राज्य के पांच कार्य बताइए?...


user

Raushan Kumar

Student Of Delhi University

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है राज्य के पांच कार्य बताइए तो मैं बता दूं कि राज्य का पांच कार्य होता है जिसमें सबसे पहला होता है राज्य में जो भी सरकार है वह जनता द्वारा निर्वाचित या जनता द्वारा जीता करके भेजी जाती है जो राज्य में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते हैं और उनका सबसे पहला कार्य है कि वह जनता जिसको जिसको वह विश्वास दिला करके अपने पद का कार्यभार को संभाले हैं उन जनता की बातों को सुनना चाहिए और अपने कार्य के प्रति सजग रहना चाहिए और उन्हें जनता के प्रति उत्तरदाई होना चाहिए और जनता ने जिस कार्य को करने के लिए भेजा है उस कार्य को पूरा करना चाहिए और राज्य का कर्तव्य है कि वह अपने राज्य के जनता को खुश रखें और उन्हें किसी भी प्रकार की कमी हो तो राज्य सरकार उसके लिए उसे पूरा करें और राज्य में राज्य सरकार किसी भी तरह के असामाजिक तत्वों को पनपने न दें और राज्य में जनता के कल्याण हेतु नई नई स्कीम बनाएं और नई नई स्कीमों से गरीबों को किसानों को उनके मदद करने के लिए वे फाइंड बनाए और नई नई स्कीम बना करके जनता कल्याण के बारे में कार्य करें और किसी भी राज्य के विकास जब तक के राज्य सरकार पूरी तरह से उस पर जोर नहीं लगाती तब तक नहीं होता और राज्य का एक कर्तव्य होता है कि वह अपने राज्य के विकास के लिए केंद्र सरकार से अनुदान ले और राज्य सरकार जो भी मतलब कि टैक्स वसूल रही है उससे राज्य पर खर्चा करें और खर्चा करके राज्य का विकास करें और भ्रष्टाचारी तत्वों को नष्ट करें यही राज्य की कर्तव्य होती है

aapka question hai rajya ke paanch karya bataiye toh main bata doon ki rajya ka paanch karya hota hai jisme sabse pehla hota hai rajya me jo bhi sarkar hai vaah janta dwara nirvachit ya janta dwara jita karke bheji jaati hai jo rajya me mukhyamantri pad ki shapath lete hain aur unka sabse pehla karya hai ki vaah janta jisko jisko vaah vishwas dila karke apne pad ka karyabhar ko sambhale hain un janta ki baaton ko sunana chahiye aur apne karya ke prati sajag rehna chahiye aur unhe janta ke prati uttardai hona chahiye aur janta ne jis karya ko karne ke liye bheja hai us karya ko pura karna chahiye aur rajya ka kartavya hai ki vaah apne rajya ke janta ko khush rakhen aur unhe kisi bhi prakar ki kami ho toh rajya sarkar uske liye use pura kare aur rajya me rajya sarkar kisi bhi tarah ke asamajik tatvon ko panapne na de aur rajya me janta ke kalyan hetu nayi nayi scheme banaye aur nayi nayi schemo se garibon ko kisano ko unke madad karne ke liye ve find banaye aur nayi nayi scheme bana karke janta kalyan ke bare me karya kare aur kisi bhi rajya ke vikas jab tak ke rajya sarkar puri tarah se us par jor nahi lagati tab tak nahi hota aur rajya ka ek kartavya hota hai ki vaah apne rajya ke vikas ke liye kendra sarkar se anudan le aur rajya sarkar jo bhi matlab ki tax vasool rahi hai usse rajya par kharcha kare aur kharcha karke rajya ka vikas kare aur bhrashtachaari tatvon ko nasht kare yahi rajya ki kartavya hoti hai

आपका क्वेश्चन है राज्य के पांच कार्य बताइए तो मैं बता दूं कि राज्य का पांच कार्य होता है ज

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  311
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!