आपने कई सालों तक भारत देश की सेवा करी और हाल ही मैं आप रेटायअर हूए। इतने सालों में आपके लिए सबसे बड़ी सीख क्या रही है?...


play
user

Dr Jayadev Sarangi

Worked at Indian Administrative Service (AGMUT), Formerly SECRETARY,GOVERNMENT OF NCT OF DELHI/Goa Government .Formerly Expert UNODC

3:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं जिसे दिल्ली में दिल्ली के अलावा गोवा में भी था अंडमान निकोबार में था और मैं दो 10 ईयर यूनाइटेड नेशंस में भी दिया था सरकार की तरफ से डेपुटेशन पर क्या हुआ था यूनाइटेड नेशंस में 23 नियर था 5 साल का इंडिया के अलावा बाकी देशों में भी काम किए हैं और खासतौर से यूनाइटेड नेशंस मेट्रो मैन ट्रक्स एचआईवी और क्राइम प्रिवेंशन के ऊपर काम किए तो जब बाकी देशों में जाते हैं और इंडिया की जो भी एक्सपीरियंस लेकर अब जाते हैं और वहां उसकी रिकॉग्निशन मिलती है बड़ा अच्छा लगता है आप जाते हैं मैं तिहाड़ जेल का एचडी बिरहा डीआईजी भी रहा आईजीबी रहा जब किरण दीदी आई थी और जेंट्स का दौर स्टार्ट हुआ था तो मैं उससे मैं डीआईजी था और किरण बेदी जी जब गई तो उसमें आईजी का चार्ज काफी दिन तक मेरे पास ही रहा तो उसमें इंडिया में काफी चर्चा में आया तो उसे देश इस पर मेरे को यूनाइटेड नेशंस ने इनवाइट किया और मैं जब गया बाकी देशों में जाकर पहुंचा और जो आप बीटी है जो कि सरकारी नौकरी करते समय आपने किया है उसी चीज को बताते हैं तो वहां पर छोटे-छोटे देशों में उनको काफी आश्चर्य होता है कि यह संभव है कि 12000 13000 कैदी हैं तिहाड़ जेल में और आप आसानी से मैनेज कर लेती हो और इंडिया में इतनी सारी समस्याएं हैं इसके बावजूद भी हम लोगों की मॉडल जो है इतनी तो अच्छा लगता है जो आप करते हो हमारी पापुलेशन इतनी ज्यादा है और इस पापुलेशन के साथ इस भीड़ बड़ा की के अंदर समस्याएं जितने भी हैं जिससे हम लोग समाधान कर पाते हैं गवर्नमेंट मॉडल के माध्यम से छोटे-छोटे देशों में बहुत छोटी छोटी चीजों को लेकर चीन दौरे पर जाते हैं वह हमारे एक्सपीरियंस देखने के बाद उन लोगों को लगता है कि उनका तू कुछ नहीं है जैसे मैं जल बोर्ड में काम कर रहा था जल बोर्ड में मेंबर एडमिनिस्ट्रेशन था तो मैंने कहा कि जो पानी का समस्या है दिल्ली के पहाड़गंज के अंदर अगर कोई जैसे सीवरेज समस्या है या पानी का पाइप फट गया वहां पर 5 मिनट के लिए भी आपको खाली नहीं मिलेगा लोग चले जा रहे हैं अब उसी बीच में जाकर उस पानी का समस्या भी दूर करना है या नल फटा हुआ तो उसको ठीक करना है तो वह कैसे करो यार तुलु फिर पूछने लगी कि कैसे करते हैं आप लोग जो चौबीसों घंटे हजारों लोग उसी रास्ते में चल रहे हैं बड़ी बॉल गली के अंदर जा रहे हैं और वहां पर एक एक ही समस्या आ जाए तो हजारों लोगों के ऊपर परेशानी आती है तू हमारी मोरे ले हमारी समस्या को लेकर हम ही समाधान इस देश में ढूंढते हैं और यह जो हमारी सिविल सर्विस की खासियत है या पूरी सर्विस की खासियत है कि इतनी बड़ी मुल्क में कितनी आबादी के अंदर समस्या हमारी हैं और हमें समाधान की बैठक कर पाते हैं और बाकी जैसे छोटे-छोटे देशों से हम लोग जब सीखने के लिए जाते हैं हमें लगता है हर देश का यह समाज का समाज की समस्या भी अलग है और समाधान भी अलग हो सकता है और वह सिविल सर्विस के अंदर इतना ज्यादा सीखने को मिलता है उसका कोई मुकाबला नहीं है

main jise delhi mein delhi ke alava goa mein bhi tha andaman nicobar mein tha aur main do 10 year united nations mein bhi diya tha sarkar ki taraf se deputeshan par kya hua tha united nations mein 23 near tha 5 saal ka india ke alava baki deshon mein bhi kaam kiye hain aur khaasataur se united nations metro man trucks HIV aur crime prevention ke upar kaam kiye toh jab baki deshon mein jaate hain aur india ki jo bhi experience lekar ab jaate hain aur wahan uski rikagnishan milti hai bada accha lagta hai aap jaate hain main tihad jail ka hd birha DIG bhi raha IGB raha jab kiran didi I thi aur gents ka daur start hua tha toh main usse main DIG tha aur kiran bedi ji jab gayi toh usme IG ka charge kaafi din tak mere paas hi raha toh usme india mein kaafi charcha mein aaya toh use desh is par mere ko united nations ne invite kiya aur main jab gaya baki deshon mein jaakar pohcha aur jo aap BT hai jo ki sarkari naukri karte samay aapne kiya hai usi cheez ko batatey hain toh wahan par chote chhote deshon mein unko kaafi aashcharya hota hai ki yah sambhav hai ki 12000 13000 kaidi hain tihad jail mein aur aap aasani se manage kar leti ho aur india mein itni saree samasyaen hain iske bawajud bhi hum logo ki model jo hai itni toh accha lagta hai jo aap karte ho hamari population itni zyada hai aur is population ke saath is bheed bada ki ke andar samasyaen jitne bhi hain jisse hum log samadhan kar paate hain government model ke madhyam se chote chhote deshon mein bahut choti choti chijon ko lekar china daure par jaate hain vaah hamare experience dekhne ke baad un logo ko lagta hai ki unka tu kuch nahi hai jaise main jal board mein kaam kar raha tha jal board mein member administration tha toh maine kaha ki jo paani ka samasya hai delhi ke pahadaganj ke andar agar koi jaise sewerage samasya hai ya paani ka pipe phat gaya wahan par 5 minute ke liye bhi aapko khaali nahi milega log chale ja rahe hain ab usi beech mein jaakar us paani ka samasya bhi dur karna hai ya nal phata hua toh usko theek karna hai toh vaah kaise karo yaar tulu phir poochne lagi ki kaise karte hain aap log jo chaubison ghante hazaro log usi raste mein chal rahe hain badi ball gali ke andar ja rahe hain aur wahan par ek ek hi samasya aa jaaye toh hazaro logo ke upar pareshani aati hai tu hamari more le hamari samasya ko lekar hum hi samadhan is desh mein dhoondhate hain aur yah jo hamari civil service ki khasiyat hai ya puri service ki khasiyat hai ki itni badi mulk mein kitni aabadi ke andar samasya hamari hain aur hamein samadhan ki baithak kar paate hain aur baki jaise chote chhote deshon se hum log jab sikhne ke liye jaate hain hamein lagta hai har desh ka yah samaj ka samaj ki samasya bhi alag hai aur samadhan bhi alag ho sakta hai aur vaah civil service ke andar itna zyada sikhne ko milta hai uska koi muqabla nahi hai

मैं जिसे दिल्ली में दिल्ली के अलावा गोवा में भी था अंडमान निकोबार में था और मैं दो 10 ईयर

Romanized Version
Likes  124  Dislikes    views  2854
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!