माइकल होल्डिंग ने कहा है कि विराट विव रिचर्ड्स की तरह शांत रहना सीख जाएँगे। यदि आक्रामकता सकारात्मक परिणाम प्राप्त कर रही है तो क्यों शांत हो जाना चाहिए?...


user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माइकल होल्डिंग और विवियन रिचर्ड्स दोनों ही वेस्टइंडीज के या फिर कहा जाए तो पूरे क्रिकेट जगत के बहुत ही महान खिलाड़ी रहे हैं और उनका यह मानना मेरे मुताबिक सही है क्योंकि विराट कोहली को कई बार देखा गया है कि वह अपने व्यवहार में जरूरत से ज्यादा आक्रमकता दिखाते हैं कई बार उन्हें स्लेजिंग करते हुए देखा गया है तू मुझे लगता है कि विराट कोहली को अपने व्यवहार में थोड़ा शांत रहना चाहिए और बस उन्हें अपनी खेलते आक्रमकता दिखानी चाहिए जिससे भारतीय टीम को फायदा हो कई बार ऐसे आक्रमक व्यवहार जो होता है वह टीम के लिए और खास तौर पर विराट कोहली के लिए नुकसानदेह साबित होता है और क्योंकि हाल में ही उन पर जुर्माना लगाया गया था साउथ अफ्रीका में क्योंकि उन्होंने बॉल को जोर से जमीन पर फेंक दी जब अंपायर ने उनकी बात नहीं मानी थी तो तो इस तरह का व्यवहार मुझे नहीं लगता कि सही है कहीं भी क्योंकि हमारे पास ऐसे बहुत सारे एग्जांपल है जैसे कि महेंद्र सिंह धोनी सचिन तेंदुलकर यह लोग भी काफी महान क्रिकेटर हैं और इनका जो व्यवहार था वह काफी सरल और सुलझा हुआ था इन्होंने कभी भी मैदान पर आक्रमकता नहीं दिखाई बस उन्होंने अपने खेल पर ध्यान दिया और भारत को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया तू इसीलिए मुझे लगता है कि विराट कोहली को भी इन सारी चीजों पर ध्यान देना चाहिए और उन्हें अपने खेल में आक्रमकता दिखानी चाहिए ना कि अपने व्यवहार से

michael holding aur vivian richards dono hi WestIndies ke ya phir kaha jaaye toh poore cricket jagat ke bahut hi mahaan khiladi rahe hain aur unka yah manana mere mutabik sahi hai kyonki virat kohli ko kai baar dekha gaya hai ki vaah apne vyavhar mein zarurat se zyada akramakata dikhate hain kai baar unhe sledging karte hue dekha gaya hai tu mujhe lagta hai ki virat kohli ko apne vyavhar mein thoda shaant rehna chahiye aur bus unhe apni khelte akramakata dikhaani chahiye jisse bharatiya team ko fayda ho kai baar aise aakraman vyavhar jo hota hai vaah team ke liye aur khaas taur par virat kohli ke liye nukasaanadeh saabit hota hai aur kyonki haal mein hi un par jurmana lagaya gaya tha south africa mein kyonki unhone ball ko jor se jameen par fenk di jab umpire ne unki baat nahi maani thi toh toh is tarah ka vyavhar mujhe nahi lagta ki sahi hai kahin bhi kyonki hamare paas aise bahut saare example hai jaise ki mahendra Singh dhoni sachin tendulkar yah log bhi kaafi mahaan cricketer hain aur inka jo vyavhar tha vaah kaafi saral aur suljha hua tha inhone kabhi bhi maidan par akramakata nahi dikhai bus unhone apne khel par dhyan diya aur bharat ko nayi unchaiyon tak pahunchaya tu isliye mujhe lagta hai ki virat kohli ko bhi in saree chijon par dhyan dena chahiye aur unhe apne khel mein akramakata dikhaani chahiye na ki apne vyavhar se

माइकल होल्डिंग और विवियन रिचर्ड्स दोनों ही वेस्टइंडीज के या फिर कहा जाए तो पूरे क्रिकेट जग

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  122
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!