क्या देश में मीडिया का पक्षपात होना गंभीर विषय है?...


play
user

Farhan Yahiya

Chief Reporter

0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल है यह सिर्फ हमारे देश की बात नहीं दुनिया का कोई भी विकसित देशो कोई भी डेवलपमेंट डेवलप्ड कंट्री हो अगर वहां की मीडिया स्वतंत्र नहीं रहेगी अगर मीडिया बिक जाएगी चाहे कहीं की भी हो किसी भी देश की हो जाए हमारे देश की तो उस देश का तो जाहिर सी बात है कि लोकतंत्र को खतरे में रहेगा ही रहेगा अगर मीडिया भाजपा करेगी बिक जाएगी और एकतरफा हो जाएगी पांच शालेतील करने लगेगी

bilkul hai yeh sirf hamare desh ki baat nahi duniya ka koi bhi viksit desho koi bhi development developed country ho agar wahan ki media swatantra nahi rahegi agar media bik jayegi chahe kahin ki bhi ho kisi bhi desh ki ho jaye hamare desh ki toh us desh ka toh jaahir si baat hai ki loktantra ko khatre mein rahega hi rahega agar media bhajpa karegi bik jayegi aur ektarfa ho jayegi paanch shaletil karne lagegi

बिल्कुल है यह सिर्फ हमारे देश की बात नहीं दुनिया का कोई भी विकसित देशो कोई भी डेवलपमेंट डे

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  485
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मीडिया विश्वसनीय एवं निष्पक्षता को दरकिनार कर सत्ता सुख के राह पर चल रही है

media viswasniya evam nishpakshata ko darakinar kar satta sukh ke raah par chal rahi hai

मीडिया विश्वसनीय एवं निष्पक्षता को दरकिनार कर सत्ता सुख के राह पर चल रही है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विपक्ष पर तो नहीं करना चाहिए मीडिया को विद्या के बारे में तो ऐसा है ना कि मीडिया की झोपड़ी भी है जो तहसील के रखा है और उसको अपनी नौकरी बचाने के लिए जो भी करना है वह उसके बारे में करना पड़ता है और जो मीडिया को मेहनत करते हैं पॉलिटिक्स हो रहा है अगर गुजरात की बात करने गुजरात में हुआ होता है और बीच में होता है वह डिलीट हो जाता है

vipaksh par toh nahi karna chahiye media ko vidya ke bare mein toh aisa hai na ki media ki jhopdi bhi hai jo tehsil ke rakha hai aur usko apni naukri bachane ke liye jo bhi karna hai vaah uske bare mein karna padta hai aur jo media ko mehnat karte hain politics ho raha hai agar gujarat ki baat karne gujarat mein hua hota hai aur beech mein hota hai vaah delete ho jata hai

विपक्ष पर तो नहीं करना चाहिए मीडिया को विद्या के बारे में तो ऐसा है ना कि मीडिया की झोपड़ी

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Brijesh Chowdhary

MediaBureau Chief & Journalist

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बिलकुल वीडियो आ चुकी है लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और कोई भी स्थान इसको हिंदी में लिखी हुई आनी उसका अपना खाता होने चाहिए अगर मीडिया पक्षपात पूर्ण होगा गंभीर बिल्कुल है क्योंकि अगर मीडिया पक्षपात करेगा क्या वह प्रेग्नेंट हो या एंटी बुक 2 इन चीजों को सामने नहीं आएगी घंटा यह दो चक्का आर्य समाज में हो रहा है उसको एबीपी सुनते जनता के सामने पेश करना अगर जो हो रहा है उसको हम छुपाते हैं या जो बोल नहीं रहा है उसको नहीं पता उसको दे मुझे बताते हैं कि पक्षपात पूर्ण हो गया है और इसके सीधा-सीधा देश के भविष्य पर जनता को के भविष्य पर देश के विकास सीधा असर पड़ता है

ji haan bilkul video aa chuki hai loktantra ka chautha stambh hai aur koi bhi sthan isko hindi mein likhi hui aani uska apna khaata hone chahiye agar media pakshapat purn hoga gambhir bilkul hai kyonki agar media pakshapat karega kya vaah pregnant ho ya anti book 2 in chijon ko saamne nahi aayegi ghanta yah do chakka arya samaj mein ho raha hai usko ABP sunte janta ke saamne pesh karna agar jo ho raha hai usko hum chhupaate hain ya jo bol nahi raha hai usko nahi pata usko de mujhe batatey hain ki pakshapat purn ho gaya hai aur iske seedha seedha desh ke bhavishya par janta ko ke bhavishya par desh ke vikas seedha asar padta hai

जी हां बिलकुल वीडियो आ चुकी है लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और कोई भी स्थान इसको हिंदी में लि

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मीडिया का पक्षपात गंभीर तो है लेकिन यह एक अनिवार्य बुराई बन चुकी है बुराई इसलिए कि बिना पक्षपात के लिए मीडिया अपना काम धंधा नहीं चला सकता इस पर सरकार को सोचना होगा मीडिया को छूट देनी होगी सरकार को आलोचना सुनने की हिम्मत जुटा ली होगी तभी मीडिया निष्पक्ष हो सकता है निष्पक्ष मीडिया का मतलब है आत्मघाती कदम इसीलिए मीडिया निष्पक्ष नहीं हो पा रहा है और इसकी गंभीरता के बारे में सबसे ज्यादा सरकार को सोचना होगा जब तक सरकार नहीं सोचेगी मीडिया निष्पक्ष नहीं हो सकेगा धन्यवाद

media ka pakshapat gambhir toh hai lekin yah ek anivarya burayi ban chuki hai burayi isliye ki bina pakshapat ke liye media apna kaam dhandha nahi chala sakta is par sarkar ko sochna hoga media ko chhut deni hogi sarkar ko aalochana sunne ki himmat jutta li hogi tabhi media nishpaksh ho sakta hai nishpaksh media ka matlab hai aatmghaati kadam isliye media nishpaksh nahi ho paa raha hai aur iski gambhirta ke bare me sabse zyada sarkar ko sochna hoga jab tak sarkar nahi sochegi media nishpaksh nahi ho sakega dhanyavad

मीडिया का पक्षपात गंभीर तो है लेकिन यह एक अनिवार्य बुराई बन चुकी है बुराई इसलिए कि बिना प

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1132
WhatsApp_icon
user

Mehmood Alum

Law Student

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है लेकिन आज देखा जाए तो मीडिया का एक बहुत बड़ा वर्ग पक्षपात पूर्ण रवैया अपना रहा है जिसकी वजह से लोकतंत्र की मजबूती पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं ऐसा लगता है कि मीडिया संस्थानों में कचरा भर गया है और वह कचरा ही उगल रहे हैं

dekhiye media ko loktantra ka chautha stambh kaha jata hai lekin aaj dekha jaaye toh media ka ek bahut bada varg pakshapat purn ravaiya apna raha hai jiski wajah se loktantra ki majbuti par bhi savaliya nishaan khade ho rahe hain aisa lagta hai ki media sansthano mein kachra bhar gaya hai aur vaah kachra hi ugal rahe hain

देखिए मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है लेकिन आज देखा जाए तो मीडिया का एक बहुत

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  464
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!