हमारे जीवन का निचोड़ क्या है?...


play
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

3:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज़ेबरा पर थोड़ा सा ध्यान फरमाएं तो आपको दिखेगा कि इस धरातल पर बहुत सारे जीव जंतु में यह प्राणी है और उनमें से जो सबसे सुप्रीम है वह मनुष्य जो हमें यह जो जीवन मिला है मनुष्य जीवन यह बहुत बहुत वॉल्यूबल है बहुत अच्छी क्रीम है बहुत अच्छे कर्म करने के बाद हमें जा कर यह जीवन मिलता है ना अभी पूछा जाए कि जीवन का निचोड़ किया है तो सबसे पहली बात कि हमारे कर्म अच्छे रहे होंगे इसलिए हम यह जीवन मिला है क्या हम जो भी हैं किसी कारण से हम यहां पर अब हमें यह देखना है कि भाई हम जिस किसी भी फॉर्म में हैं फिलहाल हम मनुष्य रूप में है इस फॉर्म में हैं तो क्या हम इसको फुलेस्ट पोटेंशियल टो अचीव करने का और जीवन को सार्थक बनाने का रास्ता अख्तियार करते हैं या नहीं करते हम अपने जीवन को किस तरह जीते हैं यह बड़ा इंपॉर्टेंट हो जाता है यह दिखे जीवन तो प्राय सबको मिल ही जाएगा कुछ ना कुछ कर्म किया किसी ने जैसा भी किया उसको तो जीवन मिल गया लेकिन उसके बाद उस जीवन का को करता क्या है वह बड़ा इंपोर्टेंट होता है तो जब हम जीवन का निचोड़ बोलते हैं तो जीवन में एक तरीका होता है इस तरीके से रहना जो कि एकदम क्लोज होता है नहीं सर के साथ रहना जब मैं नहीं सर बोलता हूं तो नहीं चलता मतलब प्रकृति नहीं होता या अपनी चंद्रमा का मतलब यह होता है कि भाई आपको जिस तरीके से बनाया गया है तो आप अपने आप को उस सांचे में डालकर उस तरीके से रहे जीवन यापन करें ताकि आप लाइफ के एक्सपीरियंस एक्सपीरियंस करें जैसा आपको एक्सपीरियंस करना चाहिए था या करना चाहिए है इंसान क्या करता है अगर इंसान दूसरे तरीके से जीवन बिताना शुरू कर दे तो देखने के लिए उसको अभी वह आनंद आएगा हो सकता है टेंपरेरी उसको सेंस ऑफ अचीवमेंट मेरे खुशी मिले लेकिन आगे चलकर देखे जीवन है कि नहीं होता है जीवन का ही होते हैं आगे चलकर हो सकते हैं उसको परेशानी हो जाए इस जीवन काल में आने वाले समय में तो हमें तो यह देखना है कि मैं जो कह रहा हूं जो मेरी क्वालिटी ऑफ लाइफ है जो मेरे लाइफ के एक्सपीरियंस उसे क्या बारिश है या नहीं है मुझे तो यह देखना है कि मैं अपने एक्सपीरियंस को कैसे बढ़िया बनाऊं मैं अपना जीवन यापन कैसे करता हूं अपने साथ-साथ लोगों के साथ में कैसे रहता हूं इस प्रकृति के साथ में क्या व्यवहार करता हूं यह सारा चीज जरूरी हो जाता है तो भी अगर जीवन जानी चोर बोला जाए तो देश जीवन दानी छोटी है कि क्या यह जीवन आपका सार्थक रहा है सार्थक आपके हिसाब से नहीं मत लीजिए कि वही आप जैसा सोचे हैं वही सही साथ अकेली जेके इस फॉर्म में जब आप हैं तो क्या आपने बहुत बढ़िया से इस फोन में यह वाली भूमिका निभाई है या नहीं है क्या अपने आप को उस तरीके से ग्रुप किया है जो आपकी क्षमता या आपको ऐसे अपने आप को बिखरे हुए रहने दिया है और उस तरीके से नहीं आप बड़े जैसा बढ़ने बढ़ना चाहते थे बढ़ सकते थे तो इस तरीके से आप एक बार देख सकते हैं कि मेरा लाइफ कैसा जा रहा है क्या उसे कुछ उसमें कुछ करेक्शन करने की जरूरत है या नहीं और रिकॉर्डिंग भी आगे जा सकते हैं

zebra par thoda sa dhyan farmaen toh aapko dikhega ki is dharatal par bahut saare jeev jantu mein yeh prani hai aur unmen se jo sabse supreme hai wah manushya jo humein yeh jo jeevan mila hai manushya jeevan yeh bahut bahut valyubal hai bahut acchi cream hai bahut acche karm karne ke baad humein ja kar yeh jeevan milta hai na abhi puchha jaye ki jeevan ka nichod kiya hai toh sabse pehli baat ki hamare karm acche rahe honge isliye hum yeh jeevan mila hai kya hum jo bhi hain kisi kaaran se hum yahan par ab humein yeh dekhna hai ki bhai hum jis kisi bhi form mein hain filhal hum manushya roop mein hai is form mein hain toh kya hum isko fullest potential to achieve karne ka aur jeevan ko sarthak banane ka rasta akhtiyar karte hain ya nahi karte hum apne jeevan ko kis tarah jeete hain yeh bada important ho jata hai yeh dikhe jeevan toh praya sabko mil hi jayega kuch na kuch karm kiya kisi ne jaisa bhi kiya usko toh jeevan mil gaya lekin uske baad us jeevan ka ko karta kya hai wah bada important hota hai toh jab hum jeevan ka nichod bolte hain toh jeevan mein ek tarika hota hai is tarike se rehna jo ki ekdam close hota hai nahi sar ke saath rehna jab main nahi sar bolta hoon toh nahi chalta matlab prakriti nahi hota ya apni chandrama ka matlab yeh hota hai ki bhai aapko jis tarike se banaya gaya hai toh aap apne aap ko us sanche mein dalkar us tarike se rahe jeevan yaapan karein taki aap life ke experience experience karein jaisa aapko experience karna chahiye tha ya karna chahiye hai insaan kya karta hai agar insaan dusre tarike se jeevan bitana shuru kar de toh dekhne ke liye usko abhi wah anand aaega ho sakta hai temprory usko sense of achievement mere khushi mile lekin aage chalkar dekhe jeevan hai ki nahi hota hai jeevan ka hi hote hain aage chalkar ho sakte hain usko pareshani ho jaye is jeevan kaal mein aane wale samay mein toh humein toh yeh dekhna hai ki main jo keh raha hoon jo meri quality of life hai jo mere life ke experience use kya barish hai ya nahi hai mujhe toh yeh dekhna hai ki main apne experience ko kaise badhiya banau main apna jeevan yaapan kaise karta hoon apne saath saath logo ke saath mein kaise rehta hoon is prakriti ke saath mein kya vyavahar karta hoon yeh saara cheez zaroori ho jata hai toh bhi agar jeevan jani chor bola jaye toh desh jeevan Dani choti hai ki kya yeh jeevan aapka sarthak raha hai sarthak aapke hisab se nahi mat lijiye ki wahi aap jaisa soche hain wahi sahi saath akeli JK is form mein jab aap hain toh kya aapne bahut badhiya se is phone mein yeh wali bhumika nibhaai hai ya nahi hai kya apne aap ko us tarike se group kiya hai jo aapki kshamta ya aapko aise apne aap ko bikhare hue rehne diya hai aur us tarike se nahi aap bade jaisa badhne badhana chahte the badh sakte the toh is tarike se aap ek baar dekh sakte hain ki mera life kaisa ja raha hai kya use kuch usme kuch correction karne ki zarurat hai ya nahi aur recording bhi aage ja sakte hain

ज़ेबरा पर थोड़ा सा ध्यान फरमाएं तो आपको दिखेगा कि इस धरातल पर बहुत सारे जीव जंतु में यह प्

Romanized Version
Likes  548  Dislikes    views  7827
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

chandan pandey

कॉलेज B.a. डिप्लोमा एडीसीए डिप्लोमा Computer

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में जिंदगी कहानी चोर है कि हम अपने लाइफ में शादी में होने से पहले पैर पर खड़ा होना चाहिए ताकि हम आगे अपने लाइफ में कोई प्रकार कष्ट ना हो कि नहीं शादी है हो नहीं पर मैं शादी कर ली और परेशान है आरती राय राय अपने बैटरी बड़े जो पढ़ लिख लो मां बाप के रहते ना जिसके मां बाप ने वह भी अपना दुख तकलीफ झेल कर के जॉब करके पढ़ाई कर रहा है वैसे ही आपको भी करना चाहिए जीवन का निचोड़ क्या इंग्लिश वर्ड क्या कर सकते हैं चोरी

zindagi mein zindagi kahani chor hai ki hum apne life mein shadi mein hone se pehle pair par khada hona chahiye taki hum aage apne life mein koi prakar kasht na ho ki nahi shadi hai ho nahi par main shadi kar li aur pareshan hai aarti rai rai apne battery bade jo padh likh lo maa baap ke rehte na jiske maa baap ne wah bhi apna dukh takleef jhel kar ke job karke padhai kar raha hai waise hi aapko bhi karna chahiye jeevan ka nichod kya english word kya kar sakte hain chori

जिंदगी में जिंदगी कहानी चोर है कि हम अपने लाइफ में शादी में होने से पहले पैर पर खड़ा होना

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  30
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे जीवन का निचोड़ हमारे जीवन का निचोड़ ज्ञान पैसा और लक्ष्य 3ac जो हमारे जीवन का निशुल्क हमें सबसे ज्यादा ज्ञान ग्रहण करना चाहिए पैसा कमाना चाहिए अपने लक्ष्य को पाने के लिए लक्ष्य पाने के बाद समाज में समाज की सेवा सेवा देश की सेवा अच्छे विचारों को प्रकट करना दुनिया को अच्छा ही हो तो ले आना हमारे जीवन का निचोड़ है

hamare jeevan ka nichod hamare jeevan ka nichod gyaan paisa aur lakshya 3ac jo hamare jeevan ka nishulk hamein sabse zyada gyaan grahan karna chahiye paisa kamana chahiye apne lakshya ko paane ke liye lakshya paane ke baad samaj mein samaj ki seva seva desh ki seva acche vicharon ko prakat karna duniya ko accha hi ho toh le aana hamare jeevan ka nichod hai

हमारे जीवन का निचोड़ हमारे जीवन का निचोड़ ज्ञान पैसा और लक्ष्य 3ac जो हमारे जीवन का निशुल्

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन का निचोड़ या फिर कह सकते कि सबरी क्या के है हमारे जीवन की समरी हर किसी इंसान का अलग अलग है लेकिन है यह है कि भगवान श्रीराम को उच्चतम धान की खेती है पुरुषोत्तम क्योंकि उसी तरह के उत्तम काम करने के लिए भेजा गया है कि जन्म लोग अपना पढ़ाई लिखाई करो माता पिता की सेवा करो अपने लिए कुछ करो समाज के लिए कुछ करो देश के लिए कुछ करो और उसके बाद जो है फिर से जहां से आए हो वहां पर वापस लौट जाती ही जैसे गुस्सा होता है किसी के भी जीवन का

jeevan ka nichod ya phir keh sakte ki sabri kya ke hai hamare jeevan ki summary har kisi insaan ka alag alag hai lekin hai yah hai ki bhagwan shriram ko ucchatam dhaan ki kheti hai purushottam kyonki usi tarah ke uttam kaam karne ke liye bheja gaya hai ki janam log apna padhai likhai karo mata pita ki seva karo apne liye kuch karo samaj ke liye kuch karo desh ke liye kuch karo aur uske baad jo hai phir se jaha se aaye ho wahan par wapas lot jaati hi jaise gussa hota hai kisi ke bhi jeevan ka

जीवन का निचोड़ या फिर कह सकते कि सबरी क्या के है हमारे जीवन की समरी हर किसी इंसान का अलग अ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  54
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
hamare kya hai ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!