क्या छोटे-छोटे राज्य बनाने से उनके विकास में तेज़ी आयी? या ये मुद्दा स्वार्थ की राजनीति है?...


user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर छोटे छोटे राज्य बनाने से उनके विकास में तेजी आएगी तो यह लॉजिक बिल्कुल अप्लाई होना चाहिए छोटे-छोटे देश बनाने के लिए भी किधर छोटे छोटे देश रहेंगे तो वहां पर एडमिनिस्ट्रेशन अच्छा हो जाएगा वहां पर पॉलिसी मेकिंग ज्यादा फोकस दोगी तो उनके विकास में भी तेजी आएगी इसे मुझे तो नहीं लगता कि यह लॉजिक सही है और अगर आप हमारा एक्सपीरियंस भी देखें जो पिछले पिछले 15 सालों में हमारे यहां पर हमने कुछ चेहरा सेट किए जैसे अगर तेलंगाना आंध्र प्रदेश देख लीजिए उससे पहले उत्तराखंड छत्तीसगढ़ और झारखंड देख लीजिए तो ऐसा नहीं है कि उत्तराखंड और छत्तीसगढ़ और झारखंड में तेलंगाना जवानी जब होता है इन उत्तराखंड झारखंड और छत्तीसगढ़ है इन्होंने वह प्रगति निकाली है एक क्रमिक विकास में है कि जो बाकी प्रदेशों को द्रवित करने वाली है और जो हम पर लोकल पॉलिटिक्स उसके भी प्रणाम हम लोगों के सामने ही है तो छोटे राज्यों के और बड़े राज्यों के अपने फायदे और अपने नुकसान है लेकिन अगर ओवरऑल देश के अंदर हमारा सही विकास का मॉडल चल रहा हो और लोगों में जागरूकता हो और और देश के अंदर पॉलिसी मेकिंग सही तरीके से काम कर रही हो तू ज्यादा इफेक्टिव हो सकती है और बड़े राज्य गुजरात और मध्यप्रदेश भी अच्छी ग्रोथ रेट निकाल रहे हैं जबकि बहुत छोटे छोटे राज्य में विकास दर में बहुत पीछे हैं

agar chote chhote rajya banane se unke vikas mein teji aayegi toh yah logic bilkul apply hona chahiye chote chhote desh banane ke liye bhi kidhar chote chhote desh rahenge toh wahan par administration accha ho jaega wahan par policy making zyada focus dogi toh unke vikas mein bhi teji aayegi ise mujhe toh nahi lagta ki yah logic sahi hai aur agar aap hamara experience bhi dekhen jo pichle pichhle 15 salon mein hamare yahan par humne kuch chehra set kiye jaise agar telangana andhra pradesh dekh lijiye usse pehle uttarakhand chattisgarh aur jharkhand dekh lijiye toh aisa nahi hai ki uttarakhand aur chattisgarh aur jharkhand mein telangana jawaani jab hota hai in uttarakhand jharkhand aur chattisgarh hai inhone vaah pragati nikali hai ek kramik vikas mein hai ki jo baki pradeshon ko dravit karne wali hai aur jo hum par local politics uske bhi pranam hum logo ke saamne hi hai toh chote rajyo ke aur bade rajyo ke apne fayde aur apne nuksan hai lekin agar overall desh ke andar hamara sahi vikas ka model chal raha ho aur logo mein jagrukta ho aur aur desh ke andar policy making sahi tarike se kaam kar rahi ho tu zyada effective ho sakti hai aur bade rajya gujarat aur madhya pradesh bhi achi growth rate nikaal rahe hain jabki bahut chote chhote rajya mein vikas dar mein bahut peeche hain

अगर छोटे छोटे राज्य बनाने से उनके विकास में तेजी आएगी तो यह लॉजिक बिल्कुल अप्लाई होना चाहि

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  407
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
1:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

छोटे राज्य बनाने चाहिए छोटी बहू का रिश्ता कितना प्यारा कितना टाइम लगता है उत्तम टाइम ट्रैक्टर 265

chhote rajya banane chahiye choti bahu ka rishta kitna pyara kitna time lagta hai uttam time tractor 265

छोटे राज्य बनाने चाहिए छोटी बहू का रिश्ता कितना प्यारा कितना टाइम लगता है उत्तम टाइम ट्रैक

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  213
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे भारतीय जनता पार्टी की शुरू से विचारधारा यही रही है कि किसी भी राज्य का अपने देश का विकास हो जैसे बिहार से झारखंड अलग किया गया और झारखंड का विकास हुआ मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ को अलग किया गया और वहां का विकास हुआ और उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड को अलग किया गया और वहां का विकास बहुत अच्छे से हुआ तो यह सब भारतीय जनता पार्टी सोचती है और भारतीय जनता पार्टी भी ही ऐसी पार्टी है जो देश हित के लिए कार्य करती है और जो उत्तर प्रदेश का विकास कर रही है उत्तर प्रदेश 23 करोड़ जनसंख्या वाला प्रदेश है आज तक वहां की रोड सड़क अच्छी नहीं बनी थी रोड पर गड्ढे पड़े थे बिजली कहीं पहुंचाई नहीं गई थी लेकिन अगर आज देखा जाए तो पूरे भारत में जो उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री माननीय श्री योगी आदित्यनाथ जी हैं उनके कार्यकाल में इतना तेजी से काम हो रहा है जिसके बारे में हम लोगों ने कभी सोचा भी नहीं था वह पूरा नेशनल हाईवे बन रहे हैं पीडब्ल्यूडी भी अपनी इच्छा से कार्य कर रहा है गांव गांव की सड़कों को ठीक किया जा रहा है गांव-गांव बिजली पहुंचा दी गई है शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त किया जा रहा है जो प्राइमरी स्कूल में ड्रेस होता था उसको चेंज कर दिया गया और कुछ बच्चों के लिए अच्छी योजना बनाई जा रही है पढ़ाई अच्छे से हो रही है चेकिंग हो रही है टीचरों को टीचरों की क्यों पढ़ा लिखा रहे हैं कि नहीं बस जाकर सो रहे हैं पहले क्या होता था कि टीचर जाकर कुर्सी पर सोते थे लेकिन अब ऐसा नहीं चलेगा यह भारतीय जनता पार्टी की सरकार है यह किसी को नहीं बचेगी और गवर्नमेंट के अधिकारियों को तो इंस्ट्रक्शन है अगर आप काम नहीं करेंगे तो आप को बर्खास्त कर दिया जाएगा तो व्यवस्था अच्छी हुई है धन्यवाद

dekhe bharatiya janta party ki shuru se vichardhara yahi rahi hai ki kisi bhi rajya ka apne desh ka vikas ho jaise bihar se jharkhand alag kiya gaya aur jharkhand ka vikas hua madhya pradesh se chattisgarh ko alag kiya gaya aur wahan ka vikas hua aur uttar pradesh se uttarakhand ko alag kiya gaya aur wahan ka vikas bahut acche se hua toh yah sab bharatiya janta party sochti hai aur bharatiya janta party bhi hi aisi party hai jo desh hit ke liye karya karti hai aur jo uttar pradesh ka vikas kar rahi hai uttar pradesh 23 crore jansankhya vala pradesh hai aaj tak wahan ki road sadak achi nahi bani thi road par gaddhe pade the bijli kahin pahunchai nahi gayi thi lekin agar aaj dekha jaaye toh poore bharat mein jo uttar pradesh ke yashashvi mukhyamantri mananiya shri yogi adityanath ji hain unke karyakal mein itna teji se kaam ho raha hai jiske bare mein hum logo ne kabhi socha bhi nahi tha vaah pura national highway ban rahe hain PWD bhi apni iccha se karya kar raha hai gaon gaon ki sadkon ko theek kiya ja raha hai gaon gaon bijli pohcha di gayi hai shiksha vyavastha ko durast kiya ja raha hai jo primary school mein dress hota tha usko change kar diya gaya aur kuch baccho ke liye achi yojana banai ja rahi hai padhai acche se ho rahi hai checking ho rahi hai ticharon ko ticharon ki kyon padha likha rahe hain ki nahi bus jaakar so rahe hain pehle kya hota tha ki teacher jaakar kursi par sote the lekin ab aisa nahi chalega yah bharatiya janta party ki sarkar hai yah kisi ko nahi bachegi aur government ke adhikaariyo ko toh instruction hai agar aap kaam nahi karenge toh aap ko barkhast kar diya jaega toh vyavastha achi hui hai dhanyavad

देखे भारतीय जनता पार्टी की शुरू से विचारधारा यही रही है कि किसी भी राज्य का अपने देश का वि

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  361
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब हमारा देश आजाद हुआ था उस समय हमारे जब फजल अली कमेटी बनी थी उस कमेटी ने आशा के आधार पर आ चुका डिवाइस इन किया था जो कि आज इस के पक्ष में उस समय कोई नहीं था और शायद आज भी मुझे लगता नहीं है किसी के पक्ष में होना चाहिए एडमिनिस्ट्रेशन की बेसिस पर राज्यों का डिवीजन होना था यह बात कहने में अच्छी लगती है कि छोटे राज्य हो गए हैं और ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं मिल जाएंगी छोटे राज्य है तो छोटी जगह पर एक एडमिशन करना बहुत बिजी हो जाता है इस इतिहास को दी लेकिन मुझे ऐसा लगता नहीं है अगर आपकी अगर आप कुछ ऐसे ही आप देखे तो कई जगह डेवलपमेंट किस-किस चीजों में बहुत ज्यादा आई है तो कुछ चीजें बहुत ज्यादा कम है मैं आपको कुछ बताना चाहता हूं जैसे बिहार और झारखंड में जब घर डेकोरेशन हुआ था सन 2000 में उसके बाद से ही वहां पर ए राजा ने 12 सेंट्रल गवर्नमेंट 2जी घोटाला किया इसके अलावा 24 पोर्टल झारखंड में एक साथ बड़े बड़े घोटालेबाज हजार करोड़ के घोटाले की सरकार बनी थी तो फायदे तो है लेकिन नुकसान काफी ज्यादा है क्योंकि कई सारी पार्टियां तो केवल इसीलिए बैठी हुई है कि वह नए स्टेट का फॉर्म इन करा दे तेलंगाना की मांग कब से चलती आ रही नहीं सकता 53 से बात चलती आ रही है अब जाकर तेलंगाना बन गया है तो तेलंगाना में शासन की कौन कर रहा है तेलुगु देशम पार्टी तेलंगाना नेशनल पार्टी कर रही है तो कुछ पार्टियों का तो पूरा का पूरा जीवन कुछ नेताओं को जी को निकल जाता कि नहीं बना करेंगे प्राइम मिनिस्टर प्राइम मिनिस्टर बिल्कुल भी नहीं लगता कि राज्य का बड़ा होना छोटा नाम से कहां छोटे राज होते एक छोटी जगह और ऑफिस भी आप थोड़ा जल्दी काम कर सकते हैं थोड़ा जल्दी लेकिन चाइना में आप देखिए हमारे यहां से एरिया बहुत ज्यादा है ऑपरेशन होने से बहुत ज्यादा है मुझे बिल्कुल नहीं लगता है कि राज्य गड़बड़ करना बहुत जरूरी था लेकिन जो हो रहा है ठीक है 2 मिनट अपने हिसाब से काम कर रही है और मुझे लगता है कि जो भी काम हो देश के हित में होना चाहिए

jab hamara desh azad hua tha us samay hamare jab fazal ali committee bani thi us committee ne asha ke aadhaar par aa chuka device in kiya tha jo ki aaj is ke paksh mein us samay koi nahi tha aur shayad aaj bhi mujhe lagta nahi hai kisi ke paksh mein hona chahiye administration ki basis par rajyo ka division hona tha yah baat kehne mein achi lagti hai ki chote rajya ho gaye hain aur zyada se zyada suvidhaen mil jayegi chote rajya hai toh choti jagah par ek admission karna bahut busy ho jata hai is itihas ko di lekin mujhe aisa lagta nahi hai agar aapki agar aap kuch aise hi aap dekhe toh kai jagah development kis kis chijon mein bahut zyada I hai toh kuch cheezen bahut zyada kam hai aapko kuch bataana chahta hoon jaise bihar aur jharkhand mein jab ghar decoration hua tha san 2000 mein uske baad se hi wahan par a raja ne 12 central government ji ghotala kiya iske alava 24 portal jharkhand mein ek saath bade bade ghotalebaaj hazaar crore ke ghotale ki sarkar bani thi toh fayde toh hai lekin nuksan kaafi zyada hai kyonki kai saree partyian toh keval isliye baithi hui hai ki vaah naye state ka form in kara de telangana ki maang kab se chalti aa rahi nahi sakta 53 se baat chalti aa rahi hai ab jaakar telangana ban gaya hai toh telangana mein shasan ki kaun kar raha hai telugu desham party telangana national party kar rahi hai toh kuch partiyon ka toh pura ka pura jeevan kuch netaon ko ji ko nikal jata ki nahi bana karenge prime minister prime minister bilkul bhi nahi lagta ki rajya ka bada hona chota naam se kahaan chote raj hote ek choti jagah aur office bhi aap thoda jaldi kaam kar sakte hain thoda jaldi lekin china mein aap dekhiye hamare yahan se area bahut zyada hai operation hone se bahut zyada hai mujhe bilkul nahi lagta hai ki rajya gadbad karna bahut zaroori tha lekin jo ho raha hai theek hai 2 minute apne hisab se kaam kar rahi hai aur mujhe lagta hai ki jo bhi kaam ho desh ke hit mein hona chahiye

जब हमारा देश आजाद हुआ था उस समय हमारे जब फजल अली कमेटी बनी थी उस कमेटी ने आशा के आधार पर आ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

mahi

Msa

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी राष्ट्र किसी भी राज्य का विकास उसके आकार पर नहीं बल्कि उसके राजनीतिक नेतृत्व पर निर्भर करता है यह कहना गलत होगा कि छोटे राज्य बना देने मात्र से ही उसे आज की तरक्की संभव है हम देखते हैं कि मध्यप्रदेश के विभाजित होने के बाद छत्तीसगढ़ की क्या स्थिति है या बिहार की / होने के बाद में जो आधार कार्ड और बिहार / हुए उनकी क्या स्थिति है या अन्य छोटे राज्य जो पूर्वोत्तर राज्य हैं उनके विकास की क्या स्थिति है तो यह कहना गलत है कि छोटे राजा होने से ही उसे आज का विकास संभव है

kisi bhi rashtra kisi bhi rajya ka vikas uske aakaar par nahi balki uske raajnitik netritva par nirbhar karta hai yah kehna galat hoga ki chote rajya bana dene matra se hi use aaj ki tarakki sambhav hai hum dekhte hain ki madhya pradesh ke vibhajit hone ke baad chattisgarh ki kya sthiti hai ya bihar ki hone ke baad mein jo aadhaar card aur bihar hue unki kya sthiti hai ya anya chote rajya jo purvottar rajya hain unke vikas ki kya sthiti hai toh yah kehna galat hai ki chote raja hone se hi use aaj ka vikas sambhav hai

किसी भी राष्ट्र किसी भी राज्य का विकास उसके आकार पर नहीं बल्कि उसके राजनीतिक नेतृत्व पर नि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कि अगर राज्यों को छोटा कर दिया जाए तो उनके विकास में तेजी आएगी या बस एक स्वार्थ की राजनीति के तहत होता है क्योंकि किसी एक राज्य के माली जी की दो पार्ट हो रहे हैं तो वहां पर दो तरह की मानसिकता वाले लोग रहते होंगे या फिर 2 कास्ट के लोग दो समुदाय के लोग होंगे जो एक अलग राज्य की मांग करते हैं जैसे कि आंध्र प्रदेश का ताजा घटनाक्रम था जिसमें कि तेलंगाना अलग हुआ तो वहां की जो तेलंगाना राज्य बना वहां पर जो लोग थे वह एक अलग राज्य की मांग कर रहे थे तो सरकार ने वोट बैंक की राजनीति के तहत एक अलग राज्य का निर्माण कर दिया तो राज्यों की अलग निर्माण होने से ऐसा नहीं है कि वहां के विकास में तेजी आएगी और क्योंकि ऐसे बहुत सारे एग्जांपल है जहां पर बड़े राज्य हैं लेकिन फिर भी उनका विकास अच्छे तरीके से हुआ है अगर हम USA की बात करें तो वहां पर काफी बड़े-बड़े स्टेट्स हैं और वह काफी विकसित हैं तो इससे फर्क नहीं पड़ता कि राज्य Bade Miyan Chote बस डिपेंड यह करता है कि वहां की सरकार और क्या कदम उठाती है क्या पॉलिसीस बनाती है ताकि उस स्टेट का विकास हो पाए या फिर जो केंद्र की सरकार है वह किस तरह से सारी चीजों को देखती है अलग-अलग राज्यों को वह किस तरह से फंड अलॉट करती है ताकि उनका अच्छे तरीके से विकास हो पाए अगर राज्यों को छोटे करने से विकास में तेजी आती तो फिर तो यह अच्छा होता कि सारे राज्यों के बहुत सारे पाठ कर दिए जाते और छोटे-छोटे बहुत छोटे राज्य बन जाते हैं जिससे कि उनका विकास बहुत तेजी से होता है और भारत तुरंत में मतलब 5 से 10 सालों में एक डेवलप्ड कंट्री बंद कर तैयार हो जाता तो मेरे मुताबिक यह सही चीज नहीं है और इस तरह की राजनीति करना गलत है कि राज्यों का बंटवारा करो और ऐसा बताओ कि इससे काफी लोगों को फायदा पहुंचेगा

main is baat se sahmat nahi hoon ki agar rajyo ko chota kar diya jaaye toh unke vikas mein teji aayegi ya bus ek swarth ki raajneeti ke tahat hota hai kyonki kisi ek rajya ke maali ji ki do part ho rahe hain toh wahan par do tarah ki mansikta waale log rehte honge ya phir 2 caste ke log do samuday ke log honge jo ek alag rajya ki maang karte hain jaise ki andhra pradesh ka taaza ghatanaakram tha jisme ki telangana alag hua toh wahan ki jo telangana rajya bana wahan par jo log the vaah ek alag rajya ki maang kar rahe the toh sarkar ne vote bank ki raajneeti ke tahat ek alag rajya ka nirmaan kar diya toh rajyo ki alag nirmaan hone se aisa nahi hai ki wahan ke vikas mein teji aayegi aur kyonki aise bahut saare example hai jaha par bade rajya hain lekin phir bhi unka vikas acche tarike se hua hai agar hum USA ki baat kare toh wahan par kaafi bade bade states hain aur vaah kaafi viksit hain toh isse fark nahi padta ki rajya Bade Miyan Chote bus depend yah karta hai ki wahan ki sarkar aur kya kadam uthaati hai kya policies banati hai taki us state ka vikas ho paye ya phir jo kendra ki sarkar hai vaah kis tarah se saree chijon ko dekhti hai alag alag rajyo ko vaah kis tarah se fund alat karti hai taki unka acche tarike se vikas ho paye agar rajyo ko chote karne se vikas mein teji aati toh phir toh yah accha hota ki saare rajyo ke bahut saare path kar diye jaate aur chote chhote bahut chote rajya ban jaate hain jisse ki unka vikas bahut teji se hota hai aur bharat turant mein matlab 5 se 10 salon mein ek developed country band kar taiyar ho jata toh mere mutabik yah sahi cheez nahi hai aur is tarah ki raajneeti karna galat hai ki rajyo ka batwara karo aur aisa batao ki isse kaafi logo ko fayda pahunchaega

मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कि अगर राज्यों को छोटा कर दिया जाए तो उनके विकास में तेजी आएगी

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  277
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे इज्जत से एक का कॉइन की जो है वह दोनों पहलू होते हैं वैसे ही किसी भी बात के दोनों पहलू है तो बात क्या कि अगर प्रदेश अगर बड़ा हो कोई राज्य बड़ा हो तो उस को कंट्रोल करने में दिक्कत आती है और उसके डेवलपमेंट में तो याद है इसलिए अगर उसको दो पार्ट में डिवाइड कर दिया जाए और दो बार भरोसा करके तो उसका डालो या फिर किसी पॉलिटिकल पार्टी को सरकार में पोजीशन में तो है इसके हो सकते हैं

likhe izzat se ek ka coin ki jo hai vaah dono pahaloo hote hain waise hi kisi bhi baat ke dono pahaloo hai toh baat kya ki agar pradesh agar bada ho koi rajya bada ho toh us ko control karne mein dikkat aati hai aur uske development mein toh yaad hai isliye agar usko do part mein divide kar diya jaaye aur do baar bharosa karke toh uska dalo ya phir kisi political party ko sarkar mein position mein toh hai iske ho sakte hain

लिखे इज्जत से एक का कॉइन की जो है वह दोनों पहलू होते हैं वैसे ही किसी भी बात के दोनों पहलू

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल छोटे छोटे राज्य बनाने से जो है उनके विकास में तेजी आएगी अगर आप उदाहरण के तौर पर भेजेंगे तो तेलंगाना का उदाहरण लेंगे जब तेलंगाना की सरकार आंध्र प्रदेश सरकार से अलग हुई तो काफी सारी जो है डेवलपमेंट तेजी से होने लगी तेलंगाना में पानी की समस्या बिजली की समस्याओं काफी हद तक सूरज नहीं लगी जब तेलंगाना की सरकार आने दो वह लोग उनके पास प्रधान इतने अच्छे फंड जमा होने लगे कि वह तो घर गवर्नमेंट कर्मचारियों को अच्छे खासे बंगले भी देने लगे गाड़ियां भी देने लगे एक सर्विस के द्वार पर तो मेरे हिसाब से तो काफी अच्छी डेवलपमेंट होती है एक समय एक कॉमन सेंस की बात है यह भी बहुत बड़ा राज्य हो तो उसमें जो है काफी सारे टेक्स्ट पेड़ की जड़ डिफॉल्ट हो सकती है नहीं कि नहीं कोई काफी सारे टैक्स लोग टैक्स नहीं भर सकते नहीं भरते कभी-कभी तो इसके वजह से फंड की कमी पड़ जाती है लेकिन ज्यादा लोग का ख्याल रखना पड़ता है हमारे कोजाराम देखेंगे तो जब उत्तर प्रदेश का बंटवारा हुआ था उत्तराखंड के साथ तो उत्तराखंड में भी जो है काफी सारे डेवलपमेंट तेजी से होने लगी सड़कों के काम काफी अच्छे से बढ़ने लगे

bilkul chote chhote rajya banane se jo hai unke vikas mein teji aayegi agar aap udaharan ke taur par bhejenge toh telangana ka udaharan lenge jab telangana ki sarkar andhra pradesh sarkar se alag hui toh kaafi saree jo hai development teji se hone lagi telangana mein paani ki samasya bijli ki samasyaon kaafi had tak suraj nahi lagi jab telangana ki sarkar aane do vaah log unke paas pradhan itne acche fund jama hone lage ki vaah toh ghar government karmachariyon ko acche khase bangale bhi dene lage gadiyan bhi dene lage ek service ke dwar par toh mere hisab se toh kaafi achi development hoti hai ek samay ek common sense ki baat hai yah bhi bahut bada rajya ho toh usme jo hai kaafi saare text ped ki jad default ho sakti hai nahi ki nahi koi kaafi saare tax log tax nahi bhar sakte nahi bharte kabhi kabhi toh iske wajah se fund ki kami pad jaati hai lekin zyada log ka khayal rakhna padta hai hamare kojaram dekhenge toh jab uttar pradesh ka batwara hua tha uttarakhand ke saath toh uttarakhand mein bhi jo hai kaafi saare development teji se hone lagi sadkon ke kaam kaafi acche se badhne lage

बिल्कुल छोटे छोटे राज्य बनाने से जो है उनके विकास में तेजी आएगी अगर आप उदाहरण के तौर पर भे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मुझे लगता है कि किसी भी राज्य के विकास की सब सर्वप्रथम जिम्मेदारी वहां रह रहे व्यक्तियों की और उस सरकार की होती है जो राज्य में शासन करती है यदि सरकार की इच्छा शक्ति नहीं है विकास करने की तो मुझे नहीं लगता है चाहे वह राजू छोटा हो चाहे वह राज्य बढ़ाओ वह विकास कर पाएगा हमारे देश में बहुत सारे एग्जांपल से हैं जहां बड़े बड़े राज्यों को काटकर छोटे छोटे राज्य बनाए गए चाय में बात कर छत्तीसगढ़ की झारखंड की उत्तराखंड की में बात कम होगी तेलंगाना की बात करूं तो अगर राजनीतिक इच्छाशक्ति है विकास की तो मुझे लगता है कि वह विकास हो गए राजनीतिक इच्छा शक्ति नहीं है तो विकास नहीं होगा चाहे आप उस राज्य को कितना भी छोटा कर लो ठीक है फॉर example अगर मैं उत्तराखंड की बात करूं या झारखंड की बात करूं तो क्या छोटा राज्य बनने से वह बहुत ज्यादा डेवलपमेंट हो गया क्या उस राज्य की जीडीपी में बहुत ज्यादा जादू इजाफा हो गया मुझे नहीं लगता है ऐसा कुछ हुआ है क्या उस राज्य के अंदर बेरोजगारी खत्म हो गई तो यह सब कहने की बातें हैं कि अगर राज्य बड़े राज्य को छोटे में कन्वर्ट कर दिया जाए या छोटा राज बना दिया जाए तो वह विकास बहुत तेजी से होगा मुझे नहीं लगता विकास होगा लेकिन राजनीतिक दल है उस राज्य की सरकार की इच्छा शक्ति है विकास करने की तो वह राज्य छोटा हो चाहे वह बड़ा विकास हमेशा होगा

dekhiye mujhe lagta hai ki kisi bhi rajya ke vikas ki sab sarvapratham jimmedari wahan reh rahe vyaktiyon ki aur us sarkar ki hoti hai jo rajya mein shasan karti hai yadi sarkar ki iccha shakti nahi hai vikas karne ki toh mujhe nahi lagta hai chahen vaah raju chota ho chahen vaah rajya badhao vaah vikas kar payega hamare desh mein bahut saare example se hain jaha bade bade rajyo ko katkar chote chhote rajya banaye gaye chai mein baat kar chattisgarh ki jharkhand ki uttarakhand ki mein baat kam hogi telangana ki baat karu toh agar raajnitik ichchhaashakti hai vikas ki toh mujhe lagta hai ki vaah vikas ho gaye raajnitik iccha shakti nahi hai toh vikas nahi hoga chahen aap us rajya ko kitna bhi chota kar lo theek hai for example agar main uttarakhand ki baat karu ya jharkhand ki baat karu toh kya chota rajya banne se vaah bahut zyada development ho gaya kya us rajya ki gdp mein bahut zyada jadu ijafa ho gaya mujhe nahi lagta hai aisa kuch hua hai kya us rajya ke andar berojgari khatam ho gayi toh yah sab kehne ki batein hain ki agar rajya bade rajya ko chote mein convert kar diya jaaye ya chota raj bana diya jaaye toh vaah vikas bahut teji se hoga mujhe nahi lagta vikas hoga lekin raajnitik dal hai us rajya ki sarkar ki iccha shakti hai vikas karne ki toh vaah rajya chota ho chahen vaah bada vikas hamesha hoga

देखिए मुझे लगता है कि किसी भी राज्य के विकास की सब सर्वप्रथम जिम्मेदारी वहां रह रहे व्यक्त

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
chote chote ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!