इश्क़ और हवस में क्या फर्क होता है?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका क्या समझदारी की बात नहीं किया समर्पण होता है मर मिटने की चाहत होती है इश्क कभी बदले की कामना नहीं रखता आवश्यकता की पूर्ति है शारीरिक होती है इसमें कोई हो सकती समर्पण नहीं होता है हां एक प्रेम का एक रास्ता बहुत सकता है अंतरंगता का एक रास्ता हो सकता है लेकिन और सीमाओं के अंतर्गत सीमाओं से बाहर होगा वह कामुकता कैलाश रिंगटोन में जमीन आसमान कम इंसान को इंसान से उठा कर देता बनाता है इंसान को खाना बनाती है जानवरों ना दे शाम को प्रेरणा देता है कुछ नवनिर्माण की भावना देता है इश्क तो पंडित करता है इस इंसान को जीने की सही तौर तरीके से कहता है इश्क इंसान को रास्ता दिखाता है जबकि हवाई इंसान को जानवर बना देती है क्या बना देती है गंदगी सुकून कर देती है जहां तक बीमारियों का घर बन जाता है इंसान को अब इससे ज्यादा मैं क्या कहूं कि मानव से यदि जानवर बनाती है तो वह इसलिए हवा से तेज करना चाहिए इस करना बहुत अच्छी बातें देता है

bahut accha prashna hai aapka kya samajhdari ki BA at nahi kiya samarpan hota hai mar mitne ki chahat hoti hai ishq kabhi BA dle ki kamna nahi rakhta avashyakta ki purti hai sharirik hoti hai ismein koi ho sakti samarpan nahi hota hai haan ek prem ka ek rasta BA hut sakta hai antarangata ka ek rasta ho sakta hai lekin aur seemaon ke antargat seemaon se BA har hoga wah kaamukata kailash ringtone mein jameen aasman kam insaan ko insaan se utha kar deta BA nata hai insaan ko khana BA nati hai jaanvaro na de shaam ko prerna deta hai kuch Navanirmaṇa ki bhavna deta hai ishq toh pandit karta hai is insaan ko jeene ki sahi taur tarike se kahata hai ishq insaan ko rasta dikhaata hai jabki hawai insaan ko janwar BA na deti hai kya BA na deti hai gandagi sukoon kar deti hai jaha tak bimariyon ka ghar BA n jata hai insaan ko ab isse zyada main kya kahun ki manav se yadi janwar BA nati hai toh wah isliye hawa se tez karna chahiye is karna BA hut acchi BA tein deta hai

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका क्या समझदारी की बात नहीं किया समर्पण होता है मर मिटने की चाहत हो

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  380
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
pyar ki hawas ; कैलाश रिंगटोन ; ladki ki hawas ; ishq kya hota hai ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!