भारत में शिक्षित बेरोज़गारी बढ़ती जा रही है ￰सरकार के पास क्या विकल्प है?...


user

mahendra

Journlist

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इनका तो एक ही विकल्प है मोदी जी को फॉलो करो मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया होगा तो वह बेरोजगारी अब दूर दूर तक नहीं दिखेगी सब जानते हैं तो कोशिश कर रहे हैं हमारे प्रधानमंत्री जी देशहित के लिए

inka toh ek hi vikalp hai modi ji ko follow karo make in india make in india make in india hoga toh vaah berojgari ab dur dur tak nahi dikhegi sab jante hain toh koshish kar rahe hain hamare pradhanmantri ji deshahit ke liye

इनका तो एक ही विकल्प है मोदी जी को फॉलो करो मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया होगा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में शिक्षित बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और इसके अग्रवाल सदन सरकार का सलूशन होता सबसे पहले सरकार को यह कैसे करनी पड़ेगी भी ज्यादा सरकारी स्कूल में बस एक इरादा सरकारी फिल्म बनी है उसे उसी का था 24 जनवरी को कुछ हद तक 10%

bharat mein shikshit berojgari badhti ja rahi hai aur iske agrawal sadan sarkar ka salution hota sabse pehle sarkar ko yah kaise karni padegi bhi zyada sarkari school mein bus ek irada sarkari film bani hai use usi ka tha 24 january ko kuch had tak 10

भारत में शिक्षित बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और इसके अग्रवाल सदन सरकार का सलूशन होता सबसे पह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के अंदर शिक्षित बेरोजगारी बढ़ती जा रही है, इसका विकल्प यह है कि, यहां पर हमें कंपनीज़ खोलनी पड़ेगी, मैन्युफैक्चरिंग कंपनी, जिसके अंदर लोगों का प्रयोग होगा और बेरोजगारी थोड़ी कम होगी l तो भारत ने मोदी जी ने भी बाहर के देशों में जाकर उनसे डिमांड करी है कि वहां कि वह इंडिया में आकर भारत में आकर मैन्युफैक्चरिंग कंपनीज़ खोलें, जिससे जो हमारे यहां का जीडीपी है वह भी बढ़ेगा और वहीँ पे एंप्लॉयमेंट भी काफी ज्यादा बढ़ेगा l तो यह एक काफी ज्यादा प्रबल तरीका है, जिससे एंप्लॉयमेंट को हम बढ़ा सकते हैं और अगर हमें एंप्लॉयमेंट को शिक्षित लोगों की एंप्लॉयमेंट को और बढ़ाना है, तो हमें उनके लिए और जॉब्स क्रिएट करनी पड़ेगी और नौकरियां बनानी पड़ेगी l तो इसके लिए हमें और कंपनीज़ और अपने यहां पर और बिजनेस लेकर आना पड़ेगा l तो यह कुछ तरीके हो सकते हैं, जिससे हम लोग शिक्षित बेरोजगारी को खत्म कर सकते हैं और हमें जागरूकता बढ़ानी पड़ेगी लोगों के अंदर, क्योंकि आजकल काफी ऐसा भी होता की अगर मां-बाप के पास पैसा हो तो बच्चे काम नहीं करना चाहते हैं और वह बेरोजगारी की तरफ चले जाते हैं l तो इसको बिलकुल भी सपोर्ट नहीं करना चाहिए, ऐसी चीज को बिल्कुल खत्म करना चाहिए l और

bharat ke andar shikshit berojgari badhti ja rahi hai iska vikalp yah hai ki yahan par hamein companies kholni padegi manufacturing company jiske andar logo ka prayog hoga aur berojgari thodi kam hogi l toh bharat ne modi ji ne bhi bahar ke deshon mein jaakar unse demand kari hai ki wahan ki vaah india mein aakar bharat mein aakar manufacturing companies kholen jisse jo hamare yahan ka gdp hai vaah bhi badhega aur wahi pe employment bhi kaafi zyada badhega l toh yah ek kaafi zyada prabal tarika hai jisse employment ko hum badha sakte hain aur agar hamein employment ko shikshit logo ki employment ko aur badhana hai toh hamein unke liye aur jobs create karni padegi aur naukriyan banani padegi l toh iske liye hamein aur companies aur apne yahan par aur business lekar aana padega l toh yah kuch tarike ho sakte hain jisse hum log shikshit berojgari ko khatam kar sakte hain aur hamein jagrukta badhaani padegi logo ke andar kyonki aajkal kaafi aisa bhi hota ki agar maa baap ke paas paisa ho toh bacche kaam nahi karna chahte hain aur vaah berojgari ki taraf chale jaate hain l toh isko bilkul bhi support nahi karna chahiye aisi cheez ko bilkul khatam karna chahiye l aur

भारत के अंदर शिक्षित बेरोजगारी बढ़ती जा रही है, इसका विकल्प यह है कि, यहां पर हमें कंपनीज़

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  201
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम भारत में शिक्षित बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प भारत सरकार के पास यह है कि हम लोग अपने देश में नई नई कंपनियों को खोलें और अगर हम नहीं बोल रहे हैं भारतीय कंपनियों के मल्टीनेशनल कंपनीज इन एजेंसीज कहते हैं वह हमारे देश में रहकर अपनी कंपनियों खोलें चाहे वह मेरे साथ ड्रिंक कंपनी हो या फिर वह सर्विस इसकी कंपनियों जैसे कि हमारे देश में बेरोजगारी कम हो और जो लोग शिक्षित हैं उनको सही मात्रा में उनका पैसा मिल सके उन को रोजगार मिल सके और जैसा की हम जानते हैं कि शिक्षित बेरोजगारी में ज्यादातर लोग उसके लिए रोते हैं उनकी स्किल्ड लेबर होते हैं तो अगर उन का अच्छे से उपयोग किया जाएगा तो हमारे भारत देश में भी प्रगति होगी और जैसा की हम जानते हैं कि हमारे मोदी जी ने मेक इन इंडिया और प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का भी आरंभ किया है जिसके अंतर्गत हमारे देश के लोगों को जाने युवाओं को ज्यादातर स्किन लेज़र बनाने की कोशिश शुरू हुई है लोग सक्षम हो रहे हैं उसके तू अगर ऐसे मैसेज यहां आकर अपनी कंपनी खोलती है या फिर हमारे देश में भी इंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा मिलता है लोग हमारे देश के लोगों पर पैसा लगा रहे हैं कि आप कंपनी खोलिए और हम लोग आपको पैसे देंगे जैसे कि फॉरेन इन्वेस्टमेंट पर होता है तो अगर ऐसा कुछ होता है तो हमारे देश में शिक्षित बेरोजगारी बहुत हद तक कम हो जाएगी और मोदी जी इसके लिए बहुत कुछ कर रहे हैं तो वह हमें आशा कर रखनी चाहिए कि वह 2022 तक काफी कुछ कर लेंगे जैसा कि वह कहते हैं

hum bharat mein shikshit berojgari badhti ja rahi hai aur iske liye sabse accha vikalp bharat sarkar ke paas yah hai ki hum log apne desh mein nayi nayi companion ko kholen aur agar hum nahi bol rahe hain bharatiya companion ke multinational companies in agencies kehte hain vaah hamare desh mein rahkar apni companion kholen chahen vaah mere saath drink company ho ya phir vaah service iski companion jaise ki hamare desh mein berojgari kam ho aur jo log shikshit hain unko sahi matra mein unka paisa mil sake un ko rojgar mil sake aur jaisa ki hum jante hain ki shikshit berojgari mein jyadatar log uske liye rote hain unki Skilled labour hote hain toh agar un ka acche se upyog kiya jaega toh hamare bharat desh mein bhi pragati hogi aur jaisa ki hum jante hain ki hamare modi ji ne make in india aur pradhanmantri kaushal vikas yojana ka bhi aarambh kiya hai jiske antargat hamare desh ke logo ko jaane yuvaon ko jyadatar skin laser banane ki koshish shuru hui hai log saksham ho rahe hain uske tu agar aise massage yahan aakar apni company kholti hai ya phir hamare desh mein bhi intaraprenyoraship ko badhawa milta hai log hamare desh ke logo par paisa laga rahe hain ki aap company kholiye aur hum log aapko paise denge jaise ki foreign investment par hota hai toh agar aisa kuch hota hai toh hamare desh mein shikshit berojgari bahut had tak kam ho jayegi aur modi ji iske liye bahut kuch kar rahe hain toh vaah hamein asha kar rakhni chahiye ki vaah 2022 tak kaafi kuch kar lenge jaisa ki vaah kehte hain

हम भारत में शिक्षित बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प भारत सरकार के

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
शिक्षित बेरोजगारी ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!