko badal chuke hain yeh aap ussi ki nature ke abhi bane huye to yeh to nahi kaha ja sakta ki kitna sahi hai kitna galat lekin har kisi ke liye ko jyotish ke hisab se uska sahi galat ka chahiye aakalan hota hai to mere mamle agar main apni baat karu chahiye to mujhe 60% sahi lagta hai jo mujhe bataya gaya mere bare mein sabse paise mujhe lagta hai 60% ke aage jo photo pasand hai wah mujhe galat lagta hai ya galat ki hai ya thoda matka chahiye boss lagta hai kyonki paisa hai nahi mere saath to 60% musalmano ki photo ko sundar jo ki mere saath hua hai but har kisi ke alag alag percentage hoti

ज्योतिषाचार्य का ज्योतिष जो है वह प्रेडिक्शंस का खेल होता है होता क्या है कि शॉर्ट एंड टाइ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  216
WhatsApp_icon
user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए और मैं इतना जैन ज्योतिष और शास्त्रों वगैरह बिलीव करती नहीं होंगे सब मतलब हॉरोस्कोप वाली चीजें मैं इतना खुश हूं इतना बिलीव नहीं करती इतना विश्वास नहीं करती हूं पहले करना जितना मैं जानती हूं इन सब चीजों के बारे में मैं उतना ही आपको बता सकती हूं कि जितना भी कोशिश एक सॉफ्टवेयर है जो ज्योति से ज्योति से काम है यह आजकल एक बिजनेसमैन गया है ज्योतिष वास्तु शास्त्र का ज्ञान हो चाहे ना हो मैं लोगों को ठगने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं और यक्षिणी में अगर देखा जाए यह चीजें होती है होती थी ऐसा नहीं है कि फिर कभी सही हुई नहीं है यह चीज बिल्कुल सच होती हैं पर लेकिन आजकल इसका कोई उपयोग है इसका जो इसका युसूफ लोगों को ठगने के लिए काम आता है और अगर आपको ऐसा कोई पंडित मिल जाता है और ऐसा अगर ऐसी कोई बात है तो बिल्कुल सच सेवर ऐप्स पर बिल्कुल विश्वास करते हैं और अगर वह बिल्कुल विश्वास करते हैं और अगर मैं आपको ऐसा कुछ ज्ञान दे रहा है कि आप कैसे ग्रह गलत चल रहे हैं या ऐसा ही हूं

dekhie chahiye aur main itna jain jyotish aur shashtro vagera believe karti chahiye nahi honge sab matlab horoscope wali cheezen main itna khush hoon itna believe nahi karti chahiye itna vishwas nahi karti chahiye hoon pehle karna jitna main jaanti hoon in sab chijon ke bare mein main utana chahiye hi aapko chahiye bata sakti hoon ki jitna bhi koshish ek chahiye software hai jo jyoti se jyoti se kaam hai yeh aajkal ek chahiye bussinessmen gaya hai jyotish vastu shastra ka chahiye gyaan ho chahe na ho main logo chahiye ko thagane ke liye iska istemal karte hai aur yakshini mein agar dekha jaye yeh cheezen hoti hai hoti thi aisa nahi hai ki phir kabhi sahi hui nahi hai yeh cheez bilkul sach hoti hai par lekin aajkal iska koi upyog hai iska jo iska yusuf logo chahiye ko thagane ke liye kaam aata hai aur agar aapko chahiye aisa koi pandit mil jata hai aur aisa agar aisi koi baat hai to bilkul sach sevar apps par bilkul vishwas karte hai aur agar wah bilkul vishwas karte hai aur agar main aapko chahiye aisa kuch gyaan de raha hai ki aap kaise grah galat chal rahe hai ya aisa hi hoon

देखिए और मैं इतना जैन ज्योतिष और शास्त्रों वगैरह बिलीव करती नहीं होंगे सब मतलब हॉरोस्कोप व

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  229
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शादी के जूते जो हम कह सकते हैं एस्ट्रोलॉजी वह कितने हद तक सच है यह बहुत हद तक सच है क्योंकि अगर हम देखें जूते तो आओ यह जो हमेशा प्लानेट से कौन से स्टेशन पर पहले कर देखते हैं कौन स्टेशन शुक्ला ने जो है कभी बदलते नहीं है तो खाना कहां पर होगा कोई भी ज्योतिष अगर बाप के बारे में कह रहे तो आपको कौन से प्लांट को देखकर कितना है तो मेरे हिसाब से जाकर ऐसी होती है जो देश के कुछ हद तक सही होती है क्योंकि अगर हम देखें और फिर पार्टी के अगर मध्य चीज दिखे तो बक्सर कहते हैं कि लाइफ में जो भी होता है वह भी सेंड होता है या फिर आपकी जो डिस्टर्ब नहीं होती वह पहले से ही लिखी जाती है तो वह खाना खाओ पर यह ज्योतिष की जरूरत होती है बहुत हद तक साथ होती है क्योंकि अगर हम देखें तो जिस प्रकार से अगले 90 मिनट तक एप्स देश का प्रथम सोते हो भाई मैं स्क्रीन ऑफ एमिनेंट कॉन्स्टेलेशन को लेकर जो है आपके बारे में कहा जा सकता है लेकिन आप के चेहरे को देखकर जो है कोई भी पिक सेंड नहीं कर सकता है आपकी राशि क्रिकेट ट्रिक्स को देख कर ही हमेशा लोग जो प्रेडिक्शन करते आते हैं और सिर्फ यही नहीं अब लाइफ में जितने भी इंपोर्टेंट क्वेश्चन फॉर प्ले स्टोर जाऊं मैट्रिमोनियल फाइनेंसियल हो या फिर मेडिकल हो वह सब एस्ट्रोजन क्या डिवाइस इस पर लेते हो तो वह ज्योतिष के जो भविष्यवाणी होती है कुछ हद तक सही होती है लेकिन हमेशा यह जरूरी नहीं है सही होते हुए आपको यह नहीं बताएंगे कि आपको कल क्या होगा लेकिन आपको बता क्या आपके जीवन में आगे आओ आगे क्या होगा क्योंकि आपके आ गया कौन सी इंपॉर्टेंट स्टेशन जाएंगे तो यही चीज जो वो जो तिल बताते तो मैं बहुत थक थक थक जाती है

shadi ke jute jo hum keh sakte hain astrology wah kitne had tak sach hai yeh bahut had tak sach hai kyonki agar hum dekhen jute to aao yeh jo hamesha planet se kaon se station par pehle kar dekhte hain kaon station shukla ne jo hai kabhi badalte nahi hai to khana kahaan par hoga koi bhi jyotish agar baap ke bare mein keh rahe to aapko chahiye kaon se plant ko dekhkar kitna hai to mere hisab se jaakar aisi hoti hai jo desh ke kuch had tak sahi hoti hai kyonki agar hum dekhen aur phir party ke agar madhya cheez dikhe to boxer kehte hain ki life mein jo bhi hota hai wah bhi send hota hai ya phir aapki jo disturb nahi hoti wah pehle se hi likhi jati hai to wah khana khao par yeh jyotish ki zarurat hoti hai bahut had tak saath hoti hai kyonki agar hum dekhen to jis prakar se agle 90 minute tak apps desh ka chahiye pratham sote ho bhai main screen of eminent kansteleshan ko lekar jo hai aapke bare mein kaha ja sakta hai lekin aap ke chehare ko dekhkar jo hai koi bhi pic send nahi kar sakta hai aapki rashi cricket tricks ko dekh kar hi hamesha log jo Prediction karte aate hain aur sirf yahi nahi ab life mein jitne bhi important question for play store jaun matrimonial financial ho ya phir medical ho wah sab estrogen chahiye kya device is par lete ho to wah jyotish ke jo bhavishyavaani hoti hai kuch had tak sahi hoti hai lekin hamesha yeh zaroori nahi hai sahi hote huye aapko chahiye yeh nahi batayenge ki aapko chahiye kal kya hoga lekin aapko chahiye bata kya aapke jeevan mein aage aao aage kya hoga kyonki aapke aa gaya kaon si important chahiye station jaenge to yahi cheez jo vo jo til batatey to main bahut thak thak thak jati hai

शादी के जूते जो हम कह सकते हैं एस्ट्रोलॉजी वह कितने हद तक सच है यह बहुत हद तक सच है क्योंक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अभी तक ऐसी कोई साइंटिफिक रिसर्च बहुत बड़ी सामने नहीं आई है यह बताया जा सके कि जो ज्योतिष है या फिर जो झूठी है वो कितने हद तक सही है और लोग कुछ भी कितना भरोसा करना चाहिए कितना नहीं तो और जहां तक मेरा मानना है कि कुछ हद तक ज्योतिषी सही होती है क्योंकि जो लोग जिन्हें वेदों का ज्ञान होता है जो ग्रंथों को समझते हैं वह चीजों को बता सकते हैं ज्योतिषी ऐसा नहीं है कि वह हाथ देखकर आपकी जीवन की रेखा बता देंगे आप इतने साल तक जिओगे इसमें इसमें भरोसा नहीं करती पर हां वह आपकी कुछ कुछ और फेशियल एक्सप्रेशन आपकी बातों से आपकी लाइफ में एक ऐसी चीज है चल नहीं है उस हिसाब से जरूर एक फ्यूचर गैस कर सकते हैं कि हां ऐसा आपके लाइफ में हो सकता ऐसा होने के चांसेस बहुत ज्यादा है इसका कोई रिजल्ट नहीं है कि ज्योति बहुत सही है बहुत गलत है इस तरीके से लोग एक दूसरे को बताते हैं उन्होंने ज्योतिषी का नाम दिया और कुछ अच्छी चीजें सही होती हैं जिसकी वजह से लोगों का भरोसा इस चीज पर ज्यादा थोड़ा बड़ा है मैंने कोई संक्षिप्त रूप नहीं है कि किस हद तक सच है तू जब तक इसका कोई प्रूफ नहीं है यह एक प्रूफ करने के लिए बहुत सही चीज भी नहीं है

dekhie chahiye abhi tak aisi koi scientific research bahut badi samane nahi I hai yeh bataya ja sake ki jo jyotish hai ya phir jo jhuthi hai vo kitne had tak sahi hai aur log kuch bhi kitna bharosa karna chahiye kitna nahi to aur jaha tak mera manana hai ki kuch had tak jyotishi sahi hoti hai kyonki jo log jinhen chahiye vedo ka chahiye gyaan hota hai jo granthon ko samajhte hain wah chijon ko bata sakte hain jyotishi aisa nahi hai ki wah hath dekhkar aapki jeevan ki rekha bata denge aap itne saal tak jioge isme isme bharosa nahi karti chahiye par haan wah aapki kuch kuch aur facial expression aapki baaton se aapki life mein ek chahiye aisi cheez hai chal nahi hai us chahiye hisab se jarur ek chahiye future gas kar sakte hain ki haan aisa aapke life mein ho sakta aisa hone ke chances bahut zyada hai iska koi result nahi hai ki jyoti bahut sahi hai bahut galat hai is tarike se log ek chahiye dusre chahiye ko batatey hain unhone jyotishi ka chahiye naam diya aur kuch acchi cheezen sahi hoti hain jiski wajah se logo chahiye ka chahiye bharosa is cheez par zyada thoda bada hai maine koi sanshipta roop nahi hai ki kis had tak sach hai tu jab tak iska koi proof nahi hai yeh ek chahiye proof karne ke liye bahut sahi cheez bhi nahi hai

देखिए अभी तक ऐसी कोई साइंटिफिक रिसर्च बहुत बड़ी सामने नहीं आई है यह बताया जा सके कि जो ज्य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे अब तक के अनुभव के अनुसार मुझे लगता है कि ज्योतिष विद्या पीठ चिकित्सीय शास्त्र की तरह है जिस जिस तरह से हमारा शरीर जो बीमार होता है और हम डॉक्टर के पास जाकर उसे दिखा कर अपने स्वास्थ्य के लिए दवाइयां लेते हैं उसे परामर्श लेते हैं और फिर उसके अनुसार दवाइयां लेकर अपने स्वास्थ्य में सुधार करते हैं उसी तरह ज्योतिषी मानसिक शांति के लिए है जब हमारे दिमाग में कोई परेशानी होती है जब हम किसी समस्या से ग्रसित होते हैं और परेशान होते हैं और उसका कोई हाल में सुनाई नहीं देता है तब हम किसी ज्योतिषी के पास जाते हैं और तुम इतनी कमजोर मनस्थिति में होते हैं कि ज्योतिषी जो कुछ भी कहता है हमें वह सही लगता है और हम उसे मारने की कोशिश करते हैं और मानते हैं कई बार उसे दक्षिणा भी देते हैं कई बार अचूक उपाय बताते हैं उन्हें भी हम पूरा करते हैं लेकिन मुझे लगता है कि यह सही नहीं है इस तरह से विश्वास रखो अंधविश्वास में बस सही नहीं है बीमारी शारीरिक बीमारी को आप चिकित्सा से ठीक कर सकते हैं डॉक्टर के पास जाकर दवाइयां लेकर अपने आप को पुनः स्वस्थ कर सकते हैं लेकिन अगर आपने अपने मन में यह बिठा लिया अपने दिमाग में यह बिठा लिया क्या आप की मानसिक शांति की वजह ज्योतिषी की कोई राय है यह एक जोतिषी का कोई उपाय है तो यह आपके आगे के जीवन को हमेशा के लिए अवरुद्ध कर दिया आप के विकास के मार्ग को रोक देगा आपको आपकी जिंदगी को थाम देगा इसलिए मुझे लगता है कि इन बातों में इतना महत्व नहीं देना चाहिए और इन्हें इतना गहरा इसे अपने जीवन में प्रभावित नहीं होने देना चाहिए कि आपका जीवन सिर्फ उसी के अनुसार चले उसे माननीय उसे सुनिए उसे माननीय थोड़ा वक्त उसे समझने की कोशिश कीजिए लेकिन उसके अनुसार अपने जीवन को चलाइए मत आपका जीवन आपके कार्यों से चलेगा आपके कर्मों से चलेगा अगर आप चाहेंगे तो आपके कर्म आपको उन सुविधाओं से निकाल बाहर करेंगे

mere ab tak ke anubhav ke anusar mujhe lagta hai ki jyotish vidya peeth chikitseey shastra ki tarah hai jis jis tarah se hamara sharir jo bimar hota hai aur hum doctor ke paas jaakar use dikha kar apne swasthya ke liye davaiyan lete hai use paramarsh lete hai aur phir uske anusar davaiyan lekar apne swasthya mein sudhaar karte hai ussi tarah jyotishi mansik shanti ke liye hai jab hamare dimag mein koi pareshani hoti hai jab hum kisi samasya se grasit hote hai aur pareshan hote hai aur uska koi haal mein sunayi nahi deta hai tab hum kisi jyotishi ke paas jaate hai aur tum itni kamjor manasthiti mein hote hai ki jyotishi jo kuch bhi kahata hai hume wah sahi lagta hai aur hum use maarne ki koshish karte hai aur manate hai kai baar use dakshina chahiye bhi dete hai kai baar achuk upay batatey hai unhen chahiye bhi hum pura karte hai lekin mujhe lagta hai ki yeh sahi nahi hai is tarah se vishwas rakho andhavishvas mein bus sahi nahi hai bimari shaaririk bimari ko aap chikitsa se theek kar sakte hai doctor ke paas jaakar davaiyan lekar apne aap ko punh swasth kar sakte hai lekin agar aapne apne man mein yeh bitha liya apne dimag mein yeh bitha liya kya aap ki mansik shanti ki wajah jyotishi ki koi raya hai yeh ek chahiye jotishi ka chahiye koi upay hai to yeh aapke aage ke jeevan ko hamesha ke liye avaruddh kar diya aap ke vikash ke marg ko rok dega aapko chahiye aapki zindagi ko tham dega isliye mujhe lagta hai ki in baaton mein itna mahatva nahi dena chahiye aur inhen chahiye itna gehra ise apne jeevan mein prabhavit nahi hone dena chahiye ki aapka jeevan sirf ussi ke anusar chale use mananiya use sunie chahiye use mananiya thoda waqt use samjhne ki koshish kijiye lekin uske anusar apne jeevan ko chalaiye mat aapka jeevan aapke karyo se chalega aapke karmon se chalega agar aap chahenge to aapke karm aapko chahiye un suvidhaon se nikal chahiye bahar karenge

मेरे अब तक के अनुभव के अनुसार मुझे लगता है कि ज्योतिष विद्या पीठ चिकित्सीय शास्त्र की तरह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
jyotish vidya ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!