क्या कभी आपका लड़की होना आपके सपनों के बीच एक रुकावट बना? जो लड़कियाँ IAS अफ़सर बनने का सपना देखती हैं, उन्हें आप क्या कहना चाहेंगी?...


play
user

Mittali Sethi

IAS 2017 Batch

8:48

Likes  48  Dislikes    views  937
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

Likes  2  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
play
user
3:42

Likes  5  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मेरे विचार में और मेरी जो मान्यता है वह तो यह है कि लड़कियां लड़कों से किसी भी मामले में कम नहीं होती है और बल्कि कुछ ना कुछ ज्यादा ही होती हैं और ऐसा कोई काम नहीं है ऐसी कोई पढ़ाई नहीं है ऐसी कोई नौकरी नहीं है जो लड़की कर सकते हैं लड़कियां नहीं कर सकती हैं हां यह जरूर हो सकता है कि हमारे आसपास जो सांस्कृतिक और जो सामाजिक माहौल है हमारे देश में खासकर के ग्रामीण इलाकों में उसने यह हो सकता है कि शायद लड़की को वही काम करने के लिए दुगनी मेहनत करनी पड़ेगी शायद समय ज्यादा देना पड़े शायद बहुत सारी परिस्थितियां इस तरीके की उसके सामने खड़ी कर दी जाए कि वह उसे रोकें आगे बढ़ने से लेकिन फिर भी मुझे लगता है कि मेरे लिए अगर मैं अपनी बात करूं तो मेरा लड़की होना कभी मेरे रास्ते में नहीं आया इंसाफ मुझे अपने परिवार में अपने छोटे भाई से ज्यादा प्यार मिला है सहयोग मिला है मेरे माता पिता ने मुझे शुरू से ही इस तरीके से पाला है कि मैं किसी से कम नहीं हूं चाहे कोई लड़का हो या लड़की हो अगर मैं मेहनत करूंगी तो मैं जरूर अपने सपनों को साकार करूंगी तो मेरे आगे तो यह चीज नहीं आई लेकिन मुझे लगता है शायद बहुत सारे लोगों की यह हकीकत हो सकती है कि उनका लड़की होना उनके लिए चीजों को थोड़ा सा ज्यादा मुश्किल बना देता है

vicky mere vichar mein aur meri jo manyata hai vaah toh yah hai ki ladkiyan ladko se kisi bhi mamle mein kam nahi hoti hai aur balki kuch na kuch zyada hi hoti hain aur aisa koi kaam nahi hai aisi koi padhai nahi hai aisi koi naukri nahi hai jo ladki kar sakte hain ladkiyan nahi kar sakti hain haan yah zaroor ho sakta hai ki hamare aaspass jo sanskritik aur jo samajik maahaul hai hamare desh mein khaskar ke gramin ilakon mein usne yah ho sakta hai ki shayad ladki ko wahi kaam karne ke liye dugni mehnat karni padegi shayad samay zyada dena pade shayad bahut saree paristhiyaann is tarike ki uske saamne khadi kar di jaaye ki vaah use roken aage badhne se lekin phir bhi mujhe lagta hai ki mere liye agar main apni baat karun toh mera ladki hona kabhi mere raste mein nahi aaya insaaf mujhe apne parivar mein apne chhote bhai se zyada pyar mila hai sahyog mila hai mere mata pita ne mujhe shuru se hi is tarike se pala hai ki main kisi se kam nahi hoon chahen koi ladka ho ya ladki ho agar main mehnat karungi toh main zaroor apne sapnon ko saakar karungi toh mere aage toh yah cheez nahi I lekin mujhe lagta hai shayad bahut saare logon ki yah haqiqat ho sakti hai ki unka ladki hona unke liye chijon ko thoda sa zyada mushkil bana deta hai

विकी मेरे विचार में और मेरी जो मान्यता है वह तो यह है कि लड़कियां लड़कों से किसी भी मामले

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1432
WhatsApp_icon
user

Pamela Satpathy

IAS Officer, Telangana

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे केस में तो नहीं या लड़की हो ना मेरे खेत में कभी रुकावट नहीं हुआ मैंने लड़की बहुत सारी लड़कियों को बहुत सारी क्या डिलीट कोई ऐसे देखा है जिनको रियली स्ट्रगल करना पड़ता है क्योंकि वह लड़की है मैं इस केस में दोषी से कहना चाहूंगी कि डिस्क्रिमिनेशन तो है कि आज भले हम उसे ओपन करें लड़का लड़की में ऑटोमेटिक बहुत सरल तरीके से हो जाता है जैसे अगर लड़की कुछ घर में या फिर ससुराल में कुछ काम नहीं करें या फिर कोई चीज नहीं मदद ना करें हाथ ना बताएं उन कोई सवाल नहीं पूछता तुमने खाना क्यों नहीं बनाया घर साफ क्यों नहीं किया पढ़ाई क्यों की और लड़कियों को इन सवालों से जूझना पड़ता है क्वेश्चंस आफ क्लास सिर्फ लड़कों के लिए होता है अभी फ्रीडम ले ले तो 9 क्वेश्चंस आफ चैप्टर थे सिटी आई नहीं है अरविंद से सवाल पूछा जाता है कि क्यों नहीं किया कि मैं बहुत लकी थी मेरे दोनों साइड सानू तेरे नाल हो गया है मत कहना चाहूंगी कि अपनी शक्ल जारी रखना आप अकेले नहीं देते हो आपको देखकर डर और लड़कियां प्रेरित होती हैं कि हमको भी अपनी इन परिस्थितियों से लड़ कर आगे बढ़ना है तो आप अपने अकेले के लिए रोल मॉडल नहीं हो आप उन 10 लड़कियों के लिए भी हो जो और 10 लड़कियों को प्रेरित कर सकती है तो लगे रहना बस

mere case mein toh nahi ya ladki ho na mere khet mein kabhi rukavat nahi hua maine ladki bahut saree ladkiyon ko bahut saree kya delete koi aise dekha hai jinako really struggle karna padta hai kyonki vaah ladki hai main is case mein doshi se kehna chahungi ki discrimination toh hai ki aaj bhale hum use open karen ladka ladki mein Automatic bahut saral tarike se ho jata hai jaise agar ladki kuch ghar mein ya phir sasural mein kuch kaam nahi karen ya phir koi cheez nahi madad na karen hath na batayen un koi sawaal nahi poochta tumne khana kyon nahi banaya ghar saaf kyon nahi kiya padhai kyon ki aur ladkiyon ko in sawalon se jujhna padta hai questions of class sirf ladko ke liye hota hai abhi freedom le le toh 9 questions of chapter the city I nahi hai arvind se sawaal poocha jata hai ki kyon nahi kiya ki main bahut lucky thi mere dono side sanu tere naal ho gaya hai mat kehna chahungi ki apni shakl jaari rakhna aap akele nahi dete ho aapko dekhkar dar aur ladkiyan prerit hoti hain ki hamko bhi apni in paristhitiyon se lad kar aage badhana hai toh aap apne akele ke liye roll model nahi ho aap un 10 ladkiyon ke liye bhi ho jo aur 10 ladkiyon ko prerit kar sakti hai toh lage rehna bus

मेरे केस में तो नहीं या लड़की हो ना मेरे खेत में कभी रुकावट नहीं हुआ मैंने लड़की बहुत सारी

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  1507
WhatsApp_icon
play
user

Isha Pant

IPS Officer

1:42

Likes  25  Dislikes    views  548
WhatsApp_icon
play
user

Rohini Katoch Sepat

Indian Police Officer

0:33

Likes  130  Dislikes    views  2030
WhatsApp_icon
user

UMA Sharma 🌹🙏

Private Teacher

0:42
Play

Likes  3  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!