छत्तीसगढ़ का इतिहास क्या है?...


play
user
1:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुराने जमाने में एक जगह हुआ करती थी जिसका नाम था दक्षिणा को साला और यह रामायण और महाभारत में भी एक जगह का विस्तार किया गया बताया गया है जो विष्णु भगवान के सबसे पुराने स्टैचू मिले हैं पूछूंगा पीरियड के टाइम पर मिले मल्हार के अंदर जो छठी शताब्दी और बारहवीं शताब्दी के बीच में मिले शराब पुरिया के अंदर और पांडु मनीष यानी कि जो पांडू वंशज होते थे उन लोगों के भी जो है और बहुत बड़े-बड़े स्टेचू जिले हैं और सोमवंशी कालाचूरी नागवंशी तो यहां पर सबसे पहले जो छत्तीसगढ़ था यहां पर इसको बस्तर रीजन 11 वीं शताब्दी में तो 11 वीं शताब्दी के अंदर यहां पर चोला डायनेस्टी चोल वंश था और उसके जो राजा थे राजेंद्र चोला पहले फर्स्ट और कुलोठूंगा चोला फर्स्ट यह दोनों जो है राजा थे वहां पर और मराठा एंपायर उसके बाद बनावा पर 1751 में यानी कि 17411 सेल्स ऑफ नागपुर बोला जाता था मराठा एंपायर को मराठा वंश को तो यही छत्तीसगढ़ का इतिहास है और ब्रिटिश और कहां पर 1847 में आए थे

purane jamane mein ek jagah hua karti thi jiska naam tha dakshina ko sala aur yeh ramayana aur mahabharat mein bhi ek jagah ka vistar kiya gaya BA taya gaya hai jo vishnu bhagwan ke sabse purane statue mile hai poochhoonga period ke time par mile malhar ke andar jo chathi shatabdi aur BA arahvin shatabdi ke beech mein mile sharab puria ke andar aur pandu manish yani ki jo pandu vanshaj hote the un logo ke bhi jo hai aur BA hut BA de BA de statue jile hai aur somvanshi kalachuri nagvanshi toh yahan par sabse pehle jo chattisgarh tha yahan par isko BA star reason 11 vi shatabdi mein toh 11 vi shatabdi ke andar yahan par chola dynasty chol vansh tha aur uske jo raja the rajendra chola pehle first aur kulothunga chola first yeh dono jo hai raja the wahan par aur maratha Empire uske BA ad BA nava par 1751 mein yani ki 17411 sales of nagpur bola jata tha maratha Empire ko maratha vansh ko toh yahi chattisgarh ka itihas hai aur british aur kahaan par 1847 mein aaye the

पुराने जमाने में एक जगह हुआ करती थी जिसका नाम था दक्षिणा को साला और यह रामायण और महाभारत म

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  50
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!