नवंबर और दिसंबर में दिल्ली में ठंड के दौरान लगभग 300 लोग मरे, इससे बचने के लिए दिल्ली सरकार क्या कर सकती है?...


user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भीगी रतन जी आप सोच कर देखिए कोई व्यक्ति अगर ठंड से मर जाए तो उससे भी बुरा किया ही होगा कोई व्यक्ति कितना लाचार हो गया कि वह खुद को ठंड से बचा नहीं पाया और एक नहीं दो नहीं करीबन 300 से ज्यादा लोगों की दिल्ली में मौत हो गई ठंड के कारण लिखे दिल्ली बहुत बड़ा शहर है वहां बहुत सारी चीजें होंगी तो रात के समय यात्रा ठंड के समय लोग नहीं उस करते होंगे सरकार को सुनिश्चित करना चाहिए कि ऐसे गरीब बेघर लोग ठंड में ठिठुर ने और मरने की को मजबूर है उन को गर्म कपड़े रजाई कंबल यह सब प्रोवाइड करवाया जाए और ठंड के टाइम में जो भी सरकारी ऑफिस चीज है या कोई स्कूल है या कोई कॉलेज है वह इन लोगों के लिए खुले रह कर जाएं ताकि यह लोग वहां जाकर सो सकते हैं या तो छोड़िए दूर की बात है ताकि खुद को ठंड से बचा सके और उनकी मौत ना हो जाए हमारे देश में बुलेट ट्रेन आने की बात कर रहे हैं बड़े बड़े पुल बनाए जा रहे हैं और ना जाने क्या-क्या टेक्नोलॉजिकल एडवांसमेंट हमारे कंट्री में आई है लेकिन अगर ग्राउंड लेवल पर लोग ठंड से या भूख से मर रहे हैं तो हमारा देश यकीन मानिए कोई तरक्की नहीं कर रहा है तो सरकार सुनिश्चित करें कि ऐसे लोगों के लिए जो कमेंट इंस्टिट्यूट है वो रात के समय का कुछ पोषण खुला छोड़ दे कोई क्लासरूम कोई हॉल और वहां उनके लिए कोई कपड़े को कह रही अब बिस्तर वगैरा लगा दी है ताकि ऐसे लोग इंडीज मारे रोना भूख से और ठंड से

bheegi ratan ji aap soch kar dekhiye koi vyakti agar thand se mar jaaye toh usse bhi bura kiya hi hoga koi vyakti kitna lachar ho gaya ki vaah khud ko thand se bacha nahi paya aur ek nahi do nahi kariban 300 se zyada logo ki delhi mein maut ho gayi thand ke karan likhe delhi bahut bada shehar hai wahan bahut saree cheezen hongi toh raat ke samay yatra thand ke samay log nahi us karte honge sarkar ko sunishchit karna chahiye ki aise garib beghar log thand mein thithur ne aur marne ki ko majboor hai un ko garam kapde rajaai kambal yah sab provide karvaya jaaye aur thand ke time mein jo bhi sarkari office cheez hai ya koi school hai ya koi college hai vaah in logo ke liye khule reh kar jaye taki yah log wahan jaakar so sakte hain ya toh chodiye dur ki baat hai taki khud ko thand se bacha sake aur unki maut na ho jaaye hamare desh mein bullet train aane ki baat kar rahe hain bade bade pool banaye ja rahe hain aur na jaane kya kya technological edavansament hamare country mein I hai lekin agar ground level par log thand se ya bhukh se mar rahe hain toh hamara desh yakin maniye koi tarakki nahi kar raha hai toh sarkar sunishchit kare ki aise logo ke liye jo comment institute hai vo raat ke samay ka kuch poshan khula chod de koi classroom koi hall aur wahan unke liye koi kapde ko keh rahi ab bistar vagera laga di hai taki aise log indies maare rona bhukh se aur thand se

भीगी रतन जी आप सोच कर देखिए कोई व्यक्ति अगर ठंड से मर जाए तो उससे भी बुरा किया ही होगा कोई

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  114
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!