पीपल् की पूजा क्यों की जाती है?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीपल की पूजा असली की जाती है पीपल को हमारे यहां पीपल और पट नक्श को दोनों को ही हमारी भारतीय संस्कृति में बहुत सम्मानीय स्थान प्राचीन समय से ही प्राप्त है इसलिए और पीपल को बहुत पवित्र माना जाता है ऐसा मानते हैं कि इस पर लक्ष्मी जी का और श्री विष्णु जी का वास है इसलिए हमेशा से ही आदर की दृष्टि से देखा जाता है और साइंस में भी सिद्ध कर दिया है कि पीपल ऑक्सीजन अधिक छोड़ता है पीपल के वृक्ष की छाया बहुत अच्छी होती है उसकी बात अच्छी होती है इसलिए भारतीय संस्कृति में पीपल का वृक्ष का बहुत अधिक सामाजिक सम्मान है पूजा की जाती है और पीपल की जितने पेड़ लगा सकते हैं जितनी उनकी सेवा कर सकते हैं जितना उन्हें बड़ा कर सकते हैं उतने ही उनके लिए हितकारी होता है और एक पीपल का पेड़ लगाना एक संतान को जन्म देकर के पालन पोषण करने के समान माना जाता है इसलिए भारतीय संस्कृति में उनका सर्वाधिक सम्मान है

pipal ki puja asli ki jati hai pipal ko hamare yahan pipal aur pat naksh ko dono ko hi hamari bharatiya sanskriti mein bahut sammaniya sthan prachin samay se hi prapt hai isliye aur pipal ko bahut pavitra mana jata hai aisa maante hain ki is par laxmi ji ka aur shri vishnu ji ka vaas hai isliye hamesha se hi aadar ki drishti se dekha jata hai aur science mein bhi siddh kar diya hai ki pipal oxygen adhik chodta hai pipal ke vriksh ki chhaya bahut acchi hoti hai uski baat acchi hoti hai isliye bharatiya sanskriti mein pipal ka vriksh ka bahut adhik samajik sammaan hai puja ki jati hai aur pipal ki jitne pedh laga sakte hain jitni unki seva kar sakte hain jitna unhein bada kar sakte hain utne hi unke liye hitkari hota hai aur ek pipal ka pedh lagana ek santan ko janam dekar ke palan poshan karne ke saman mana jata hai isliye bharatiya sanskriti mein unka sarvadhik sammaan hai

पीपल की पूजा असली की जाती है पीपल को हमारे यहां पीपल और पट नक्श को दोनों को ही हमारी भारती

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  23
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!