मुझे लोगो की टेंशन देखकर टेंशन होती है की वो इतना परेशान क्यों होते है उनकी परेशानी का कन्क्लूसिओं निकलती हूँ तो कोई कन्क्लूसिओं नहीं निकलता मैं क्या करूँ?...


play
user

Vikas Singh Rajput

Political Analyst

4:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको लोगों की टेंशन देखकर आपको टेंशन होता है बहुत अच्छी बात है यार कि लोगों की टेंशन को आप अपनी टेंशन मांगते हैं हमें लगता है कि आप अच्छे लीडर हैं देखिए अच्छा नेता वही होता है जो बहुत ज्यादा टेंशन में होने के बाद भी अगर उसके समाज में कोई अगर इंसान टेंशन में है अपनी समस्या लेकर आता है उसके पास तो वह अपनी टेंशन को भूलकर सबसे पहले उसके टेंशन को दूर करता है यह एक राजनेता का एक आदर्श राजनेता का सबसे अच्छा कौन है टेंशन लेने से देखें टेंशन दूर नहीं होता है टेंशन का हमेशा समाधान ढूंढने की कोशिश करें कुछ लोग होते हैं खुद भी बहुत पड़े टेंशन होते हैं और दूसरों के टेंशन को भी अपना बहुत बड़ा टेंशन मान लेते हैं जैसे मैं उदाहरण लेकर बताता हूं आपको जैसे आप मंदिर में गए अब मंदिर में गए आप पंडित जी छत के जगह फूल चढ़ा दिए मूर्ति पर तो आप तुरंत उनको ठोक देते हैं अरे पंडित जी आपको पूजा करने नहीं आता है आपने फूल चढ़ाने के बजाय छत पर चढ़ा दिया तो आप हमेशा समझ क्या को देखते हैं दूसरों की क्या समस्या है हमेशा समाधान ढूंढने की कोशिश करिए दूसरों को जब आप समाधान करने वाले व्यक्ति बनेंगे तो आप अपने जीवन को भी तरक्की दिलाएंगे और दूसरों के भी टेंशन को दूर करेंगे जब आप खुद एक बहुत बड़े टेंशन हैं पहले से ही टेंशन में हैं तो क्या दूसरों को दूसरों के समस्या का समाधान कर पाएंगे नहीं कर पाएंगे तो आप से निवेदन है आप दूसरों की टेंशन को अपना टेंशन मत बनाइए आप हमेशा समाधान के लिए कार्य करिए समाधान एक ऐसा चीज है जिसके माध्यम से हजारों लाखो टेंशन को दूर किया जा सकता है आज की डेट में खुद की टेंशन से लोग कम परेशान हैं लेकिन दूसरों की टेंशन से ज्यादा परेशान है दूसरों की तरक्की से ज्यादा लोग परेशान हैं आप दूसरों की तरक्की से परेशान मत होइए और हां अगर कोई गांव और आप के आस पास कोई गरीब व्यक्ति है वह बहुत उसके घर खाने पीने के लिए नहीं है रोजगार नहीं है उसके बच्चों को पढ़ने के लिए पैसा नहीं है अगर उसका टेंशन लेते हैं तो बहुत अच्छी बात है लेकिन सिर्फ टेंशन मत लीजिए उसके लिए आप कुछ कार्य करिए आप की जितनी औकात है उसके हिसाब से उनके लिए व्यवस्था बनाइए और आप कोशिश करिए कि अपने आसपास के लोगों को कुछ देने के बजाय उनके बच्चों को आप मानसिक तरीके से प्रिपेयर करिए तैयार करिए कि वह कुछ बहुत बड़े पढ़ाई-लिखाई कर कर कुछ बड़े अधिकारी बन सकेगा कुछ बन सके लेकिन मानसिक तरीके से तैयार करनी को सबसे बड़ा दान मैं बोलता हूं अगर आप ने मानसिक तरीके से गांव समाज के लोगों का सोच बढ़ा दिया और वह बड़े सोच के माध्यम से कार्य करके सफलता प्राप्त करने लगे तो आप यह मान के चलिए कि आपका जीवन धन्य हो गया आप जीवन में सफल हो गए तो हम लोगों को मिलजुल कर कार्य करना होगा और गरीब पीड़ित वंचित सभी लोगों के लिए हम लोगों को मेहनत करना होगा मिलजुल कर काम करना होगा अगर किसी को रोजगार नहीं है तो उसको रोजगार दिलवा ना होगा आपके पास 10 वर्ष है कहीं तो उसके लिए रोजगार दिलवाई है अगर किसी के बच्चों को पढ़ने के लिए पैसा नहीं है तो कुछ एक अपने टीम का गठन करिए उनके बच्चों के लिए पैसा इकट्ठा करिए उनके बच्चों का एडमिशन करवाइए अगर किसी के घर पानी की व्यवस्था नहीं है कुछ क्षेत्रों में पानी की व्यवस्था नहीं है तो उस क्षेत्र में पानी पहुंचाने की कोशिश करिए और ऐसे बहुत सारे काम है जिसको हम लोग मिलजुलकर कर सकते हैं जब हम ऐसा करेंगे तो हमारा भी टेंशन दूर होगा और समाज का भी टेंशन दूर होगा और बस समाज भी हमसे समाधान की बात करेगी और हम भी समाधान की बात करेंगे जब समाधान की बात होगी तो देश तरक्की करेगा समाज तरक्की करेगा और हम सभी लोग तरक्की करेंगे धन्यवाद

aapko logo ki tension dekhkar aapko tension hota hai bahut acchi baat hai yaar ki logo ki tension ko aap apni tension mangate hain humein lagta hai ki aap acche leader hain dekhie accha neta wahi hota hai jo bahut zyada tension mein hone ke baad bhi agar uske samaj mein koi agar insaan tension mein hai apni samasya lekar aata hai uske paas toh wah apni tension ko bhulkar sabse pehle uske tension ko dur karta hai yeh ek raajneta ka ek adarsh raajneta ka sabse accha kaun hai tension lene se dekhen tension dur nahi hota hai tension ka hamesha samadhan dhundhne ki koshish karein kuch log hote hain khud bhi bahut pade tension hote hain aur dusro ke tension ko bhi apna bahut bada tension maan lete hain jaise main udaharan lekar batata hoon aapko jaise aap mandir mein gaye ab mandir mein gaye aap pandit ji chhat ke jagah fool chadha diye murti par toh aap turant unko thok dete hain are pandit ji aapko puja karne nahi aata hai aapne fool chadhane ke bajay chhat par chadha diya toh aap hamesha samajh kya ko dekhte hain dusro ki kya samasya hai hamesha samadhan dhundhne ki koshish kariye dusro ko jab aap samadhan karne wale vyakti banenge toh aap apne jeevan ko bhi tarakki dilayenge aur dusro ke bhi tension ko dur karenge jab aap khud ek bahut bade tension hain pehle se hi tension mein hain toh kya dusro ko dusro ke samasya ka samadhan kar payenge nahi kar payenge toh aap se nivedan hai aap dusro ki tension ko apna tension mat banaiye aap hamesha samadhan ke liye karya kariye samadhan ek aisa cheez hai jiske maadhyam se hazaro lakho tension ko dur kiya ja sakta hai aaj ki date mein khud ki tension se log kam pareshan hain lekin dusro ki tension se zyada pareshan hai dusro ki tarakki se zyada log pareshan hain aap dusro ki tarakki se pareshan mat hoeye aur haan agar koi gaon aur aap ke aas paas koi garib vyakti hai wah bahut uske ghar khane peene ke liye nahi hai rojgar nahi hai uske baccho ko padhne ke liye paisa nahi hai agar uska tension lete hain toh bahut acchi baat hai lekin sirf tension mat lijiye uske liye aap kuch karya kariye aap ki jitni aukat hai uske hisab se unke liye vyavastha banaiye aur aap koshish kariye ki apne aaspass ke logo ko kuch dene ke bajay unke baccho ko aap mansik tarike se prepare kariye taiyaar kariye ki wah kuch bahut bade padhai likhai kar kar kuch bade adhikari ban sakega kuch ban sake lekin mansik tarike se taiyaar karni ko sabse bada daan main bolta hoon agar aap ne mansik tarike se gaon samaj ke logo ka soch badha diya aur wah bade soch ke maadhyam se karya karke safalta prapt karne lage toh aap yeh maan ke chaliye ki aapka jeevan dhanya ho gaya aap jeevan mein safal ho gaye toh hum logo ko miljul kar karya karna hoga aur garib peedit vanchit sabhi logo ke liye hum logo ko mehnat karna hoga miljul kar kaam karna hoga agar kisi ko rojgar nahi hai toh usko rojgar dilwa na hoga aapke paas 10 varsh hai kahin toh uske liye rojgar dilwai hai agar kisi ke baccho ko padhne ke liye paisa nahi hai toh kuch ek apne team ka gathan kariye unke baccho ke liye paisa ikattha kariye unke baccho ka admission karavaiye agar kisi ke ghar pani ki vyavastha nahi hai kuch kshetro mein pani ki vyavastha nahi hai toh us kshetra mein pani pahunchane ki koshish kariye aur aise bahut saare kaam hai jisko hum log miljulakar kar sakte hain jab hum aisa karenge toh hamara bhi tension dur hoga aur samaj ka bhi tension dur hoga aur bus samaj bhi humse samadhan ki baat karegi aur hum bhi samadhan ki baat karenge jab samadhan ki baat hogi toh desh tarakki karega samaj tarakki karega aur hum sabhi log tarakki karenge dhanyavad

आपको लोगों की टेंशन देखकर आपको टेंशन होता है बहुत अच्छी बात है यार कि लोगों की टेंशन को आप

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  39
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!