क्या दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध वास्तव में प्रदूषण से बचने में मदद करता है?...


user

Pramod Kushwaha

famous Motivational Guru N Painter

0:34
Play

Likes  61  Dislikes    views  1371
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

0:52

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आतिशबाजी पर अगर प्रतिबंध लगाया जाता है दिल्ली में तो यह वहां के लोगों के लिए काफी अच्छा होगा क्योंकि जब भी कोई आतिशबाजी करता है पटाखे जलाता है तो उसे बहुत सारा धुवा निकलता है जो आप प्रदूषण में और एडिशन कर देता है क्योंकि दिल्ली में पहले से ही बहुत ज्यादा प्रदूषण है गाड़ियों के वजह से फैक्ट्री इसके वजह से तो अगर पटाखे ना जलाए जाएंगे तो इसमें प्रदूषण में और भी भारी इजाफा हो जाएगा तो इसी के मद्देनजर पिछले दिवाली पर वहां पर पटाखों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था लेकिन अभी नए साल पर ऐसा कोई भी प्रतिबंध नहीं लगाया गया जिससे प्रदूषण थोड़ा बड़ाई है तो दिल्ली में खासतौर पर पटाखों पर प्रतिबंध पूर्ण रुप से लगा देना चाहिए क्योंकि वहां की जनता प्रदूषण से काफी परेशान हो चुकी है

aatishabaji par agar pratibandh lagaya jata hai delhi mein toh yah wahan ke logo ke liye kaafi accha hoga kyonki jab bhi koi aatishabaji karta hai patakhe jalata hai toh use bahut saara dhuva nikalta hai jo aap pradushan mein aur edition kar deta hai kyonki delhi mein pehle se hi bahut zyada pradushan hai gadiyon ke wajah se factory iske wajah se toh agar patakhe na jalae jaenge toh isme pradushan mein aur bhi bhari ijafa ho jaega toh isi ke maddenajar pichle diwali par wahan par patakhon par pratibandh laga diya gaya tha lekin abhi naye saal par aisa koi bhi pratibandh nahi lagaya gaya jisse pradushan thoda badaai hai toh delhi mein khaasataur par patakhon par pratibandh purn roop se laga dena chahiye kyonki wahan ki janta pradushan se kaafi pareshan ho chuki hai

आतिशबाजी पर अगर प्रतिबंध लगाया जाता है दिल्ली में तो यह वहां के लोगों के लिए काफी अच्छा हो

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  263
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हम जरूरी नहीं कर रहा है तू आता है गाड़ियां चलाने वाले नंबर कितने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए क्योंकि कैसा है किसी इंडिया क्रिकेट मैच जीत गए हो इस बात पर भी हम लोगों को अभी तक सो रहे हो यह हमारी जिम्मेदारी को सपोर्ट करने लगता है इसे जरूर कम होगा प्रदूषण

ji hum zaroori nahi kar raha hai tu aata hai gadiyan chalane waale number kitne par pratibandh lagana chahiye kyonki kaisa hai kisi india cricket match jeet gaye ho is baat par bhi hum logo ko abhi tak so rahe ho yah hamari jimmedari ko support karne lagta hai ise zaroor kam hoga pradushan

जी हम जरूरी नहीं कर रहा है तू आता है गाड़ियां चलाने वाले नंबर कितने पर प्रतिबंध लगाना चाहि

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आतिशबाजी से पोलूशन तो बहुत ज्यादा होता है यह आप भी मानेंगे और यह जो प्रतिबंध है यह दिवाली के समय लगाया गया था क्योंकि दिवाली के समय दिल्ली में पापुलेशन हो जाता है कि लोग कई दिनों तक सांस भी नहीं ले पाते उसके बाद से लेकिन सिर्फ दिल्ली में प्रतिबंध लगा कर या यह बालम घाघरा पोलूशन कम कर देंगे सोच तो गलत है लेकिन बहुत अच्छी बात है कि पटाखों पर आतिशबाजी पर बैन लगाया गया वह लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए ही लगाया गया है लेकिन आप इतना काफी नहीं है बाकी जो उस दिन से पियवा करो यूनियन टेरिटरीज है बाकी शहर है वहां पर भी इस जवान को employee करने की जरूरत है लेकिन हां जो दिल्ली में जो एक राक्षस के ऊपर बाल लगाया गया था इसे जरूर कुछ पसंद पोलूशन कम हुआ काम नहीं हुआ तो इनक्रीस और पढ़ा तो नहीं ना तू एक अच्छी पहल थी और इसे बाकी शहरों में बाकी राज्यों में भी करना चाहिए

dekhi aatishabaji se pollution toh bahut zyada hota hai yah aap bhi manenge aur yah jo pratibandh hai yah diwali ke samay lagaya gaya tha kyonki diwali ke samay delhi mein population ho jata hai ki log kai dino tak saans bhi nahi le paate uske baad se lekin sirf delhi mein pratibandh laga kar ya yah baalam ghagra pollution kam kar denge soch toh galat hai lekin bahut achi baat hai ki patakhon par aatishabaji par ban lagaya gaya vaah logo ki sehat ko dhyan mein rakhte hue hi lagaya gaya hai lekin aap itna kaafi nahi hai baki jo us din se piyava karo union teritrij hai baki shehar hai wahan par bhi is jawaan ko employee karne ki zarurat hai lekin haan jo delhi mein jo ek rakshas ke upar baal lagaya gaya tha ise zaroor kuch pasand pollution kam hua kaam nahi hua toh increase aur padha toh nahi na tu ek achi pahal thi aur ise baki shaharon mein baki rajyo mein bhi karna chahiye

देखी आतिशबाजी से पोलूशन तो बहुत ज्यादा होता है यह आप भी मानेंगे और यह जो प्रतिबंध है यह दि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आतिशबाजी से बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है दिल्ली सबसे प्रदूषित शहर में इसके प्रतिबंध से प्रदूषण से बचने में मदद तो अवश्य ही मिलेगी आतिशबाजी इतनी जरूरी भी नहीं है वह सिर्फ हम अपनी खुशियों को जाहिर करने के लिए जलाते हैं तो उन्हें जाहिर करने के कई और भी तरीके उपयोग में लाए जा सकते हैं

ji haan aatishabaji se bahut zyada pradushan hota hai delhi sabse pradushit shehar mein iske pratibandh se pradushan se bachne mein madad toh avashya hi milegi aatishabaji itni zaroori bhi nahi hai vaah sirf hum apni khushiyon ko jaahir karne ke liye jalate hain toh unhe jaahir karne ke kai aur bhi tarike upyog mein laye ja sakte hain

जी हां आतिशबाजी से बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है दिल्ली सबसे प्रदूषित शहर में इसके प्रतिबंध

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे पहली बात तो यह है कि दिल्ली सरकार ने जो प्रतिबंध लगाया था वह आतिशबाजी पर नहीं लगाया था वहां पर जो बम के जितने भी डिस्ट्रीब्यूटर्स थे जितने भी पॉइंट जहां से बोल बेचे जाते हैं यानी विस्फोटक जो सामान है बेचा जाता है उसे प्रतिबंध लगाया था दूसरी बात अगर कभी दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो बेशक से फायदा होने वाला है क्योंकि आप देखेंगे यहां कई हद तक का फायदा होगा मैं नहीं कह रहा कि बिल्कुल प्रदूषण खत्म हो जाएगा लेकिन आप जब प्रतिबंध लगाते हैं तो उस को उस तरह से अप्लाई करना बहुत मुश्किल हो जाता है क्योंकि इन लोगों की सोच बदलने की जरूरत है तो मुझे यह लगता है कि आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाने से प्रदूषण से बचने में मदद मिलेगी लेकिन उसी के साथ साथ थोड़ा सा अभियान जागरूकता के चलाने चाहिए जिसमें इंसान को बताया जाए कि इस तरह से जो है परेशानी हो रही है क्योंकि जब तक इंसान के जहन में यह बात नहीं आएगी क्या हालत है जब तक मेरे ख्याल से से बचना बड़ा मुश्किल है तो

dekhe pehli baat toh yah hai ki delhi sarkar ne jo pratibandh lagaya tha vaah aatishabaji par nahi lagaya tha wahan par jo bomb ke jitne bhi distribyutars the jitne bhi point jaha se bol beche jaate hain yani vishphotak jo saamaan hai becha jata hai use pratibandh lagaya tha dusri baat agar kabhi delhi mein aatishabaji par pratibandh lagaya jata hai toh beshak se fayda hone vala hai kyonki aap dekhenge yahan kai had tak ka fayda hoga main nahi keh raha ki bilkul pradushan khatam ho jaega lekin aap jab pratibandh lagate hain toh us ko us tarah se apply karna bahut mushkil ho jata hai kyonki in logo ki soch badalne ki zarurat hai toh mujhe yah lagta hai ki aatishabaji par pratibandh lagane se pradushan se bachne mein madad milegi lekin usi ke saath saath thoda sa abhiyan jagrukta ke chalane chahiye jisme insaan ko bataya jaaye ki is tarah se jo hai pareshani ho rahi hai kyonki jab tak insaan ke zahan mein yah baat nahi aayegi kya halat hai jab tak mere khayal se se bachna bada mushkil hai toh

देखे पहली बात तो यह है कि दिल्ली सरकार ने जो प्रतिबंध लगाया था वह आतिशबाजी पर नहीं लगाया थ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध वास्तव में प्रदूषण से बचने में मदद करता है क्योंकि जैसा कि हम जानते हैं या दिल्ली में अभी कुछ दिन पहले ही इतनी बुरी हालत हो गई थी कि आप को हर जगह स्मॉग देखने को मिल रही थी लोग सांस नहीं ले पा रहे थे लोगों का जीना दुर्भर हो गया था हमें दो देखने को नहीं मिल रही थी वहां पर पूरा दिल्ली स्मॉग से पूरा कर चुका था तू अगर ऐसे में आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो कहीं ना कहीं थोड़ी बहुत - जरूर आएगा पल्यूशन पर और लोगों को चैन की सांस लेने मिलेगी तो अगर प्रतिबंध लगाया है तू बहुत ही सही लगा है और आगे चलकर हमें दिल्ली में अच्छी एयर की सुविधा मिलेगी इससे अच्छा और 400 तक हो सकता है क्योंकि दिल्ली की स्मार्ट बहुत ही बुरी होती जा रही है लोगों को उससे बहुत ही हानि होगी तो प्रतिबंध लगा कर आतंकवादी पर दिल्ली में प्रदूषण से बचा जा सकता है

ji haan delhi mein aatishabaji par pratibandh vaastav mein pradushan se bachne mein madad karta hai kyonki jaisa ki hum jante hain ya delhi mein abhi kuch din pehle hi itni buri halat ho gayi thi ki aap ko har jagah smog dekhne ko mil rahi thi log saans nahi le paa rahe the logo ka jeena durbhar ho gaya tha hamein do dekhne ko nahi mil rahi thi wahan par pura delhi smog se pura kar chuka tha tu agar aise mein aatishabaji par pratibandh lagaya jata hai toh kahin na kahin thodi bahut zaroor aayega pollution par aur logo ko chain ki saans lene milegi toh agar pratibandh lagaya hai tu bahut hi sahi laga hai aur aage chalkar hamein delhi mein achi air ki suvidha milegi isse accha aur 400 tak ho sakta hai kyonki delhi ki smart bahut hi buri hoti ja rahi hai logo ko usse bahut hi hani hogi toh pratibandh laga kar aatankwadi par delhi mein pradushan se bacha ja sakta hai

जी हां दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध वास्तव में प्रदूषण से बचने में मदद करता है क्योंकि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!