मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए या मांसाहारी?...


user

Akash Mishra

Yoga Expert | Author | Naturopathist | Acupressure Specialist |

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए या मांसाहारी इन होना चाहिए देखे मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए उसका दो कारण है कि मनुष्य के शरीर की बनावट शाकाहार भोजन के अनुसार ही मनुष्य के शरीर में सारे अंग पर तंग उसी प्रकार से है जो कि एक शाकाहारी भोजन ग्रहण करने वाले जीव के होने चाहिए दूसरे कि हमारी कोशिकाएं जीवंत होती है तो हमें जीवित भोजन करना चाहिए जीवन तो भोजन का अर्थ है फल सब्जियां स्प्राउट्स और इवन हमें बहुत ज्यादा कुंगफू से भी बचना चाहिए धन्यवाद

aapka prashna hai manushya ko shakahari hona chahiye ya masahari in hona chahiye dekhe manushya ko shakahari hona chahiye uska do karan hai ki manushya ke sharir ki banawat shaakaahaar bhojan ke anusaar hi manushya ke sharir me saare ang par tang usi prakar se hai jo ki ek shakahari bhojan grahan karne waale jeev ke hone chahiye dusre ki hamari koshikayen jivant hoti hai toh hamein jeevit bhojan karna chahiye jeevan toh bhojan ka arth hai fal sabjiyan sprouts aur even hamein bahut zyada kungafu se bhi bachna chahiye dhanyavad

आपका प्रश्न है मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए या मांसाहारी इन होना चाहिए देखे मनुष्य को शाक

Romanized Version
Likes  233  Dislikes    views  1995
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rahul

Motivation ki machine

2:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य को शाकाहारी ही होना चाहिए मांसाहारी कि हमारे शास्त्रों में कहीं पर भी वर्णन नहीं किया गया है कुछ हद तक किया गया है लेकिन उसकी भी प्रोसेस है उस चीज को जानना पड़ेगा आप अगर मांस खाना चाहते हो तो पहले आपको एक प्रोसेस है उसको फॉलो करना पड़ता है तब आप उस चीज को जब आप मांस खा सकते हो लेकिन उसका भी नहीं है उसके लिए पहले एक मंत्र बताइए बोलना पड़ता है उस मंत्र का मतलब यह होता है कि इस जन्म में मैं तुम्हें मार रहा हूं अगले जन्म में तुम मेरे को काटोगे अगर ऐसे मंजूर है तो तुम मांस खा सकते हो और मांसाहारी तामसिक प्रवृत्ति का खाना है बिल्कुल तमोगुण वाला चिड़चिड़ापन ऑल कर्स और बिल्कुल डालने यह वाली सिम्टम्स तमोगुण और दूसरी बात हमारी बॉडी कोई डंपिंग यार्ड नहीं है जहां पर डेड बॉडी फेंकी जाती है अरे यह मंदिर है जिसमें अंदर भगवान बैठे हैं परमात्मा रूप में यह बॉडी एक मंदिर है तुम मंदिर में पूरा डालोगे हैं किस शर्म आनी चाहिए शमशान में जिस तरह डेड बॉडीज फेंकी जाती है चलाई जाती है ऐसे ही यह बॉडी जिसमें तुम अंदर मरे हुए जी को डाल रहे हो कि तुम्हारी बॉडी किसी श्मशान और दम प्यार से कम नहीं है फिर कितना ही बाहर कशिश बाहर से चाय कितनी कोई अच्छे से सजा लो लेकिन अंदर तो यह कचरा ही भरने वाली प्ले से अब तुम माहा सागर खाओगे तो पक्का घोर नरक में चाहोगे शास्त्रों में साफ-साफ लिखा है श्रीमद्भागवत अंग चैप्टर 5 * 5 चैप्टर थर्ड 399 में 28 प्रकार के न रखो का डिटेल में वर्णन आप एक बार भागवत पुराण पढ़िए आप जान जाओगे कि मांस क्यों नहीं खाना चाहिए हरे कृष्णा

manushya ko shakahari hi hona chahiye masahari ki hamare shastron mein kahin par bhi varnan nahi kiya gaya hai kuch had tak kiya gaya hai lekin uski bhi process hai us cheez ko janana padega aap agar maas khana chahte ho toh pehle aapko ek process hai usko follow karna padta hai tab aap us cheez ko jab aap maas kha sakte ho lekin uska bhi nahi hai uske liye pehle ek mantra bataye bolna padta hai us mantra ka matlab yah hota hai ki is janam mein main tumhe maar raha hoon agle janam mein tum mere ko katoge agar aise manzoor hai toh tum maas kha sakte ho aur masahari tamasik pravritti ka khana hai bilkul tamogun vala chidchidapan all curse aur bilkul dalne yah wali Symptoms tamogun aur dusri baat hamari body koi dumping yard nahi hai jaha par dead body fenki jaati hai are yah mandir hai jisme andar bhagwan baithe hain paramatma roop mein yah body ek mandir hai tum mandir mein pura daloge hain kis sharm aani chahiye shamshan mein jis tarah dead bodies fenki jaati hai chalai jaati hai aise hi yah body jisme tum andar mare hue ji ko daal rahe ho ki tumhari body kisi shmashan aur dum pyar se kam nahi hai phir kitna hi bahar kashish bahar se chai kitni koi acche se saza lo lekin andar toh yah kachra hi bharne wali play se ab tum maaha sagar khaoge toh pakka ghor narak mein chahoge shastron mein saaf saaf likha hai shrimadbhagavat ang chapter 5 5 chapter third 399 mein 28 prakar ke na rakho ka detail mein varnan aap ek baar bhagwat puran padhiye aap jaan jaoge ki maas kyon nahi khana chahiye hare krishna

मनुष्य को शाकाहारी ही होना चाहिए मांसाहारी कि हमारे शास्त्रों में कहीं पर भी वर्णन नहीं कि

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

M R Shelmohker

Interested In Yoga, Religius, Devotiinal, Health, Music and a singer

9:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए हम आशा दो प्रकार के लोग रहते हैं मनुष्य शाकाहारी और मांसाहारी और जिसकी पसंद उसको हमें भी दो प्रकार के ऐसा करें मांसाहारी पशु पक्षियों में है जानवरों में भी जाकर महिला और शाकाहारी बनना चाहिए भोसारी भोसारी है उनको आदत रहती है और उनको भी शाकाहारी उनको पसंद नहीं रहता है और शाकाहारी भी वैसे दोनों में भी अनुशंसा कार्य में भी हो सारे में में और जीना तो है काम करने का हमें नए काम करने के लिए खाना है खाई तो हम काम कर सकते हैं तो शाकाहारी रिक्त भी खाने गए मौसमी खाने का तो हम खाना चाहिए जिससे आप कम से कम पाप में हम खाना चाहिए कम पाप मैंने खर्च कम खर्च में हम जीवन जाना चाहिए तो सब्जी कम सब्जी खा पैसे में हम सभी टीचर सजी लेना चाहते हैं तो वैसे ही कम से कम खर्च में हम जीना जीना चाहिए जीना है ऐसा बर्ताव शाकाहार में जो है उसमें बाप कैसा है प्रतीक्षा कार में जो फल तोड़ते हैं और मनोज पलको से भी हमें भी जो है बल्कि साबित हुआ है फल सोनिक है तो कल तोड़े छोड़ते समय है मुर्सी को हानि न पहुंचे पैसा चाहिए कम से कम थोड़ा कम से कम हानि पहुंचने चाहिए कैसा बताओ कोई समझो अगर सफल है तो एक पत्थर मारे उसका और पत्थर मार के उसको अब बच्चे छोड़ देना थोड़ा उसको पता लगेगा और उसको आवश्यकता क्यों फालतू आपका कॉल तोड़ने से उसको तकलीफ नहीं होगा उसको ऑटोमेटिकली आता है और कम होती है सावधान काटते हैं धान काटते हैं जो है ना ग्रामीण क्षेत्र में तकलीफ नहीं होती बाल में को नहीं होता है ना कोने-कोने जाता है जीना चाहिए इसको भी तकनीक खर्चा तो करना है आप तो होना है जो कुछ भी कम है तो उसको खर्चा होने से जिंदगी जीना चाहिए पति और पति बालक पालक जालौर में जो अपना हाथ पांव काटते हैं तो उसको नहीं आते नहीं आता है उसमें अपना इसमें पालन देवास में तकलीफ होना भी पागल को छोड़ दे तो उसका इस्तेमाल करना चाहिए हर किसी प्लस में घर बनाने का है उसमें अगर कुछ है तो जरूर दो कम होना चाहिए और जानवरों में भी खाते हैं उसको तकलीफ कम तकलीफ में उसको मत करना चाहिए इसके पहले भी तकलीफ देना चाहिए और कम तकलीफ हो ऐसे ऐसे अपने ऑपरेशन करते हैं इंसान को हमेशा अपनी संगीत सुनने के लिए मत करना सिखाते हैं तो उसका फायदा सबको मिल रहा है तो उसका कुछ नहीं बता सकते हैं तो अगर खाने वाले हैं आदत है तो जरूर वहां पर कुछ दूसरा रिमेंट नहीं तो खा सकते हैं मगर उनके परंपरा खाने के लिए और कदम खाने का है तो खा सकते हैं उसको खाने के पहले वध करने के पहले कम से कम इस बात को आप इसके बारे सखी बनाओ उसको फेरे ना हो जानवर को हमको मत करा कर आ जा रहा है वह सब है ना घर में और उसको अच्छा खाना पीना दिए थे उसको उसको पहले सर्च करके रखना चाहिए कम से कम ख्वाब मिलेगा मास्टरनी से बात करने से बात नहीं मैं उस को तकलीफ देना पापा परसों कैसा समारोह भी देखना चाहिए कि नहीं करेंगे अभी अच्छा नहीं कम से कम करने का सोचना चाहिए हमें पाप होता है उनको मरते रहते हैं जिनको संख्या में होते हैं उनके जंतु के कार्य करते हम मर जाते सच में अगर बारिश हो गए तो भी उसका थोड़ा कुछ होता है जो खाने हम पसंद सिखा सकते हो उसमें भी अभी मौसा शकर में भी लिमिट परिणाम लिमिटेड शेयर का धर्म महोत्सव किरण का धर्म संस्कृति में कमजोर घर में है क्या अगर शेर भी कम हो गए तो हिरण पूरा गांव में है क्या पूरा फसल काकोसा प्रकार बनाए क्योंकि हम पार्क में हम खाना चाहिए अगर सोचे तो हम आगे बढ़ सकते हैं और हमें भी पड़ सकता है

manushya ko shakahari hona chahiye hum asha do prakar ke log rehte hain manushya shakahari aur masahari aur jiski pasand usko hamein bhi do prakar ke aisa kare masahari pashu pakshiyo me hai jaanvaro me bhi jaakar mahila aur shakahari banna chahiye bhosari bhosari hai unko aadat rehti hai aur unko bhi shakahari unko pasand nahi rehta hai aur shakahari bhi waise dono me bhi anushansha karya me bhi ho saare me me aur jeena toh hai kaam karne ka hamein naye kaam karne ke liye khana hai khai toh hum kaam kar sakte hain toh shakahari rikt bhi khane gaye mausamee khane ka toh hum khana chahiye jisse aap kam se kam paap me hum khana chahiye kam paap maine kharch kam kharch me hum jeevan jana chahiye toh sabzi kam sabzi kha paise me hum sabhi teacher saji lena chahte hain toh waise hi kam se kam kharch me hum jeena jeena chahiye jeena hai aisa bartaav shaakaahaar me jo hai usme baap kaisa hai pratiksha car me jo fal todte hain aur manoj palako se bhi hamein bhi jo hai balki saabit hua hai fal sonic hai toh kal tode chodte samay hai mursi ko hani na pahuche paisa chahiye kam se kam thoda kam se kam hani pahuchne chahiye kaisa batao koi samjho agar safal hai toh ek patthar maare uska aur patthar maar ke usko ab bacche chhod dena thoda usko pata lagega aur usko avashyakta kyon faltu aapka call todne se usko takleef nahi hoga usko atometikli aata hai aur kam hoti hai savdhaan katatey hain dhaan katatey hain jo hai na gramin kshetra me takleef nahi hoti baal me ko nahi hota hai na kone kone jata hai jeena chahiye isko bhi taknik kharcha toh karna hai aap toh hona hai jo kuch bhi kam hai toh usko kharcha hone se zindagi jeena chahiye pati aur pati balak paalak jalore me jo apna hath paav katatey hain toh usko nahi aate nahi aata hai usme apna isme palan devas me takleef hona bhi Pagal ko chhod de toh uska istemal karna chahiye har kisi plus me ghar banane ka hai usme agar kuch hai toh zaroor do kam hona chahiye aur jaanvaro me bhi khate hain usko takleef kam takleef me usko mat karna chahiye iske pehle bhi takleef dena chahiye aur kam takleef ho aise aise apne operation karte hain insaan ko hamesha apni sangeet sunne ke liye mat karna sikhaate hain toh uska fayda sabko mil raha hai toh uska kuch nahi bata sakte hain toh agar khane waale hain aadat hai toh zaroor wahan par kuch doosra riment nahi toh kha sakte hain magar unke parampara khane ke liye aur kadam khane ka hai toh kha sakte hain usko khane ke pehle vadh karne ke pehle kam se kam is baat ko aap iske bare sakhi banao usko fere na ho janwar ko hamko mat kara kar aa ja raha hai vaah sab hai na ghar me aur usko accha khana peena diye the usko usko pehle search karke rakhna chahiye kam se kam khwaab milega mastarani se baat karne se baat nahi main us ko takleef dena papa parso kaisa samaroh bhi dekhna chahiye ki nahi karenge abhi accha nahi kam se kam karne ka sochna chahiye hamein paap hota hai unko marte rehte hain jinako sankhya me hote hain unke jantu ke karya karte hum mar jaate sach me agar barish ho gaye toh bhi uska thoda kuch hota hai jo khane hum pasand sikha sakte ho usme bhi abhi mausa shaker me bhi limit parinam limited share ka dharm mahotsav kiran ka dharm sanskriti me kamjor ghar me hai kya agar sher bhi kam ho gaye toh hiran pura gaon me hai kya pura fasal kakosa prakar banaye kyonki hum park me hum khana chahiye agar soche toh hum aage badh sakte hain aur hamein bhi pad sakta hai

मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए हम आशा दो प्रकार के लोग रहते हैं मनुष्य शाकाहारी और मांसाहार

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  331
WhatsApp_icon
user
0:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शाकाहारी लेना चाहिए

shakahari lena chahiye

शाकाहारी लेना चाहिए

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  256
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य को शाकाहारी होना आवश्य चाहिए

manushya ko shakahari hona avashya chahiye

मनुष्य को शाकाहारी होना आवश्य चाहिए

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Kriti

Volunteer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए मांसाहारी होना चाहिए तो यह अपने अपने इंटरेस्ट पर डिपेंड करता है कि वह किस तरह का खाना खाना चाहता है बहुत सारे लोग से होते वह मांसाहारी भी होते शाकाहारी भी होते हैं तो कुछ लोग जो है वह खाना पसंद नहीं करते तो वह सिर्फ शाकाहारी कहलाते लेकिन जो लोग शाकाहारी और मांसाहारी दोनों खाते वह उनका मन होता है कि वह आगे खाना चाहते हैं या नहीं खाना चाहता सबको अपने इंटरेस्ट पर अपने मन के ऊपर यह साइट करनी चाहिए क्योंकि मांसाहारी खाने में भी शरीर को काफी सारे फायदे हैं और शाकाहारी खाने में भी

manushya ko shakahari hona chahiye masahari hona chahiye toh yeh apne apne interest par depend karta hai ki wah kis tarah ka khana khana chahta hai bahut saare log se hote wah masahari bhi hote shakahari bhi hote hain toh kuch log jo hai wah khana pasand nahi karte toh wah sirf shakahari kehlate lekin jo log shakahari aur masahari dono khate wah unka man hota hai ki wah aage khana chahte hain ya nahi khana chahta sabko apne interest par apne man ke upar yeh site karni chahiye kyonki masahari khane mein bhi sharir ko kaafi saare fayde aur shakahari khane mein bhi

मनुष्य को शाकाहारी होना चाहिए मांसाहारी होना चाहिए तो यह अपने अपने इंटरेस्ट पर डिपेंड करता

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  207
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!