क्या सरकारी आर्गेनाइजेशन में थर्ड पार्टी पेमेंट सिस्टम पूरी तरह से बंद कर देना चाहिए?...


play
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमित जी जो आपने क्वेश्चन डाला है जितना मैं समझ पा रहा हूं मेरे को यह लग रहा है कि आप जो थर्ड पार्टी सिस्टम की बात कर रहे हैं वह उन टेंप्रेरी एंप्लाइज की बात कर रहे हैं जो कि गवर्नमेंट कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर रखती है अगर मैं अपना ओपिनियन दूं तो मेरे को यह लगता है कि नहीं बिल्कुल गवर्नमेंट को उसको बंद नहीं करना चाहिए और टेंप्रेरी एंप्लाइज रखना चाहिए उसके पीछे 12 रिजल्ट है क्योंकि आपको पता है अभी भारत में काफी सारे अ नेम प्लेट पीपल है काफी गरीब लोग हैं जो कि अभी बेरोजगार है ठीक है और आप को ही पता कि हर कोई गवर्नमेंट एंप्लॉई नहीं बन सकता क्योंकि इसकी भी कुछ रूल्स और रेगुलेशन से और जो भी हमारी करंट सरकार है उसमें थोड़ी जान पहचान गवर्नमेंट एंप्लाइज पाने के लिए जान पहचान होनी चाहिए और कुछ पेपर्स भी क्वालीफाई करने पड़ते हैं जो कि हर कोई बंदा नहीं कर पाता है और नहीं गवर्नमेंट आर्गेनाईजेशन में लगता है अब वह नेम प्लेट तो गवर्नमेंट अगर स्कूल टेंपररी एंप्लॉई बनाकर रख क्यों पैसे दे सकती है तो मुझे लगता है कि ज्यादा बैटर है ताकि इसे थोड़ी अन एंप्लॉयमेंट कम होगी और थोड़ी गरीबी कम होगी क्योंकि काफी लोग का नेम प्लेट है और अगर वह टेंपररी मैसेज में कुछ काम करेंगे तो शायद उनके रोटी पानी की व्यवस्था हो जाए और को कुछ पैसे ऑन कर सके तो मुझे लगता है बिल्कुल टाइम प्रेम प्लेस को रखना चाहिए थर्ड पार्टी को रखना चाहिए लेकिन अगर हम यह सब कर रहे हैं तू प्रॉपर मनेजमेंट होना चाहिए क्योंकि आपको पता है आज कल जो कांटेक्ट Facebook थर्ड पार्टी को लिया जाता है और जो टेंपरेचर वर्क किए जाते हैं वह मेरी प्रॉपर्टी मैसेज नहीं हो पाते मतलब कि पता नहीं चलता कि किस को लिया गया है कितना पैसा कहां खर्च हो रहा है आप डाक्यूमेंट्स में कुछ भी दिखा देते कि इतना कॉन्ट्रैक्ट लिया इतना ही हो गया तू प्रॉपर्टी मैसेज नहीं हो रहा है अगर हम इसको प्रॉपर्टी मैसेज करें तो मुझे लगता ही अच्छा ऑप्शन है उसको कंटिन्यू रखना चाहिए ताकि और लोगों को भी फायदा हो

amit ji jo aapne question dala hai jitna main samajh paa raha hoon mere ko yah lag raha hai ki aap jo third party system ki baat kar rahe hain vaah un tempreri emplaij ki baat kar rahe hain jo ki government contracts basis par rakhti hai agar main apna opinion doon toh mere ko yah lagta hai ki nahi bilkul government ko usko band nahi karna chahiye aur tempreri emplaij rakhna chahiye uske peeche 12 result hai kyonki aapko pata hai abhi bharat mein kaafi saare a name plate pipal hai kaafi garib log hain jo ki abhi berozgaar hai theek hai aur aap ko hi pata ki har koi government emplai nahi ban sakta kyonki iski bhi kuch rules aur regulation se aur jo bhi hamari current sarkar hai usme thodi jaan pehchaan government emplaij paane ke liye jaan pehchaan honi chahiye aur kuch papers bhi qualify karne padte hain jo ki har koi banda nahi kar pata hai aur nahi government organisation mein lagta hai ab vaah name plate toh government agar school temporary emplai banakar rakh kyon paise de sakti hai toh mujhe lagta hai ki zyada better hai taki ise thodi an employment kam hogi aur thodi garibi kam hogi kyonki kaafi log ka name plate hai aur agar vaah temporary massage mein kuch kaam karenge toh shayad unke roti paani ki vyavastha ho jaaye aur ko kuch paise on kar sake toh mujhe lagta hai bilkul time prem place ko rakhna chahiye third party ko rakhna chahiye lekin agar hum yah sab kar rahe hain tu proper management hona chahiye kyonki aapko pata hai aaj kal jo Contact Facebook third party ko liya jata hai aur jo temperature work kiye jaate hain vaah meri property massage nahi ho paate matlab ki pata nahi chalta ki kis ko liya gaya hai kitna paisa kahaan kharch ho raha hai aap documents mein kuch bhi dikha dete ki itna contracts liya itna hi ho gaya tu property massage nahi ho raha hai agar hum isko property massage kare toh mujhe lagta hi accha option hai usko continue rakhna chahiye taki aur logo ko bhi fayda ho

अमित जी जो आपने क्वेश्चन डाला है जितना मैं समझ पा रहा हूं मेरे को यह लग रहा है कि आप जो थर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!