जीएसटी के बाद अप्रत्यक्ष करदाताओं में 50% वृद्धि हुई है। तो, क्या जीएसटी वास्तव में भारत में काम कर रहा है? आपकी राय?...


play
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स जो कि भारत में लागू हुआ 1 जुलाई 2017 को टर्न की हिस्ट्री में भारत की हिस्ट्री में सबसे बड़ा बदलाव था इससे बड़ा बदलाव और शायद ही Intex रजिस्टर में कभी हुआ नहीं था इससे पहले इसके आने के बाद लोगों को जो है काफी दिक्कत हुई समझने में कि किस तरह से टेंशन हो रहा है क्या हो रहा है मगर पहले जो टैक्स सिस्टम था और जीएसटी आने के बाद सारे जो टेक्सटमी कंप्लीट हो गए काफी आसान हो गए समझने के लिए क्योंकि पहले जो था काफी कई तरह के टैक्स हम को देने पड़ते थे पर अभी यह एक टैक्स हो गया है जो कि जीएसटी है उसके अंदर में सेंट्रल जीएसटी आता है और एक अदर स्टेट जीएसटी जो कि हर क्षेत्र में इसका और परसेंटेज टैक्स परसेंटेज अलग है यह कैसा भी है कुछ चीज़ें है श्री कि आप इन प्रोसेस सीरियल राइस या फिर भी ले लीजिए मिल्क वेजिटेबल से जो मांस मच्छी या फिर आटा बेसन मैदा यह सब में जीएसटी नहीं है जो कि अनब्रांडेड औरन प्रोसेस है इसमें जीएसटी नहीं है बाकी अगर आप जब बाहर जाते हैं खाने के लिए वहां पर परिवहन 2.5 पर्सन कि जीएसटी सेंट्रल जीएसटी ऑस्ट्रेलिया से क्या लगाती है इस बदलाव के बाद जीएसटी जीएसटी के आने के बाद जो है कांस्टेबल था इस वजह से मार्केट में बिजनेस मार्केट देखा जाए या फिर लोगों को समझने में पर धीरे-धीरे अगर देखा जाए तो काफी सिंपली फायर हो गया और इसका बदलाव अब देखा जा सकता है लोग मेरे हिसाब से काफी बेहतर समझ रहे हैं जीएसटी के आने के बाद में टैक्सेशन सिस्टम क्या है और कैसे हो रहा है और इसका जो है इकॉनॉमी में काफी पॉजिटिव इफ़ेक्ट आया है

gst yani goods and services tax jo ki bharat mein laagu hua 1 july 2017 ko turn ki history mein bharat ki history mein sabse bada badlav tha isse bada badlav aur shayad hi Intex register mein kabhi hua nahi tha isse pehle iske aane ke baad logo ko jo hai kaafi dikkat hui samjhne mein ki kis tarah se tension ho raha hai kya ho raha hai magar pehle jo tax system tha aur gst aane ke baad saare jo teksatami complete ho gaye kaafi aasaan ho gaye samjhne ke liye kyonki pehle jo tha kaafi kai tarah ke tax hum ko dene padte the par abhi yah ek tax ho gaya hai jo ki gst hai uske andar mein central gst aata hai aur ek other state gst jo ki har kshetra mein iska aur percentage tax percentage alag hai yah kaisa bhi hai kuch chize hai shri ki aap in process serial rice ya phir bhi le lijiye milk vegetable se jo maas macchi ya phir atta besan maida yah sab mein gst nahi hai jo ki anabranded auran process hai isme gst nahi hai baki agar aap jab bahar jaate hai khane ke liye wahan par parivahan 2 5 person ki gst central gst austrailia se kya lagati hai is badlav ke baad gst gst ke aane ke baad jo hai constable tha is wajah se market mein business market dekha jaaye ya phir logo ko samjhne mein par dhire dhire agar dekha jaaye toh kaafi simply fire ho gaya aur iska badlav ab dekha ja sakta hai log mere hisab se kaafi behtar samajh rahe hai gst ke aane ke baad mein taxation system kya hai aur kaise ho raha hai aur iska jo hai ikanami mein kaafi positive effect aaya hai

जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स जो कि भारत में लागू हुआ 1 जुलाई 2017 को टर्न की हिस्ट

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  186
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!