भारतीय जाति व्यवस्था क्या है?...


user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत के अलावा विश्व में किसी भी देश का ऐसा उदाहरण नहीं मिलता जहां व्यक्ति जन्म लेने के बाद इतनी सारी जातियों में बैठ जाता हूं भारत के अंदर जो वर्ण व्यवस्था है वह बेसिकली 4 जातियों पर आधारित ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य शूद्र और इसमें सबसे ऊपर ब्राह्मणों को रखा गया है उसके बाद आपकी क्षत्रिय वैश्य और शूद्र यह व्यवस्था उन लोगों के द्वारा बनाएंगे जो 8 सिद्धांतों को मानते हैं उनका ऐसा मानना है कि यह व्यवस्था भगवान के द्वारा बनाई गई है हालांकि इस व्यवस्था से हमारे देश की जनता को कोई फायदा तो हो रही हो रहा है बल्कि हमारा समाज विभिन्न जातियों में बट गया है और इसकी वजह से जो प्रकाश के लोग होते हैं जो जो वर्ण व्यवस्था में टॉप पर है या नहीं अगर मैं बात को ब्राह्मण और क्षत्रियों की तो इनके द्वारा बहुत बार जो निम्न श्रेणी के लोग हैं उन पर अत्याचार की घटनाएं होती हैं जिसकी वजह से हमारा समाज बढ़ जाता है तो मुझे लगता है जो कंसेप्ट दिया गया था हो सकता है वह सही हो लेकिन उसका मिस यूज बहुत ज्यादा हुआ है

dekhiye bharat ke alava vishwa mein kisi bhi desh ka aisa udaharan nahi milta jaha vyakti janam lene ke baad itni saree jaatiyo mein baith jata hoon bharat ke andar jo varn vyavastha hai vaah basically 4 jaatiyo par aadharit brahman kshatriya vaiishay shudra aur isme sabse upar brahmanon ko rakha gaya hai uske baad aapki kshatriya vaiishay aur shudra yah vyavastha un logo ke dwara banayenge jo 8 siddhanto ko maante hain unka aisa manana hai ki yah vyavastha bhagwan ke dwara banai gayi hai halaki is vyavastha se hamare desh ki janta ko koi fayda toh ho rahi ho raha hai balki hamara samaj vibhinn jaatiyo mein but gaya hai aur iski wajah se jo prakash ke log hote hain jo jo varn vyavastha mein top par hai ya nahi agar main baat ko brahman aur kshatriyon ki toh inke dwara bahut baar jo nimn shreni ke log hain un par atyachar ki ghatnaye hoti hain jiski wajah se hamara samaj badh jata hai toh mujhe lagta hai jo concept diya gaya tha ho sakta hai vaah sahi ho lekin uska miss use bahut zyada hua hai

देखिए भारत के अलावा विश्व में किसी भी देश का ऐसा उदाहरण नहीं मिलता जहां व्यक्ति जन्म लेने

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  195
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में जाति व्यवस्था इसलिए है क्योंकि भारत में अलग-अलग कर जो लोग रहते हैं अलग-अलग धर्म के लोग रहते हैं अलग-अलग जाति के लोग रहते हैं तो सबको जाति व्यवस्था इसलिए काट दिया गया पहले से आज से नहीं बहुत ही पुरानी जमीन से लगभग 3000 जातियां हैं अभी फिलहाल इंडिया की बात करें तो आप तो बिल्कुल जाते वक्त बहुत पहले से चला गया उसे फॉलो करते रहें

bharat mein jati vyavastha isliye hai kyonki bharat mein alag alag kar jo log rehte hain alag alag dharm ke log rehte hain alag alag jati ke log rehte hain toh sabko jati vyavastha isliye kaat diya gaya pehle se aaj se nahi bahut hi purani jameen se lagbhag 3000 jatiya hain abhi filhal india ki baat kare toh aap toh bilkul jaate waqt bahut pehle se chala gaya use follow karte rahein

भारत में जाति व्यवस्था इसलिए है क्योंकि भारत में अलग-अलग कर जो लोग रहते हैं अलग-अलग धर्म क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
शूद्र जातियां ; भारत में जाति व्यवस्था ; जाती व्यवस्था ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!