मेरे घर वाले मेरी बात बिना सुने हीं दूसरों की बात में आ कर मुझसे झगड़ा करने लगते हैं, ऐसे मैं मुझे क्या करना चाहिए?...


user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी पहली बात तो आप के प्रश्न में नहीं बताया है कि एक दूसरे लोग कौन हैं जिनकी बातों में आकर आपके घरवाले आपसे जुड़ा के झगड़ा करना शुरू कर देते हैं दूसरी चीज जो आप को समझने की जरूरत है यहां पर कि ट्रस्ट इश्यूज बहुत ज्यादा है आपके परिवार वाले आपके ऊपर भरोसा नहीं करते हैं बिल्कुल भी और सभी प्रश्न से चुकी प्रश्न में ज्यादा डीटेल्स है नहीं बट प्रश्न से ऐसा दिखाई दे रहा है कि आपकी घरवाली बहुत अगेंस्ट खड़े हैं आपके और आपके बारे में थोड़ा नेगेटिव भी सोचते हैं तो बहुत जरूरत है कि अगर हो सके तो मैं इसमें कहूंगी कि आप किसी प्रोफेशनल हेल्प लीजिए आप किसी काउंसलर के पास चाहिए फैमिली थेरेपी बहुत इफेक्टिव होती है इसे पारिवारिक झगड़ों के लिए गवर्नमेंट भी हेल्प करती है अगर आपने देखा होगा तो गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट होते हैं जहां पर आप जाकर पारिवारिक झगड़े स्कूल जा सकते हैं इसके अलावा पर्सनल लेवल पर क्या कर सकते हैं आप ग्राउंड लेवल से शुरू करिए आप जो है अपनी रिलेशनशिप्स पर वह करिए ठीक है आप सीधे मुद्दे पर मत आइए अपनी एक ही रिश्ते को उठाइए और उनसे रिश्ता जो है बेहतर करने की कोशिश कीजिए मैं मानती हूं कि इस टाइम जो है प्रश्न से लग रहा है कि थोड़ा है रिश्ता काफी खराब है आपके पर आप अगर एक ही रिश्ते को उठाएंगे और जो आपका रिश्ता सबसे करीबी है और सबसे अच्छा है उस पर थोड़ा आप उसे इंप्रूव करने की कोशिश करेंगे उनसे चाहिए उनसे उनके साथ ज्यादा टाइम स्पेंट करिए उनकी शिकायतें आपकी तरफ क्या है उन्हें सुनिए और थोड़ा समझाने की कोशिश कीजिए उसे जो है आपको मदद मिलेगी

dekhi pehli baat toh aap ke prashna mein nahi bataya hai ki ek dusre log kaun hain jinki baaton mein aakar aapke gharwale aapse jinko ke jhadna karna shuru kar dete hain dusri cheez jo aap ko samjhne ki zarurat hai yahan par ki trust issues bahut zyada hai aapke parivar wale aapke upar bharosa nahi karte hain bilkul bhi aur sabhi prashna se chuki prashna mein zyada details hai nahi but prashna se aisa dikhai de raha hai ki aapki gharwali bahut against khade hain aapke aur aapke bare mein thoda Negative bhi sochte hain toh bahut zarurat hai ki agar ho sake toh main ismein kahungi ki aap kisi professional help lijiye aap kisi counselor ke paas chahiye family therepy bahut effective hoti hai ise parivarik jhagadon ke liye government bhi help karti hai agar aapne dekha hoga toh government institute hote hain jaha par aap jaakar parivarik jhagde school ja sakte hain iske alava personal level par kya kar sakte hain aap ground level se shuru kariye aap jo hai apni relationships par wah kariye theek hai aap sidhe mudde par mat aaiye apni ek hi rishte ko uthaie aur unse rishta jo hai behtar karne ki koshish kijiye main maanati hoon ki is time jo hai prashna se lag raha hai ki thoda hai rishta kaafi kharab hai aapke par aap agar ek hi rishte ko uthayenge aur jo aapka rishta sabse karibi hai aur sabse accha hai us par thoda aap use improve karne ki koshish karenge unse chahiye unse unke saath zyada time spent kariye unki shikayaten aapki taraf kya hai unhein sunie aur thoda samjhane ki koshish kijiye use jo hai aapko madad milegi

देखी पहली बात तो आप के प्रश्न में नहीं बताया है कि एक दूसरे लोग कौन हैं जिनकी बातों में आक

Romanized Version
Likes  825  Dislikes    views  10318
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vandana

Transformational Peace Coach

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओके घर वाले अब बिना आपके सुने तो सो की बात में आ जाते हैं तो इसका मतलब वह बहुत जल्दी इन्फ्रेंस हो जाते हैं ना तो उनकी समझ को लेकर आपको यह मान लेना है कि किसी से भी फसल सकते हैं ना तो उनका 1 मीटर है तो नेचर को समझते हो आपका को एक्सेप्ट करनी पड़ेगी इन सिरप आरोग्यम आप खुद एक एग्जांपल बने और आप जो भी कर रहे हो वह एक्शन स्पीक लाउडर थन वजह से सुना होगा तो धीरे धीरे वह देखेंगे जब आप जो कर रहे हो जो भी जिंदगी में आप की सच्चाई है तो वह उससे प्रभावित को की सच्चाई से बढ़कर कोई चीज नहीं है उसके लिए आपको प्रूव नहीं करना पड़ेगा कुछ भी नहीं करना पड़ेगा बस हर मोमिन को सच्चाई के साथ जितना जिएंगे ऑटोमेटिकली चीजें बाहर से भी बदलती रहेंगी 2 वर्ष में जितना होगा उतना स्ट्रगल रहेगा और यह दिमाग निकाल दो कि मुझे उनको कन्वेंस करना है क्यों यह भी आपका ही ठीक है आप अपने अपने से कनेक्टेड अपने आप से कनेक्ट

ok ghar wale ab bina aapke sune toh so ki baat mein aa jaate hain toh iska matlab wah bahut jaldi imfrens ho jaate hain na toh unki samajh ko lekar aapko yeh maan lena hai ki kisi se bhi fasal sakte hain na toh unka 1 meter hai toh nature ko samajhte ho aapka ko except karni padegi in syrup aarogyam aap khud ek example bane aur aap jo bhi kar rahe ho wah action speak louder than wajah se suna hoga toh dhire dhire wah dekhenge jab aap jo kar rahe ho jo bhi zindagi mein aap ki sacchai hai toh wah usse prabhavit ko ki sacchai se badhkar koi cheez nahi hai uske liye aapko prove nahi karna padega kuch bhi nahi karna padega bus har momin ko sacchai ke saath jitna jeeenge automatically cheezen bahar se bhi badalti rahegi 2 varsh mein jitna hoga utana struggle rahega aur yeh dimag nikaal do ki mujhe unko convince karna hai kyon yeh bhi aapka hi theek hai aap apne apne se connected apne aap se connect

ओके घर वाले अब बिना आपके सुने तो सो की बात में आ जाते हैं तो इसका मतलब वह बहुत जल्दी इन्फ्

Romanized Version
Likes  133  Dislikes    views  2052
WhatsApp_icon
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:60

Likes  131  Dislikes    views  7583
WhatsApp_icon
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी आनी डॉक्टर प्रिया झा की तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं अगर आपके घरवाले आपकी बात नहीं सुन कर दूसरों की बात सुनकर आपको डांट देते हैं तो मुझे ऐसा लगता है कि आपको रिएक्शन नहीं देना चाहिए देखिए हम जैसे लोगों से बात करते हैं भले ही वह हमसे उस समय छेड़े हुए हो या हमसे खफा हो आपका जो मूड है आपका जो रिएक्शन और जो भी है पर होगा उनकी तरफ वह जो है एक प्रोसेस सेट कर देता है मतलब अगर आप डरे हुए हो तो सामने वाला आपको ऑर्डर आएगा अगर आप उदास हो रहे हो तो और रामा हो का शो द बेस्ट ऑलवेज खुद अपने दिमाग को कैसे शांत रखे दिमाग को एक बार आपने शांत रख दिया है और फिर आपको डिसाइड करना होगा कि आप या तो मम्मी या तो अपने पापा या तो दोनों को साथ में बैठा कर उनसे आप पूछें कि एक्जेक्टली बात क्या है और यह सारी चीजें एकदम कॉन्फिडेंस से आपको करनी चाहिए अगर आप अंडरकॉन्फिडेंट है तो वापस तकलीफ आपको ही होगा तो कॉन्फिडेंस के साथ उनको आप पर अप्रोच कीजिए मतलब उन से सामना उनका कीजिए और उनसे बातें कीजिए और पूरी जो चीज है वह आप को शॉट आउट कर लो और अपनी तरफ से जो आपको जो भी जो रियालिटी है अपने हिस्से की जो रियालिटी है वह उनको अब बताइए तो आज जो भी कंफ्यूजन है उसमें क्लेरिटी आएगा और सब कुछ ठीक होने का जो चांसेस है वह ऊपर चला जाएगा थैंक यू

namaste doston meri aani doctor priya jha ki taraf se aap sab ko din ki bahut saree subhkamnaayain agar aapke gharwale aapki baat nahi sun kar dusro ki baat sunkar aapko dant dete hain toh mujhe aisa lagta hai ki aapko reaction nahi dena chahiye dekhiye hum jaise logo se baat karte hain bhale hi vaah humse us samay chedein hue ho ya humse khafa ho aapka jo mood hai aapka jo reaction aur jo bhi hai par hoga unki taraf vaah jo hai ek process set kar deta hai matlab agar aap dare hue ho toh saamne vala aapko order aayega agar aap udaas ho rahe ho toh aur rama ho ka show the best always khud apne dimag ko kaise shaant rakhe dimag ko ek baar aapne shaant rakh diya hai aur phir aapko decide karna hoga ki aap ya toh mummy ya toh apne papa ya toh dono ko saath mein baitha kar unse aap puchen ki exactly baat kya hai aur yah saree cheezen ekdam confidence se aapko karni chahiye agar aap andarakanfident hai toh wapas takleef aapko hi hoga toh confidence ke saath unko aap par approach kijiye matlab un se samana unka kijiye aur unse batein kijiye aur puri jo cheez hai vaah aap ko shot out kar lo aur apni taraf se jo aapko jo bhi jo reality hai apne hisse ki jo reality hai vaah unko ab bataye toh aaj jo bhi confusion hai usme kleriti aayega aur sab kuch theek hone ka jo chances hai vaah upar chala jaega thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी आनी डॉक्टर प्रिया झा की तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं अग

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1062
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मिस्टर आपका प्रश्न है मेरे घरवाले मेरी बात बिना सुने ही दूसरों की बातों में आकर मुझसे झगड़ा करने लगते हैं ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए देखिए आपको जरूरत है कि आप आराम से धैर्य पूर्वक और सरलता से अपनी बात को अपने परिवार वालों से कहें हो सकता है वह आपकी बात को सुने और समझे भी कभी-कभी बाहर वालों के कारण परिवारों में झगड़े और फूट पड़ जाती है जो कि एक अच्छी बात नहीं है उनको भी समझना चाहिए कि वह दोनों ही पक्षों की बात सुनी और उसके बाद ही किसी निर्णय पर पहुंच यदि वह ऐसा करते हैं तो बहुत अच्छी बातें अधिवेशन नहीं करते हैं तो उनको उनके विचारों के साथ रहने दे आप हमेशा सही करें और सही का ही साथ दें धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

mister aapka prashna hai mere gharwale meri baat bina sune hi dusro ki baaton mein aakar mujhse jhadna karne lagte hain aise mein mujhe kya karna chahiye dekhiye aapko zarurat hai ki aap aaram se dhairya purvak aur saralata se apni baat ko apne parivar walon se kahein ho sakta hai vaah aapki baat ko sune aur samjhe bhi kabhi kabhi bahar walon ke karan parivaron mein jhagde aur feet pad jaati hai jo ki ek achi baat nahi hai unko bhi samajhna chahiye ki vaah dono hi pakshon ki baat suni aur uske baad hi kisi nirnay par pohch yadi vaah aisa karte hain toh bahut achi batein adhiveshan nahi karte hain toh unko unke vicharon ke saath rehne de aap hamesha sahi kare aur sahi ka hi saath de dhanyavad aapka din shubha ho

मिस्टर आपका प्रश्न है मेरे घरवाले मेरी बात बिना सुने ही दूसरों की बातों में आकर मुझसे झगड़

Romanized Version
Likes  181  Dislikes    views  2261
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

5:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपकी समझते हैं कि आपके घरवाले आपके बिना बात सुने ही दूसरों की बातों में आकर आप से झगड़ा करने में आपको क्या करना चाहिए क्या मैं आपकी बात से सहमत हूं कि अगर आपकी बिना बात सुनने हैं आप से झगड़ा करने लगे हैं आप को डांटने लगे आपको भला-बुरा कहने लगे तो बुरा लगेगा तो इसका इलाज है कि जब घरवाले बिना सुने आप को ब्लेम करने लगते हैं तो आप रिया करें करने से बचें आप भी अगर आवेश में आ गए तुषार ओपन बढ़ता रहेगा वह आपको दे देंगे आप उनको दोष देंगे आपको गुस्सा आता है आपको दे सकता है तो या तो बात को डाइवर्ट करने की कोशिश करें या आप कहां से अपनी जगह बदलने की कोशिश करें मतलब वहां पर उस सिचुएशन को एडिट करके अपने रूम में चले जाइए कहीं और चले जाइए से बच जाओगे तो यही दो चीजें हैं जो आप कर सकते हो बात भी आपके घरवाले शांत हो जाए आवेश में नहीं है शांति के मूड में है आपकी बात सुनने के मूड में हैं तब आप उनसे वही बात करने की कोशिश करें आज तक अपने आप को शांत रखते हुए प्यार से बिना देश में आए अपनी बात कहने की कोशिश करें और उन्हें समझाइए कि आप जो बात कह रही थी भोसड़ी के सभी जजों ने समझ ले यह दूसरी बात कर रहे थे वह आपका मतलब नहीं था तो आप उनसे रिक्वेस्ट कर सकते हैं कि आप प्लीज मेरी राय भी तू सुन मेरी बात आपने एक पक्ष की बात सुनी है आपने जी से मेरी बात सच में दूसरे पक्ष के बाद सुने बिना आपने पैसा दे दिया या गलत समझ लिया या मुझे डांट दिया तो ऐसा नहीं करेगा प्यार के मूड में शांति से जब यह बात करोगी भी ना दूसरों की बात करोगे तो उनको भी समझ में आ सकता और आना चाहिए कि वह आपको गलत ब्लेम कर रहे हैं कैसे करें तो दूसरे क्या आप लिखकर हमको दे दीजिए लिखने में उसको बार-बार शिवम पर दोषारोपण करोगे हमको अच्छा नहीं लगेगा हर वो चीज निकाल दीजिए जिस में जरा भी नेगेटिविटी की झलक आती है नकारात्मकता समा जाती है दूसरों पर कीचड़ जाती है उन पर कुछ ब्लेम ठोकने की झंडा जाती है जिन बातों से वह बात वह तो निकाल दीजिए और अच्छे से अच्छे शान मिठास भले दो उनको लिखकर या अपनी बात जानती कि मैं अपनी बात कह के उनको अपने कंप्यूटर में ले सकते हैं जरूर आपसे बात करेंगे क्योंकि प्यार से प्यार करता हूं झगड़े से झगड़ा करता है शांति से शांति धरती और अशांति अशांति बढ़ती है आपको शांति रखनी है आपको अपनी बात कहनी है अपनी भावनाओं को जताना नहीं आता अपने प्रतिक्रियाओं को हम नेगेटिव वेट करते हैं तो यह भी एक कला है कि अपनी बात कैसे करें अपनी राय कैसे रखें अपनी दूसरों की बात का जवाब कैसे दें शांति से बिना बिना बिना किसी को भी इनके बिना किसी को टोन चाहिए और बिना इमोशंस में आए या वृद्ध की हो जाते हैं या गुस्से में आ जाते हैं तो इन तीनों चीजों से बात करती आपने गुस्से में आईएनआर इनटू साइलेंस इज गोल्ड जैसे आपके घर वाले भी देखेंगे सोचना पड़ेगा कि आप जगरानी इसके ऊपर ब्लेम नहीं किया और आप चुप हो गए एक चुपके चुपके चुपके बहुत अच्छी-अच्छी चुप के बाद में तो ये सब शांत हो जाए जितना अच्छा हो सकता है और शीशे के सामने उसको आप जोड़ सकते हैं क्या कहना चाहते हैं किस तरीके से कहना चाहते हैं ट्रेनिंग फॉर करोगे तो जरूर बात करेंगे और प्रेम से बात करेंगे निगरानी करेंगे

aapki samajhte hain ki aapke gharwale aapke bina baat sune hi dusro ki baaton mein aakar aap se jhadna karne mein aapko kya karna chahiye kya main aapki baat se sahmat hoon ki agar aapki bina baat sunne hain aap se jhadna karne lage hain aap ko dantane lage aapko bhala bura kehne lage toh bura lagega toh iska ilaj hai ki jab gharwale bina sune aap ko blame karne lagte hain toh aap riya kare karne se bache aap bhi agar aavesh mein aa gaye tushaar open badhta rahega vaah aapko de denge aap unko dosh denge aapko gussa aata hai aapko de sakta hai toh ya toh baat ko Divert karne ki koshish kare ya aap kahaan se apni jagah badalne ki koshish kare matlab wahan par us situation ko edit karke apne room mein chale jaiye kahin aur chale jaiye se bach jaoge toh yahi do cheezen hain jo aap kar sakte ho baat bhi aapke gharwale shaant ho jaaye aavesh mein nahi hai shanti ke mood mein hai aapki baat sunne ke mood mein hain tab aap unse wahi baat karne ki koshish kare aaj tak apne aap ko shaant rakhte hue pyar se bina desh mein aaye apni baat kehne ki koshish kare aur unhe samjhaiye ki aap jo baat keh rahi thi bhosdi ke sabhi judgon ne samajh le yah dusri baat kar rahe the vaah aapka matlab nahi tha toh aap unse request kar sakte hain ki aap please meri rai bhi tu sun meri baat aapne ek paksh ki baat suni hai aapne ji se meri baat sach mein dusre paksh ke baad sune bina aapne paisa de diya ya galat samajh liya ya mujhe dant diya toh aisa nahi karega pyar ke mood mein shanti se jab yah baat karogi bhi na dusro ki baat karoge toh unko bhi samajh mein aa sakta aur aana chahiye ki vaah aapko galat blame kar rahe hain kaise kare toh dusre kya aap likhkar hamko de dijiye likhne mein usko baar baar shivam par dosharopan karoge hamko accha nahi lagega har vo cheez nikaal dijiye jis mein zara bhi negativity ki jhalak aati hai nakaratmakta sama jaati hai dusro par kichad jaati hai un par kuch blame thokne ki jhanda jaati hai jin baaton se vaah baat vaah toh nikaal dijiye aur acche se acche shan mithaas bhale do unko likhkar ya apni baat jaanti ki main apni baat keh ke unko apne computer mein le sakte hain zaroor aapse baat karenge kyonki pyar se pyar karta hoon jhagde se jhadna karta hai shanti se shanti dharti aur ashanti ashanti badhti hai aapko shanti rakhni hai aapko apni baat kahani hai apni bhavnao ko jatana nahi aata apne pratikriyaon ko hum Negative wait karte hain toh yah bhi ek kala hai ki apni baat kaise kare apni rai kaise rakhen apni dusro ki baat ka jawab kaise de shanti se bina bina bina kisi ko bhi inke bina kisi ko tone chahiye aur bina emotional mein aaye ya vriddh ki ho jaate hain ya gusse mein aa jaate hain toh in tatvo chijon se baat karti aapne gusse mein INR into silence is gold jaise aapke ghar waale bhi dekhenge sochna padega ki aap jagrani iske upar blame nahi kiya aur aap chup ho gaye ek chupake chupake chupake bahut achi achi chup ke baad mein toh ye sab shaant ho jaaye jitna accha ho sakta hai aur shishe ke saamne usko aap jod sakte kya kehna chahte hain kis tarike se kehna chahte hain training for karoge toh zaroor baat karenge aur prem se baat karenge nigrani karenge

आपकी समझते हैं कि आपके घरवाले आपके बिना बात सुने ही दूसरों की बातों में आकर आप से झगड़ा कर

Romanized Version
Likes  132  Dislikes    views  1324
WhatsApp_icon
user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

2:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है मेरे घरवाले मेरी बात सुने बिना ही दूसरों की बात में आकर मुझसे झगड़ा करने लगते हैं ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए तो बहुत सिंपल है ऐसे में आप उनके साथ जब झगड़ा नहीं हो रहा है उस समय उनके साथ बैठ कर बात करें और उनसे के बाद कहीं आप अपनी कि मेरी पूरी बात आप सुना कीजिए मेरी पूरी बात सुने बिना आप किसी निष्कर्ष पर मत पहुंचे क्योंकि मिसअंडरस्टैंडिंग होने की वजह से फिर काफी प्रॉब्लम क्रिएट हो रहे हैं तो आप जब झगड़ा नहीं है आप लोग एक नार्मल टम्स में है उस समय कोशिश करें उनके साथ एक अंडरस्टैंडिंग डिवेलप करने की एक ऐसा रिलेशन दमलत करने की जिसमें आप इंग्लिश में आप सुने भी क्योंकि अगर आप चाहते हैं कि कोई आपको सुने तो उसके लिए सबसे पहले जरूरी है कि आप उनको सुने आप अपने रिश्ते बेहतर बनाने की कोशिश करें उनसे बातचीत करें और जरूरी नहीं है कि इसी टॉपिक पर बात करें आप दूसरे किसी जनरल टॉपिक पर बात कर सत्य इनडायरेक्टली उन तक अपना व्यूप्वाइंट पहुंचा सकते हो कि मुझे यह ऐसा लगता है मेरे हिसाब से यह चीज रहती है क्योंकि जब इंसान गुस्से में होता है या झगड़ा कर रहा होता है या बात बताओ में होता है तो कई बार वह दूसरे की बात नहीं सुनता है अगर वह आपकी बात नहीं सुन रहे हैं और इग्नोर कर रहे हैं आपको तो आपको यहां समझदारी दिखानी है कि आपको उनकी बात को सुनना है समझना है उनका किस प्रकार का पर्सनालिटी है उनका शख्सियत कैसी है क्या उनके कैरक्टरस्टिक्स हैं उसी हिसाब से फिर आपको हम को डिलीट करना है और यह सब आपको तब करना है जब झगड़ा नहीं हुआ है जब कोई मनमुटाव नहीं है कोई बात नहीं है ताकि उस समय उनकी लिस्ट शुरू करो और वह जो है एकदम से गुस्से में आ जाते हैं या फिर सुनते नहीं है एकदम डिफेंस में आ जाते हैं और खुद का बचाव कर रहे हैं अपनी गलतियों को छुपा रहे होते हैं और वह नहीं चाहते हैं कि उनकी किसी भी कमी को उजागर किया जाए बताया जाए ऐसे लोगों को उनकी कमी ना बताएं बल्कि आप यह बताएं कि आपका व्यूप्वाइंट क्या है आपको क्या ठीक लगता है यह आपके हिसाब से जो बात आप बता रहे हैं बताना चाह रहे हैं और उसने ही रहे हैं उसको इस तरह से पेश करेगी उससे उनको हटना हो या यह लगे कि आप उनकी गलती बता रहे हैं तो ट्राई करके देखिए धन्यवाद

aapka sawaal hai mere gharwale meri baat sune bina hi dusro ki baat mein aakar mujhse jhadna karne lagte hain aise mein mujhe kya karna chahiye toh bahut simple hai aise mein aap unke saath jab jhadna nahi ho raha hai us samay unke saath baith kar baat kare aur unse ke baad kahin aap apni ki meri puri baat aap suna kijiye meri puri baat sune bina aap kisi nishkarsh par mat pahuche kyonki misunderstanding hone ki wajah se phir kaafi problem create ho rahe hain toh aap jab jhadna nahi hai aap log ek normal tams mein hai us samay koshish kare unke saath ek understanding develop karne ki ek aisa relation damlat karne ki jisme aap english mein aap sune bhi kyonki agar aap chahte hain ki koi aapko sune toh uske liye sabse pehle zaroori hai ki aap unko sune aap apne rishte behtar banane ki koshish kare unse batchit kare aur zaroori nahi hai ki isi topic par baat kare aap dusre kisi general topic par baat kar satya indirectly un tak apna vyupwaint pohcha sakte ho ki mujhe yah aisa lagta hai mere hisab se yah cheez rehti hai kyonki jab insaan gusse mein hota hai ya jhadna kar raha hota hai ya baat batao mein hota hai toh kai baar vaah dusre ki baat nahi sunta hai agar vaah aapki baat nahi sun rahe hain aur ignore kar rahe hain aapko toh aapko yahan samajhdari dikhaani hai ki aapko unki baat ko sunana hai samajhna hai unka kis prakar ka personality hai unka shakhsiyat kaisi hai kya unke kairaktarastiks hain usi hisab se phir aapko hum ko delete karna hai aur yah sab aapko tab karna hai jab jhadna nahi hua hai jab koi manmutaav nahi hai koi baat nahi hai taki us samay unki list shuru karo aur vaah jo hai ekdam se gusse mein aa jaate hain ya phir sunte nahi hai ekdam defence mein aa jaate hain aur khud ka bachav kar rahe hain apni galatiyon ko chupa rahe hote hain aur vaah nahi chahte hain ki unki kisi bhi kami ko ujagar kiya jaaye bataya jaaye aise logo ko unki kami na bataye balki aap yah bataye ki aapka vyupwaint kya hai aapko kya theek lagta hai yah aapke hisab se jo baat aap bata rahe hain bataana chah rahe hain aur usne hi rahe hain usko is tarah se pesh karegi usse unko hatna ho ya yah lage ki aap unki galti bata rahe hain toh try karke dekhiye dhanyavad

आपका सवाल है मेरे घरवाले मेरी बात सुने बिना ही दूसरों की बात में आकर मुझसे झगड़ा करने लगते

Romanized Version
Likes  249  Dislikes    views  3166
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण ही मेरी घरवाली मेरी बात बिना सुने ही दूसरों की बात में आकर मुझसे झगड़ा करने लगते हैं ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए से प्यार से समझाइए जी की जो भी है पहले आप उनकी पूरी बात सुन लीजिए फिर उनको बोले कि अब मेरी पूरी बात सुनो और आराम से बैठकर उनको आप अपनी पूरी बात सुन आई एम सॉरी आपकी फैमिली वाले आपकी बात सुनेगी और उन को समझाइए कि दूसरों की बातों में आकर घर में झगड़ा मत करो पहले सबकी बात सुनो फिर डिसीजन लो एंड सरकी वह जरूर आपकी बात मानेंगे आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

krishna hi meri gharwali meri baat bina sune hi dusro ki baat mein aakar mujhse jhadna karne lagte hain aise mein mujhe kya karna chahiye se pyar se samjhaiye ji ki jo bhi hai pehle aap unki puri baat sun lijiye phir unko bole ki ab meri puri baat suno aur aaram se baithkar unko aap apni puri baat sun I M sorry aapki family waale aapki baat sunegi aur un ko samjhaiye ki dusro ki baaton mein aakar ghar mein jhadna mat karo pehle sabki baat suno phir decision lo and sarki vaah zaroor aapki baat manenge aapka din shubha ho dhanyavad

कृष्ण ही मेरी घरवाली मेरी बात बिना सुने ही दूसरों की बात में आकर मुझसे झगड़ा करने लगते हैं

Romanized Version
Likes  668  Dislikes    views  6766
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि अगर इस तरह की बात हो रही है अगर आपके घर वाले दूसरों की बातों में आकर आप से झगड़ा कर रहे हैं तो कहीं ना कहीं आप में प्रॉब्लम है उसका कारण है जरूर बताऊंगा क्योंकि आपको आपके अलावा और कोई ठीक से समझ सकता है तो वह आपके पैरेंट्स हैं आपके घर वाले हैं अगर उनको भी आप नहीं समझा पा रहे उनको अपनी बात तो करने से नहीं कर पा रहे तो मुझे लगता है कि बिल्कुल जी ने आपकी रिकॉर्डिंग नहीं चल रही है तो डेफिनेटली है तो आपको कन्विंस करना होगा आपके पड़ोसी आप कन्वेंस करने नहीं आएंगे आपके पैरेंट्स आपके घर वालों से तो आपने गणेश कीजिए जो मैं कह रहा हूं वह सही है दूसरों की बातों विश्वास न करें तो आपको को कॉन्फिडेंस में लेना पड़ेगा ऐसे नहीं होता सारी चीजें

lekin mujhe lagta hai ki agar is tarah ki baat ho rahi hai agar aapke ghar waale dusro ki baaton mein aakar aap se jhagda kar rahe hain toh kahin na kahin aap mein problem hai uska karan hai zaroor bataunga kyonki aapko aapke alava aur koi theek se samajh sakta hai toh vaah aapke pairents hain aapke ghar waale hain agar unko bhi aap nahi samjha paa rahe unko apni baat toh karne se nahi kar paa rahe toh mujhe lagta hai ki bilkul ji ne aapki recording nahi chal rahi hai toh definetli hai toh aapko convince karna hoga aapke padosi aap convence karne nahi aayenge aapke pairents aapke ghar walon se toh aapne ganesh kijiye jo main keh raha hoon vaah sahi hai dusro ki baaton vishwas na kare toh aapko ko confidence mein lena padega aise nahi hota saree cheezen

लेकिन मुझे लगता है कि अगर इस तरह की बात हो रही है अगर आपके घर वाले दूसरों की बातों में आकर

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
baaton ka jhagda ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!