मालदीव सेना ने संसद से MP को बाहर फेंक दिया।क्या भारत के भ्रष्ट और बेकार नेताओं के साथ भी यही होना चाहिए?...


user

MD HAROON

Teacher

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके द्वारा पूछा गया सवाल है मालदीव सेना ने संसद को एमपी को बाहर फेंक दिया संसद से एमपी को बाहर फेंक दिया क्या भारत के भ्रष्ट और बेकार नेताओं के साथ भी यही होना चाहिए देखिए ऐसा नहीं हो सकता क्योंकि भारत हमारा जो है वह एक संविधान से चलने वाला देश है और मालदीव में ऐसा हुआ है इसका मतलब एक महाराजा सही है राजाशाही का मतलब होता है कि एक आदमी जो चाहे वह कर सकता है लेकिन हमारा हिंदुस्तान हमारा जाता है उसे नहीं बल्कि हमारा हिंदुस्तान व संविधान से चलता है और संविधान में ऐसा नहीं है कि बगैर किसी गलती के किसी को बाहर निकाल दिया जाए तो जो भ्रष्ट नेता है हकीकत में देखा जाए तो उनको संसद भवन से बाहर का रास्ता दिखाना जरूरी है ताकि दूसरा संसद इस तरह के भ्रष्टाचार घर का काम ना करें

aapke dwara poocha gaya sawaal hai maldive sena ne sansad ko MP ko bahar fenk diya sansad se MP ko bahar fenk diya kya bharat ke bhrasht aur bekar netaon ke saath bhi yahi hona chahiye dekhiye aisa nahi ho sakta kyonki bharat hamara jo hai vaah ek samvidhan se chalne vala desh hai aur maldive me aisa hua hai iska matlab ek maharaja sahi hai rajashahi ka matlab hota hai ki ek aadmi jo chahen vaah kar sakta hai lekin hamara Hindustan hamara jata hai use nahi balki hamara Hindustan va samvidhan se chalta hai aur samvidhan me aisa nahi hai ki bagair kisi galti ke kisi ko bahar nikaal diya jaaye toh jo bhrasht neta hai haqiqat me dekha jaaye toh unko sansad bhawan se bahar ka rasta dikhana zaroori hai taki doosra sansad is tarah ke bhrashtachar ghar ka kaam na kare

आपके द्वारा पूछा गया सवाल है मालदीव सेना ने संसद को एमपी को बाहर फेंक दिया संसद से एमपी को

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  247
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्रम हल्दी सेनानी जो है अधिकार अपने हाथ में लेकर एक बेकार एक नेता को जय बाहर फेंक दिया था उस तरह अगर भारत में होने लगा तो कुछ हद तक जो है फायदेमंद भी है कुछ हद तक जो नुकसानदायक भी है या इससे जो है मैं ऑफिस इनकी हरकतों से जोड़ना चाहूंगा अभी समझी 11 जॉइंट है एक नजर हटी की सरकार बनी है और अपोजीशन तो यही कहेंगे कि यह नेता बेकार है यह नेता गांधीजी का नेता बकवास है तो इसे जो है वह हर नेता को बेकार कह कर अगर ऐसे नेताओं को बाहर फेंकने लगे तो इस देश में टॉप टोटल जोया अशांति फैल जाएगी और इस देश के लिए जो बिल्कुल अच्छा नहीं तो मेरे हिसाब से तो और अच्छा यह होगा कि अगर ऐसा फिगर है और उसे ही में हो नेता बेकार है तो हमारे देश के लिए अच्छा ही होगा कि कोई उसके बदले कोई उपयोगी नेता था मैं तो एक अनपढ़ गवार नेता जो बैठ जाता है बस नोट लोगों की एक घोषणा के लोगों के काम करने के लिए तो उसे अच्छा तो है कि कोई ईमानदार नेता बैठे

vikram haldi senani jo hai adhikaar apne hath mein lekar ek bekar ek neta ko jai bahar fenk diya tha us tarah agar bharat mein hone laga toh kuch had tak jo hai faydemand bhi hai kuch had tak jo nukasanadayak bhi hai ya isse jo hai office inki harkaton se jodna chahunga abhi samjhi 11 joint hai ek nazar hati ki sarkar bani hai aur apojishan toh yahi kahenge ki yah neta bekar hai yah neta gandhiji ka neta bakwas hai toh ise jo hai vaah har neta ko bekar keh kar agar aise netaon ko bahar fenkne lage toh is desh mein top total joya ashanti fail jayegi aur is desh ke liye jo bilkul accha nahi toh mere hisab se toh aur accha yah hoga ki agar aisa figure hai aur use hi mein ho neta bekar hai toh hamare desh ke liye accha hi hoga ki koi uske badle koi upyogi neta tha main toh ek anpad gavar neta jo baith jata hai bus note logo ki ek ghoshana ke logo ke kaam karne ke liye toh use accha toh hai ki koi imaandaar neta baithe

विक्रम हल्दी सेनानी जो है अधिकार अपने हाथ में लेकर एक बेकार एक नेता को जय बाहर फेंक दिया थ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  200
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

CM मालिश सेनानी सांसद से MP को बाहर फेंका जो कि bjp के MP3 नेपाल सिंह उन्होंने कुछ दिन पहले एटीट्यूड भी यह कहा था कि आर्मी के लोग तो रोज मरेंगे और ऐसा कोई देश नहीं है जहां पर आदमी के लोग मरते हैं MP3 सिंह अटैक हुआ था यार अब कैंप में जब वहां पर हमारे देश के सिपाही शहीद हुए थे तब उन्होंने ऐसा ट्वीट किया था लेकिन जो इंटरव्यू में कि गांव में अगर झगड़े भी होते हैं तो लोग तो इंदौर होते ही हैं उनका यह कहना है कि ऐसी गोली बनाओ कि जिससे इंसान मरीना अगर ऐसा नहीं है तो आदमी के लोग मरेंगे और सारे देशों में ऐसा होता है उनका यह जो ट्विटर स्टेटमेंट था इससे बहुत कॉन्ट्रोवर्सी हुई है यह बहुत दिनों से चला रहा है उनका यह कहना बिल्कुल भी गलत है कि वह एक आर्मी के लोग के बारे में ऐसा सोचते हैं अगर ऐसे ही हमारे देश के कार्यकर्ता हैं तो हां भारत भ्रष्ट और विकास नेताओं से भरा हुआ है और जैसे की बाल्टी से 9:00 am संसद से MP को बाहर फेंका है ठीक उसी तरीके से उन्हें भी करना चाहिए क्योंकि वह डिजाइन नहीं करते हमारे देश में रहना अगर वह अपने बोले गए शब्द के काम नहीं कर सकते और उनके लिए बस यह सब बोलने की बातें हैं तो

CM maalish senani saansad se MP ko bahar fenkaa jo ki bjp ke MP3 nepal Singh unhone kuch din pehle attitude bhi yah kaha tha ki army ke log toh roj marenge aur aisa koi desh nahi hai jaha par aadmi ke log marte hain MP3 Singh attack hua tha yaar ab camp mein jab wahan par hamare desh ke sipahi shaheed hue the tab unhone aisa tweet kiya tha lekin jo interview mein ki gaon mein agar jhagde bhi hote hain toh log toh indore hote hi hain unka yah kehna hai ki aisi goli banao ki jisse insaan marina agar aisa nahi hai toh aadmi ke log marenge aur saare deshon mein aisa hota hai unka yah jo twitter statement tha isse bahut controversy hui hai yah bahut dino se chala raha hai unka yah kehna bilkul bhi galat hai ki vaah ek army ke log ke bare mein aisa sochte hain agar aise hi hamare desh ke karyakarta hain toh haan bharat bhrasht aur vikas netaon se bhara hua hai aur jaise ki balti se 9 00 am sansad se MP ko bahar fenkaa hai theek usi tarike se unhe bhi karna chahiye kyonki vaah design nahi karte hamare desh mein rehna agar vaah apne bole gaye shabd ke kaam nahi kar sakte aur unke liye bus yah sab bolne ki batein hain toh

CM मालिश सेनानी सांसद से MP को बाहर फेंका जो कि bjp के MP3 नेपाल सिंह उन्होंने कुछ दिन पहल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मुझे तो लगता है कि जो मालिक की सेना जो किया है आपने सागर MP को बाहर फेंक दिया मुझे लगता है कि हमारे जवान जो भारत के 2 राज्यों राजनीतिक है उनको भी भारत को भरा अगर रूह को जो भ्रष्ट न्यू पॉलिटिशियन से उनको भी बाहर फेंक देना चाहिए क्योंकि यह लोग जो चाहते हैं वह अपना वोट बैंक जयपुर वोट बैंक पॉलिटिक्स करते हैं एलियन पॉलिटिक्स करते हैं और कर्म कर्म करके बालों को लूट कर जाते हैं पहले तो को जब जमाने चुनावी प्रक्रिया शुरू होता है तब लोगों को भिखारी होगा घर-घर जाकर भीख मांगते हैं वोट का उसके बाद वह लोग का दिखते ही नहीं है 5 साल तक और पूरे लोगों को तो उनका जो उसके वर्क प्रोजेक्ट आता है वह पूरा प्रोजेक्ट को कुछ काम नहीं करते प्रपत्र का पैसा वही खाते हैं और लोगों को 5 साल को 500 तक लूटने के लिए आते तो ऐसे नेताओं को तो मुझे बाहर फेंक देना चाहिए और हमारे जो पॉलिटिशंस है वह जो हर चीज में राजनीति करते हैं हर चीज राजनीति को तो उन लोगों को भी बाहर फेंक देना चाहिए तो मेरा बात करने का तरीका कुछ अलग है मगर मुझे लगता है कि हर जगह भारत में स्पेसिफिक के लिए जरूर होना चाहिए जो भ्रष्ट नेताओं में नाम लेना नहीं चाहूंगा बहुत सर नेता है मगर इन लोगों जो लोग जो भ्रष्ट गांव दुष्कर्म करते हैं जो लोगों को लूटते हैं जो गरीबों का पैसा खाते हैं जो फार्म उसको पैसा खाते हैं उन लोगों को तो बाहर फेंक देना चाहिए उन लोगों को तो कभी जीत आना भी नहीं चाहिए मुझे लगता है

haan mujhe toh lagta hai ki jo malik ki sena jo kiya hai aapne sagar MP ko bahar fenk diya mujhe lagta hai ki hamare jawaan jo bharat ke 2 rajyo raajnitik hai unko bhi bharat ko bhara agar ruh ko jo bhrasht new politician se unko bhi bahar fenk dena chahiye kyonki yah log jo chahte hain vaah apna vote bank jaipur vote bank politics karte hain alien politics karte hain aur karm karm karke balon ko loot kar jaate hain pehle toh ko jab jamane chunavi prakriya shuru hota hai tab logo ko bhikhari hoga ghar ghar jaakar bhik mangate hain vote ka uske baad vaah log ka dikhte hi nahi hai 5 saal tak aur poore logo ko toh unka jo uske work project aata hai vaah pura project ko kuch kaam nahi karte prapatra ka paisa wahi khate hain aur logo ko 5 saal ko 500 tak lutane ke liye aate toh aise netaon ko toh mujhe bahar fenk dena chahiye aur hamare jo politicians hai vaah jo har cheez mein raajneeti karte hain har cheez raajneeti ko toh un logo ko bhi bahar fenk dena chahiye toh mera baat karne ka tarika kuch alag hai magar mujhe lagta hai ki har jagah bharat mein specific ke liye zaroor hona chahiye jo bhrasht netaon mein naam lena nahi chahunga bahut sir neta hai magar in logo jo log jo bhrasht gaon dushkarm karte hain jo logo ko lootate hain jo garibon ka paisa khate hain jo form usko paisa khate hain un logo ko toh bahar fenk dena chahiye un logo ko toh kabhi jeet aana bhi nahi chahiye mujhe lagta hai

हां मुझे तो लगता है कि जो मालिक की सेना जो किया है आपने सागर MP को बाहर फेंक दिया मुझे लगत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:60

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK मालदीव में अगर ऐसा हुआ है तो हम एक बार को मीद कर सकते हैं मालदीप में ऐसा हो सकता है लेकिन हमारे देश के अंदर ऐसा हो यह बहुत ही मुश्किल है इसका कारण यह है कि इंडिया डेमोक्रेटिक कंट्री है जो कि संविधान से चलता है किसी एक व्यक्ति विशेष के ऑर्डर पर नहीं चलता या किसी एक ऑर्गनाइजेशन के होटल पर नहीं चलता है दूसरी चीज हर चीज के लिए हमारे देश के अंदर कानून है एक लीगल प्रोसीजर है आपको उस लीगल प्रोसीजर को फॉलो करना पड़ेगा अब नेता भ्रष्ट कितना भी क्यों ना हो लेकिन एक कानूनी एक प्रक्रिया है चाहे उस प्रक्रिया में 1 दिन लगे चाहे 1 साल लगे उस पूरी प्रक्रिया को फॉलो करना पड़ेगा तभी इस तरह के नेताओं को सजा दी जा सकती जा सकती है ठीक है लेकिन कोई ऐसा प्रोसेस नहीं है हमारे देश के अंदर के अगर लीटर कितना भी कर दो आपको यह चीज ग्रुप करनी पड़ेगी कोर्ट में तभी उसके खिलाफ कोई एक्शन हो सकता है किसी के आरोप लगा देने से मुझे नहीं लगता है उसको उठा कर बाहर फेंक दिया उसको जेल में डाल दिया जाएगा

PK maldive mein agar aisa hua hai toh hum ek baar ko mid kar sakte hain maldives mein aisa ho sakta hai lekin hamare desh ke andar aisa ho yah bahut hi mushkil hai iska karan yah hai ki india democratic country hai jo ki samvidhan se chalta hai kisi ek vyakti vishesh ke order par nahi chalta ya kisi ek organisation ke hotel par nahi chalta hai dusri cheez har cheez ke liye hamare desh ke andar kanoon hai ek legal procedure hai aapko us legal procedure ko follow karna padega ab neta bhrasht kitna bhi kyon na ho lekin ek kanooni ek prakriya hai chahen us prakriya mein 1 din lage chahen 1 saal lage us puri prakriya ko follow karna padega tabhi is tarah ke netaon ko saza di ja sakti ja sakti hai theek hai lekin koi aisa process nahi hai hamare desh ke andar ke agar litre kitna bhi kar do aapko yah cheez group karni padegi court mein tabhi uske khilaf koi action ho sakta hai kisi ke aarop laga dene se mujhe nahi lagta hai usko utha kar bahar fenk diya usko jail mein daal diya jaega

PK मालदीव में अगर ऐसा हुआ है तो हम एक बार को मीद कर सकते हैं मालदीप में ऐसा हो सकता है लेक

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमरदीप में कुछ 12 दिनों पहले से और इमरजेंसी का ऐलान हो चुका है और वहां पर इमरजेंसी लगी हुई है जिसके चलते और मालदीव यंञ डेमोक्रेटिक पार्टी के कुछ लोगों ने कुछ ऐसी तस्वीरें हैं वह वीडियो और डाली है जिसमें यह दिख रहा है कि संसद से सेना ने और MP को निकाल कर बाहर फेंक दिया और जो की बहुत ही गलत चीज है मेरे साथ और आप जो कह रहे हैं कि भारत के भ्रष्ट अधिकार नेताओं के साथ भी यही होना चाहिए तो मुझे नहीं लगता हमारे राष्ट्रपिता नेताओं के साथ यह करना चाहिए क्योंकि अब किसी भी बात को समझाने का मतलब यह नहीं होता है कि आप गलत को गलत तरीके से काटा क्योंकि हमारे देश में न्याय व्यवस्था भी काफी अच्छी है और लोग अगर किसी के खिलाफ कुछ भी रिपोर्ट करते हैं या कुछ भी होता है तो उसको बहुत ही अच्छे से लिया जाता है कजरा किया जाता है और उसके खिलाफ पूरा और केस तैयार करके उसके ऊपर जब कार्यवाही की जाती है तो मुझे नहीं लगता कि इसकी जरूरत पड़ेगी हमारे देश में कभी भी कि नेताओं को और सेना कॉल करें संसद से बाहर फेंक रही है MP को क्योंकि और यह एक तरह से लोगों की बेइज्जती होगा या उन लोगों के लिए भी बेज्जती का काम होगा और हमारे देश कि जो सरकार है उसके लिए भी भेज दिया काम होगा संसद कि आप कोई वैल्यू नहीं कर रहे हैं उसने और कितने चुनाव लड़ने के बाद वहां पहुंच पाते हैं तो यह चीज गलत है आप इसको जब शाम को सुलझा सकते हैं तो क्या जरुरत है आपको और किसी भी तरह से हिंसक व्यवहार करने की तो माली में जो हो रहा है वह एक को सेना के चलते जो इमरजेंसी लगी हुई है वह वह इसकी वजह से हो रहा है और मैं वहां की भी निंदा करूंगी वहां पर जो संसद में से नंबर निकाल कर बाहर फेंक दिया गया है और मैं नहीं चाहूंगी कि भारत में कभी भी ऐसा हो

amardweep mein kuch 12 dino pehle se aur emergency ka elaan ho chuka hai aur wahan par emergency lagi hui hai jiske chalte aur maldive yanny democratic party ke kuch logo ne kuch aisi tasveeren hain vaah video aur dali hai jisme yah dikh raha hai ki sansad se sena ne aur MP ko nikaal kar bahar fenk diya aur jo ki bahut hi galat cheez hai mere saath aur aap jo keh rahe hain ki bharat ke bhrasht adhikaar netaon ke saath bhi yahi hona chahiye toh mujhe nahi lagta hamare rashtrapita netaon ke saath yah karna chahiye kyonki ab kisi bhi baat ko samjhane ka matlab yah nahi hota hai ki aap galat ko galat tarike se kaata kyonki hamare desh mein nyay vyavastha bhi kaafi achi hai aur log agar kisi ke khilaf kuch bhi report karte hain ya kuch bhi hota hai toh usko bahut hi acche se liya jata hai kajra kiya jata hai aur uske khilaf pura aur case taiyar karke uske upar jab karyavahi ki jaati hai toh mujhe nahi lagta ki iski zarurat padegi hamare desh mein kabhi bhi ki netaon ko aur sena call kare sansad se bahar fenk rahi hai MP ko kyonki aur yah ek tarah se logo ki beijjati hoga ya un logo ke liye bhi beijjati ka kaam hoga aur hamare desh ki jo sarkar hai uske liye bhi bhej diya kaam hoga sansad ki aap koi value nahi kar rahe hain usne aur kitne chunav ladane ke baad wahan pohch paate hain toh yah cheez galat hai aap isko jab shaam ko suljha sakte hain toh kya zarurat hai aapko aur kisi bhi tarah se hinsak vyavhar karne ki toh maali mein jo ho raha hai vaah ek ko sena ke chalte jo emergency lagi hui hai vaah vaah iski wajah se ho raha hai aur main wahan ki bhi ninda karungi wahan par jo sansad mein se number nikaal kar bahar fenk diya gaya hai aur main nahi chahungi ki bharat mein kabhi bhi aisa ho

अमरदीप में कुछ 12 दिनों पहले से और इमरजेंसी का ऐलान हो चुका है और वहां पर इमरजेंसी लगी हुई

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत दुनिया की सबसे बड़ी डेमोक्रेसी है अगर हम लोग ऐसी चीजें करने लग गए तो वह डेमोक्रेसी नहीं ऑटो कसी हो जाएगी मिलिट्री रूल हो जाएगा मुझे नहीं लगता कि यह सही है अगर हमें भ्रष्ट और बेकार नेता पता है कि यह भ्रष्ट और बेकार नेता हैं तो हमें एकजुट होकर उन्हें वोट नहीं देना चाहिए यही हमारी सबसे बड़ी गलती होती है कि हम बिना जानकारी के वोट दे देते हैं उन्हीं ने उन नेताओं को हम ही ऐसी पोजीशन पर लाकर बिठा देते हैं तो फिर उनकी क्या गलती है वह तो जैसे हैं वैसे ही हैं हमें इस चीज का ख्याल रखना चाहिए कि हम सही नेताओं को सुनो और सुनने के बाद हमें उन्हें मौका देना जरूरी है हम उन्हें ऐसे बाहर नहीं फेंक सकते क्योंकि वही मैं फिर से कहना चाहूंगी कि एक डेमोक्रेसी होने का मतलब यही है कि आप अपनी इच्छा से अपने रिप्रेजेंटेटिव को लाए हैं और आप उन्हें ऐसे बाहर आंखें नहीं देख सकते हैं जब तक कि वह अपने आप को प्रूफ ना करें चाहे वह अच्छी तरह करें या बुरी तरह करें वह उनके ऊपर है फिर अगर आपको लगता है कि उन्होंने बुरी तरह करा है तो आप वापस उन्हें वोट ना दें और उन्हें ना लाएं अगर सब लोग ऐसे नेताओं को फेंकने पर आ गए तो कितने ओपिनियन तभी तो खिलाएंगे किसी को लगेगा वह सही है किसी को लगेगा वह गलत है फिर इन लोगों में दंगे होंगे तो मुझे नहीं लगता हमें ऐसा करना चाहिए

bharat duniya ki sabse badi democracy hai agar hum log aisi cheezen karne lag gaye toh vaah democracy nahi auto kasi ho jayegi miltary rule ho jaega mujhe nahi lagta ki yah sahi hai agar hamein bhrasht aur bekar neta pata hai ki yah bhrasht aur bekar neta hain toh hamein ekjut hokar unhe vote nahi dena chahiye yahi hamari sabse badi galti hoti hai ki hum bina jaankari ke vote de dete hain unhi ne un netaon ko hum hi aisi position par lakar bitha dete hain toh phir unki kya galti hai vaah toh jaise hain waise hi hain hamein is cheez ka khayal rakhna chahiye ki hum sahi netaon ko suno aur sunne ke baad hamein unhe mauka dena zaroori hai hum unhe aise bahar nahi fenk sakte kyonki wahi main phir se kehna chahungi ki ek democracy hone ka matlab yahi hai ki aap apni iccha se apne representative ko laye hain aur aap unhe aise bahar aankhen nahi dekh sakte hain jab tak ki vaah apne aap ko proof na kare chahen vaah achi tarah kare ya buri tarah kare vaah unke upar hai phir agar aapko lagta hai ki unhone buri tarah kara hai toh aap wapas unhe vote na de aur unhe na laye agar sab log aise netaon ko fenkne par aa gaye toh kitne opinion tabhi toh khilaenge kisi ko lagega vaah sahi hai kisi ko lagega vaah galat hai phir in logo mein dange honge toh mujhe nahi lagta hamein aisa karna chahiye

भारत दुनिया की सबसे बड़ी डेमोक्रेसी है अगर हम लोग ऐसी चीजें करने लग गए तो वह डेमोक्रेसी नह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मालदीव में पिछले 12 दिनों से जारी राजनीतिक संकट और भी गहरा गया है क्योंकि यहां पर सेना ने संसद में मौजूद सांसद को उठा कर बाहर फेंक दिया मालदीव डेमोक्रेटिक पार्टी ने भी सांसदों को बाहर फेंके जाने से संबंधित तस्वीरें और वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किए हैं मालदीव के मौजूदा राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने देश में इमरजेंसी का ऐलान कर रखा है लेकिन मुझे लगता है हमारे देश में जो भ्रष्ट नेता हैं और कोई मंत्री अगर भ्रष्ट है तो उसके साथ ऐसा व्यवहार किया जाना उचित नहीं है क्योंकि कोई भी गलत चीज है उसे हिंसा के माध्यम से दूर करना ठीक नहीं होगा हमारे देश की न्याय व्यवस्था इतनी अच्छी है जहां पर अगर कोई भी व्यक्ति गलत काम करता है या फिर वह बड़ा नेता हो या फिर भ्रष्ट आदमी तो उसे सजा जरूर मिलती है ऐसा हमने कई बार देखा है क्योंकि हमारे देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था है और यहां जो सारी पावर होती है वह संसद के पास या फिर कहा जाए कि आम नागरिकों के पास होती है तो यहां पर सेना के द्वारा इस तरह का काम करना काफी मुश्किल होगा क्योंकि सेना हमारी संसद के ऑर्डर पर ही काम करती हैं और यह सही भी नहीं है क्योंकि किसी भी जो भी परेशानी है उसे मारपीट से हिंसा से सुलझाना यह कहीं का भी नया नहीं होगा अगर कोई भी व्यक्ति भ्रष्ट है

maldive mein pichle 12 dino se jaari raajnitik sankat aur bhi gehra gaya hai kyonki yahan par sena ne sansad mein maujud saansad ko utha kar bahar fenk diya maldive democratic party ne bhi sansadon ko bahar faike jaane se sambandhit tasveeren aur video twitter par post kiye hain maldive ke maujuda rashtrapati abdullah yameen ne desh mein emergency ka elaan kar rakha hai lekin mujhe lagta hai hamare desh mein jo bhrasht neta hain aur koi mantri agar bhrasht hai toh uske saath aisa vyavhar kiya jana uchit nahi hai kyonki koi bhi galat cheez hai use hinsa ke madhyam se dur karna theek nahi hoga hamare desh ki nyay vyavastha itni achi hai jaha par agar koi bhi vyakti galat kaam karta hai ya phir vaah bada neta ho ya phir bhrasht aadmi toh use saza zaroor milti hai aisa humne kai baar dekha hai kyonki hamare desh mein loktantrik vyavastha hai aur yahan jo saree power hoti hai vaah sansad ke paas ya phir kaha jaaye ki aam nagriko ke paas hoti hai toh yahan par sena ke dwara is tarah ka kaam karna kaafi mushkil hoga kyonki sena hamari sansad ke order par hi kaam karti hain aur yah sahi bhi nahi hai kyonki kisi bhi jo bhi pareshani hai use maar peet se hinsa se suljhana yah kahin ka bhi naya nahi hoga agar koi bhi vyakti bhrasht hai

मालदीव में पिछले 12 दिनों से जारी राजनीतिक संकट और भी गहरा गया है क्योंकि यहां पर सेना ने

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!