स्टैंड के लिए मोदी सरकार क्या करना चाहिए?...


play
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माननीय प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 15 अगस्त 2015 को बाबा साहब की खबर 100 वी जयंती पर एक बड़ी घोषणा की थी उन्होंने कहा था कि इस मौके पर देश के सवा लाख बैंक को यह जिम्मेदारी दी जाती है कि उसकी हर शाखा अनुसूचित जाति व जनजाति के कम से कम एक उद्यमी वह एक महिला उद्यमी को 10 लाख से एक करोड़ का कर्जा दे जिससे वह अपना रोजगार शुरू कर सके इस स्कीम को स्टैंड अप इंडिया का नाम दिया गया था वित्तीय समायोजन व सबका विकास उसके लिए यह मोदी सरकार की एक बेहतरीन योजना थी और नौकरशाही बम बैंकिंग सेक्टर में से इस काम को अच्छे से लागू नहीं किया वित्त मंत्रालय की जानकारी के अनुसार 31 दिसंबर 2017 तक इस योजना से सिक्स पॉइंट 5 19 दलितों 1.98 आदिवासी उद्यमी को ही कर दिया गया इससे लगता है कि आप तो कुछ कमियों को रहते कर दिया ही नहीं गया या लोक कर लेने पहुंचे ही नहीं इसके लिए सरकार को बैंक पर नजर रखनी चाहिए सभी योजनाओं को जनता तक अच्छे से पहुंचाने की व्यवस्था करनी चाहिए सरकार की वित्तीय समायोजन की किसी भी योजना की शुरुआत करने से पहले बैंक की आखिरी देखी जानी चाहिए तथा अच्छे बैंक को पुरस्कार व घटिया बैंक की पहचान करनी चाहिए बैंक से पता करना चाहिए की स्कीम की सफलता में उन्हें वादा क्यों आ रही है अगर इसके लिए कोई दोषी है तो उसे सजा मिलनी चाहिए यह भी हो सकता है कि दलित आदिवासी समाजों में अभी ऐसा समूह उठकर ही खड़ा नहीं हुआ है जो बैंक से कर्ज लेने की सभी कव्वाली पूरी कर सके तथा अपना व्यवसाय शुरु कर सके और यह एक बहुत बड़ी चिंता का विषय है क्योंकि इस वजह से भारत में वित्तीय समायोजन का कार्य अभी भी अधूरा है

maananeey pradhanmantri shri modi ne 15 august 2015 ko baba saheb ki khabar 100 va jayanti par ek badi ghoshana ki thi unhone kaha tha ki is mauke par desh ke sava lakh bank ko yah jimmedari di jaati hai ki uski har shakha anusuchit jati va janjaati ke kam se kam ek udyami vaah ek mahila udyami ko 10 lakh se ek crore ka karja de jisse vaah apna rojgar shuru kar sake is scheme ko stand up india ka naam diya gaya tha vittiy samaayojan va sabka vikas uske liye yah modi sarkar ki ek behtareen yojana thi aur naukarshahi bomb banking sector mein se is kaam ko acche se laagu nahi kiya vitt mantralay ki jaankari ke anusaar 31 december 2017 tak is yojana se six point 5 19 dalito 1 98 adiwasi udyami ko hi kar diya gaya isse lagta hai ki aap toh kuch kamiyon ko rehte kar diya hi nahi gaya ya lok kar lene pahuche hi nahi iske liye sarkar ko bank par nazar rakhni chahiye sabhi yojnao ko janta tak acche se pahunchane ki vyavastha karni chahiye sarkar ki vittiy samaayojan ki kisi bhi yojana ki shuruat karne se pehle bank ki aakhiri dekhi jani chahiye tatha acche bank ko puraskar va ghatiya bank ki pehchaan karni chahiye bank se pata karna chahiye ki scheme ki safalta mein unhe vada kyon aa rahi hai agar iske liye koi doshi hai toh use saza milani chahiye yah bhi ho sakta hai ki dalit adiwasi Samajon mein abhi aisa samuh uthakar hi khada nahi hua hai jo bank se karj lene ki sabhi qawwali puri kar sake tatha apna vyavasaya shuru kar sake aur yah ek bahut badi chinta ka vishay hai kyonki is wajah se bharat mein vittiy samaayojan ka karya abhi bhi adhura hai

माननीय प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 15 अगस्त 2015 को बाबा साहब की खबर 100 वी जयंती पर एक बड़ी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  197
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!