गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के बीच अंतर क्या है?...


play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

0:50

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए स्वतंत्रा दिवस का अर्थ यह है कि जिस दिन हमें हमारी सत्ता जो है इंग्लैंड सरकार ने ट्रांसफर ऑफ़ पॉवर किया था और ट्रांसफर ऑफ़ पॉवर करने के बाद हम अपने सरकार जो है अपनी कंट्री के लोगों द्वारा ही बनाना शुरू हो गई थी 15 अगस्त 1947 को होने में आजाद कर दिया था 26 जनवरी 1950 को जब ने संविधान लिखा था मैंने आपको 100 80 घंटे देखा तो हमने जो इंडियन डोमिनियन का टेक्स्ट था अपने ऊपर सटा लिया और हमने खुद को एक आजाद कंट्री बता दिया जिसका स्वामित्व किसी पर नहीं जानता उसकी इंटरनल एक्सटर्नल जो डिसीजन से वह खुद ही रहेंगे तो भारत एक लोकतांत्रिक और गणतंत्र देश बन गया जो जनता के लिए जनता के द्वारा और जनता से चलाया जाएगा तो यह अंतर है 26 जनवरी और 15 अगस्त थैंक यू

dekhiye swatantra divas ka arth yah hai ki jis din hamein hamari satta jo hai england sarkar ne transfer of power kiya tha aur transfer of power karne ke BA ad hum apne sarkar jo hai apni country ke logo dwara hi BA nana shuru ho gayi thi 15 august 1947 ko hone mein azad kar diya tha 26 january 1950 ko jab ne samvidhan likha tha maine aapko 100 80 ghante dekha toh humne jo indian dominiyan ka text tha apne upar sata liya aur humne khud ko ek azad country BA ta diya jiska swamitwa kisi par nahi jaanta uski internal external jo decision se vaah khud hi rahenge toh bharat ek loktantrik aur gantantra desh BA n gaya jo janta ke liye janta ke dwara aur janta se chalaya jaega toh yah antar hai 26 january aur 15 august thank you

देखिए स्वतंत्रा दिवस का अर्थ यह है कि जिस दिन हमें हमारी सत्ता जो है इंग्लैंड सरकार ने ट्र

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

Likes  25  Dislikes    views  859
WhatsApp_icon
user
0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि 15 अगस्त को ब्रिटेन से भारत को आजादी मिली थी इसलिए 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है और 26 जनवरी को संविधान लागू हुआ था इसलिए 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है

aapke prashna ka uttar yah hai ki 15 august ko britain se bharat ko azadi mili thi isliye 15 august ko swatantrata divas manaya jata hai aur 26 january ko samvidhan laagu hua tha isliye 26 january ko gantantra divas manaya jata hai

आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि 15 अगस्त को ब्रिटेन से भारत को आजादी मिली थी इसलिए 15 अगस्त

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  214
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गणतंत्र स्वतंत्र दिवस में ज्यादा फर्क नहीं होता है ऐसे लोगों को लगता है बढ़िया दो बहुत अलग-अलग दिन होते हैं गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस इन में से एक दिन पर क्या होता है हमारा कॉन्स्टिट्यूशन बना था मतलब रूल्स बने थे कि हम लोग अगर एक गर्म कंट्री को चला रही है तो उसको चलाने के लिए कुछ रूल्स होने से कुछ ऐसी चीजें कानून होने चाहिए कि इंसान उनसे हम चलाएंगे तो वह कानून बने थे जैसे हम बोलते कॉन्स्टिट्यूशन एक दिन वह कॉन्स्टिट्यूशन बना था और वही स्वतंत्रता दिवस वह होता है जब हमारे भारत को स्वतंत्रता मिलकर दाद जो 15 अगस्त को आता है 15 अगस्त 1947 को हमारे भारत को स्वतंत्रता मिली थी पाकिस्तान से उसका पाकिस्तान और भारत दो अलग देश बन गए थे उस दिन और तब हमें जो ब्रिटिशर्स थे वह छोड़कर गए तो हम भारत को हमने स्वतंत्रता देश कहा था और उसके बाद 26 जनवरी को 3 साल बाद स्वतंत्र दिवस के गणतंत्र दिवस बना था जब हमने अपना कॉन्स्टिट्यूशन लिखा था और कॉन्स्टिट्यूशन हमारा फाइनली इंप्लीमेंट होना शुरू हुआ था

gantantra swatantra divas mein zyada fark nahi hota hai aise logo ko lagta hai BA dhiya do BA hut alag alag din hote hai gantantra divas aur swatantrata divas in mein se ek din par kya hota hai hamara Constitution BA na tha matlab rules BA ne the ki hum log agar ek garam country ko chala rahi hai toh usko chalane ke liye kuch rules hone se kuch aisi cheezen kanoon hone chahiye ki insaan unse hum chalayenge toh vaah kanoon BA ne the jaise hum bolte Constitution ek din vaah Constitution BA na tha aur wahi swatantrata divas vaah hota hai jab hamare bharat ko swatantrata milkar dad jo 15 august ko aata hai 15 august 1947 ko hamare bharat ko swatantrata mili thi pakistan se uska pakistan aur bharat do alag desh BA n gaye the us din aur tab hamein jo britishers the vaah chhodkar gaye toh hum bharat ko humne swatantrata desh kaha tha aur uske BA ad 26 january ko 3 saal BA ad swatantra divas ke gantantra divas BA na tha jab humne apna Constitution likha tha aur Constitution hamara finally implement hona shuru hua tha

गणतंत्र स्वतंत्र दिवस में ज्यादा फर्क नहीं होता है ऐसे लोगों को लगता है बढ़िया दो बहुत अलग

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए गरम गणतंत्र दिवस को चोदा देवर के बीच का अंतर देखिए दो स्वतंत्र दिवस जो है उसे बनाया जाता है कि भारत ने उसे जितेंद्र पाई थी ब्रिटिश सरकार से स्वतंत्र दिवस कौन सा 15 अगस्त को बनाते हैं और गणतंत्र दिवस हुआ था जहां पर भारत का संविधान बना था और अब तक 2 साल लगे नेपाल के संविधान को बनने के रस में कान में लगाने के लिए ऑफिस चली WapKing जय भारत के संविधान का वह 24 जनवरी 1950 में हुआ था तो यही तो है दोनों देशों के बीच में अंतर है स्वतंत्रता दिवस जय भारत को स्वतंत्रता मिली थी और गणतंत्र दिवस में भारत का नाम कैसे कानून बने थे नियम बने थे पार्लिमेंट भारत कब बना था तो यह दो अंतर गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के बीच

dekhiye garam gantantra divas ko choda devar ke beech ka antar dekhiye do swatantra divas jo hai use BA naya jata hai ki bharat ne use jitendra payi thi british sarkar se swatantra divas kaun sa 15 august ko BA nate hai aur gantantra divas hua tha jaha par bharat ka samvidhan BA na tha aur ab tak 2 saal lage nepal ke samvidhan ko BA nne ke ras mein kaan mein lagane ke liye office chali WapKing jai bharat ke samvidhan ka vaah 24 january 1950 mein hua tha toh yahi toh hai dono deshon ke beech mein antar hai swatantrata divas jai bharat ko swatantrata mili thi aur gantantra divas mein bharat ka naam kaise kanoon BA ne the niyam BA ne the Parliament bharat kab BA na tha toh yah do antar gantantra divas aur swatantrata divas ke beech

देखिए गरम गणतंत्र दिवस को चोदा देवर के बीच का अंतर देखिए दो स्वतंत्र दिवस जो है उसे बनाया

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user
0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वतंत्र दिवस बहुत दिवस है जिस दिन भारत को आजादी मिली थी और गणतंत्र दिवस बहुत दिवस है जिस दिन भारत का संविधान लिखा गया था

swatantra divas BA hut divas hai jis din bharat ko azadi mili thi aur gantantra divas BA hut divas hai jis din bharat ka samvidhan likha gaya tha

स्वतंत्र दिवस बहुत दिवस है जिस दिन भारत को आजादी मिली थी और गणतंत्र दिवस बहुत दिवस है जिस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गणतंत्र दिवस व स्वतंत्रता दिवस के बीच एक छोटा सा ही अंतर है वह इस बात का है कि स्वतंत्रता दिवस पर हमारा देश आजाद हुआ था और हमारे देश में जो ब्रिटिश उसका रूल था को खत्म हुआ था और हमारे देश पूरी तरह से आजाद हो गया था और जो गणतंत्र दिवस है उस दिन हमारे देश में हवा को स्टेशन लागू हुआ था 15 अगस्त 19 1947 में हमारे देश आजाद हुआ था और 26 जनवरी 1950 में हमारे देश में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है क्योंकि उसी दिन से हमारे देश में कॉन्स्टिट्यूशन लागू हुआ था और हमारा देश एक डेमोक्रेटिक राज्य बना था तो इनमे से किसी चीज का फर्क है कि एक दिन हमारा देश आजाद हुआ था और दूसरे दिन हमारे देश में कॉन्स्टिट्यूशन लागू हुआ था जो कि एक नई तरह की आजादी है एक अपने में स्वतंत्र होना है कि हमारे देश में डेमोक्रेसी जब से शुरू हुई है तब से हर आदमी को एक हाथ दे हग दिया गया है उनके वह देश की सरकार भी गाड़ियां बना सकता है तो यह दुनिया 15 अगस्त को हमें आजादी मिली थी दूसरी रात लोगों की इनविटेशन की चंगुल से और उसके बाद गणतंत्र दिवस वाले थे ना मैं इसी से आजादी मिल गई थी क्या हम अपने देश के लिए जो भी फैसला लेना चाहते हैं वह ले सकते हैं और सब कुछ आम आदमी पर ही डिपेंड करता है

gantantra divas va swatantrata divas ke beech ek chota sa hi antar hai vaah is BA at ka hai ki swatantrata divas par hamara desh azad hua tha aur hamare desh mein jo british uska rule tha ko khatam hua tha aur hamare desh puri tarah se azad ho gaya tha aur jo gantantra divas hai us din hamare desh mein hawa ko station laagu hua tha 15 august 19 1947 mein hamare desh azad hua tha aur 26 january 1950 mein hamare desh mein gantantra divas manaya jata hai kyonki usi din se hamare desh mein Constitution laagu hua tha aur hamara desh ek democratic rajya BA na tha toh inme se kisi cheez ka fark hai ki ek din hamara desh azad hua tha aur dusre din hamare desh mein Constitution laagu hua tha jo ki ek nayi tarah ki azadi hai ek apne mein swatantra hona hai ki hamare desh mein democracy jab se shuru hui hai tab se har aadmi ko ek hath de hug diya gaya hai unke vaah desh ki sarkar bhi gadiyan BA na sakta hai toh yah duniya 15 august ko hamein azadi mili thi dusri raat logo ki invitation ki changul se aur uske BA ad gantantra divas waale the na main isi se azadi mil gayi thi kya hum apne desh ke liye jo bhi faisla lena chahte hai vaah le sakte hai aur sab kuch aam aadmi par hi depend karta hai

गणतंत्र दिवस व स्वतंत्रता दिवस के बीच एक छोटा सा ही अंतर है वह इस बात का है कि स्वतंत्रता

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी इंडिपेंडेंस डे यानी की स्वतंत्र दिवस वह 15 अगस्त को मनाया जाता है 1947 में इस दिन हमारे देश को आजादी मिली थी जो मिलिटेंट से जो Soldier से जुड़ने बहुत ही जोर शोर से बहुत ही बहादुरी के साथ लड़ाई लड़ी कि ब्रिटिश अरसे हमें आजाद करवाया जा सके ब्रिटिश राज से मुक्ति मिल सके तो उस दिन को याद करने के लिए 15 अगस्त यानी कि इंडिपेंडेंस डे मनाया जाता है रिपब्लिक डे यानी कि गणतंत्र दिवस एक्चुली क्या है कि हमें आज़ादी तो मिल गई ब्रिटिश रूल से 1947 में बट हम एक रिपब्लिक कंट्री नहीं बने तो वह मनाया जाता है रिपब्लिक डे आने की जब हमारे कंट्री नेम 12 अडॉप्ट किया कॉन्स्टिट्यूशन अडॉप्ट किया हमारे पास अपना कॉन्स्टिट्यूशन था और इस इस दिन को याद करने के लिए 26 जून 1950 को जो इंडियन अपना कॉन्स्टिट्यूशन अडॉप्ट किया था फिर उस दिन के बाद से 26 जनवरी को और रिपब्लिक डे मनाया जाता है

dekhi Independence day yani ki swatantra divas vaah 15 august ko manaya jata hai 1947 mein is din hamare desh ko azadi mili thi jo militant se jo Soldier se judne BA hut hi jor shor se BA hut hi BA haduri ke saath ladai ladi ki british arase hamein azad karvaya ja sake british raj se mukti mil sake toh us din ko yaad karne ke liye 15 august yani ki Independence day manaya jata hai Republic day yani ki gantantra divas ekchuli kya hai ki hamein aazadi toh mil gayi british rule se 1947 mein but hum ek Republic country nahi BA ne toh vaah manaya jata hai Republic day aane ki jab hamare country name 12 adopt kiya Constitution adopt kiya hamare paas apna Constitution tha aur is is din ko yaad karne ke liye 26 june 1950 ko jo indian apna Constitution adopt kiya tha phir us din ke BA ad se 26 january ko aur Republic day manaya jata hai

देखी इंडिपेंडेंस डे यानी की स्वतंत्र दिवस वह 15 अगस्त को मनाया जाता है 1947 में इस दिन हमा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज भी आज भी लोगों को लगता है कि गणतंत्र दिवस आ सकता दिवस के बीच में कोई अंतर नहीं है लेकिन इस में बहुत अंतर स्वतंत्र दिवस हम सन 1947 हमारा है 15 अगस्त 1940 है जिस दिन हमारा देश है ब्रिटिश शासन के 200 साल रोल करने के बाद खत्म हुआ तब से हम स्वतंत्र दिवस मना रहे हैं जबकि गणतंत्र दिवस रानी की रिपब्लिक डे हम 26 जनवरी 1950 से बना रहे थे हमारे देश का संविधान बना हुआ था हमारे देश का संविधान कई देशों के संविधान को पढ़ने के बाद डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने बहुत मदद की बनाने में और तब्बू हमारा देश एक आर्थिक रूप में तैयार हुआ आगे बढ़ने के लिए इसकी वजह से हम गणतंत्र दिवस मनाते हैं गणतंत्र दिवस इसलिए मनाते हैं क्योंकि हमारा देश आजाद हुआ था तो गणतंत्र दिवस स्वतंत्र दिवस में बहुत अंतर है और दोनों की तारीख भी अलग गर्दन दिवस 26 जनवरी 1950 से मनाया जा रहा है जबकि संता दिवस 15 अगस्त 1947 समा जा रहा है तो उन दोनों में बहुत फर्क है

aaj bhi aaj bhi logo ko lagta hai ki gantantra divas aa sakta divas ke beech mein koi antar nahi hai lekin is mein BA hut antar swatantra divas hum san 1947 hamara hai 15 august 1940 hai jis din hamara desh hai british shasan ke 200 saal roll karne ke BA ad khatam hua tab se hum swatantra divas mana rahe hai jabki gantantra divas rani ki Republic day hum 26 january 1950 se BA na rahe the hamare desh ka samvidhan BA na hua tha hamare desh ka samvidhan kai deshon ke samvidhan ko padhne ke BA ad doctor bhimrao ambedkar ne BA hut madad ki BA naane mein aur tabu hamara desh ek aarthik roop mein taiyar hua aage BA dhne ke liye iski wajah se hum gantantra divas manate hai gantantra divas isliye manate hai kyonki hamara desh azad hua tha toh gantantra divas swatantra divas mein BA hut antar hai aur dono ki tarikh bhi alag gardan divas 26 january 1950 se manaya ja raha hai jabki santa divas 15 august 1947 sama ja raha hai toh un dono mein BA hut fark hai

आज भी आज भी लोगों को लगता है कि गणतंत्र दिवस आ सकता दिवस के बीच में कोई अंतर नहीं है लेकिन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
गणतंत्र और स्वतंत्रता के बीच का अंतर ; स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में क्या अंतर है ; garhtantra divas ; स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के बीच का अंतर ; gantantr divas ; गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में अंतर ; gadtantr divas ; gadtantra divas ; gantantar divas ; gantantrata divas ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!