क्या राम मंदिर केवल राजनीतिक मुद्दा ही बनकर रह जाएगा? क्या सरकार इस पर बिल लेकर आएगी?...


play
user
1:50

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो तू नाम राम मंदिर का मुद्दा जो है वह अध्यादेश लाने की बात है तो यह अध्यादेश नहीं लाएंगे एक तरफ इनके सारे सांसद भाजपा के सारे सांसद रामलीला मैदान में या कहीं पर भी रैली कर कर राम मंदिर बनाने की बात करते हैं अध्यादेश की मांग करते हैं इनके जो सिस्टर कंसर्न है अगर पॉलीटिकल पार्टी को एक मतलब बिजनेस पार्टनर बिजनेस या कंपनी मधील अधिक है तो नजरिए से देखें बजरंग दल और वहां पर अयोध्या में जाकर धरना देते हैं इनके सांसद होते हैं तो सारे सांसद जब आपके रैलियों में मौजूद होकर अध्यादेश की मांग करते हैं तो वह यादें पार्लियामेंट में क्यों नहीं लेकर आते उसको उसको अमलीजामा सोनू की राम मंदिर एक ऐसा होता है जो लोगों को राम इस देश की भावनाओं से जुड़े हुए हैं राम हर व्यक्ति के दिल में है राम हर व्यक्ति के लिए भारत है और राम राम को अगर हम बोतल से जुड़ कर रहा उसका * गणित करेंगे तो वही राम मंदिर में हो रहा है और राम के लिए कोई मंदिर की अति विशाल मंदिर की विशाल मूर्ति की जरूरत नहीं है जरूरत है राम के आदर्शों पर चलने की राम जो है हमारे मर्यादा पुरुषोत्तम है और उनको मर्यादा पुरुषोत्तम कहा गया है तो ईश्वर जो है वह चिंतन मनन की और धारण करने की चीज है आप उनके जो आप उनसे उनको सीखते हैं आप पर आपके आराध्य हैं आप उनकी उम्र से शिक्षा दीजिए और उस को आत्मसात कीजिए राम मंदिर में हो यह जरूरी नहीं है राम आपके दिल में होने चाहिए काम आपकी आस्था में होने चाहिए

toh tu naam ram mandir ka mudda jo hai vaah adhyadesh lane ki baat hai toh yah adhyadesh nahi layenge ek taraf inke saare saansad bhajpa ke saare saansad ramlila maidan mein ya kahin par bhi rally kar kar ram mandir banane ki baat karte hain adhyadesh ki maang karte hain inke jo sister kansarn hai agar political party ko ek matlab business partner business ya company madhil adhik hai toh nazariye se dekhen bajrang dal aur wahan par ayodhya mein jaakar dharna dete hain inke saansad hote hain toh saare saansad jab aapke railiyo mein maujud hokar adhyadesh ki maang karte hain toh vaah yaadain parliament mein kyon nahi lekar aate usko usko amalijama sonu ki ram mandir ek aisa hota hai jo logo ko ram is desh ki bhavnao se jude hue hain ram har vyakti ke dil mein hai ram har vyakti ke liye bharat hai aur ram ram ko agar hum bottle se jud kar raha uska ganit karenge toh wahi ram mandir mein ho raha hai aur ram ke liye koi mandir ki ati vishal mandir ki vishal murti ki zarurat nahi hai zarurat hai ram ke aadarshon par chalne ki ram jo hai hamare maryada purushottam hai aur unko maryada purushottam kaha gaya hai toh ishwar jo hai vaah chintan manan ki aur dharan karne ki cheez hai aap unke jo aap unse unko sikhate hain aap par aapke aradhya hain aap unki umr se shiksha dijiye aur us ko aatmsat kijiye ram mandir mein ho yah zaroori nahi hai ram aapke dil mein hone chahiye kaam aapki astha mein hone chahiye

तो तू नाम राम मंदिर का मुद्दा जो है वह अध्यादेश लाने की बात है तो यह अध्यादेश नहीं लाएंगे

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  391
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Girish Soni

Indian Politician

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजनीतिक मुद्दा तो है अगर वह जो कि इस मामले को राजनीतिक मुद्दा बनाया गया है और बार-बार राम के उसको निकालकर आप जो इस तरह से जोड़ने की कोशिश करता तो एक राजनीतिक मुद्दा ही है वह उसके पर बिल बिल बिल आ सकती है मैं भी ला सकते हैं या नहीं ला सकते हो सकता क्रिएट कर दी गई है धार्मिक मसलों को हल निकाले तो देश महान होता है और 27 धार्मिक मछली पैदा करें तो उस देश का सत्यानाश क्यों पैदा कर रही है राम मंदिर से क्या लेना देना

raajnitik mudda toh hai agar vaah jo ki is mamle ko raajnitik mudda banaya gaya hai aur baar baar ram ke usko nikalakar aap jo is tarah se jodne ki koshish karta toh ek raajnitik mudda hi hai vaah uske par bill bill bill aa sakti hai bhi la sakte hain ya nahi la sakte ho sakta create kar di gayi hai dharmik maslon ko hal nikale toh desh mahaan hota hai aur 27 dharmik machli paida kare toh us desh ka satyanash kyon paida kar rahi hai ram mandir se kya lena dena

राजनीतिक मुद्दा तो है अगर वह जो कि इस मामले को राजनीतिक मुद्दा बनाया गया है और बार-बार राम

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  501
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मुझे लगता है कि इस बात में कोई शक नहीं है भारतीय जनता पार्टी ने राम मंदिर के नाम पर बहुत लोगों से वोट मिले हैं और बहुत बार सरकार की बनाई है लेकिन मुझे लगता है कि जनता आप इतनी समझदार हो गई है उसको भी पता है कि अगर गवर्मेंट अपने मेनिफेस्टो में एनडीए सरकार बीजेपी अपने मेनिफेस्टो में इस चीज को ऐड कर दी उसके बाद भी फुल बहुमत में सरकार होने के बाद लोग स्वयं पुरी मृत्यु होने के बाद इतने इतने ज्यादा नहीं स्टेट माइनिंग भारतीय जनता पार्टी और उनके अलायंस की सरकार है उसके बाद भी अगर सरकार इस प्रश्न का उत्तर नहीं देती तो मुझे लगता है कि सरकार की मंशा पर जरूर पैसेंजर ने लगता है और मुझे लगता है कि अगर इस पर कुछ हुआ नहीं 2019 के इलेक्शन से पहले तो डेफिनेटली सर भारतीय जनता पार्टी में बहुत बड़ा लॉस दिन लांच देना पड़ेगा और उसका सबसे बड़ा कारण यही होगा क्योंकि आप अपने मेनिफेस्टो में राम मंदिर को ऐड करते हो उसके बाद उस पर कुछ कार्यवाही करते नहीं हो तो मुझे लगता है कि सरकार को जरुर इस विषय को ध्यान में रखना खाना कीजिए मैं आपका सुप्रीम कोर्ट में सुप्रीम कोर्ट में फायरिंग चल रही है अभी फरवरी तक इस पर रोक लगी हुई है फरवरी 1:00 बजे स्टार्ट होगी देखते हैं क्या डिसीजन आता लेकिन फिर भी मैं यह कहना चाहूंगा राजनीतिक मुद्दा तथा भारतीय जनता पार्टी के लिए बहुत-बहुत सरकार भी बनाई लेकिन उसके बाद जो मुद्दा था उस पर एक परसेंट भी सरकार ने काम नहीं गई अभी सच्चाई

vicky mujhe lagta hai ki is baat mein koi shak nahi hai bharatiya janta party ne ram mandir ke naam par bahut logo se vote mile hain aur bahut baar sarkar ki banai hai lekin mujhe lagta hai ki janta aap itni samajhdar ho gayi hai usko bhi pata hai ki agar government apne Menifesto mein nda sarkar bjp apne Menifesto mein is cheez ko aid kar di uske baad bhi full bahumat mein sarkar hone ke baad log swayam puri mrityu hone ke baad itne itne zyada nahi state Mining bharatiya janta party aur unke Alliance ki sarkar hai uske baad bhi agar sarkar is prashna ka uttar nahi deti toh mujhe lagta hai ki sarkar ki mansha par zaroor passenger ne lagta hai aur mujhe lagta hai ki agar is par kuch hua nahi 2019 ke election se pehle toh definetli sir bharatiya janta party mein bahut bada loss din launch dena padega aur uska sabse bada karan yahi hoga kyonki aap apne Menifesto mein ram mandir ko aid karte ho uske baad us par kuch karyavahi karte nahi ho toh mujhe lagta hai ki sarkar ko zaroor is vishay ko dhyan mein rakhna khana kijiye main aapka supreme court mein supreme court mein firing chal rahi hai abhi february tak is par rok lagi hui hai february 1 00 baje start hogi dekhte kya decision aata lekin phir bhi main yah kehna chahunga raajnitik mudda tatha bharatiya janta party ke liye bahut bahut sarkar bhi banai lekin uske baad jo mudda tha us par ek percent bhi sarkar ne kaam nahi gayi abhi sacchai

विकी मुझे लगता है कि इस बात में कोई शक नहीं है भारतीय जनता पार्टी ने राम मंदिर के नाम पर ब

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतने सालों से राम मंदिर का जो मुद्दा है वह सिर्फ एक का राजनीतिक मुद्दा ही बनकर रह गया है अलग-अलग जो सरकारें आती है वह अलग अलग तरह से इसको समझाने की कोशिश करती है कोई इसको कास्ट के हिसाब से पुलिस को रिलीज नहीं आकाश के हिसाब से एक मुद्दा बना लेते हैं कोई से वोट बैंक बना कर अपना यूज़ करते हैं लेकिन किसी ने भी कभी भी इस पर कोई भी एक का परिणाम आने की सोच ही नहीं है और कभी भी कोई परिणाम नहीं लिख रहा था यह सरकार और अभी जो BJP आई है तब से तब से यह तो एक हिंदुत्व समाज की रचना करने में लग गई है वह इसकी वजह से हिंदुओं को ही पड़ा हुआ तो मेरा है परंतु जो बाकी समाज के लोग हैं जो माइनॉरिटी से रिलेशन माइनॉरिटी उन सब को बहुत बड़ा झटका लगा है एक और इसके लिए वह काफी विरोध भी कर रहे हैं तो मेरे सबसे सरकार को इस चीज का जन्म जल्दी ही सुप्रीम कोर्ट को एक पैसा देना चाहिए और इस पर बिल नहीं आएगा बल्कि एक फैसला आएगा जो कि सुप्रीम कोर्ट में केस चल रहा है तो वहीं कोई फैसला नहीं करा पाई उससे कार्य में दखल अंदाजी नहीं कर सकती है यह बात सभी को जानने होगी क्योंकि हम सबको लगता है कि सरकार इस पर कोई फैसला लेगी सरकार कुछ करेगी लेकिन यह सरकार के ऊपर हक़ नहीं है उसका और यह सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बात कर सकती है और उन्हीं का फैसला मान्य होगा और एक बार पहले पहला या इलाहाबाद हाईकोर्ट में इसका फैसला आ चुका है लेकिन उसको निरंकार करके और आगे वाली सुप्रीम कोर्ट में इसके लिए की लड़ाई डाला गया है और वह सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी बाकी है जब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ जाएगा तो वही मान्य होगा पूरे देश में और हर सरकार को उसके मान्य करना पड़ेगा

itne salon se ram mandir ka jo mudda hai vaah sirf ek ka raajnitik mudda hi bankar reh gaya hai alag alag jo sarkaren aati hai vaah alag alag tarah se isko samjhane ki koshish karti hai koi isko caste ke hisab se police ko release nahi akash ke hisab se ek mudda bana lete hai koi se vote bank bana kar apna use karte hai lekin kisi ne bhi kabhi bhi is par koi bhi ek ka parinam aane ki soch hi nahi hai aur kabhi bhi koi parinam nahi likh raha tha yah sarkar aur abhi jo BJP I hai tab se tab se yah toh ek hindutv samaj ki rachna karne mein lag gayi hai vaah iski wajah se hinduon ko hi pada hua toh mera hai parantu jo baki samaj ke log hai jo minority se relation minority un sab ko bahut bada jhatka laga hai ek aur iske liye vaah kaafi virodh bhi kar rahe hai toh mere sabse sarkar ko is cheez ka janam jaldi hi supreme court ko ek paisa dena chahiye aur is par bill nahi aayega balki ek faisla aayega jo ki supreme court mein case chal raha hai toh wahi koi faisla nahi kara payi usse karya mein dakhal andaji nahi kar sakti hai yah baat sabhi ko jaanne hogi kyonki hum sabko lagta hai ki sarkar is par koi faisla legi sarkar kuch karegi lekin yah sarkar ke upar haq nahi hai uska aur yah sirf supreme court ke faisle se baat kar sakti hai aur unhi ka faisla manya hoga aur ek baar pehle pehla ya allahabad highcourt mein iska faisla aa chuka hai lekin usko nirankar karke aur aage wali supreme court mein iske liye ki ladai dala gaya hai aur vaah supreme court ka faisla bhi baki hai jab supreme court ka faisla aa jaega toh wahi manya hoga poore desh mein aur har sarkar ko uske manya karna padega

इतने सालों से राम मंदिर का जो मुद्दा है वह सिर्फ एक का राजनीतिक मुद्दा ही बनकर रह गया है अ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!