PAYTM को प्ले स्टोर पर 10 करोड़ डाउनलोड मिले है, विजय शेखर शर्मा को आप क्या बोलना चाहते हो?...


user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Wikipedia में जो है वह पहली भारतीय ई कॉमर्स एंड ई पेमेंट कंपनी है जो अगस्त 2010 में स्थापित की गई थी और जो इस के चेयरमैन एवं विजय शंकर शर्मा जी जो कंपनी है यह अब 2017 में इसके 13000 से ज्यादा एंप्लॉयर्स है और 3 मिलियन ऑफ ऑफलाइन मोचन से इंडिया के अंदर जो भारतीय कंपनी है जिसे चाइनीज ई-कॉमर्स कंपनी जो अलीबाबा है वह फंडिंग देता है और इसके बाद से फंडिंग के बाद से यह 625 मिलियन डॉलर से बढ़कर डेढ़ मिलियन डॉलर की वैल्यू की हो गई है जो विजय शंकर शर्मा है वह एक बार चाइना में थे और वहां पर उन्होंने एक रेहड़ी वाले को देखा जो फोन के थ्रू अपने कस्टमर से पैसे ले रहा था तो वहां से उन्हें पेटीएम का Idea मिला और तब से पीटीएम कहां से पीटीएम का इजहार हुआ रब तू पेटीएम के बाद पेटीएम वॉलेट पेटीएम मॉल करके से बहुत सारी सुविधाएं पेटीएम ने प्रोवाइड करवाई है और अब 2017 में जब 10 करोड़ से ज्यादा लोगों ने से डाउनलोड किया है तो यही पूछ करता है कि यह कितना सुविधाजनक और कितनी किसी एक को पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं यह चीजें बिल पे कर सकते हैं और हम आज से पहले Facebook WhatsApp Twitter यह सब विदेशी कंपनियों के जो वह है उन पर डिपेंड करते थे वही मैं ज्यादा महत्वपूर्ण थी पर अब पेटीएम के बाद हम Paytm को भी उतना ही इंपॉर्टेंट देने लगे हैं तो यह बहुत अच्छी बात है मैं विजय शंकर शर्मा को इसके लिए बहुत सारी शुभकामनाएं और बधाई देना चाहिए और मैं आशा करता हूं कि भविष्य में पेट्रोल डाल 100 लोगों से डाउनलोड करें और ऐसे उसे बढ़ावा मिलता रहे

Wikipedia mein jo hai vaah pehli bharatiya ee commerce and ee payment company hai jo august 2010 mein sthapit ki gayi thi aur jo is ke chairman evam vijay shankar sharma ji jo company hai yah ab 2017 mein iske 13000 se zyada emplayars hai aur 3 million of offline mochan se india ke andar jo bharatiya company hai jise chinese ee commerce company jo alibaba hai vaah funding deta hai aur iske baad se funding ke baad se yah 625 million dollar se badhkar dedh million dollar ki value ki ho gayi hai jo vijay shankar sharma hai vaah ek baar china mein the aur wahan par unhone ek rehdi waale ko dekha jo phone ke through apne customer se paise le raha tha toh wahan se unhe Paytm ka Idea mila aur tab se PTM kahaan se PTM ka izhaar hua rab tu Paytm ke baad Paytm wallet Paytm mall karke se bahut saree suvidhaen Paytm ne provide karwai hai aur ab 2017 mein jab 10 crore se zyada logo ne se download kiya hai toh yahi puch karta hai ki yah kitna suvidhajanak aur kitni kisi ek ko paise transfer kar sakte hain yah cheezen bill pe kar sakte hain aur hum aaj se pehle Facebook WhatsApp Twitter yah sab videshi companion ke jo vaah hai un par depend karte the wahi main zyada mahatvapurna thi par ab Paytm ke baad hum Paytm ko bhi utana hi important dene lage hain toh yah bahut achi baat hai vijay shankar sharma ko iske liye bahut saree subhkamnaayain aur badhai dena chahiye aur main asha karta hoon ki bhavishya mein petrol daal 100 logo se download kare aur aise use badhawa milta rahe

Wikipedia में जो है वह पहली भारतीय ई कॉमर्स एंड ई पेमेंट कंपनी है जो अगस्त 2010 में स्थापि

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  129
KooApp_icon
WhatsApp_icon
13 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
play store डाउनलोड ; bolna kya chahte ho ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!