हिंदू मुस्लिम क्यों बँटे हुए हैं?...


play
user

Dr. Shivam Sharma (yoga therapist)

Yogatharapisrt Dr.shivam Sharma ,plz Subscribehttps://www.youtube.com/channel/UCB95ewujlU5zM_wwKcALVCA

1:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हिंदू और मुस्लिम हिंदू और मुस्लिम एक समुदाय हैं जिनके अलग-अलग प्रथाएं हैं कर्म है नियम है और अलग-अलग नियम होने के कारण अपने अपने नियमों का पालन करने के कारण एक-दूसरे के नियमों का अभिन्न ना करना चाहते हैं उन्हें लगता है कि यह हमारा नियम है हमारा घर में अच्छा है और दूसरा कहता ही हमारा धर्म है यह अच्छा है अपने अपने धर्म को आगे लाना चाहते हैं अपने धर्म के नियमों को समझते हैं सबसे अच्छा है इसी कारण में आपस में ही भेद करने लग जाते हैं जिसमें अबे धर्म के लेकर आपस में झगड़ा हो जाता है अपने अपने धर्म को से सूरत आने चक्कर में ही आपस में लड़ाई हो जाते हैं इन सब चीजों के कारण ही आज भी ऐसी लड़ाई होती रहती है जिन्हें हम धार्मिक लाइए कहते हैं यह धर्म के आधार पर लड़ी जाती हैं अगर हर व्यक्ति यह सोचे कि भजन से बढ़कर मानवता को अपनाएं तो कभी लड़ाई नहीं होंगे और अगर वह मानवता को मानवता को आगे लेकर चले तो भारत एक ऐसा देश बन जाएगा जो मुक्त हो जाएगा और मानवता के अच्छे मार्ग पर चलेगा

dekhiye hindu aur muslim hindu aur muslim ek samuday hain jinke alag alag prathaen hain karm hai niyam hai aur alag alag niyam hone ke karan apne apne niyamon ka palan karne ke karan ek dusre ke niyamon ka abhinn na karna chahte hain unhe lagta hai ki yah hamara niyam hai hamara ghar mein accha hai aur doosra kahata hi hamara dharm hai yah accha hai apne apne dharm ko aage lana chahte hain apne dharm ke niyamon ko samajhte hain sabse accha hai isi karan mein aapas mein hi bhed karne lag jaate hain jisme abe dharm ke lekar aapas mein jhadna ho jata hai apne apne dharm ko se surat aane chakkar mein hi aapas mein ladai ho jaate hain in sab chijon ke karan hi aaj bhi aisi ladai hoti rehti hai jinhen hum dharmik laiye kehte hain yah dharm ke aadhaar par ladi jaati hain agar har vyakti yah soche ki bhajan se badhkar manavta ko apanaen toh kabhi ladai nahi honge aur agar vaah manavta ko manavta ko aage lekar chale toh bharat ek aisa desh ban jaega jo mukt ho jaega aur manavta ke acche marg par chalega

देखिए हिंदू और मुस्लिम हिंदू और मुस्लिम एक समुदाय हैं जिनके अलग-अलग प्रथाएं हैं कर्म है नि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!