यदि मेरी अचानक मौत होती है, तो इसमें कौन दोषी होता है?...


play
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

1:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा अचानक हो इसका कोई कारण नहीं हो सकता है कोई भी को जो कारण होगा जो लंबे समय से होगा जिसको आप एड्रेस नहीं कर रहे हैं पर ध्यान नहीं दे कर रहे हैं जो अचानक कितना बड़े पैमाने पर उपद्रव आपके शरीर के अंदर करें जिससे कि ऐसी स्थिति आ जाए इसमें दोषी किसी और को मानने का कोई कारण नहीं है दोषी आदमी खुद होता है कि अपने स्वास्थ्य के बारे में अपने किसी परेशानी के बारे में ध्यान न देकर अनदेखा करता है जिसके जिसके दुखद परिणाम आते हैं और मंदिर की तरह शरीर ऐश्वरीय कृति है इसको जितना स्वस्थ इतना सुंदर इतना साफ सुथरा रखिएगा उतनी ही अच्छी हो जैसे आप संचारित हो जाएगा और इस दुनिया में आप कितने ही अच्छे काम करके आप इस दुनिया से विदा हो सकते हैं शुभकामनाएं धन्यवाद

aisa achanak ho iska koi karan nahi ho sakta hai koi bhi ko jo karan hoga jo lambe samay se hoga jisko aap address nahi kar rahe hain par dhyan nahi de kar rahe hain jo achanak kitna bade paimane par upadrav aapke sharir ke andar kare jisse ki aisi sthiti aa jaaye isme doshi kisi aur ko manne ka koi karan nahi hai doshi aadmi khud hota hai ki apne swasthya ke bare mein apne kisi pareshani ke bare mein dhyan na dekar andekha karta hai jiske jiske dukhad parinam aate hain aur mandir ki tarah sharir aishwariya kriti hai isko jitna swasthya itna sundar itna saaf suthara rakhiega utani hi achi ho jaise aap sancharit ho jaega aur is duniya mein aap kitne hi acche kaam karke aap is duniya se vida ho sakte hain subhkamnaayain dhanyavad

ऐसा अचानक हो इसका कोई कारण नहीं हो सकता है कोई भी को जो कारण होगा जो लंबे समय से होगा जिसक

Romanized Version
Likes  171  Dislikes    views  2927
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि अचानक मौत सोचिए तो उसमें समय दोषी होता है क्योंकि समय अजी भगवान है होनी को कोई नहीं रोक सकता पहले समय होता है क्योंकि उस समय तुम्हारी बच्ची जैसी ना कर दो

yadi achanak maut sochiye toh usme samay doshi hota hai kyonki samay aji bhagwan hai honi ko koi nahi rok sakta pehle samay hota hai kyonki us samay tumhari bachi jaisi na kar do

यदि अचानक मौत सोचिए तो उसमें समय दोषी होता है क्योंकि समय अजी भगवान है होनी को कोई नहीं रो

Romanized Version
Likes  138  Dislikes    views  2351
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि अचानक मौत हो जाती है इसमें दोषी कोई नहीं दोस्ती सिर्फ आप हैं क्योंकि आपके कर्मों के अनुसार ही आप की मृत्यु आई है जिस तरीके से आज इस प्रकार से इस जन्म है पिछले जन्म में कई जन्मों में अगर आपने गलत कर्म किए हैं तो उसी का फल मिलता है तो हम खुद दोषी होते हैं अपनी मौत की भगवान भगवान ने तुम्हारे हाथ में रेखा बनाई है भगवान तो स्वयं लिखते हैं हमें जन्म देते हैं यहां पृथ्वी में परंतु हमारा कार्य क्या हम अच्छे कर्म करे गलत कर्म करते हैं तुम्हें ऐसी सजा मिलती है अचानक मौत होती है अचानक मौत अपने कर्मों के द्वारा होती है

yadi achanak maut ho jaati hai isme doshi koi nahi dosti sirf aap hain kyonki aapke karmon ke anusaar hi aap ki mrityu I hai jis tarike se aaj is prakar se is janam hai pichle janam mein kai janmon mein agar aapne galat karm kiye hain toh usi ka fal milta hai toh hum khud doshi hote hain apni maut ki bhagwan bhagwan ne tumhare hath mein rekha banai hai bhagwan toh swayam likhte hain hamein janam dete hain yahan prithvi mein parantu hamara karya kya hum acche karm kare galat karm karte hain tumhe aisi saza milti hai achanak maut hoti hai achanak maut apne karmon ke dwara hoti hai

यदि अचानक मौत हो जाती है इसमें दोषी कोई नहीं दोस्ती सिर्फ आप हैं क्योंकि आपके कर्मों के अ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अचानक मृत्यु तो बहुत प्रकार से होती है डिपेंड करता है कि आप की मृत्यु अचानक हुई कैसे कोई आपको या एक्सीडेंट हो गई कि आप ने फांसी लगा ली ट्रेन से कटकर मर गए या किसी ने मार दिया या अदर चीजें बहुत सारी है तो ऐसे कैसे हो सकता जो कुछ भी हो तो ऐसे कैसे होते हैं तो आप मरते किस तरह से यह डिपेंड करता है यदि आप एक्सीडेंटल केस में उसका दोस्ती कोई नहीं है अगर आप खुद से मरते हो तो इसका दोषी आप ही हो सुसाइड करते हो तो इसके दोषी आप ही हो जब यदि आपको कोई मारता है तब उसको की बुआ और वैसे इतनी जल्दी तो मरने वाले नहीं लगती है यार इतनी जल्दी मरने वाले नहीं इतना कुछ मत सोचा करो या लाइफ के बारे में यह सोचो कि यह कैसे क्या करेगी आगे की लाइफ बेटर होगी यह मत सोचो कि अचानक मौत कैसे रह गया हां यदि आपको किसी पर डाउट है तो आप उसके जैसे मैं तो अपना डायरी लिखे कीजिए अपनी डायरी में लिखे जहां मौत हो जाती है अचानक से कुछ हो जाती है तो मुझे इस पर डाउट है इसलिए सोना चाहिए ऐसा होना चाहिए तो ऐसा कर सकते हो बस

dekhiye achanak mrityu toh bahut prakar se hoti hai depend karta hai ki aap ki mrityu achanak hui kaise koi aapko ya accident ho gayi ki aap ne fansi laga li train se katakar mar gaye ya kisi ne maar diya ya other cheezen bahut saree hai toh aise kaise ho sakta jo kuch bhi ho toh aise kaise hote hain toh aap marte kis tarah se yah depend karta hai yadi aap accidental case mein uska dosti koi nahi hai agar aap khud se marte ho toh iska doshi aap hi ho suicide karte ho toh iske doshi aap hi ho jab yadi aapko koi maarta hai tab usko ki buaa aur waise itni jaldi toh marne waale nahi lagti hai yaar itni jaldi marne waale nahi itna kuch mat socha karo ya life ke bare mein yah socho ki yah kaise kya karegi aage ki life better hogi yah mat socho ki achanak maut kaise reh gaya haan yadi aapko kisi par doubt hai toh aap uske jaise main toh apna diary likhe kijiye apni diary mein likhe jaha maut ho jaati hai achanak se kuch ho jaati hai toh mujhe is par doubt hai isliye sona chahiye aisa hona chahiye toh aisa kar sakte ho bus

देखिए अचानक मृत्यु तो बहुत प्रकार से होती है डिपेंड करता है कि आप की मृत्यु अचानक हुई कैसे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  30
WhatsApp_icon
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखे ऐसा कभी भी नहीं होता है और नॉर्मल ही ऐसा कभी होगा भी नहीं तो ऐसा तभी होता है जब कभी हम बीमार हो जाता है ऐसे कोई प्रॉब्लम हो जाती है ज्यादा हमारे बॉडी में तब होता है बाकी नॉर्मल ऐसा कभी नहीं होता कभी ऐसा सोचना भी नहीं चाहिए और हमेशा जिंदगी को अच्छे से जीना चाहिए ऐसा ऐसी सोच में कभी नहीं होती थी

dikhen aisa kabhi bhi nahi hota hai aur normal hi aisa kabhi hoga bhi nahi toh aisa tabhi hota hai jab kabhi hum bimar ho jata hai aise koi problem ho jaati hai zyada hamare body mein tab hota hai baki normal aisa kabhi nahi hota kabhi aisa sochna bhi nahi chahiye aur hamesha zindagi ko acche se jeena chahiye aisa aisi soch mein kabhi nahi hoti thi

दिखे ऐसा कभी भी नहीं होता है और नॉर्मल ही ऐसा कभी होगा भी नहीं तो ऐसा तभी होता है जब कभी ह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  36
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!