अमीर और गरीब आदमी में क्या फर्क है?...


play
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

2:49

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमीर आदमी गरीब आदमी का क्या फंक्शन अमीर आदमी का कहां कल की कहानी आप आदेश करेंगे और जाने की कोशिश करें तो वह बहुत गरीब था खाने के लाले थे और उसने इस दिन को बदलने की ठानी और उसके लिए रात-दिन काम किया और काम के सिवा कुछ नहीं किया हमारे आपके द्वारा हर दिन पार्टी है मौज बनाने के लिए अपना समझ नहीं पाए सीधा और सीधा उस जो उसमें जुनून था कि हम भी जो हमारी प्रस्थिति है जो हमारी गरीबी है इसको हमेशा के लिए दफन कर दें इसके लिए रात दिन उसने काम किया कल आ से बेहतर कैसे होगा परसों परसों से बेहतर कैसे होगा इस तरह उसने सोचा और इसलिए वह अमीर आदमी हो जाता है आप चीजों को सवाल आजा कुछ चीजें बेटा तरह से एड्रेस होना हो जा शुरू हो जाती तो हम अमीर और गरीब रखा इस तरह से नहीं देखते हैं हम देखते हैं कि जो भी अमीर आदमी है वह कभी ना कभी उसकी शुरुआत बहुत गरीबी बहुत परेशानी बहुत पटियाली से सुनी उसने अपने को बदलने का बदलने की ठान ली अपनी उपस्थिति को हमेशा हमेशा के लिए करतब करते इसलिए वह अमीर आदमी और जिन जिन को अपने से अर्जित अमीरी नहीं मिलती है उसी में गुमान अलंकार घुसता है जून को फिर 1 दिन पहले आती यही अंतर है और कोई हुनरमंद आदमी कोई काम याद आदमी किसी चीज को असाधारण तरीके से करता है और हम आप होती तो बहुत शानदार तरीका है उसे कोई परिवर्तन नहीं करते हैं अगला जो कामयाब यानी जिस बात करते चीज को करने के लिए उसने हमेशा नया तरीका खोजा कि जो हो रहा है उसे बेहतर कम समय में कम लागत में कम शक्ति में हम किस तरह से किस देश ने सोचा इसके लिए प्रयास किया इसलिए वह कामयाब आदमी ज्यादा अमीर आदमी हो गया और हम अभी अमीरी और गरीबी महान का मन का बहम है आप अगर आपके मन में एवं घुस गया तो आप बिना बात ही परेशान होते रहिएगा और अपने को प्रेरित करते रहेंगे इसलिए इस खोज से इस सोच से बाहर आई आप कामयाब हो सकते हैं अब आप अमीर बन सकते हैं हम आगे बढ़ सकते हैं ऐसा सूची स्थितियां बदलने लगी शुभकामनाएं शुक्रिया

amir aadmi garib aadmi ka kya function amir aadmi ka kahaan kal ki kahani aap aadesh karenge aur jaane ki koshish karein toh wah bahut garib tha khane ke lale the aur usne is din ko badalne ki thani aur uske liye raat din kaam kiya aur kaam ke siva kuch nahi kiya hamare aapke dwara har din party hai mauj banane ke liye apna samajh nahi paye seedha aur seedha us jo usme junun tha ki hum bhi jo hamari prasthiti hai jo hamari garibi hai isko hamesha ke liye dafan kar de iske liye raat din usne kaam kiya kal aa se behtar kaise hoga parso parso se behtar kaise hoga is tarah usne socha aur isliye wah amir aadmi ho jata hai aap chijon ko sawal aajad kuch cheezen beta tarah se address hona ho ja shuru ho jati toh hum amir aur garib rakha is tarah se nahi dekhte hain hum dekhte hain ki jo bhi amir aadmi hai wah kabhi na kabhi uski shuruat bahut garibi bahut pareshani bahut patiyali se suni usne apne ko badalne ka badalne ki than li apni upasthitee ko hamesha hamesha ke liye kartab karte isliye wah amir aadmi aur jin jin ko apne se arjit amiri nahi milti hai usi mein gumaan alankar ghustaa hai june ko phir 1 din pehle aati yahi antar hai aur koi hunaramand aadmi koi kaam yaad aadmi kisi cheez ko asadharan tarike se karta hai aur hum aap hoti toh bahut shandar tarika hai use koi parivartan nahi karte hain agla jo kamyab yani jis baat karte cheez ko karne ke liye usne hamesha naya tarika khoja ki jo ho raha hai use behtar kam samay mein kam laagat mein kam shakti mein hum kis tarah se kis desh ne socha iske liye prayas kiya isliye wah kamyab aadmi zyada amir aadmi ho gaya aur hum abhi amiri aur garibi mahaan ka man ka baham hai aap agar aapke man mein evam ghus gaya toh aap bina baat hi pareshan hote rahiyegaa aur apne ko prerit karte rahenge isliye is khoj se is soch se bahar I aap kamyab ho sakte hain ab aap amir ban sakte hain hum aage badh sakte hain aisa suchi sthitiyan badalne lagi subhkamnaayain shukriya

अमीर आदमी गरीब आदमी का क्या फंक्शन अमीर आदमी का कहां कल की कहानी आप आदेश करेंगे और जाने की

Romanized Version
Likes  127  Dislikes    views  2838
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमीर बनना हमेशा स्वास्थी पन की निशानी है जितना मनुष्य स्वार्थी लालची है दूसरों को यूज एंड थ्रो के विचार रखता हुआ केवल यूज करता है वह व्यक्ति अमीर बन जाता है आर्थिक शोषण करके ही अमीर बनते हैं और गरीब व्यक्ति जो होता है वह मन से शहर सरल सांप का होता है या अभी जितने होते हैं शादी होते हैं थोड़ी होते हैं धोखेबाज होते हैं हरी भी होते हैं उनका कोई विश्वास नहीं होता यह तो केवल लक्ष्मी की पूजा करते हैं इनको प्लास्टिक पैसा है तो मानव है और पैसा नहीं है तो उनके लिए वह नथिंग है वही निर्जीव है उसको यह मानते हैं इसलिए मेरे मित्र तुमको इनकी जितनी तुम भुला नहीं करोगे कितना इनके पीछे भागो गे इतना ही तुमसे गरीब बाप से मानेंगे मैंने बहुत जमीनों को देखा है जो लोग चमचागिरी करते हुए उनके आगे पीछे घूमते हैं उनकी इज्जत घर में कुत्ते से गई बिजी होती है घर का जो पाला हुआ कुत्ता होता है वह तो फाइव स्टार होटलों में रहता है इन अमीरों के साथ ऐसी चमचे लोगों के लिए तो वे लोग बहुत ही भाव रखते हैं वह मानते हैं कि हमारे पैसे के गुलाम हमारे पैसे के पीछे भागने वाले हैं इसलिए मेरे मित्र तुम कैसे को ज्यादा ध्यान मत दो गरीब होना अच्छी बात है अमीर होना अच्छी बात नहीं क्योंकि किसी को धोखा देकर छल कपट कर दिया छोड़ कर के अभी हम अमीर बन गए उससे फायदा भी क्या अब नीरव मोदी को दे दीजिए या विभिन्न घोटालेबाज गबन करने वाले लोगों को ले लीजिए यह करोड़ों अरबों रुपए के गबन कर रहे हैं यहां से लेकर के भाग जाते हैं विदेशों में तो क्या इनका जीवन तुमने देखा निगम समय देखने गया उस मैच में जनता चिल्लाने लगी नीरव मोदी चोर है नीरव मोदी चोर है तो क्या उसको सम्मानीय जीवन कर सकते हो आप इससे बेहतर तो मैं यह मानता हूं कि मैं गरीबी मधील हूं लेकिन मैं किसी के दागदार ना रहूं मुझे लो इज्जत ना करें मेरा सम्मान बरकरार बना रहे ऐसी गरीबी को ज्यादा पसंद करता हूं

amir banana hamesha swasthi pun ki nishani hai jitna manushya swaarthi lalchi hai dusro ko use end throw ke vichar rakhta hua keval use karta hai wah vyakti amir ban jata hai aarthik shoshan karke hi amir bante hain aur garib vyakti jo hota hai wah man se sheher saral saap ka hota hai ya abhi jitne hote hain shadi hote hain thodi hote hain dhokhebaj hote hain hari bhi hote hain unka koi vishwas nahi hota yeh toh keval laxmi ki puja karte hain inko plastic paisa hai toh manav hai aur paisa nahi hai toh unke liye wah nothing hai wahi nirjeev hai usko yeh maante hain isliye mere mitra tumko inki jitni tum bhula nahi karoge kitna inke peeche bhago gay itna hi tumse garib baap se manenge maine bahut jameeno ko dekha hai jo log chamchagiri karte hue unke aage peeche ghumte hain unki izzat ghar mein kutte se gayi busy hoti hai ghar ka jo pala hua kutta hota hai wah toh five star hotelo mein rehta hai in amiron ke saath aisi chmache logo ke liye toh ve log bahut hi bhav rakhte hain wah maante hain ki hamare paise ke gulam hamare paise ke peeche bhagne wale hain isliye mere mitra tum kaise ko zyada dhyan mat do garib hona acchi baat hai amir hona acchi baat nahi kyonki kisi ko dhokha dekar chal kapat kar diya chod kar ke abhi hum amir ban gaye usse fayda bhi kya ab neerav modi ko de dijiye ya vibhinn ghotalebaaj gaban karne wale logo ko le lijiye yeh karodo araboon rupaye ke gaban kar rahe hain yahan se lekar ke bhag jaate hain videshon mein toh kya inka jeevan tumne dekha nigam samay dekhne gaya us match mein janta chillane lagi neerav modi chor hai neerav modi chor hai toh kya usko sammaniya jeevan kar sakte ho aap isse behtar toh main yeh manata hoon ki main garibi mathila hoon lekin main kisi ke dagadar na rahun mujhe lo izzat na karein mera sammaan barkaraar bana rahe aisi garibi ko zyada pasand karta hoon

अमीर बनना हमेशा स्वास्थी पन की निशानी है जितना मनुष्य स्वार्थी लालची है दूसरों को यूज एंड

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  36
WhatsApp_icon
user

V. K. Bhardwaj

Parapsychologist

2:22
Play

Likes  23  Dislikes    views  378
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे जैसा का प्रश्न की अमीर और गरीब में क्या फर्क होता है तो यहां पर सबसे पहले और सबसे बड़ी बात अगर बताना चाहें तो अमीर और गरीब में सबसे बड़ा फर्क होता है उसकी उनकी सोच का अगर व्यक्ति की सोच अच्छी है सकारात्मक है पोस्टिंग है जीवन को जीने का नजरिया अगर उसका सकारात्मक है तो वह निर्धन कभी नहीं रहेगा वह अपने आप ही ब्रोकर जाएगा और अमीर बन जाएगा यहां पर अगर आपकी सोच नेगेटिव थॉट से भरी हुई है आप के अंदर कोई हुनर नहीं है अगर आप अपने कार्य के प्रति वफादार नहीं है तो आपसे कितने भी अमीर घराने में क्यों ना पैदा हुए हो आप उसको बर्बाद कर देंगे अपनी जितनी भी आपके संपत्ति है अटूट संपत्ति उसको आप तहस-नहस कर देंगे तो यहां पर सबसे बड़ी बात होती है सोच कि अगर आपकी सोच अच्छी है तो आप अमित हैं अगर आपकी सोच बेकार है तो भलाई आकाश कैसे हो लेकिन आप बहुत ही गरीब हैं धन्यवाद

dekhe jaisa ka prashna ki amir aur garib mein kya fark hota hai toh yahan par sabse pehle aur sabse badi baat agar batana chahain toh amir aur garib mein sabse bada fark hota hai uski unki soch ka agar vyakti ki soch acchi hai sakaratmak hai posting hai jeevan ko jeene ka najariya agar uska sakaratmak hai toh wah nirdhan kabhi nahi rahega wah apne aap hi broker jayega aur amir ban jayega yahan par agar aapki soch Negative thought se bhari hui hai aap ke andar koi hunar nahi hai agar aap apne karya ke prati vafaadar nahi hai toh aapse kitne bhi amir gharane mein kyon na paida hue ho aap usko barbad kar denge apni jitni bhi aapke sampatti hai atut sampatti usko aap tahas nahas kar denge toh yahan par sabse badi baat hoti hai soch ki agar aapki soch acchi hai toh aap amit hain agar aapki soch bekar hai toh bhalai akash kaise ho lekin aap bahut hi garib hain dhanyavad

देखे जैसा का प्रश्न की अमीर और गरीब में क्या फर्क होता है तो यहां पर सबसे पहले और सबसे बड़

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  5077
WhatsApp_icon
user

Naren khatri

Student And Social Worker

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि अमीर और गरीब आदमी में क्या फर्क है अमीर आदमी कुछ भी खरीद सकता है कितनी भी महंगी कोई भी चीज हो कुछ भी खा सकता है पी सकता है 10 सकता है लेकिन एक गरीब आदमी के लिए उसकी दो टाइम की रोटी खाना भी मुश्किल होती है अमीर आदमी विदेशों में जा सकता है प्लेन में बैठ सकता है हवाई जहाज में बैठ सकता लेकिन एक गरीब आदमी ₹10 की गाड़ी में चल कर बैठने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है और भारत देश में तो बहुत ही गरीबी गरीबी रेखा के नीचे बहुत ही ज्यादा बेरोजगार है और गरीब भी है और अमीर लोग अमीर होते जा रहे हो जो गरीब है जो गरीब होते जा रहे हैं धन्यवाद

aapka sawaal hai ki amir aur garib aadmi mein kya fark hai amir aadmi kuch bhi kharid sakta hai kitni bhi mehengi koi bhi cheez ho kuch bhi kha sakta hai p sakta hai 10 sakta hai lekin ek garib aadmi ke liye uski do time ki roti khana bhi mushkil hoti hai amir aadmi videshon mein ja sakta hai plane mein baith sakta hai hawai jahaj mein baith sakta lekin ek garib aadmi Rs ki gaadi mein chal kar baithne mein bhi pareshani ka samana karna padta hai aur bharat desh mein toh bahut hi garibi gareebi rekha ke niche bahut hi zyada berozgaar hai aur garib bhi hai aur amir log amir hote ja rahe ho jo garib hai jo garib hote ja rahe hain dhanyavad

आपका सवाल है कि अमीर और गरीब आदमी में क्या फर्क है अमीर आदमी कुछ भी खरीद सकता है कितनी भी

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
user

Anju ydv

Study And Govt.Job Apply Form

0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गरीब खाने के लिए घंटों मेहनत करता है और अमीर खाने को पचाने के लिए पैदल घंटों चलता है

garib khane ke liye ghanto mehnat karta hai aur amir khane ko pachane ke liye paidal ghanto chalta hai

गरीब खाने के लिए घंटों मेहनत करता है और अमीर खाने को पचाने के लिए पैदल घंटों चलता है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  35
WhatsApp_icon
user

Daniel farru

Student,Social worker

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्राप्त नहीं कि अमीर और गरीब याद में क्या फर्क है तो गरीब उसे कहते हैं जो अपनी आकांक्षाओं को पूर्ति नहीं कर पाया अपनी आकांक्षाओं को उड़ती नहीं कर उसे कहते हैं जो अपने सभी आकांक्षाओं को पूर्ति कर सके जो चाहे वह कर सके जिसकी चाह कर वह प्राप्त करें उसके पास पैसा अधिक है तो अपनी हड़ताल को दूर करता है अपने आर्थिक समस्या से हमेशा बिजी रहते हैं तो अपनी इच्छा पूर्ति करने में सक्षम था गरीबी और अमीरी में ही फर्क है कि आमिर ज्यादा अपनी अखंडता को पूर्ति करते हैं ज्यादा अपने ऊपर खर्च करते हैं गरीब अपने अपने आर्थिक क्रियाओं में ही व्यस्त रहते हैं अपने आपको जीवन जीने के लिए गठित रहते हैं धन्यवाद

aapka prapt nahi ki amir aur garib yaad mein kya fark hai toh garib use kehte hain jo apni akankshaon ko purti nahi kar paya apni akankshaon ko udati nahi kar use kehte hain jo apne sabhi akankshaon ko purti kar sake jo chahen vaah kar sake jiski chah kar vaah prapt kare uske paas paisa adhik hai toh apni hartal ko dur karta hai apne aarthik samasya se hamesha busy rehte hain toh apni iccha purti karne mein saksham tha garibi aur amiri mein hi fark hai ki aamir zyada apni akhandata ko purti karte hain zyada apne upar kharch karte hain garib apne apne aarthik kriyaon mein hi vyast rehte hain apne aapko jeevan jeene ke liye gathit rehte hain dhanyavad

आपका प्राप्त नहीं कि अमीर और गरीब याद में क्या फर्क है तो गरीब उसे कहते हैं जो अपनी आकांक्

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

munmun

Volunteer

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी के अमीर लोग जो है वह जीतने के लिए पैसे का खेल खेलते हैं और हारने के लिए जो है वह गरीब लोग पैसे का खेल खेलते हैं वास्तव में जो होता है समृद्धि लोगों का लक्ष्य बड़े पैमाने पर धन है और उनमें से कई के लिए बहुत से लोगों की मदद करना है

abhi ke amir log jo hai wah jitne ke liye paise ka khel khelte hain aur haarne ke liye jo hai wah garib log paise ka khel khelte hain vaastav mein jo hota hai samridhi logo ka lakshya bade paimane par dhan hai aur unmen se kai ke liye bahut se logo ki madad karna hai

अभी के अमीर लोग जो है वह जीतने के लिए पैसे का खेल खेलते हैं और हारने के लिए जो है वह गरीब

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  22
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!