क्या राहुल गांधी ने बहरीन में भारतीय प्रवासी को संबोधित करके मोदी की नकल की है?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

5:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या राहुल गांधी ने देश को संबोधित करते बताओ मोदी जी भारत के प्रधानमंत्री जी भार्गव की मूवी कार्यक्रम शादी अपनी उपस्थिति दें तो मोदी जी की बात अलग है उनके बाद हटा वापस भाषण राहुल गांधी में मोदी जी ने यह भी है अपने देश के नेताओं के ऊपर करते हैं विरोधियों के ऊपर लेकिन वह भी जाकर करना मेरे से नहीं हो पाए तो भारत का आपको सम्मान रखना चाहिए 1212 भी नेता है रोड पर क्यों पहले आपको खुद के पास की के समान भारत देश की ऐसी बातें करनी चाहिए क्योंकि मोदी जी जो शालीनता से अटल बिहारी बाजपाई जो शालीनता एक प्रति कटुता का भाव कभी-कभी मोदी जी के भाषण में आ जाता है लेकिन यह भी है कि मोदी जी ने एक पार्सल कृष्ण बल देता है कि लोगों को वह समां बांध देते हैं लोगों को अपनी ओर खींचते यही जो उनका गुण है सुकून से लोग काफी प्रभावित हैं और उनकी बात पर भी सब अच्छी होती हैं सुंदर होती है भारत को आगे बढ़ाने की होती है लेकिन बस यही है कि अगर राहुल गांधी इस तरह का अगर मेरी नकल नकल करें या जो कुछ भी करें लेकिन वह विपक्ष के नेता का सरनेम गांधी है वही उनका स्टेटस राजीव गांधी के पुत्र हैं लेकिन किसी भी विद्युत वह मोदी जी के सामने नहीं चाहते और वह चाहे कितना भी जाकर मोदी जी को या देश की बुराई करें तो भारत देश की बुराई करने में एक तो उनकी भाषा शैली और बोलने की सबसे रखने की बात होती है बहुत ही एक तरह से सही नहीं है इसलिए मकर करते हैं लेकिन इसका असर नहीं पड़ता लेकिन उल्टा ही करने के लिए होता है इसलिए राहुल गांधी को इस तरह से नहीं मिला कर देना और वह भी देश के नेताओं को बेवकूफ ना यह उनकी मानसिकता है वह कहीं ना कहीं उनको ही खराब प्रदर्शित करती इसलिए राहुल गांधी जी किस पद से इस पद के कारण वहां जाकर वह भाषण देते हैं यह उनको मनन करना चाहिए सोचना चाहिए और क्या बोलना चाहिए वह भी को सोचना चाहिए नकल करते हैं या नहीं करते हैं वह में क्या बोलते हैं वह तो हो जाता है इससे भारत की छवि धूमिल होती है मोदी जी बोले राहुल गांधी भारत को तो मैं खुश हूं कि मोदी जी ने हालांकि ऐसा किया है भारत की गरिमा को बनाया है लेकिन बीच-बीच में हो जो बोलते हैं वह लोगों को अच्छा नहीं लगता लेकिन राहुल गांधी जो कुछ भी बोलते हैं सब कुछ सिखा पात्र हो जाता है वह बोलना कुछ चाहते हैं वह बोलते हैं फिर बाद में सप्तमी बोलते फिर वह माफी मांग लो लेकिन विदेशों में लड़कियों को नहीं बिगाड़ना चाहिए

kya rahul gandhi ne desh ko sambodhit karte batao modi ji bharat ke pradhanmantri ji bhargav ki movie karyakram shadi apni upasthitee de toh modi ji ki baat alag hai unke baad hata wapas bhashan rahul gandhi mein modi ji ne yah bhi hai apne desh ke netaon ke upar karte hain virodhiyon ke upar lekin vaah bhi jaakar karna mere se nahi ho paye toh bharat ka aapko sammaan rakhna chahiye 1212 bhi neta hai road par kyon pehle aapko khud ke paas ki ke saman bharat desh ki aisi batein karni chahiye kyonki modi ji jo shalinata se atal bihari bajpayi jo shalinata ek prati katuta ka bhav kabhi kabhi modi ji ke bhashan mein aa jata hai lekin yah bhi hai ki modi ji ne ek parcel krishna bal deta hai ki logo ko vaah samaa bandh dete hain logo ko apni aur khichte yahi jo unka gun hai sukoon se log kaafi prabhavit hain aur unki baat par bhi sab achi hoti hain sundar hoti hai bharat ko aage badhane ki hoti hai lekin bus yahi hai ki agar rahul gandhi is tarah ka agar meri nakal nakal kare ya jo kuch bhi kare lekin vaah vipaksh ke neta ka surname gandhi hai wahi unka status rajeev gandhi ke putra hain lekin kisi bhi vidhyut vaah modi ji ke saamne nahi chahte aur vaah chahen kitna bhi jaakar modi ji ko ya desh ki burayi kare toh bharat desh ki burayi karne mein ek toh unki bhasha shaili aur bolne ki sabse rakhne ki baat hoti hai bahut hi ek tarah se sahi nahi hai isliye makar karte hain lekin iska asar nahi padta lekin ulta hi karne ke liye hota hai isliye rahul gandhi ko is tarah se nahi mila kar dena aur vaah bhi desh ke netaon ko bewakoof na yah unki mansikta hai vaah kahin na kahin unko hi kharab pradarshit karti isliye rahul gandhi ji kis pad se is pad ke karan wahan jaakar vaah bhashan dete hain yah unko manan karna chahiye sochna chahiye aur kya bolna chahiye vaah bhi ko sochna chahiye nakal karte hain ya nahi karte hain vaah mein kya bolte hain vaah toh ho jata hai isse bharat ki chhavi dhumil hoti hai modi ji bole rahul gandhi bharat ko toh main khush hoon ki modi ji ne halaki aisa kiya hai bharat ki garima ko banaya hai lekin beech beech mein ho jo bolte hain vaah logo ko accha nahi lagta lekin rahul gandhi jo kuch bhi bolte hain sab kuch sikha patra ho jata hai vaah bolna kuch chahte hain vaah bolte hain phir baad mein saptami bolte phir vaah maafi maang lo lekin videshon mein ladkiyon ko nahi bigadana chahiye

क्या राहुल गांधी ने देश को संबोधित करते बताओ मोदी जी भारत के प्रधानमंत्री जी भार्गव की मूव

Romanized Version
Likes  221  Dislikes    views  2526
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!