क्या आपको लगता है की भारत एक जातिवाद देश है?...


user

Dinesh Sahu

Politician

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश जातिवादी नहीं होता है देश में रहने वाले लोग जातिवादी होते हैं हां हमारे देश में जातियों का बड़ा महत्व है हम मानते हैं किन जातियों के कारण ही हमारे देश में काफी हद तक बंटवारा होता आ रहा है जातियों पर अंकुश लगना चाहिए हॉट जातिवाद करने वाले लोगों को मेरी सलाह है यह देश हमारा है इसमें जातिवाद का जहर मत बोले हम सब एक हैं एकता के साथ रहें और साथ चलें

desh jativadi nahi hota hai desh me rehne waale log jativadi hote hain haan hamare desh me jaatiyo ka bada mahatva hai hum maante hain kin jaatiyo ke karan hi hamare desh me kaafi had tak batwara hota aa raha hai jaatiyo par ankush lagna chahiye hot jaatiwad karne waale logo ko meri salah hai yah desh hamara hai isme jaatiwad ka zehar mat bole hum sab ek hain ekta ke saath rahein aur saath chalen

देश जातिवादी नहीं होता है देश में रहने वाले लोग जातिवादी होते हैं हां हमारे देश में जातिय

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक जाति मात्र देश है यह बात हंड्रेड परसेंट सत्य है लेकिन ऐसा यह नहीं कह सकते कि सिर्फ भारत में ही जातिवाद पूरे विश्व और हर समुदाय में है अमीरी गरीबी ऊंच-नीच जात-पात विश्व के हर समुदाय हर विशेष वर्ग में है और इसको खत्म करना लम सम लगभग नामुमकिन है क्योंकि सभी लोग चाहते हैं कि मैं जहां बैठा हूं या उस ऊंचाई पर कोई ना आ पाए इसलिए जातिवाद को हर समुदाय और हर देश बढ़ावा देता है और जो जातिवाद का शिकार हैं वह लोग भी अपने से नीचे वर्ग के लोगों के साथ जातिवाद का जहर बोलते रहते हैं इसलिए जातिवाद पूरे विश्व की एक भयानक विकराल समस्या है इसका समाधान अभी तो फिलहाल नजर नहीं आता है

bharat ek jati matra desh hai yah baat hundred percent satya hai lekin aisa yah nahi keh sakte ki sirf bharat me hi jaatiwad poore vishwa aur har samuday me hai amiri garibi unch neech jaat pat vishwa ke har samuday har vishesh varg me hai aur isko khatam karna lam some lagbhag namumkin hai kyonki sabhi log chahte hain ki main jaha baitha hoon ya us unchai par koi na aa paye isliye jaatiwad ko har samuday aur har desh badhawa deta hai aur jo jaatiwad ka shikaar hain vaah log bhi apne se niche varg ke logo ke saath jaatiwad ka zehar bolte rehte hain isliye jaatiwad poore vishwa ki ek bhayanak vikrale samasya hai iska samadhan abhi toh filhal nazar nahi aata hai

भारत एक जाति मात्र देश है यह बात हंड्रेड परसेंट सत्य है लेकिन ऐसा यह नहीं कह सकते कि सिर्फ

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
user

Ajit Jha

Yoga Trainer

0:17
Play

Likes  5  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

O P GUPTA

Professor, Journalist & Motivational Speaker

5:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड निश्चित ही भारत एक जातिवाद देश जातिवादी प्रथा आजादी से पहले भी लागू थी पहले भी वर्ण व्यवस्था हुआ करती थी अलग प्रकार के लोगों को अलग प्रकार के कार्य बैठे हुए थे तो जाति प्रथा वर्षों से चलती आ रही है और आजादी के बाद भी जातिवाद हमारे देश में लगातार बनता है और एक बहुत बड़ा विकृत रूप ले लिया है आजादी के बाद जातियों का वर्गीकरण कर दिया जिससे एक बाप बड़ा जातिवाद लागू कर दिया कि यह व्यक्ति जनरल कास्ट में आता है यह व्यक्ति या इस जाति के लोग ऐसे श्रेणी में आते हैं इन जाति के लोग ऐसे श्रेणी में आते हैं इन जाति के लोगों को इस श्रेणी में आते हैं इत्यादि इससे जातिवाद बहुत अधिक बढ़ गया आरक्षण का लाभ लेने के लिए आर्थिक आधार होना चाहिए था चीन की आर्थिक स्थिति बहुत ही दर्द है उनको आरक्षण का लाभ दिया जाना चाहिए था जो कि सभी जातियों पर लागू होता है अभी सभी जातियों में बहुत से लोगों की आर्थिक स्थिति बहुत ही न्यूनतम स्तर पर है लेकिन खराब व्यवस्था होने के कारण कुछ लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाता है जैसे आज भी जनरल का आज के 80 लोग का आर्थिक स्तर बहुत ही खराब है वह बड़ी परिस्थिति में जी रहे हैं लेकिन आरक्षण व्यवस्था होने के कारण उनको कोई लाभ नहीं मिल रहा बहुत से लोगों को अन्य कास्ट में आते हैं बहुत ही समृद्ध है बहुत ऊंचे ऊंचे पोस्ट पर हैं वह भी आरक्षण का लाभ ले रहे हैं जो कि गलत है सभी को आरक्षण का लाभ आर्थिक आधार पर होना चाहिए शुरुआत में आरक्षण 10 वर्षों के लिए लागू किया गया था और यह हटने का नाम ही लेना है क्योंकि नेताओं ने इसे वोट बैंक का मुद्दा बना लिया है आपस में लोगों को डिवाइड एंड विन के रूल पर काम कर रहे हैं लोगों को बांटो और अपने विजय हासिल कर इंसान की केवल एक ही जाति होती है कि वह एक इंसान है यह सब बड़े लोगों ने अपने फायदे के लिए नेताओं ने पॉलीटिशियंस ने अपने फायदे के लिए इनको लड़ाने के लिए इन्हें वोट डालने के लिए बांटने के लिए जाति का वर्गीकरण कर दिया जबकि इंसान की क्यों लिख जाती है कि वह एक इंसान इंसान ही इंसान के काम आता है जो इंसान किसी भी जाति का हो क्योंकि कोई भी नेता वोट लेने के बाद जीतने के बाद वह मदद करने नहीं आता है केवल इंसान ही इंसान के काम आता है लेकिन पॉलिटिशन जाति के आधार पर लोगों को डिवाइड करके अपना फायदा उठाते हैं और लोगों में देश पैदा करते हैं इसलिए भारत के लोगों को समझना चाहिए कि जाति कोई भी हो कोई जाति छोटी या बड़ी नहीं होती सभी की एक समान जाती है कि अभी तभी हम एक ईश्वर की संतान हैं और हमारी केवल एक ही जाती है वह इंसान इंसान हैं तो भारत में जातिवाद से बहुत ही नुकसान हो रहा है और यह पता नहीं कब भारत में परिवर्तन आएगा कभी जातिवादी प्रथा 12 से हटेगी धन्यवाद

hello friend nishchit hi bharat ek jaatiwad desh jativadi pratha azadi se pehle bhi laagu thi pehle bhi varn vyavastha hua karti thi alag prakar ke logo ko alag prakar ke karya baithe hue the toh jati pratha varshon se chalti aa rahi hai aur azadi ke baad bhi jaatiwad hamare desh me lagatar banta hai aur ek bahut bada vikrit roop le liya hai azadi ke baad jaatiyo ka vargikaran kar diya jisse ek baap bada jaatiwad laagu kar diya ki yah vyakti general caste me aata hai yah vyakti ya is jati ke log aise shreni me aate hain in jati ke log aise shreni me aate hain in jati ke logo ko is shreni me aate hain ityadi isse jaatiwad bahut adhik badh gaya aarakshan ka labh lene ke liye aarthik aadhar hona chahiye tha china ki aarthik sthiti bahut hi dard hai unko aarakshan ka labh diya jana chahiye tha jo ki sabhi jaatiyo par laagu hota hai abhi sabhi jaatiyo me bahut se logo ki aarthik sthiti bahut hi nyuntam sthar par hai lekin kharab vyavastha hone ke karan kuch logo ko aarakshan ka labh nahi mil pata hai jaise aaj bhi general ka aaj ke 80 log ka aarthik sthar bahut hi kharab hai vaah badi paristhiti me ji rahe hain lekin aarakshan vyavastha hone ke karan unko koi labh nahi mil raha bahut se logo ko anya caste me aate hain bahut hi samriddh hai bahut unche unche post par hain vaah bhi aarakshan ka labh le rahe hain jo ki galat hai sabhi ko aarakshan ka labh aarthik aadhar par hona chahiye shuruat me aarakshan 10 varshon ke liye laagu kiya gaya tha aur yah hatane ka naam hi lena hai kyonki netaon ne ise vote bank ka mudda bana liya hai aapas me logo ko divide and win ke rule par kaam kar rahe hain logo ko banto aur apne vijay hasil kar insaan ki keval ek hi jati hoti hai ki vaah ek insaan hai yah sab bade logo ne apne fayde ke liye netaon ne politicians ne apne fayde ke liye inko ladane ke liye inhen vote dalne ke liye baantne ke liye jati ka vargikaran kar diya jabki insaan ki kyon likh jaati hai ki vaah ek insaan insaan hi insaan ke kaam aata hai jo insaan kisi bhi jati ka ho kyonki koi bhi neta vote lene ke baad jitne ke baad vaah madad karne nahi aata hai keval insaan hi insaan ke kaam aata hai lekin politician jati ke aadhar par logo ko divide karke apna fayda uthate hain aur logo me desh paida karte hain isliye bharat ke logo ko samajhna chahiye ki jati koi bhi ho koi jati choti ya badi nahi hoti sabhi ki ek saman jaati hai ki abhi tabhi hum ek ishwar ki santan hain aur hamari keval ek hi jaati hai vaah insaan insaan hain toh bharat me jaatiwad se bahut hi nuksan ho raha hai aur yah pata nahi kab bharat me parivartan aayega kabhi jativadi pratha 12 se hategi dhanyavad

हेलो फ्रेंड निश्चित ही भारत एक जातिवाद देश जातिवादी प्रथा आजादी से पहले भी लागू थी पहले भ

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user

Pankaj Vasuja

Cinematographer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम-राम मेरे भाई क्या आपको लगता है बार दिख जाती होगी भाई साहब मैं में लगता नहीं है भारत एक जातिवादी देश है इसमें कोई बड़ी बात नहीं लेकिन इतनी सारी जातियों में विविधता में एकता मेरी भारत एक है यह बहुत बड़ी बात जातियां हैं तो अगर पूरा विवरण के हिसाब से देखा जाए ब्राह्मण वैश्य शूद्र शूद्र वह भी ब्राह्मणों नहीं बाटे ना जाती है तो अब बाबा साहब भीमराव में और पंछियों द्वारा हिंदू और कुछ सुने बोर्ड द्वारा अलग अलग हो गए हैं तो जातियां कितनी है पर हर 100 किलोमीटर के बाद जाति बदलती है सबकुछ धर्म बदल जाता है लोगा फिर भी हिंदुस्तान एक है जातियों तो है ही हमारे राम-राम बड़े भाई

ram ram mere bhai kya aapko lagta hai baar dikh jaati hogi bhai saheb main me lagta nahi hai bharat ek jativadi desh hai isme koi badi baat nahi lekin itni saari jaatiyo me vividhata me ekta meri bharat ek hai yah bahut badi baat jatiya hain toh agar pura vivran ke hisab se dekha jaaye brahman vaiishay shudra shudra vaah bhi brahmanon nahi baate na jaati hai toh ab baba saheb bhimrao me aur panchiyon dwara hindu aur kuch sune board dwara alag alag ho gaye hain toh jatiya kitni hai par har 100 kilometre ke baad jati badalti hai sabkuch dharm badal jata hai loga phir bhi Hindustan ek hai jaatiyo toh hai hi hamare ram ram bade bhai

राम-राम मेरे भाई क्या आपको लगता है बार दिख जाती होगी भाई साहब मैं में लगता नहीं है भारत एक

Romanized Version
Likes  145  Dislikes    views  1213
WhatsApp_icon
user

Awdhesh Singh

Director AwdheshAcademy.com

1:05
Play

इस बात में कोई भी दो राय नहीं कि भारत एक जातिवाद देश है, और यहां पर बहुत ज्यादा जातिवाद होता है, पॉलिटिकल जो पार्टी है वह जातिवाद को पूरी तरीके से एक्स्प्लओइट करती हैं l हर ब्यूरोक्रेटिक ऑपरेटिंग सिस्टम में और हर सिस्टम में जो है जातिवाद का बोलबाला है l यह बहुत दुर्भाग्य की बात है और जातिवाद को पॉलिटिशियन जो है प्रमोट करते हैं, प्रमोट करके अपना फायदा उठाते हैं, और इस देश को डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी के तहत जातिवाद को हमेशा प्रोत्साहन देते रहते हैं l तो इस बात से कोई दो राय नहीं कि भारत एक जातिवाद देश है, और पॉलिटिशंस को चाहिए, नेताओं को चाहिए कि वह इस जाति के जो हमारा जो कुचक्र है, और जाती है जो भावनाएं हैं उसको कम करें और हमें भारतीय बनाएं जातिवाद के ऊपर पहुंचाएं l लेकिन दुर्भाग्य से कोई भी नेता ऐसा करना नहीं चाहता कि वोट का हासिल करने का सबसे आसान तरीका होता है कि, एक जाति को दूसरी जाति के खिलाफ लड़ाई धर्म को दूसरे धर्म के खिलाफ में लड़ाया जाए और उसे सबसे तेजी से वोट मिलते हैं l इसलिए यह पॉलिटिक्स जो है वह जातिवाद को कभी खत्म नहीं होने देगा और जातिवाद जो है इस देश में बना रहेगा l

is BA at chahiye mein koi bhi do raya nahi ki bharat ek chahiye jaatiwad desh hai aur yahan par BA hut zyada jaatiwad hota hai political jo party hai wah jaatiwad ko puri tarike se eksplaoit karti chahiye hai l har Bureaucratic operating system mein aur har system mein jo hai jaatiwad ka chahiye bolbala hai l yeh BA hut durbhagya chahiye ki BA at hai aur jaatiwad ko politician jo hai promote karte hai promote karke apna fayda uthaatey hai aur is desh ko divide end rule ki policy ke tahat jaatiwad ko hamesha protsahan dete rehte hai l to is BA at se koi do raya nahi ki bharat ek chahiye jaatiwad desh hai aur politicians ko chahiye netaon ko chahiye ki wah is jati ke jo hamara jo kuchakr hai aur jati hai jo bhavanae hai usko kam kare chahiye aur hume bharatiya BA naye jaatiwad ke upar paunchaye l lekin durbhagya chahiye se koi bhi neta aisa karna nahi chahta ki vote ka chahiye hasil karne ka chahiye sabse aasan tarika hota hai ki ek chahiye jati ko dusri jati ke khilaf ladai dharm ko dusre chahiye dharm ke khilaf mein ladaya jaye aur use sabse teji se vote milte hai l isliye yeh politics jo hai wah jaatiwad ko kabhi khatam nahi hone dega aur jaatiwad jo hai is desh mein BA na rahega l

इस बात में कोई भी दो राय नहीं कि भारत एक जातिवाद देश है, और यहां पर बहुत ज्यादा जातिवाद ह

Romanized Version
Likes  732  Dislikes    views  23240
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  11  Dislikes    views  502
WhatsApp_icon
user

Dr. Chinmaya Behera

Eco.,Fin., Pol.,life.,&career

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि आज भी जातिवाद के नाम से लोग वोट मांगते हैं और नकली का लाभ उठाते हैं

haan bharat ek jaatiwad desh hai kyonki aaj bhi jaatiwad ke naam se log vote mangate hai aur nakli ka labh uthate hain

हां भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि आज भी जातिवाद के नाम से लोग वोट मांगते हैं और नकली का ल

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  1454
WhatsApp_icon
user

Vaibhav Ali

Youtuber TV Personality

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीके भारत बहुत बड़ी जो पृथ्वी पर से ठीक है दुनिया की अधिष्ठात्री बड़ी ही देश है और भारत पूरी जातिवाद बिल्कुल नहीं है पर देखा जाएगा तो जो लोग रहते हैं कोई कोई पॉकेट में जो लोग रहते क्योंकि ब्लॉक ज्यादा चलाते हैं आपको लगता कि भारत जातिवादी है भारत बिल्कुल जातिवादी नहीं है यहां पर एक ही गली में आज ईद या फिर दिवाली सेलिब्रेट होती है लगता है पूरी गली की दिवाली है या पूरी गली की ईद है तो यह सबसे बेहतरीन बात है भारत की औद्योगिक क्षेत्र क्रिसमस क्यों लगता नहीं है कि फिर भी क्रिश्चन स्काउट फेस्टिवल है यह सब लोग एक साथ मिलकर सेलिब्रेट करते हैं और हमारी जो जो यूथ है इसमें बहुत इंपॉर्टेंट पार्ट प्ले करती है कि हम सब लोग एक दूसरे की खुशी में शरीक होते हैं और एक दूसरे को अब हम आगे बढ़ाते हैं पर जो छोटे-छोटे शहरों में या फिर गांव में लोगों को लगता है कि हम को आगे नहीं बढ़ना चाहिए तो वह लोग यह जातिवाद का सवाल लेकर आगे बढ़ते हैं और यह भी है कि जब 1015 लोग 12 लोगों को आगे ले और जातिवाद के मामले में उनको क्वेश्चन करें या फिर उनको मारे पिटे तो तो पूरे दूध पूरे देश को यह पूरी दुनिया को लगता है कि भारत जातिवादी है पर भारत बिल्कुल जातिवादी नहीं है मेरा भारत बिल्कुल बहुत ज्यादा महान है और हम लोग उसे महान बना रहे हैं और अगर आपको लगता है यह भारत जातिवादी है तो प्लीज नेक्स्ट टाइम किसी का कोई इलाज इन ट्यूसडे रही है और तुझे अब कुछ जान कर क्या करना है आप ही का काम पूछे जात नहीं

dice bharat BA hut BA di jo prithvi par se theek hai duniya ki adhishthatri BA di hi desh hai aur bharat puri jaatiwad bilkul nahi hai par dekha jayega to jo log rehte hai koi koi pocket mein jo log rehte kyonki block zyada chalte hai aapko chahiye lagta ki bharat jativadi hai bharat bilkul jativadi nahi hai yahan par ek chahiye hi gali mein aaj eid ya phir diwali celebrate hoti hai lagta hai puri gali ki diwali hai ya puri gali ki eid hai to yeh sabse behtareen BA at hai bharat ki audhyogik shetra Christmas kyon lagta nahi hai ki phir bhi krishchan scout festival hai yeh sab log ek chahiye saath milkar celebrate karte hai aur hamari jo jo youth hai isme BA hut important chahiye part play karti chahiye hai ki hum sab log ek chahiye dusre chahiye ki khushi mein sareeka hote hai aur ek chahiye dusre chahiye ko ab hum aage BA dhate hai par jo chote chote shaharon chahiye mein ya phir gav mein logo chahiye ko lagta hai ki hum ko aage nahi BA dhana chahiye to wah log yeh jaatiwad ka chahiye sawal lekar aage BA dhte hai aur yeh bhi hai ki jab 1015 log 12 logo chahiye ko aage le aur jaatiwad ke mamle mein unko question kare chahiye ya phir unko maare pite to to poore dudh poore desh ko yeh puri duniya ko lagta hai ki bharat jativadi hai par bharat bilkul jativadi nahi hai mera bharat bilkul BA hut zyada mahaan hai aur hum log use mahaan BA na rahe hai aur agar aapko chahiye lagta hai yeh bharat jativadi hai to please next time kisi ka chahiye koi ilaj in tyusade rahi hai aur tujhe ab kuch jaan kar kya karna hai aap hi ka chahiye kaam puche jaat nahi

डीके भारत बहुत बड़ी जो पृथ्वी पर से ठीक है दुनिया की अधिष्ठात्री बड़ी ही देश है और भारत पू

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1179
WhatsApp_icon
user

𝘼𝙗𝙝𝙞𝙨𝙝𝙚𝙠 𝙎𝙝𝙚𝙠𝙝𝙚𝙧 𝙂𝙖𝙪𝙧

ℂ𝕚𝕧𝕚𝕝 𝔼𝕟𝕘𝕚𝕟𝕖𝕖𝕣

2:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीके संविधान के हिसाब से हमें जातिवाद देश में ऐसे बता देता हूं कि संविधान नहीं मानता लेकिन जो हमारा देश जैसे चलता उसमें जाति धर्म सब चलता है मैंने देखा होगा वोटिंग होती है और इसके लिए मैंने सिर्फ नेताओं को दोष नहीं देता हूं मैं आम जनता को उसका बड़ा कल्पना बड़ा गड़बड़ियां जनता कर रही है यहां पर क्योंकि जो नेता होते हैं उनको वोट चाहिए हमसे तो वह हमारे हिसाब से काम कर सकती है लेकिन हम उनके हिसाब से चलने लगते हैं कैसे उन्होंने जैसे मान लीजिए एक एरिया है वहां पर ब्राह्मण हो जाता है एक ने ब्राह्मण के नीचे उतारा और 19 उतारा ठाकुर सारे ब्राह्मण वोट देते हैं ब्राह्मण और ठाकुरो दूसरी पार्टी से ठाकुर उतारा था वहां पर पार्टी यह नहीं कर सकती कि वहां पर किसी और को तारे क्योंकि लोग वैसे वोट कर रहे हैं उसको करना पड़ेगा यही वहां भी होता है जैसे किसी जगह मुस्लिम वहां पर अगर कोई मुस्लिम कंट्रोल करता है वहीं दूसरी दूसरी पार्टी जो है जिसने ऑफिस बात है उनको भी वोट चाहिए उनको भी जितना सब को जीतना रहता है यहां पर मेल दिक्कत यही है कि हम वैसे वोट देना बंद करें हमें जिसके बाद अच्छे लगे हमें जिसके बाद इसलिए अच्छे ना लगे कि हमारे अच्छे हैं हमारे धर्म के लिए हमारी जाति के लिए थे ऐसे नहीं सोचा यह सोचे कि हमारे देश के लिए अच्छा है हमारे ऑन डेवलपमेंट की बात कर रहा कौन अच्छा काम कर रहा है उस पैसे से अगर वोट दें और यह ना देखें कि किस की क्या जाति छोड़ो जाति को छोड़ो उस रास्ते को फिर अच्छा होगा लेकिन यह होता नहीं है इसलिए जातिवाद देशबंधु जाति धर्म के चलते हैं तो

BK samvidhan ke hisab se hamein jaatiwad desh mein aise BA ta deta hoon ki samvidhan nahi manata lekin jo hamara desh jaise chalta usme jati dharm sab chalta hai maine dekha hoga voting hoti hai aur iske liye maine sirf netaon ko dosh nahi deta hoon main aam janta ko uska BA da kalpana BA da gadabdiyan janta kar rahi hai yahan par kyonki jo neta hote hai unko vote chahiye humse toh vaah hamare hisab se kaam kar sakti hai lekin hum unke hisab se chalne lagte hai kaise unhone jaise maan lijiye ek area hai wahan par brahman ho jata hai ek ne brahman ke niche utara aur 19 utara thakur saare brahman vote dete hai brahman aur thakuro dusri party se thakur utara tha wahan par party yah nahi kar sakti ki wahan par kisi aur ko taare kyonki log waise vote kar rahe hai usko karna padega yahi wahan bhi hota hai jaise kisi jagah muslim wahan par agar koi muslim control karta hai wahi dusri dusri party jo hai jisne office BA at hai unko bhi vote chahiye unko bhi jitna sab ko jeetna rehta hai yahan par male dikkat yahi hai ki hum waise vote dena BA nd kare hamein jiske BA ad acche lage hamein jiske BA ad isliye acche na lage ki hamare acche hai hamare dharm ke liye hamari jati ke liye the aise nahi socha yah soche ki hamare desh ke liye accha hai hamare on development ki BA at kar raha kaun accha kaam kar raha hai us paise se agar vote de aur yah na dekhen ki kis ki kya jati chodo jati ko chodo us raste ko phir accha hoga lekin yah hota nahi hai isliye jaatiwad deshbandhu jati dharm ke chalte hai toh

बीके संविधान के हिसाब से हमें जातिवाद देश में ऐसे बता देता हूं कि संविधान नहीं मानता लेकिन

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1989
WhatsApp_icon
user

Ravi

Director, Ravi IAS Academy

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तुम को लगता है कि भारत एक जातिवाद का टेस्ट क्योंकि राज्यों के चुनाव में जातिगत इलेक्शन में जैसे मान लीजिए कि एक राज्य का एग्जांपल ले ले उसमें देखा जाता है कि जाति के आधार पर ही वोट बैंक की राजनीति होती है ना जाता है कि मान लीजिए कि हरिजन की जाति के आधार पर कोई अड़चन पार्टी खाना होता है मुस्लिम के आधार पर कोई मुस्लिम पार्टी और इन्हीं के आधार पर जातिगत जातिगत बटवारा करके ही में लोकगीत जाते एक जाति दूसरे जाति को कभी आगे बढ़ने नहीं देती है कहां जाता है इसीलिए महात्मा गांधी ने एससी एसटी के लिए हर जो शब्द का प्रयोग भी किया था अभी वर्तमान में देखिएगा तो एक जाति दूसरे जाति को लगवा देता है कोई अपने आप को जनरल ओबीसी में डिफरेंस करवाता है सब हमारे देश की इज्जत हमारे देश की जातिवादी को विचारधारा को दर्शाता है

tum ko lagta hai ki bharat ek jaatiwad ka test kyonki rajyo ke chunav mein jaatigat election mein jaise maan lijiye ki ek rajya ka example le le usme dekha jata hai ki jati ke aadhaar par hi vote BA nk ki raajneeti hoti hai na jata hai ki maan lijiye ki harijan ki jati ke aadhaar par koi adachan party khana hota hai muslim ke aadhaar par koi muslim party aur inhin ke aadhaar par jaatigat jaatigat BA twara karke hi mein lokgeet jaate ek jati dusre jati ko kabhi aage BA dhne nahi deti hai kahaan jata hai isliye mahatma gandhi ne SC ST ke liye har jo shabd ka prayog bhi kiya tha abhi vartaman mein dekhiega toh ek jati dusre jati ko lagwa deta hai koi apne aap ko general obc mein difference karwata hai sab hamare desh ki izzat hamare desh ki jativadi ko vichardhara ko darshata hai

तुम को लगता है कि भारत एक जातिवाद का टेस्ट क्योंकि राज्यों के चुनाव में जातिगत इलेक्शन में

Romanized Version
Likes  123  Dislikes    views  1665
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपको लगता है कि भारत एक जातिवाद देश है नहीं भारत जातिवाद देश नहीं है भारत लोकतंत्र देश है अच्छा है ठीक है धर्मों में है सारे लेकिन अपने अपने हिसाब से हर धर्म का सम्मान करता है

kya aapko lagta hai ki bharat ek jaatiwad desh hai nahi bharat jaatiwad desh nahi hai bharat loktantra desh hai accha hai theek hai dharmon mein hai saare lekin apne apne hisab se har dharm ka sammaan karta hai

क्या आपको लगता है कि भारत एक जातिवाद देश है नहीं भारत जातिवाद देश नहीं है भारत लोकतंत्र दे

Romanized Version
Likes  273  Dislikes    views  5714
WhatsApp_icon
user

Sneha Bharti

Output Producer

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद सा देश है जहां पर समुदाय के लोग नहीं रहते वीडियो पॉलिटिकल मुस्लिमों के साथ मोदी सरकार अन्याय कर रही है उनको अपने उम्मीदवार भी नहीं बनाई है जितनी बार बनाई है सबको बनाया है बीजेपी के मुस्लिम को दरकिनार कर रहे हैं मोदी सरकार इसलिए थी एक यह हवा उठ रही है कि इंडिया में हमारे कंट्री ने जातिवाद हो रही है

jaatiwad sa desh hai jaha par samuday ke log nahi rehte video political muslimo ke saath modi sarkar anyay kar rahi hai unko apne ummidvar bhi nahi BA nai hai jitni BA ar BA nai hai sabko BA naya hai bjp ke muslim ko darkinaar kar rahe hai modi sarkar isliye thi ek yeh hawa uth rahi hai ki india mein hamare country ne jaatiwad ho rahi hai

जातिवाद सा देश है जहां पर समुदाय के लोग नहीं रहते वीडियो पॉलिटिकल मुस्लिमों के साथ मोदी सर

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1939
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छी भारत तो जातिवादी देसी है मैं तो मानता हूं क्योंकि सरकार है कि नहीं है सगाई हो तो जातिवाद के आधार कार्ड किस एरिया में जिसका वोटर ज्यादा होता है उसी का ट्रांसलेट के लोगों को ज्वाइन टिकट मिलता है तो सबसे बड़ा जातिवाद फैलाने वाले लोग हैं जो लोकतंत्र को मजबूत करने की बात करते मोटर दादा हूं उसी को टिकट मिलता है मिलेगा या नहीं मिलेगा इस मानसिकता से हमको काम करें हिंदू एक हो जाओ अच्छा साफ सुथरा एग्जाम दे रहे हैं अभी एक कटा हुआ एक ब्राह्मण और एक दलित के बीच में जो शादी हुई जब वोट लेना है तो कैसे हैं कि हिंदू एक हो जाओ एक दूजे से प्यार करने वालों एक हो जाओ और देश के काम करने वाले हैं उनको तो हम भी पी लेंगे किसी भी वो किसी भी धर्म की हो तो हमें इसका इशारा से ऊपर उठकर हमको सोचना पड़ेगा हमको सोचना पड़ेगा कि हमको भारतीयों को इकट्ठा करना है हमें जो है क्या करना है और मैं समझता हूं कि फिर वह तो लड़ाई शुरू होगी वह दुनिया में ऐसी लड़ाई होगी जो हमें सबसे आगे ले जाएंगे

bahut achi bharat toh jativadi desi hai toh manata hoon kyonki sarkar hai ki nahi hai sagaai ho toh jaatiwad ke aadhaar card kis area mein jiska voter zyada hota hai usi ka translate ke logo ko join ticket milta hai toh sabse BA da jaatiwad felane waale log hai jo loktantra ko majboot karne ki BA at karte motor dada hoon usi ko ticket milta hai milega ya nahi milega is mansikta se hamko kaam kare hindu ek ho jao accha saaf suthara exam de rahe hai abhi ek kata hua ek brahman aur ek dalit ke beech mein jo shadi hui jab vote lena hai toh kaise hai ki hindu ek ho jao ek dooje se pyar karne walon ek ho jao aur desh ke kaam karne waale hai unko toh hum bhi p lenge kisi bhi vo kisi bhi dharm ki ho toh hamein iska ishara se upar uthakar hamko sochna padega hamko sochna padega ki hamko bharatiyon ko ikattha karna hai hamein jo hai kya karna hai aur main samajhata hoon ki phir vaah toh ladai shuru hogi vaah duniya mein aisi ladai hogi jo hamein sabse aage le jaenge

बहुत अच्छी भारत तो जातिवादी देसी है मैं तो मानता हूं क्योंकि सरकार है कि नहीं है सगाई हो त

Romanized Version
Likes  154  Dislikes    views  2972
WhatsApp_icon
user

Kinnari Raval

Singer-Artist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद जो देश तो थोड़ा भी पहले नहीं था अभी हो चुका है पहले आप पहले से पता था कि हां मुझे दामिनी है क्षत्रिय राजपूत है पहले ऐसा था अभी तो कुछ ज्यादा ही हो गया है कि आरक्षण के लिए अपनी अपनी जाति के लिए कुछ ज्यादा सोचते हैं कि वहां मुझे क्योंकि वह खुद अपनी दादी का पोता की घाटी का दौरा करूंगा सही करता हूं बोलो और कुछ नहीं आता है कि हमें अपना खुद संगठन बता कि तू तो मेरा सही रहेगा यह रहेगा इसलिए यह लोकतंत्र के लिए ही जातिवाद फैलाते हैं

jaatiwad jo desh toh thoda bhi pehle nahi tha abhi ho chuka hai pehle aap pehle se pata tha ki haan mujhe damini hai kshatriya rajput hai pehle aisa tha abhi toh kuch zyada hi ho gaya hai ki aarakshan ke liye apni apni jati ke liye kuch zyada sochte hai ki wahan mujhe kyonki vaah khud apni dadi ka pota ki ghati ka daura karunga sahi karta hoon bolo aur kuch nahi aata hai ki hamein apna khud sangathan BA ta ki tu toh mera sahi rahega yah rahega isliye yah loktantra ke liye hi jaatiwad failate hain

जातिवाद जो देश तो थोड़ा भी पहले नहीं था अभी हो चुका है पहले आप पहले से पता था कि हां मुझे

Romanized Version
Likes  293  Dislikes    views  2970
WhatsApp_icon
user

Lal Babu Mehta

Zila Adhyaksh BJP

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक जातिवाद देश तो नहीं है लेकिन वर्तमान समय में हमारे राजनीतिक दलों के जो कि आता है जो कि हस्ती हैं वह प्रत्येक स्टेट में जाति के अंदर ही जाति एक जाति के अंदर चार प्रकार की जाती निकालके और अपनी राजनीति को राजनीति को चमकाने का एक कदम है जो कि समाज के लिए अच्छा नहीं है देश के लिए भी अच्छा नहीं है

bharat ek jaatiwad desh toh nahi hai lekin vartaman samay mein hamare raajnitik dalon ke jo ki aata hai jo ki hasti hai vaah pratyek state mein jati ke andar hi jati ek jati ke andar char prakar ki jaati nikalake aur apni raajneeti ko raajneeti ko chamkane ka ek kadam hai jo ki samaj ke liye accha nahi hai desh ke liye bhi accha nahi hai

भारत एक जातिवाद देश तो नहीं है लेकिन वर्तमान समय में हमारे राजनीतिक दलों के जो कि आता है ज

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  890
WhatsApp_icon
user
1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा भी यह है कि अभी नहीं रही है तो बाकी बात बाकी बाद हम करते हैं ना यह रूलर एरिया से भी मैक्सिमम खत्म हो चुकी है कहीं दूर हो सकते हैं लेकिन जातिवाद पहले जितना नहीं रहा क्योंकि राजनीति हो जाता है कि नहीं बात करें सामाजिक दृष्टिकोण या कोई एमपी है उसका घर में सभी स्वागत करेंगे जनरल वाले उसे चारपाई पर बैठ आएंगे साइकिल आएंगे तब कुछ करेंगे और एक ऐसी है जो गरीब है पता है कि ऐसी है उसको कहानी का मतलब गरीबी का छुआछूत है यह जो जाती पाती है यह गरीबी की वजह से जात पात हो रही है यदि बंदा अमीर हो तो उसकी जांच कोई नहीं देखता

mera bhi yeh hai ki abhi nahi rahi hai toh BA ki BA at BA ki BA ad hum karte hai na yeh ruler area se bhi maximum khatam ho chuki hai kahin dur ho sakte hai lekin jaatiwad pehle jitna nahi raha kyonki rajneeti ho jata hai ki nahi BA at karein samajik drishtikon ya koi mp hai uska ghar mein sabhi swaagat karenge general wale use charapai par BA ith aayenge cycle aayenge tab kuch karenge aur ek aisi hai jo garib hai pata hai ki aisi hai usko kahani ka matlab garibi ka chuachut hai yeh jo jati pati hai yeh garibi ki wajah se jaat pat ho rahi hai yadi BA nda amir ho toh uski jaanch koi nahi dekhta

मेरा भी यह है कि अभी नहीं रही है तो बाकी बात बाकी बाद हम करते हैं ना यह रूलर एरिया से भी म

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक जातिवादी देश है इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन जातियां गलत कहते हैं समय के अनुसार जातियां परिवर्तित होती रहती है और नई जातियां बनती हैं पुरानी बिगड़ती रहती हैं जाति का उपयोग अपने देश के लिए करना यह गलत बात है जैसे पहले लोग एक जैसे काम करते थे तो एक साथ मिलकर संगठित रहें बुनकर हैं तो सभी बुनकर एक जगह रहते थे तो यह कह जाती हो गई यह जन्म से अभी भी जगह बहुत सारी जाती है जैसे जितने भी ट्रेड यूनियन है जाति का रूप है अब एक ही फैक्ट्री में काम करने वाले अलग-अलग वर्कर जो हैं 1 फुट बना लेते हैं यह भी एक तरह की जाती है जो पुरानी परंपरा परंपरागत जाति से अलग है एक नए प्रकार की जातिगत व्यवस्था है और इससे नई जातिगत व्यवस्था का फायदा वामपंथी संगठन उठाते उठाते रहे उनकी जातिवादी व्यवस्था चलते रहे इसलिए वह पुरानी जातिवादी व्यवस्था को कमजोर और गलत बताते हैं यहां कुछ ऐसा नहीं है बस समय के अनुसार जातियां बदली से सागर इंजीनियर इंजीनियर जो आपस में एक संगठन तैयार करते हैं एक नहीं जाती हो गई पहले जो है पहले का पैसा दिया कुछ अलग पहले का पैसा पैसा क्यों था उसका अनुसार जाती है वह अभी के जो पैसे हैं वह उनके अनुसार जो हैं जातियां होती हैं और अभी के जातियों को ट्रेड ऑनलाइन खाते हैं पहले विद्यार्थी संगठन अतिथि ताकि उनको अपने उस समय के फायदे होते थे वह उनको मिल सके और लोग संगठित होते हैं और फायदा उठाना चाहते हैं तो जाति व्यवस्था एक अर्थव्यवस्था पर आधारित मॉडल है और यह अर्थव्यवस्था पर आधारित मॉडल कहीं से भी गलत नहीं है

bharat ek chahiye jativadi desh hai isme koi do raya nahi hai lekin jatiya galat kehte hai samay ke anusar jatiya parivartit hoti rehti hai aur nayi jatiya BA nti hai purani bigadati rehti hai jati ka chahiye upyog apne desh ke liye karna yeh galat BA at hai jaise pehle log ek chahiye jaise kaam karte the to ek chahiye saath milkar sangathit rahen bunakar hai to sabhi bunakar ek chahiye jagah rehte the to yeh keh jati ho gayi yeh janm se abhi bhi jagah BA hut saree jati hai jaise jitne bhi trade union hai jati ka chahiye roop hai ab ek chahiye hi factory mein kaam karne wali alag alag worker jo hai 1 feet BA na lete hai yeh bhi ek chahiye tarah ki jati hai jo purani parampara paramparagat jati se alag hai ek chahiye naye prakar ki jaatigat vyavastha hai aur isse nayi jaatigat vyavastha ka chahiye fayda vampanthi sangathan uthaatey uthaatey rahe unki jativadi vyavastha chalte rahe isliye wah purani jativadi vyavastha ko kamjor aur galat BA tatey hai yahan kuch aisa nahi hai bus samay ke anusar jatiya BA dli se sagar engineer engineer jo aapas mein ek chahiye sangathan taiyaar karte hai ek chahiye nahi jati ho gayi pehle jo hai pehle ka chahiye paisa diya kuch alag pehle ka chahiye paisa paisa kyon tha uska anusar jati hai wah abhi ke jo paise hai wah unke anusar jo hai jatiya hoti hai aur abhi ke jaatiyo ko trade online khate hai pehle vidyarthi sangathan atithi taki unko apne us chahiye samay ke fayde hote the wah unko mil sake aur log sangathit hote hai aur fayda uthna chahte hai to jati vyavastha ek chahiye arthavyavastha par aadharit model hai aur yeh arthavyavastha par aadharit model kahin se bhi galat nahi hai

भारत एक जातिवादी देश है इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन जातियां गलत कहते हैं समय के अनुसार

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user

BRAHAM SINGH

Social Activist

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद है जो आपने सवाल में बहुत अच्छा पूछा है लेकिन इसका जवाब जो 1 मिनट में जो गाना बजता है जो 4 वर्ड में हमारा जातिवाद बटा हुआ है उसमें नहीं कहना चाहता हूं कि चाहे कोई भी चारा किसी भी जाति में है अगर उसको विचलित वीडियो में देखा जाता है तो उसको भी अपनी जाति से बहुत प्रेम है तो कहां से जातिवाद में पड़ जाएगा जब तक हमें अपने मन से हटा देंगे हम अगर आप अपना ठाकुर क्या हो या बैठे हो या सुधर कहो अगर किसी ने भी आप जाओगे सुधीर 6706 जिसमें किसी भी स्थिति में कोई भी है उसे अपनी जाति से बहुत प्रेम से प्रेम जातिवाद मिटने वाला नहीं है

jaatiwad hai jo aapne sawaal mein BA hut accha poocha hai lekin iska jawab jo 1 minute mein jo gaana BA jta hai jo 4 word mein hamara jaatiwad BA taa hua hai usme nahi kehna chahta hoon ki chahen koi bhi chara kisi bhi jati mein hai agar usko vichalit video mein dekha jata hai toh usko bhi apni jati se BA hut prem hai toh kahaan se jaatiwad mein pad jaega jab tak hamein apne man se hata denge hum agar aap apna thakur kya ho ya BA ithe ho ya sudhar kaho agar kisi ne bhi aap jaoge sudheer 6706 jisme kisi bhi sthiti mein koi bhi hai use apni jati se BA hut prem se prem jaatiwad mitne vala nahi hai

जातिवाद है जो आपने सवाल में बहुत अच्छा पूछा है लेकिन इसका जवाब जो 1 मिनट में जो गाना बजता

Romanized Version
Likes  150  Dislikes    views  2769
WhatsApp_icon
user

Ashish Singh Hariyovanshi

Public Relation Expert

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बात है तो इस कारण यह है कि कि अगर कोई पॉलिटिकल पार्टी आजकल पूरी करता है तो उसका पैसा लाने के लिए कुछ ना तो कुछ चाहिए तो भारत के जनता इतना बोला है कि दो समुदाय को बीच में एक आद बढ़ जाए उसको लड़ा दिया जाता है उसके नाम पर वोट ले लिया जाता है तो वह चलता रहा है और आगे अभी अभी तक हुआ नहीं है तो

baat hai toh is kaaran yeh hai ki ki agar koi political party aajkal puri karta hai toh uska paisa lane ke liye kuch na toh kuch chahiye toh bharat ke janta itna bola hai ki do samuday ko beech mein ek aadat BA dh jaye usko lada diya jata hai uske naam par vote le liya jata hai toh wah chalta raha hai aur aage abhi abhi tak hua nahi hai toh

बात है तो इस कारण यह है कि कि अगर कोई पॉलिटिकल पार्टी आजकल पूरी करता है तो उसका पैसा लाने

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  1687
WhatsApp_icon
user

धर्मदेव सिंह भाटी

कुश्ती प्रशिक्षक

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल भारत एक जातिवादी देश है क्योंकि यहां पर जातियों को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है जब भारत में लोकसभा विधानसभा के चुनाव होते हैं तो सभी राजनीतिक पार्टियां सभी जातियों को ध्यान में रखकर टिकट देते हैं और राजनेता जब अपनी चुनावी सभाएं करते हैं तो उन सभाओं में स्पष्ट रूप से दिखाई देता है कि वे जाति को कितना अधिक महत्व देते हैं मेरे विचार से यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा कि भारत एक जातिवादी देश है

bilkul bharat ek jativadi desh hai kyonki yahan par jaatiyo ko BA hut adhik mahatva diya jata hai jab bharat mein lok sabha vidhan sabha ke chunav hote hai toh sabhi raajnitik partyian sabhi jaatiyo ko dhyan mein rakhakar ticket dete hai aur raajneta jab apni chunavi sabhaen karte hai toh un sabhaon mein spasht roop se dikhai deta hai ki ve jati ko kitna adhik mahatva dete hai mere vichar se yeh kehna atishyokti nahi hoga ki bharat ek jativadi desh hai

बिल्कुल भारत एक जातिवादी देश है क्योंकि यहां पर जातियों को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है जब

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  365
WhatsApp_icon
user

Kishan Kumar

Motivational speaker

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आप का क्वेश्चन है क्या आपको लगता है कि भारत एक जातिवादी देश है बिल्कुल लगता है क्योंकि लोग जात धर्म मजहब के नाम पर ही आजकल अपना मत का अधिकार देते हैं और यह है अगर भारत देश में जातिवाद आना हो तो शायद इतना देना और लोग अपने अलग-अलग पार्टी को नाचने अगर एक साथ होते हैं सभी लोग और जाति वास्ता ना होता तो शायद अब इसका सबसे नंबर वन देश हो सकता था भारत थैंक यू

hello doston aap ka question hai kya aapko lagta hai ki bharat ek jativadi desh hai bilkul lagta hai kyonki log jaat dharm majhab ke naam par hi aajkal apna mat ka adhikaar dete hai aur yah hai agar bharat desh mein jaatiwad aana ho toh shayad itna dena aur log apne alag alag party ko nachane agar ek saath hote hai sabhi log aur jati vasta na hota toh shayad ab iska sabse number van desh ho sakta tha bharat thank you

हेलो दोस्तों आप का क्वेश्चन है क्या आपको लगता है कि भारत एक जातिवादी देश है बिल्कुल लगता ह

Romanized Version
Likes  120  Dislikes    views  1539
WhatsApp_icon
user

Rajeev Kumar Pandey

Engineer | SSC CGL Qualified

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि क्या भारत एक जातिवाद देश है जी बिल्कुल भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है संविधान के प्रस्तावना में धर्मनिरपेक्ष और पंथनिरपेक्ष का क्या मतलब होता है भारत में किसी भी धर्म के लोग को किसी भी जाति के लोगों को उतना ही अधिकार है जितना बाकी लोग अपने अपने धर्म की पूजा कर सकते हैं उसके हिसाब से जो भी गतिविधियां है वह कर सकते हैं जितने भी सरकारी सुविधाएं हो चाहे किसी भी धर्म का हो उसको सरकार प्रोवाइड कराती है व्यक्ति किसी भी धर्म का हो वह राजनेता बन सकता है हमारे देश की जो संसद जो मंदिर है उसमें जाकर भाग ले सकता है हमारे देश के किसी भी याद किया लोग किसी भी सरकारी नौकरी में प्रतिभाग कर के उसको परीक्षण करके नौकरी पा सकता है यह बताती है कि भारत अब जातिवाद नहीं है बल्कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है

aapne poocha hai ki kya bharat ek jaatiwad desh hai ji bilkul bharat ek dharmanirapeksh desh hai samvidhan ke prastavna mein dharmanirapeksh aur panthnirpeksh ka kya matlab hota hai bharat mein kisi bhi dharm ke log ko kisi bhi jati ke logo ko utana hi adhikaar hai jitna BA ki log apne apne dharm ki puja kar sakte hai uske hisab se jo bhi gatividhiyan hai vaah kar sakte hai jitne bhi sarkari suvidhaen ho chahen kisi bhi dharm ka ho usko sarkar provide karati hai vyakti kisi bhi dharm ka ho vaah raajneta BA n sakta hai hamare desh ki jo sansad jo mandir hai usme jaakar bhag le sakta hai hamare desh ke kisi bhi yaad kiya log kisi bhi sarkari naukri mein pratibhag kar ke usko parikshan karke naukri paa sakta hai yah BA tati hai ki bharat ab jaatiwad nahi hai BA lki bharat ek dharmanirapeksh desh hai

आपने पूछा है कि क्या भारत एक जातिवाद देश है जी बिल्कुल भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है संविधान

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  903
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

का प्रश्न है क्या आपको लगता है कि भारत एक जातिवाद देश है तक बता देंगे देखें अगर लोकतांत्रिक रूप से देखा जाए तो भारत अपना देश है लेकिन अगर सोशल एक्स एक्स में देखें उस सोच लिया है जो कंडीशन में सामाजिक स्तर पर देखा जाए तो जी हां मानवता की जातिवाद देश की है शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

ka prashna hai kya aapko lagta hai ki bharat ek jaatiwad desh hai tak BA ta denge dekhen agar loktantrik roop se dekha jaaye toh bharat apna desh hai lekin agar social x x mein dekhen us soch liya hai jo condition mein samajik sthar par dekha jaaye toh ji haan manavta ki jaatiwad desh ki hai subhkamnaayain aapke saath hai dhanyavad

का प्रश्न है क्या आपको लगता है कि भारत एक जातिवाद देश है तक बता देंगे देखें अगर लोकतांत्रि

Romanized Version
Likes  519  Dislikes    views  4233
WhatsApp_icon
user

Dr. K R Godara

Journalist

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां भर तक बहुत बड़ा जातिवादी लेस है यहां हजारों जातियां भारत में निवास कर रही है सबसे बड़ी बात यह है कि भारत में जाति प्रथा को बढ़ावा देने के लिए खुद सरकार ही यह काम कर रही है सरकार किसी भी डॉक्यूमेंट को लेने से पहले जातिवादी का एक कोलंबी प्रपत्र में डालती है जिसमें जाति भरना अनिवार्य होता है इसके अलावा जातिगत आधार पर आरक्षण की व्यवस्था कर रखी है और चुनाव के समय जाति देखकर ही उम्मीदवार को टिकट राजनीतिक दल देते हैं तो कुल मिलाकर देखा जाए तो भारत एक बहुत बड़ा जातिवादी देश है और इस जातिवादी प्रसाद जब तक अपने होगी तब तक भारत के विकास में यह जाति प्रथा एक बहुत बड़ा रोड़ा है

ji haan bhar tak BA hut BA da jativadi less hai yahan hazaro jatiya bharat mein niwas kar rahi hai sabse BA di BA at yah hai ki bharat mein jati pratha ko BA dhawa dene ke liye khud sarkar hi yah kaam kar rahi hai sarkar kisi bhi document ko lene se pehle jativadi ka ek kolambi prapatra mein daalti hai jisme jati bharna anivarya hota hai iske alava jaatigat aadhar par aarakshan ki vyavastha kar rakhi hai aur chunav ke samay jati dekhkar hi ummidvar ko ticket raajnitik dal dete hai toh kul milakar dekha jaaye toh bharat ek BA hut BA da jativadi desh hai aur is jativadi prasad jab tak apne hogi tab tak bharat ke vikas mein yah jati pratha ek BA hut BA da roda hai

जी हां भर तक बहुत बड़ा जातिवादी लेस है यहां हजारों जातियां भारत में निवास कर रही है सबसे ब

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user

umrao Singh

Professor ( Ph.d)

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद भारतीय राजनीति में प्राचीन काल से ही एक अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है और भारत में वर्तमान में जो जाति की जो भूमिका है वह चाय समाज में हो चाहे राजनीति में हो जाए अर्थ नोहर क्षेत्र में जातिवाद एक प्रमुख स्थान ले चुका है भारतीय राजनीति के परिप्रेक्ष्य में जाति की भूमिका पहले से ज्यादा विकसित हो चुकी है क्योंकि चुनाव के प्रारंभिक स्तर से लेकर सरकार के गठन तक सरकार की नीतियों के निर्धारण तक और उसके अवसर के रूप में जो भी प्रक्रिया अपनाई जाती है उन सब में जाति एक संगठन का रूप ले चुका है जाति व्यवस्था कभी समाप्त नहीं हो सकती हां यह है कि उसका स्वरूप बदल सकता है तो इसलिए जाति जो है भारत की राजनीति का एक महत्वपूर्ण अंग के रूप में चाय समाज शहर के हर क्षेत्र में यह एक प्रमुख आंगिक स्वरूप अपना चुराए धन्यवाद

jaatiwad bharatiya raajneeti me prachin kaal se hi ek apna mahatvapurna sthan rakhta hai aur bharat me vartaman me jo jati ki jo bhumika hai vaah chai samaj me ho chahen raajneeti me ho jaaye arth nohar kshetra me jaatiwad ek pramukh sthan le chuka hai bharatiya raajneeti ke pariprekshya me jati ki bhumika pehle se zyada viksit ho chuki hai kyonki chunav ke prarambhik sthar se lekar sarkar ke gathan tak sarkar ki nitiyon ke nirdharan tak aur uske avsar ke roop me jo bhi prakriya apnai jaati hai un sab me jati ek sangathan ka roop le chuka hai jati vyavastha kabhi samapt nahi ho sakti haan yah hai ki uska swaroop badal sakta hai toh isliye jati jo hai bharat ki raajneeti ka ek mahatvapurna ang ke roop me chai samaj shehar ke har kshetra me yah ek pramukh angik swaroop apna churaye dhanyavad

जातिवाद भारतीय राजनीति में प्राचीन काल से ही एक अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है और भारत में

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Amrendra Kant

Journalist and Reporter

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में जातिवाद कोई शब्द नहीं है सिर्फ इलेक्शन के समय में नेताओं द्वारा यह पैदा कर दिया जाता और जिसका परिणाम होता भूत की भूत की राजनीति अगर छोड़ दी जाए तो जातिवाद खत्म हो जाएगा

bharat me jaatiwad koi shabd nahi hai sirf election ke samay me netaon dwara yah paida kar diya jata aur jiska parinam hota bhoot ki bhoot ki raajneeti agar chhod di jaaye toh jaatiwad khatam ho jaega

भारत में जातिवाद कोई शब्द नहीं है सिर्फ इलेक्शन के समय में नेताओं द्वारा यह पैदा कर दिया ज

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  73
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के जातिवादी देश है इस पर मेरा विश्वास नहीं है इसलिए नहीं है स्कूल में जो पढ़ाया जाता भारतीय संविधान घटना इससे हर आदमी जो आपने पता होना चाहिए कि हमारे क्या है घटना के साथ क्या हो रहा है हम जिन को चुन कर भेज रहा है वहां जाकर कौन से प्रस्ताव हमारे हित में ला रहा है कि सत्ता की बुला रहा है इसलिए मेरा मानना है कि भाई पढ़ाई में माध्यमिक से लेकर के घटना एक विषय विद्यार्थियों खिलाना चाहिए तो आदमी बंद एक बोल सकते हैं कि अपन लोगों में अन्य अज्ञात लोगों को रखा जा रहा है पढ़े-लिखे लोग अज्ञान की तरफ जा रहे हैं उनको पता नहीं है कि अपना क्या चाहिए ना समझ में आए तो घटना के माध्यम से अपने हक के लिए लड़ सकता है अपने हक को आबादी रखने के लिए ऐसा नेता क्यों सकता है इसमें बहुत जरूरी है

bharat ke jativadi desh hai is par mera vishwas nahi hai isliye nahi hai school me jo padhaya jata bharatiya samvidhan ghatna isse har aadmi jo aapne pata hona chahiye ki hamare kya hai ghatna ke saath kya ho raha hai hum jin ko chun kar bhej raha hai wahan jaakar kaun se prastaav hamare hit me la raha hai ki satta ki bula raha hai isliye mera manana hai ki bhai padhai me madhyamik se lekar ke ghatna ek vishay vidyarthiyon khilana chahiye toh aadmi band ek bol sakte hain ki apan logo me anya agyaat logo ko rakha ja raha hai padhe likhe log agyan ki taraf ja rahe hain unko pata nahi hai ki apna kya chahiye na samajh me aaye toh ghatna ke madhyam se apne haq ke liye lad sakta hai apne haq ko aabadi rakhne ke liye aisa neta kyon sakta hai isme bahut zaroori hai

भारत के जातिवादी देश है इस पर मेरा विश्वास नहीं है इसलिए नहीं है स्कूल में जो पढ़ाया जाता

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user
0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल सवाल बहुत अच्छा है क्या आपको लगता है कि 12:00 तक जातिवाद देश हैं तो मैं इस सवाल पर कहना चाहता हूं बिल्कुल जो अपना भारत है यहां सरकारें को जला रही हैं इसके साथ-साथ जो धर्मों के ठेकेदार है वह ज्यादा देश पर हावी है और यह कहना गलत नहीं है कि भारत एक जातिवाद देश है हर कोई धर्म और जात के नाम पर लड़ते झगड़ते दिखता है

ji bilkul sawaal BA hut accha hai kya aapko lagta hai ki 12 00 tak jaatiwad desh hai toh main is sawaal par kehna chahta hoon bilkul jo apna bharat hai yahan sarkaren ko jala rahi hai iske saath saath jo dharmon ke thekedaar hai vaah zyada desh par haavi hai aur yah kehna galat nahi hai ki bharat ek jaatiwad desh hai har koi dharm aur jaat ke naam par ladte jhagadate dikhta hai

जी बिल्कुल सवाल बहुत अच्छा है क्या आपको लगता है कि 12:00 तक जातिवाद देश हैं तो मैं इस सवाल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  272
WhatsApp_icon
user

Rakesh Ragi

Journalist

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संवैधानिक आधार पर देखा जाए तो भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है दृश्य अधिकांश निर्णय जातिगत आधार पर और धार्मिक आधार पर ही दिए जाते हैं इससे में कह सकता हूं कि भारत एक जो है जातिगत आधार पर निर्णय लेने वाला देश बन गया है

samvaidhanik aadhar par dekha jaaye toh bharat ek dharmanirapeksh desh hai drishya adhikaansh nirnay jaatigat aadhar par aur dharmik aadhar par hi diye jaate hain isse me keh sakta hoon ki bharat ek jo hai jaatigat aadhar par nirnay lene vala desh ban gaya hai

संवैधानिक आधार पर देखा जाए तो भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है दृश्य अधिकांश निर्णय जातिगत आधार

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!