ऐसी कौन सी चीज़ है जिसे आप कभी महसूस नहीं कर सकते?...


play
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:14

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्त मुझे तो एक चीज बताएं कि आप किसी दूसरे इंसान की भावना को हूबहू महसूस नहीं कर सकते आप दिमाग लगा सकते हैं आप दिमाग से समझने की कोशिश करते हैं आप उसको को रिलेट कर सकते हैं कि हां शायद मैं भी ऐसे ही सोचता हूं वैसे करता हूं मैं लेकिन वह क्या महसूस करता है उस एहसास को आप अपने अंदर नहीं ला सकते क्योंकि उसके महसूस करने में उसका सिस्टम उसके फैकल्टीज उसके अंदरूनी सिस्टम काम करते हैं और वह उसे एक स्टेज पर ले जाते हैं और वह सा फील करता है उसके इमोशन से ऐसे होते हैं उसके थॉट्स उस टाइम ऐसे हो जाते हैं यह सारी चीजें आप अपने आप में ही रिप्लिकेट या उतार या कॉपी नहीं कर सकते हैं वह उसका निजी हैं आप ट्राई करेंगे कि किस सिचुएशन में ऐसा होता है उसको ऐसा क्यों हुआ लेकिन हालत परसेंट जरूरी नहीं है कि आप समझ पाएंगे और आपके अंदर हो पाएगा हंड्रेड परसेंट तो बहुत दूर की बात है आप थोड़ा भी शायद समझ नहीं पाएंगे कि उसके अंदर क्या भावनाएं चल रही हैं क्या गुजर रही है वह इंसान क्या सोच रहा है क्या महसूस कर रहा है और क्या कार्य करना चाहता है या करेगा तो यह चीज है मेरे हिसाब से

dost mujhe toh ek cheez bataye ki aap kisi dusre insaan ki bhavna ko hubahu mehsus nahi kar sakte aap dimag laga sakte hain aap dimag se samjhne ki koshish karte hain aap usko ko relate kar sakte hain ki haan shayad main bhi aise hi sochta hoon waise karta hoon main lekin wah kya mehsus karta hai us ehsaas ko aap apne andar nahi la sakte kyonki uske mehsus karne mein uska system uske faculties uske andaruni system kaam karte hain aur wah use ek stage par le jaate hain aur wah sa feel karta hai uske emotion se aise hote hain uske thoughts us time aise ho jaate hain yeh saree cheezen aap apne aap mein hi ripliket ya utar ya copy nahi kar sakte hain wah uska niji hain aap try karenge ki kis situation mein aisa hota hai usko aisa kyon hua lekin halat percent zaroori nahi hai ki aap samajh payenge aur aapke andar ho payega hundred percent toh bahut dur ki baat hai aap thoda bhi shayad samajh nahi payenge ki uske andar kya bhavanae chal rahi kya gujar rahi hai wah insaan kya soch raha hai kya mehsus kar raha hai aur kya karya karna chahta hai ya karega toh yeh cheez hai mere hisab se

दोस्त मुझे तो एक चीज बताएं कि आप किसी दूसरे इंसान की भावना को हूबहू महसूस नहीं कर सकते आप

Romanized Version
Likes  305  Dislikes    views  8173
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!