टोटल धमाल फ़िल्म के बारे में आपकी क्या राय है?...


user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बॉलीवुड में मैंने देखा है कि जो पहले फिल्म आती है वह थोड़ी भी अगर हिट हो जाती है या फिर थोड़ी पी दर्शकों को अच्छी लगने लगती है तो उनके जो प्रोडूसर से उनको ऐसा लगता है कि यह चलो फिर भेंट हो गई है तो हम उसकी इस इक्वल बनाए या फिर उसका पार्ट 2 बनाएं आप मेरे ख्याल से यह जो आईडिया है वह हर वक्त काम नहीं करता है मैं बता देता हूं काम करता ही नहीं है अब देखो तो जो भी फिल्म है जो ओरिजिनल है उनकी जो शिकवा लायन का दूसरा पार्ट आया तीसरा पार्ट आया वह लोगों ने इतना नहीं पसंद किया है यहां पर पूछा गया कि टोटल धमाल फिल्म के बारे में आपकी क्या राय है पहले तो मैं बताना चाहता हूं कि टोटल धमाल एक तो ऐसी फिल्म थी कि अगर आप थिएटर में देखने जाओ तो आप आप आपका जो दिमाग है वह घर पर रख कर जाना पड़ेगा क्योंकि उसमें कोई लॉजिक नहीं होता है और बड़ी होती है उनके डायलॉग में भी कोई दम नहीं होता है सिर्फ कॉमेडी दिखाने के लिए उनकी एक्टिंग ऐसी करनी पड़ती है तो मेरे ख्याल से टोटल कैसी थी कि आप दिमाग घर पर रख कर आओ या फिर अगर घर पर देख रहे हो तो दिमाग अपना बाजू पर रख कर देखो उसमें लॉजिक लगाने की कोई जरूरत नहीं है उसमें आपको लॉजिक का कहीं मिलेगा भी नहीं ढूंढने जाओगे तो भी लॉजिक नहीं मिलेगा तो टोटल धमाल चलती बाइक का टोटल टोटल टाइमपास मूवी थी अगर आप घर पर बोर हो रहे हो और आपको टाइम पास करना है तो ही आप टोटल पैसा मैं कहूंगा और जो धमाल आई थी पहले वह काफी हद तक लोगों ने उसको अप्रिशिएट की थी लोगों को मजा आया था उसमें और उसमें जो चार कैरेक्टर थे वह भी बहुत ही अच्छा है उनकी एक्टिंग बहुत अच्छी थी तो लोगों को उनकी स्टोरी ज्योति वो लोगों को मजा आया था उसमें तो कहीं ना कहीं 8 टोटल धमाल फिल्म ऐसा नहीं हुआ था और तभी अच्छे-अच्छे उसमें कैरेक्टर थे पर फिर भी मैंने जैसे कहा कि जो भी दूसरा पार्ट बनाने का आईडिया है या फिर से को बनाने का आईडिया है वह हर वक्त फेल हो जाता है और ऐसा ही हुआ टोटल धमाल में टोटल धमाल टोटल टाइमपास मूवी है उसमें ना तो लॉजिक है ना तू छोरी है ना तो डायल ओके नसों का अच्छा जी सॉन्ग है तो टोटल टाइमपास मूवी है

bollywood mein maine dekha hai ki jo pehle film aati hai vaah thodi bhi agar hit ho jaati hai ya phir thodi p darshakon ko achi lagne lagti hai toh unke jo producer se unko aisa lagta hai ki yah chalo phir bhent ho gayi hai toh hum uski is equal banaye ya phir uska part 2 banaye aap mere khayal se yah jo idea hai vaah har waqt kaam nahi karta hai bata deta hoon kaam karta hi nahi hai ab dekho toh jo bhi film hai jo original hai unki jo shikwa lion ka doosra part aaya teesra part aaya vaah logo ne itna nahi pasand kiya hai yahan par poocha gaya ki total dhamaal film ke bare mein aapki kya rai hai pehle toh main bataana chahta hoon ki total dhamaal ek toh aisi film thi ki agar aap theater mein dekhne jao toh aap aap aapka jo dimag hai vaah ghar par rakh kar jana padega kyonki usme koi logic nahi hota hai aur badi hoti hai unke dialogue mein bhi koi dum nahi hota hai sirf comedy dikhane ke liye unki acting aisi karni padti hai toh mere khayal se total kaisi thi ki aap dimag ghar par rakh kar aao ya phir agar ghar par dekh rahe ho toh dimag apna baju par rakh kar dekho usme logic lagane ki koi zarurat nahi hai usme aapko logic ka kahin milega bhi nahi dhundhne jaoge toh bhi logic nahi milega toh total dhamaal chalti bike ka total total timepass movie thi agar aap ghar par bore ho rahe ho aur aapko time paas karna hai toh hi aap total paisa main kahunga aur jo dhamaal I thi pehle vaah kaafi had tak logo ne usko aprishiet ki thi logo ko maza aaya tha usme aur usme jo char character the vaah bhi bahut hi accha hai unki acting bahut achi thi toh logo ko unki story jyoti vo logo ko maza aaya tha usme toh kahin na kahin 8 total dhamaal film aisa nahi hua tha aur tabhi acche acche usme character the par phir bhi maine jaise kaha ki jo bhi doosra part banane ka idea hai ya phir se ko banane ka idea hai vaah har waqt fail ho jata hai aur aisa hi hua total dhamaal mein total dhamaal total timepass movie hai usme na toh logic hai na tu chhori hai na toh dial ok nason ka accha ji song hai toh total timepass movie hai

बॉलीवुड में मैंने देखा है कि जो पहले फिल्म आती है वह थोड़ी भी अगर हिट हो जाती है या फिर थो

Romanized Version
Likes  116  Dislikes    views  2736
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Shubham nagar

movie reviewing

1:51

Likes  13  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!