टेंशन बढ़ने के क्या कारण हैं?...


play
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

1:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

टेंशन बढ़ने का क्या कारण है टेंशन बढ़ने का एकमात्र कारण है कि आपकी अपेक्षाएं ज्यादा हो गई हैं आप की जितनी क्षमता है उससे ज्यादा आप चाहने लगे और उसको पाने के तरीके है नहीं आपके पास तो इसकी वजह से आपको टेंशन बढ़ता है तो सिंपल सा फार्मूला है अपनी क्षमताओं को पहचाने और उसके अनुसार काम करना शुरू करें धीरे-धीरे क्षमताएं बढ़ेंगे और अब वह पा सकते हैं जो आप पाना चाहते हैं केवल महत्वाकांक्षा पाल लेने से कुछ फायदा नहीं होता क्योंकि अगर आप यह सोचा कि मैं भारत का प्रधानमंत्री बन सकता हूं और उसकी योग्यता है नहीं आप में आप फिर आप उसके लिए अधूरा प्रयास करो तो फिर क्या होने वाला है आपको फ्रस्ट्रेशन होगा डिप्रेशन होगा तनाव होगा बीमारी हो तो सदा ही ध्यान रखें अपनी क्षमताएं जरूर पहचाने उसके हिसाब से कार्य करें प्लानिंग करना बुरा नहीं है अपेक्षा रखना भी बुरा नहीं है परंतु बिना क्षमता बढ़ाए अपेक्षा को रखे ना बहुत गलत है जिससे कि टेंशन पड़ता है तो सदा खुश रहे बिना टेंशन के रहे आपका मंगल हो आपका मंगल हो आपका मंगल हो

tension badhne ka kya kaaran hai tension badhne ka ekmatra kaaran hai ki aapki apekshayen zyada ho gayi hain aap ki jitni kshamta hai usse zyada aap chahne lage aur usko pane ke tarike hai nahi aapke paas toh iski wajah se aapko tension badhta hai toh simple sa formula hai apni kshamataon ko pehchane aur uske anusaar kaam karna shuru karein dhire dhire kshamataen badhenge aur ab wah pa sakte hain jo aap pana chahte hain keval mahatvakansha pal lene se kuch fayda nahi hota kyonki agar aap yeh socha ki main bharat ka Pradhanmantri ban sakta hoon aur uski yogyata hai nahi aap mein aap phir aap uske liye adhura prayas karo toh phir kya hone vala hai aapko frustration hoga depression hoga tanaav hoga bimari ho toh sada hi dhyan rakhen apni kshamataen zaroor pehchane uske hisab se karya karein planning karna bura nahi hai apeksha rakhna bhi bura nahi hai parantu bina kshamta badhae apeksha ko rakhe na bahut galat hai jisse ki tension padta hai toh sada khush rahe bina tension ke rahe aapka mangal ho aapka mangal ho aapka mangal ho

टेंशन बढ़ने का क्या कारण है टेंशन बढ़ने का एकमात्र कारण है कि आपकी अपेक्षाएं ज्यादा हो गई

Romanized Version
Likes  177  Dislikes    views  2465
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!