उत्तर प्रदेश सरकार ने पूजा के धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकरों को हटाने का निर्देश दिया है। क्या यह सही हो रहा है?...


user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल यह हाईकोर्ट का निर्देश है लेकिन मैं इस निर्दोष को नहीं मानता हूं क्योंकि अगर धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर से प्रॉब्लम हो सकती है तो नेताओं के गाड़ी का जो सारण का वास होता है उसे भी प्रॉब्लम होने चाहिए और ध्वनि प्रदूषण के कई कारण है यह कारण सिर्फ माइक ही नहीं है कि एक माइक से ध्वनि प्रदूषण होता है यह सिर्फ एक माइनॉरिटी को टारगेट किया जा रहा है और कुछ भी नहीं है मैं इस बात को मानता हूं कि मैं रोटी को सिर्फ टारगेट किया जा रहा है क्योंकि हम लोग मार्ग संबोधित हम लोग में एक अनजान होता है ठीक है तो आराम से एक 2 मिनट भी नहीं होता है बस हो गया पास टाइम आसान होता है वही टाइम ही होता है और क्या है फिर भी इस पर ही हाईकोर्ट को आपत्ति हो गई तो इससे हम क्या अंदाजा लगा कि मैं रोटी पर टारगेट किया जा रहा है मैं इस बात को करता ही नहीं मानता हूं कि धार्मिक स्थलों पर से क्योंकि यह आस्था से जुड़ा हुआ है या माइनॉरिटी की हो या मैच्योरिटी को धार्मिक स्थल लोक हृदय आस्था से जुड़ा हुआ है उस से छेड़छाड़ ना करें और कोई भी सरकार हो मुझे चैन से रहने दे और चैन से अपनी सरकार चलाएं इसे खा म खा परेशानी में इंसान को ना चले फिर क्या हुआ कुछ होने वाला है इसलिए मैं योगी सरकार से रिक्वेस्ट करता हूं योगी जी यह जो कानून है यह 15 वर्ग को जो लौट चलें हटाने का इसे आप प्लीज प्लीज वापस ले लीजिए मैं इस बात को और धार्मिक स्थल जिस तरह से आप कितने प्यार से धार्मिक स्थलों की पूजा करते जहां जाते हैं पूजा पाठ करते हैं उसी तरह से हमारे रिश्ते में अपने धार्मिक स्थलों की गली इश्क तेरा कानून को मैं नहीं मानता कि गलत है थैंक यू

bilkul yeh highcourt ka nirdesh hai lekin main is nirdosh ko nahi manata hoon kyonki agar dharmik sthalon par loudspeaker se problem ho sakti hai to netaon ke gaadi ka jo saran ka vase hota hai use bhi problem hone chahiye aur dhwani pradushan ke kai kaaran hai yeh kaaran sirf mike hi nahi hai ki ek mike se dhwani pradushan hota hai yeh sirf ek minority ko target chahiye kiya ja raha hai aur kuch bhi nahi hai is baat ko manata hoon ki main roti ko sirf target chahiye kiya ja raha hai chahiye kyonki hum log marg sambodhit hum log mein ek anjaan hota hai theek hai to aaram se ek 2 minute bhi nahi hota hai bus ho gaya paas time aasan hota hai wahi time hi hota hai aur kya hai phir bhi is par hi highcourt ko apatti ho gayi to isse hum kya andaja laga ki main roti par target chahiye kiya ja raha hai chahiye main is baat ko karta hi nahi manata hoon ki dharmik sthalon par se kyonki yeh aastha se juda hua hai ya minority ki ho ya maichyoriti ko dharmik sthal lok hridaya aastha se juda hua hai us se chedchad na kare chahiye diye aur koi bhi sarkar ho mujhe chain se rehne de aur chain se apni sarkar chalaye ise kha m kha pareshani mein insaan ko na chale phir kya hua kuch hone wala hai isliye main yogi sarkar se request karta hoon yogi ji yeh jo kanoon hai yeh 15 varg ko jo lot chalen hatane ka ise aap please please wapas le lijiye main is baat ko aur dharmik sthal jis tarah se aap kitne pyar se dharmik sthalon ki puja karte jaha jaate hain puja path karte hain ussi tarah se hamare rishte mein apne dharmik sthalon ki gali ishq tera kanoon ko main nahi manata ki galat hai chahiye thank you

बिल्कुल यह हाईकोर्ट का निर्देश है लेकिन मैं इस निर्दोष को नहीं मानता हूं क्योंकि अगर धार्म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  112
KooApp_icon
WhatsApp_icon
11 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!