गरीबी में जनसँख्या वृद्धि का कितना बड़ा हिस्सा होता है?...


user

Ravi Sharma

Advocate

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गरीबी का सीधा संबंध होता है अशिक्षा से तथा शिक्षित व्यक्ति अपने सामाजिक उत्तरदायित्व एक शिक्षित व्यक्ति की अपेक्षा कमतर निभाता है उदाहरण के तौर पर एक गरीब अशिक्षित व्यक्ति जनसंख्या वृद्धि पर अंकुश लगाने की जो साधन होते हैं उसके प्रति ज्ञान कम रखता है जिससे कि जनसंख्या वृद्धि होना तय माना जाता है देखिए हम किस प्रकार से गरीबों को जनसंख्या वृद्धि के लिए उत्तरदाई मानते हैं वह भी ठीक नहीं है परंतु यह सत्य है कि एक गरीब व्यक्ति जनसंख्या वृद्धि में होने वाले आमूलचूल परिवर्तन उसे वापस से होने वाले देश के प्रति जो उसके हानि होती है जनसंख्या वृद्धि से उस से अनभिज्ञ रहता है उदाहरण के तौर पर एक गरीब व्यक्ति यदि उसके तीन बच्चे हैं तो वह चाहता है कि वह तीनों बच्चे आजीविका कमाने में उसका समर्थन करें परंतु एक शिक्षित व्यक्ति क्योंकि भारी वर्क ऑफिस अपने बच्चों की शिक्षा में लगाता है वह शायद इतना उत्तरदाई नहीं हो पाता कि वह दो या तीन बच्चों की जीविका के साधन व उनकी शिक्षा की जो साधन है वह होने सरलता से मैया करा सके तो इस कारणवश शिक्षित व्यक्ति जो होता है उसका एक या दो बच्चे होने के बाद बात मानता है कि उनके लालन-पालन में जिस प्रकार से उसका धन व्यय होगा वह बहुत अधिक हो सकता है परंतु अशिक्षित व्यक्ति जो की खुद भी अशिक्षित है वह नहीं चाहता कि वह किसी भी प्रकार से उनकी शिक्षा अन्य साधनों पर धन व्यय करें तथा बचाता है कि उसके दो बच्चे हैं वह कुछ बड़ा होने के बाद ही आजीविका कमाने में उसका सहयोग करें तो गरीब ना केवल गरीब बना रहता है बल्कि अशिक्षित भी बना रहता है वह उसके आने वाली पीढ़ी भी शिक्षित होती है गरीब होती है वह किसी भी प्रकार से राष्ट्र के विकास में योगदान नहीं कर पाती धन्यवाद

gareebi ka seedha sambandh hota hai asiksha se tatha shikshit vyakti apne samajik uttardayitva ek shikshit vyakti ki apeksha kamtar nibhata hai udaharan ke taur par ek garib ashikshit vyakti jansankhya vriddhi par ankush lagane ki jo sadhan hote hain uske prati gyaan kam rakhta hai jisse ki jansankhya vriddhi hona tay mana jata hai dekhiye hum kis prakar se garibon ko jansankhya vriddhi ke liye uttardai maante hain vaah bhi theek nahi hai parantu yah satya hai ki ek garib vyakti jansankhya vriddhi mein hone waale amulchul parivartan use wapas se hone waale desh ke prati jo uske hani hoti hai jansankhya vriddhi se us se anbhigya rehta hai udaharan ke taur par ek garib vyakti yadi uske teen bacche hain toh vaah chahta hai ki vaah tatvo bacche aajiwika kamane mein uska samarthan kare parantu ek shikshit vyakti kyonki bhari work office apne baccho ki shiksha mein lagaata hai vaah shayad itna uttardai nahi ho pata ki vaah do ya teen baccho ki jeevika ke sadhan va unki shiksha ki jo sadhan hai vaah hone saralata se maiya kara sake toh is karanvash shikshit vyakti jo hota hai uska ek ya do bacche hone ke baad baat manata hai ki unke lalan palan mein jis prakar se uska dhan vyay hoga vaah bahut adhik ho sakta hai parantu ashikshit vyakti jo ki khud bhi ashikshit hai vaah nahi chahta ki vaah kisi bhi prakar se unki shiksha anya saadhano par dhan vyay kare tatha bachata hai ki uske do bacche hain vaah kuch bada hone ke baad hi aajiwika kamane mein uska sahyog kare toh garib na keval garib bana rehta hai balki ashikshit bhi bana rehta hai vaah uske aane wali peedhi bhi shikshit hoti hai garib hoti hai vaah kisi bhi prakar se rashtra ke vikas mein yogdan nahi kar pati dhanyavad

गरीबी का सीधा संबंध होता है अशिक्षा से तथा शिक्षित व्यक्ति अपने सामाजिक उत्तरदायित्व एक शि

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  290
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
जनसंख्या तथा गरीबी में क्या संबंध है ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!