क्या पद्मवती से पद्मवत नाम बदलना बस एक छलावा है? क्यों?...


user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मुझे लगता है कि कल सेंसर बोर्ड ने पद्मावती को पास कर दिया है इसका नाम बदलकर पद्मावत हो जाता है तो मुझे नहीं लगता किसी भी तरह की कोई स्क्रिप्ट उसमें चेंज हुई होगी मुझे लगता है कि हमारे देश के अंदर जो भी मूवी बननी चाहिए दूसरे लोगों के सेंटीमेंट्स को ध्यान में रखकर बननी चाहिए जिस तरह से करणी सेना राजपूताना लोगों का कहना था कि उनके सेंटीमेंट को हर्ट किया गया इस मूवी को बनाते समय तो मुझे लगता उनसे बात करनी चाहिए थी मामले को समझाना चाहिए था फिर आगे डिसाइड करना चाहिए था मूवी को रिलीज करना है ना करना क्योंकि कुछ स्टेट के चीफ मिनिस्टर ने पहले ही मना कर दिया कि उस मूवी को अपनाया रिलीज नहीं होने देंगे लॉयन अटैक का खतरा है और दूसरे किसी पार्टी को रिलीज उनके और कास्ट के सेंटीमेंट को हर्ट किया गया तो मुझे लगता है कि इस तरह की बातों को पहले समझा लेना चाहिए तभी मूवी का रिलीज होने ज्यादा बैटरी नहीं तो होता क्या है कि मूवी रिलीज हो जाती है जिस सिनेमा हॉल में वह चल रही होती है वहां कुछ लोग अटैक कर देते हैं और बहुत ज्यादा तोड़फोड़ हो जाता बहुत ज्यादा परेशान हो जाता है तो फाइनली सफल उस व्यक्ति को आना पड़ता है जो उसका हुनर है तो मुझे लगता है किस तरह की चीजें नहीं होनी चाहिए मूवी का विवाद सो जाना चाहिए उसी के बाद रिलीज़ हो पद्मावत नाम रखने से मुझे नहीं लगता कि कोई फर्क पड़ेगा

vicky mujhe lagta hai ki kal censor board ne padmavati ko paas kar diya hai iska naam badalkar padmavat ho jata hai toh mujhe nahi lagta kisi bhi tarah ki koi script usme change hui hogi mujhe lagta hai ki hamare desh ke andar jo bhi movie banani chahiye dusre logo ke sentiments ko dhyan mein rakhakar banani chahiye jis tarah se karni sena rajpootana logo ka kehna tha ki unke sentiment ko heart kiya gaya is movie ko banate samay toh mujhe lagta unse baat karni chahiye thi mamle ko samajhana chahiye tha phir aage decide karna chahiye tha movie ko release karna hai na karna kyonki kuch state ke chief minister ne pehle hi mana kar diya ki us movie ko apnaya release nahi hone denge layan attack ka khatra hai aur dusre kisi party ko release unke aur caste ke sentiment ko heart kiya gaya toh mujhe lagta hai ki is tarah ki baaton ko pehle samjha lena chahiye tabhi movie ka release hone zyada battery nahi toh hota kya hai ki movie release ho jaati hai jis cinema hall mein vaah chal rahi hoti hai wahan kuch log attack kar dete hain aur bahut zyada thorphor ho jata bahut zyada pareshan ho jata hai toh finally safal us vyakti ko aana padta hai jo uska hunar hai toh mujhe lagta hai kis tarah ki cheezen nahi honi chahiye movie ka vivaad so jana chahiye usi ke baad release ho padmavat naam rakhne se mujhe nahi lagta ki koi fark padega

विकी मुझे लगता है कि कल सेंसर बोर्ड ने पद्मावती को पास कर दिया है इसका नाम बदलकर पद्मावत ह

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:14

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी कुलदीप जी फिल्म पद्मावती को सेंसर बोर्ड ने यह फैसला दिया उसके ऊपर कि उसका नाम बदलकर पद्मावत रखा जाए और और पांच पता करने होंगे तब जाकर संग को यू ए सर्टिफिकेट मिलेगा तबीयत ठीक है इसमें दिखाई जाएगी सबसे पहले तो मैं कहना चाहूंगी की फिल्में होती हुई काल्पनिक होती है यह पिक विशेष होती हैं और इन्हें किसी भी एक समुदाय की भावनाओं से जुड़ कर देखना मेरे हिसाब से गलत है दूसरा में एक होंगे की फिल्म जो है वह उपन्यास पर आधारित है जैसे कि संजय लीला भंसाली ने बताया उस फिल्म का नाम पर उस उस उपन्यास का नाम पद्मावती ही है इसीलिए संजय लीला भंसाली ने के नाम रखा बस अब चुप है उसका नाम ही चेंज हो गया तो मेरे हिसाब से लोगों का माइंड सेट भी चेंज हुआ है कि आप यह जो उनकी जो राजपूतों की सुहानी थी उसके बारे में नहीं है क्योंकि आप डिस्क्लेमर चलाया जाएगा कि सिर्फ काल्पनिक है तो मेरे हिसाब से छलावा तो नहीं है क्योंकि इसमें बहुत सारे और भी चेंजेस किए गए हैं अभी तो मूवी देख कर पता चलेगा कि इंसान के लिंग के अंदर क्या है

dekhi kuldeep ji film padmavati ko censor board ne yah faisla diya uske upar ki uska naam badalkar padmavat rakha jaaye aur aur paanch pata karne honge tab jaakar sang ko you a certificate milega tabiyat theek hai isme dikhai jayegi sabse pehle toh main kehna chahungi ki filme hoti hui kalpnik hoti hai yah pic vishesh hoti hain aur inhen kisi bhi ek samuday ki bhavnao se jud kar dekhna mere hisab se galat hai doosra mein ek honge ki film jo hai vaah upanyas par aadharit hai jaise ki sanjay leela bhansali ne bataya us film ka naam par us us upanyas ka naam padmavati hi hai isliye sanjay leela bhansali ne ke naam rakha bus ab chup hai uska naam hi change ho gaya toh mere hisab se logo ka mind set bhi change hua hai ki aap yah jo unki jo rajputo ki suhani thi uske bare mein nahi hai kyonki aap disclaimer chalaya jaega ki sirf kalpnik hai toh mere hisab se chalava toh nahi hai kyonki isme bahut saare aur bhi changes kiye gaye hain abhi toh movie dekh kar pata chalega ki insaan ke ling ke andar kya hai

देखी कुलदीप जी फिल्म पद्मावती को सेंसर बोर्ड ने यह फैसला दिया उसके ऊपर कि उसका नाम बदलकर प

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां देखी मैंने समिति पद्मावती का जो नाम है जिस को चेंज करके पद्मावत रखा गया है और आइसोलेटर है उसमें से हटा दिया गया है तो नाम बदलने से मैं सहमत हूं यहां बिल्कुल यही छलावा है क्योंकि मुझे नहीं लगता कि नाम बदन से कुछ इस वक्त उस पर पड़ेगा क्योंकि लो क्वालिटी पता चल चुका हे कि वो रानी पद्मावती के ऊपर भेज दें तो पद्मावती को पद्मावत करने से मैं नहीं समझता कि कोई फर्क पड़ने वाला है उल्टी और अजीब लग रहा है लेकिन जिसको मूवी देखनी है वह तो देख रहे हैं देखते रहेंगे और जो इतनी सीटें हैं मैं समझ सकती हूं जरुर लोगों के मन में जिज्ञासा होगा कि ऐसा मूवी में कितने हुए हैं

haan dekhi maine samiti padmavati ka jo naam hai jis ko change karke padmavat rakha gaya hai aur aisoletar hai usme se hata diya gaya hai toh naam badalne se main sahmat hoon yahan bilkul yahi chalava hai kyonki mujhe nahi lagta ki naam badan se kuch is waqt us par padega kyonki lo quality pata chal chuka hai ki vo rani padmavati ke upar bhej de toh padmavati ko padmavat karne se main nahi samajhata ki koi fark padane vala hai ulti aur ajib lag raha hai lekin jisko movie dekhni hai vaah toh dekh rahe hain dekhte rahenge aur jo itni seaten hain main samajh sakti hoon zaroor logo ke man mein jigyasa hoga ki aisa movie mein kitne hue hain

हां देखी मैंने समिति पद्मावती का जो नाम है जिस को चेंज करके पद्मावत रखा गया है और आइसोलेटर

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

BF सीने पर सेंसर बोर्ड ने फिल्म पद्मावती कोई वह सर्टिफिकेट दे दिया गया है और फिल्म पद्मावती है वह 25 जनवरी में नजदीकी सिनेमाघर में जाएगी और सीबीएसई ने जो है यह फिल्म पास की है परंतु एयरप्लेन सेट में 50 वापस से करने को बोला फिर से कुछ बदलाव लाने के लिए बोला है और संतान को नहीं दिखाएगी आप फिल्म का नाम जो पद्मावती नगर के उसके ऊपर पद्मावती रखे तो ज्यादा अच्छा होगा यह फिल्म जो है सीबीएसई ने सेंसर बोर्ड ने नहीं देखी है यह फिल्म उन लोगों ने भी देखिए यह तो बहुत ही बड़ा ज्ञानी जी की बात इतिहास इतिहास की बड़ी बड़ी डिग्री है और जो की रानी पद्मावती के इतिहास के बारे में बिल्कुल सटीक और अच्छे तरीके से जानते हैं उन्होंने फिल्म देखी और उन्हें फिल्म देखने के बाद कहां है कि संजय लीला भंसाली है इसलिए सब कुछ भी नहीं दिखाया गया है जो कि आज उससे कह सकते की रानी पद्मावत किस जग रही हो या फिर और अलाउद्दीन खिलजी के बारे में बहुत अच्छी तरीके से बताया गया हो गया फिर ऐसा भी कुछ हो चुकी इतिहास को खराब करता है वह तो मेरे हिसाब से यह लेख का नाम बदलना एक छलावा नहीं है क्योंकि संजय लीला भंसाली जो कोई भी फिल्म हो उसका डॉक्टरी सिंह हमेशा मेहनत से करते हैं बिल्कुल सच्चे दिल से करते हैं और ऐसी फिल्म जो होती है वह पिक्चर नहीं होती है या फिर नाट्य रूपांतरण होती है हमें इसे अपनी पर्सनल लाइफ से नहीं लेना चाहिए क्योंकि इसे पीने लायक होती है और मेरे साथ संजय लीला भंसाली जो की थी डायरेक्टर है उन्होंने खुद भी पता होगा की रानी पद्मावती के बारे में मुझे दिखाना चाहिए और उन्होंने जो भी फिल्म में दिखाया वह बिल्कुल सही दिखाया है क्या मैंने ऐसा सीबीएफसी और जो भी रानी पद्मावती इतिहास के बारे में बिल्कुल सटीक और अच्छी तरीके से आए थे उन्होंने कहा है तू मेरी सबसे पद्मावती का जो नाम बदलना पद्मावत में अवैध छलावा नहीं है बल्कि यह एक टेक्स्ट मैसेज थोड़ी सजेशन एजुकेशन की लीला भंसाली ने इसका पालन किया है

BF seene par censor board ne film padmavati koi vaah certificate de diya gaya hai aur film padmavati hai vaah 25 january mein najdiki cinemaghar mein jayegi aur cbse ne jo hai yah film paas ki hai parantu airplane set mein 50 wapas se karne ko bola phir se kuch badlav lane ke liye bola hai aur santan ko nahi dikhaegi aap film ka naam jo padmavati nagar ke uske upar padmavati rakhe toh zyada accha hoga yah film jo hai cbse ne censor board ne nahi dekhi hai yah film un logo ne bhi dekhiye yah toh bahut hi bada gyani ji ki baat itihas itihas ki badi badi degree hai aur jo ki rani padmavati ke itihas ke bare mein bilkul sateek aur acche tarike se jante hain unhone film dekhi aur unhe film dekhne ke baad kahaan hai ki sanjay leela bhansali hai isliye sab kuch bhi nahi dikhaya gaya hai jo ki aaj usse keh sakte ki rani padmavat kis jag rahi ho ya phir aur alauddin khilji ke bare mein bahut achi tarike se bataya gaya ho gaya phir aisa bhi kuch ho chuki itihas ko kharab karta hai vaah toh mere hisab se yah lekh ka naam badalna ek chalava nahi hai kyonki sanjay leela bhansali jo koi bhi film ho uska doctari Singh hamesha mehnat se karte hain bilkul sacche dil se karte hain aur aisi film jo hoti hai vaah picture nahi hoti hai ya phir natya rupantaran hoti hai hamein ise apni personal life se nahi lena chahiye kyonki ise peene layak hoti hai aur mere saath sanjay leela bhansali jo ki thi director hai unhone khud bhi pata hoga ki rani padmavati ke bare mein mujhe dikhana chahiye aur unhone jo bhi film mein dikhaya vaah bilkul sahi dikhaya hai kya maine aisa CBFC aur jo bhi rani padmavati itihas ke bare mein bilkul sateek aur achi tarike se aaye the unhone kaha hai tu meri sabse padmavati ka jo naam badalna padmavat mein awaidh chalava nahi hai balki yah ek text massage thodi suggestion education ki leela bhansali ne iska palan kiya hai

BF सीने पर सेंसर बोर्ड ने फिल्म पद्मावती कोई वह सर्टिफिकेट दे दिया गया है और फिल्म पद्मावत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

0:58
Play

Likes  1  Dislikes    views  19
WhatsApp_icon
user
Play

Likes    Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!