ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है?...


user

Kishan Kumar

Motivational speaker

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन है रिंकी पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है दोस्तों इसलिए हुआ होता है कि खतरों से लोग बच सकते हैं अपनी जीवन बचा सकते किसी का जीवन बहुत ही महत्वपूर्ण है तो जहां भी क्रॉसिंग होता है तो लोग क्रॉस करने के लिए खड़े रहते हैं तो जो लास्ट वाला डिब्बा होता उसको जो क्रॉस होता ना उसको पता चला कि सारे डिब्बा हनी ट्रेन जा चुकी है तब लोकगीत क्रॉस करते हैं जो बहुत अच्छा रहता है थैंक यू

question hai rinki peeche cross ka nishaan kyon hota hai doston isliye hua hota hai ki khataron se log bach sakte hain apni jeevan bacha sakte kisi ka jeevan bahut hi mahatvapurna hai toh jaha bhi crossing hota hai toh log cross karne ke liye khade rehte hain toh jo last vala dibba hota usko jo cross hota na usko pata chala ki saare dibba honey train ja chuki hai tab lokgeet cross karte hain jo bahut accha rehta hai thank you

क्वेश्चन है रिंकी पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है दोस्तों इसलिए हुआ होता है कि खतरों से

Romanized Version
Likes  111  Dislikes    views  597
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Simranpreet Singh

B.Tech in CE from SRM

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी ट्रेन के पीछे जब हम लोगों ने नोटिस किया होगा एक क्रॉस का निशान बना होता है जो की आखिरी डिब्बे पर बना होता है और एक साथ ही साथ एक रेड लाइट भी होती है उसके साथ ही में तो इन दोनों का बेसिक काम यह है कि क्रॉस साइन से हम लोग दिन के टाइम पर यह चीज वेरीफाई कर सकते हैं कि वह ट्रेन का आखिरी डिब्बा है और वही पर ट्रेन खत्म है दूसरा यह रेड लाइट का प्रयोग इसलिए होता है कि रात के टाइम जब क्रॉस साइन नहीं दिखता है तो रेड लाइट समझोगे अंदाजा लगाते हैं कि वह ट्रेन का आखिरी डिब्बा है क्रॉस साइन इसलिए भी इंपोर्टेंट होता है कि अगर वह आपको किसी ट्रेन के खत्म होने पर ना दिखे या बोगियों के खत्म होने पर ना दिखे तू उसे क्या समझा जा सकता है कि ट्रेन खतरे में है या फिर ट्रेन के कुछ डब्बे में सिंह है तो क्रॉस आई एम बेसिकली यही सब डिलीट करने के होता है

dekhi train ke peeche jab hum logo ne notice kiya hoga ek cross ka nishaan bana hota hai jo ki aakhiri dibbe par bana hota hai aur ek saath hi saath ek red light bhi hoti hai uske saath hi mein toh in dono ka basic kaam yah hai ki cross sign se hum log din ke time par yah cheez verify kar sakte hain ki vaah train ka aakhiri dibba hai aur wahi par train khatam hai doosra yah red light ka prayog isliye hota hai ki raat ke time jab cross sign nahi dikhta hai toh red light samjhoge andaja lagate hain ki vaah train ka aakhiri dibba hai cross sign isliye bhi important hota hai ki agar vaah aapko kisi train ke khatam hone par na dikhe ya bogiyon ke khatam hone par na dikhe tu use kya samjha ja sakta hai ki train khatre mein hai ya phir train ke kuch dabbe mein Singh hai toh cross I M basically yahi sab delete karne ke hota hai

देखी ट्रेन के पीछे जब हम लोगों ने नोटिस किया होगा एक क्रॉस का निशान बना होता है जो की आखिर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

MD HAROON

Teacher

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है तो देखिए ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान इसलिए होता है क्या इस बोगी के बाद कोई दूसरा बोगी नहीं बचा है ताकि ट्रेन मास्टर उस क्रॉस के निशान को देखकर यह समझ जाएगा इसके पीछे कोई वह भी नहीं है यह लास्ट बुके है

aapka sawaal hai train ke peeche cross ka nishaan kyon hota hai toh dekhiye train ke peeche cross ka nishaan isliye hota hai kya is boggie ke baad koi doosra boggie nahi bacha hai taki train master us cross ke nishaan ko dekhkar yah samajh jaega iske peeche koi vaah bhi nahi hai yah last Buke hai

आपका सवाल है ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है तो देखिए ट्रेन के पीछे क्रॉस का नि

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user

Preetisingh

Junior Volunteer

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान इसलिए होता है जैसा कि हम सभी जानते हैं कि ट्रेन में सभी दूसरे दूसरे से कनेक्ट रहता है ऐसे में अगर इनकी जड़ों में कोई खामी निकल गए तो ट्रेन के डिब्बे ट्रेन से निकल के पीछे छूट सकते हैं तो इनका सफर काफी लंबा होता है अगर ट्रेन के पीछे छोड़ के तू और तू भी ट्रेन ड्राइवर को पता नहीं चल पाएगा ऐसी स्थिति में दूसरी गाड़ी को उस लाइन पर जाने की परमिशन नहीं दी जाती है इस वजह से ट्रेन ब्लास्ट ब्लास्ट हिंदी में एक्स का निशान बनाया जाता है ताकि ट्रेन के कर्मचारियों को पता चल सके कि पूरी तरह से ट्रेन जा चुकी है या फिर आ चुकी है उसका निशान अवश्य होता है क्योंकि इससे पता चलता है कि ट्रेन किसी हादसे का शिकार नहीं हुई है

train ke peeche cross ka nishaan isliye hota hai jaisa ki hum sabhi jante hain ki train mein sabhi dusre dusre se connect rehta hai aise mein agar inki jadon mein koi khami nikal gaye toh train ke dibbe train se nikal ke peeche chhut sakte hain toh inka safar kaafi lamba hota hai agar train ke peeche chod ke tu aur tu bhi train driver ko pata nahi chal payega aisi sthiti mein dusri gaadi ko us line par jaane ki permission nahi di jaati hai is wajah se train blast blast hindi mein x ka nishaan banaya jata hai taki train ke karmachariyon ko pata chal sake ki puri tarah se train ja chuki hai ya phir aa chuki hai uska nishaan avashya hota hai kyonki isse pata chalta hai ki train kisi haadse ka shikaar nahi hui hai

ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान इसलिए होता है जैसा कि हम सभी जानते हैं कि ट्रेन में सभी दूसरे

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  386
WhatsApp_icon
user

Rajiv Ranjan

Account student,social thinker

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उनके पीछे क्रॉस का निशान इसलिए होता है क्योंकि ट्रेन मास्टर को गाड़ी जाने के बाद यह वह एक्स का निशान देखकर पता लगा सके की गाड़ी का सारा डिब्बा जा चुका है अगर ट्रेन के पीछे एक्स का निशान नहीं रहता है तो इसका अर्थ यह होगा कि गाड़ी का कोई डिब्बा पीछे छूट गया है या फिर तो कोई डिबेट निकल गया है और इसी से टेक्स्ट दिखाओ तब से ट्रेन मास्टर है पता करता है इससे पता चलता है कि गाड़ी का डिब्बा जा चुका है गाड़ी के साथ और गाड़ी के लास्ट में क्या लिखा है इसका अर्थ होता है लास्ट बोगी

unke peeche cross ka nishaan isliye hota hai kyonki train master ko gaadi jaane ke baad yah vaah x ka nishaan dekhkar pata laga sake ki gaadi ka saara dibba ja chuka hai agar train ke peeche x ka nishaan nahi rehta hai toh iska arth yah hoga ki gaadi ka koi dibba peeche chhut gaya hai ya phir toh koi debate nikal gaya hai aur isi se text dikhaao tab se train master hai pata karta hai isse pata chalta hai ki gaadi ka dibba ja chuka hai gaadi ke saath aur gaadi ke last mein kya likha hai iska arth hota hai last bogie

उनके पीछे क्रॉस का निशान इसलिए होता है क्योंकि ट्रेन मास्टर को गाड़ी जाने के बाद यह वह एक्

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  227
WhatsApp_icon
user

Roshan Prasad Jaiswal

Junior Volunteer

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही रोचक सवाल है सर आपने जो किए हैं यह मैं भी जानने तथा इसको बहुत इंटरेस्ट था तो उसने मुझे जाने का भी मौका मिला कि ट्रेन के डिब्बे के पीछे में एक्स जो क्रॉस लाइन पर जो निशान होता है वही होता है जो भारत में हर दिन करोड़ों लोग ट्रेन से सफर करते हैं तो कई बार आपने भी ट्रेन से सफर किया होगा आज हम आपको ट्रेन से संबंधित ही आपको बताना चाहेंगे डिब्बे में सफर करते हैं मतलब नहीं जानता

bahut hi rochak sawaal hai sir aapne jo kiye hain yah main bhi jaanne tatha isko bahut interest tha toh usne mujhe jaane ka bhi mauka mila ki train ke dibbe ke peeche mein x jo cross line par jo nishaan hota hai wahi hota hai jo bharat mein har din karodo log train se safar karte hain toh kai baar aapne bhi train se safar kiya hoga aaj hum aapko train se sambandhit hi aapko bataana chahenge dibbe mein safar karte hain matlab nahi jaanta

बहुत ही रोचक सवाल है सर आपने जो किए हैं यह मैं भी जानने तथा इसको बहुत इंटरेस्ट था तो उसने

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  323
WhatsApp_icon
play
user

munmun

Volunteer

0:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे हम जानते हैं कि ट्रेन में सभी डिब्बे जो है दूसरे से कनेक्ट रहते हैं और ऐसे में अगर उनके जुड़ाव में कोई काम ही निकल गई तो ट्रेन के एक डिब्बे जो है ट्रेन से निकल के पीछे छूट सकते हैं ट्रेन का सफर काफी लंबा होता है और अगर ट्रेन के कई डिब्बे पीछे छूट गए तो ट्रेन का जो ड्राइवर हो तो उसको पता नहीं चलता है और ऐसी स्थिति में दूसरी गाड़ी को इस लाइन पर जाने की परमिशन नहीं दी जाती इस वजह से ट्रेन के लास्ट डिब्बे में एक्स का निशान बनाया जाता है ताकि ट्रेन के कर्मचारियों को यह पता चल सके कि पूरी तरह से ट्रेन जा चुकी है या फिर आ चुकी है सभी ट्रेन में एक्स का निशान अवश्य होता है क्योंकि इसी से पता चलता है कि ट्रेन किसी भी हादसे का शिकार नहीं हुई है और पूरी ट्रेन एक्सेशन से दूसरे स्टेशन पर सही सलामत पहुंच चुकी है

likhe hum jante hain ki train mein sabhi dibbe jo hai dusre se connect rehte hain aur aise mein agar unke judav mein koi kaam hi nikal gayi toh train ke ek dibbe jo hai train se nikal ke peeche chhut sakte hain train ka safar kaafi lamba hota hai aur agar train ke kai dibbe peeche chhut gaye toh train ka jo driver ho toh usko pata nahi chalta hai aur aisi sthiti mein dusri gaadi ko is line par jaane ki permission nahi di jaati is wajah se train ke last dibbe mein x ka nishaan banaya jata hai taki train ke karmachariyon ko yah pata chal sake ki puri tarah se train ja chuki hai ya phir aa chuki hai sabhi train mein x ka nishaan avashya hota hai kyonki isi se pata chalta hai ki train kisi bhi haadse ka shikaar nahi hui hai aur puri train ekseshan se dusre station par sahi salamat pohch chuki hai

लिखे हम जानते हैं कि ट्रेन में सभी डिब्बे जो है दूसरे से कनेक्ट रहते हैं और ऐसे में अगर उन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Raj Bahadur

Study Please Subscribe On YouTube

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ट्रेन के पीछे लास्ट डिब्बे में इलेक्शन का मतलब यह होता है कि यह आखरी डिब्बा है जिस ट्रेन में आखरी बोगी में एक्स नहीं होगा उसका मतलब यह होता है कि कोई डिब्बा पीछे वाला छूट गया है

train ke peeche last dibbe mein election ka matlab yah hota hai ki yah aakhri dibba hai jis train mein aakhri boggie mein x nahi hoga uska matlab yah hota hai ki koi dibba peeche vala chhut gaya hai

ट्रेन के पीछे लास्ट डिब्बे में इलेक्शन का मतलब यह होता है कि यह आखरी डिब्बा है जिस ट्रेन म

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  552
WhatsApp_icon
user

gurpreet singh

Computer graduate

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ट्रेन के पीछे ग्राउंड फ्लोर होता है क्या अर्थ है कि बैगन पिछले वाहन बोर्ड में है जिससे अक्सर भारत में ट्रेनों पर अगली बोर्ड के रूप में स्वीकृत किया जाता है ट्रेन का आखिरी वाहन एरिया में एक लाल दीपक ले जाने वाला है इससे पहले आवश्यकता केवल एक तेल दीपक थी जो अक्सर गायब थी यह बहुत कमजोर थी हाल के वर्षों में बिजली के दीपक का परिधान अधिक सामान्य हो गया है पिछले वहां के संकेत विभिन्न प्रकार के हैं एक बड़े x को खोज के पीछे अक्सर देखा जाता है सिद्ध साधक हलकों का एक समूह भी देखा जा सकता है हालांकि यह 2018 के उपयोग से बाहर नहीं जा रहा है अपनी उद्यमियों रेट में एक छोटे से चित्रित X पीछे है या कभी-कभी विक्रम सिंह रॉकी एक जरूर लक्खा है पर चित्रित इन बैटिंग प्रतीकों का उल्लेख उल्लेख सभी ऊपर भी है अरबी के साथ एक छोटा सा बोर्ड अक्सर बांध के पीछे से जुड़ा है यह अतिम वाहन के लिए है

train ke peeche ground floor hota hai kya arth hai ki baigan pichle vaahan board mein hai jisse aksar bharat mein traino par agli board ke roop mein sawikrit kiya jata hai train ka aakhiri vaahan area mein ek laal deepak le jaane vala hai isse pehle avashyakta keval ek tel deepak thi jo aksar gayab thi yah bahut kamjor thi haal ke varshon mein bijli ke deepak ka paridhan adhik samanya ho gaya hai pichle wahan ke sanket vibhinn prakar ke hain ek bade x ko khoj ke peeche aksar dekha jata hai siddh sadhak halkon ka ek samuh bhi dekha ja sakta hai halaki yah 2018 ke upyog se bahar nahi ja raha hai apni udhyamiyon rate mein ek chote se chitrit X peeche hai ya kabhi kabhi vikram Singh rocky ek zaroor lakkha hai par chitrit in batting pratikon ka ullekh ullekh sabhi upar bhi hai rb ke saath ek chota sa board aksar bandh ke peeche se juda hai yah atim vaahan ke liye hai

ट्रेन के पीछे ग्राउंड फ्लोर होता है क्या अर्थ है कि बैगन पिछले वाहन बोर्ड में है जिससे अक्

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रेम जी विजय क्रॉस का निशान इसलिए होता है ताकि जो ट्रेन के पीछे कोई दूसरी चीज ना आ रही हो या फिर अंधेरे में कोई जीव है जो इंसान हो तो उसे बहुत दूर से देखना चाहिए जैसे कि उसे पता रहे कि यहां पर ट्रेन है

prem ji vijay cross ka nishaan isliye hota hai taki jo train ke peeche koi dusri cheez na aa rahi ho ya phir andhere mein koi jeev hai jo insaan ho toh use bahut dur se dekhna chahiye jaise ki use pata rahe ki yahan par train hai

प्रेम जी विजय क्रॉस का निशान इसलिए होता है ताकि जो ट्रेन के पीछे कोई दूसरी चीज ना आ रही हो

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  389
WhatsApp_icon
user
0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान इसलिए होता है क्योंकि वह क्रॉस का निशान हमें यह बताती है कि यह ट्रेन का लास्ट डेट है

train ke peeche cross ka nishaan kyon hota hai train ke peeche cross ka nishaan isliye hota hai kyonki vaah cross ka nishaan hamein yah batati hai ki yah train ka last date hai

ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान इसलिए होता है क्यो

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  325
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
train ke piche cross ka matlab ; ट्रेन के पीछे क्रॉस का निशान क्यों होता है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!