क्या जिग्नेश मेवानी का भाषण उत्तेजक था?...


user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पिछले हफ्ते एक रैली को संबोधित करते हुए MLA अधिवेशन में एक स्पीड दिया जो की वायरल हो गया और उसे उत्तेजक समझा गया लिखे जो भी है महाराष्ट्र में जो एक फूल दो माली महाराष्ट्र बंद किया गया उस पर जिग्नेश मवानी में दलितों की एक और एक MLA भी है उन्होंने कुछ ऐसा कहा कि जिसकी वजह से काफी बड़ा बवाल हो गया और उन्हें माना गया की बहुत-बहुत मेजर फैक्ट्री सारे रिकॉर्ड कर देगी मुझे लगता है कि मैंने कुछ गलत नहीं कहा उन्होंने से भी यही कहा कि अगर आप एक रेवोल्यूशन होगा तो असेंबली है पार्लियामेंट में बैठकर नहीं होगा पर रोड पर दिखी मैं मानती हूं कि हर चीज का एक तरीका होता है और उसे प्रॉपर प्रोसीजर और लव को देखते हुए ही करना चाहिए लेकिन आप कितने सालों से लोन को भी फॉलो करे जा रहे हैं पर दलितों की हालत तो अब तो सुधर नहीं है मैंने अभी थोड़े टाइम पहले ही देखा था कि कुछ रात से उनके कोडिंग और 1 दिन 2 दिन को मार दिया जाता उनकी हत्या कर दी जाती है हर दिन 6 महिलाओं से दलित महिलाओं के साथ रेप किया बलात्कार होते हैं तो चुप कोई आजादी इस हालत में है तू क्या सच में वह लोग के बारे में सोच पाएंगे उनके पास तो रोज ही एक अकेला ऑप्शन बचता है क्योंकि वह कब से वेट करेंगे साथ कुछ अच्छा हो पर ऐसा कुछ हुआ तो नहीं जिग्नेश मेवानी नहीं बाद में यह भी कहा कि उनके पास में कुछ उत्तेजना नहीं था और उन्होंने बोला कि लोग चाहे तो उनका भाषण फिर से सुन सकते हैं और मुझे भी यह सही ही लगता है

dekhiye pichle hafte ek rally ko sambodhit karte hue MLA adhiveshan mein ek speed diya jo ki viral ho gaya aur use uttejak samjha gaya likhe jo bhi hai maharashtra mein jo ek fool do maali maharashtra band kiya gaya us par jignesh mavani mein dalito ki ek aur ek MLA bhi hai unhone kuch aisa kaha ki jiski wajah se kaafi bada bawaal ho gaya aur unhe mana gaya ki bahut bahut major factory saare record kar degi mujhe lagta hai ki maine kuch galat nahi kaha unhone se bhi yahi kaha ki agar aap ek Revolution hoga toh assembly hai parliament mein baithkar nahi hoga par road par dikhi main maanati hoon ki har cheez ka ek tarika hota hai aur use proper procedure aur love ko dekhte hue hi karna chahiye lekin aap kitne salon se loan ko bhi follow kare ja rahe hain par dalito ki halat toh ab toh sudhar nahi hai maine abhi thode time pehle hi dekha tha ki kuch raat se unke coding aur 1 din 2 din ko maar diya jata unki hatya kar di jaati hai har din 6 mahilaon se dalit mahilaon ke saath rape kiya balatkar hote hain toh chup koi azadi is halat mein hai tu kya sach mein vaah log ke bare mein soch payenge unke paas toh roj hi ek akela option bachta hai kyonki vaah kab se wait karenge saath kuch accha ho par aisa kuch hua toh nahi jignesh mevani nahi baad mein yah bhi kaha ki unke paas mein kuch uttejna nahi tha aur unhone bola ki log chahen toh unka bhashan phir se sun sakte hain aur mujhe bhi yah sahi hi lagta hai

देखिए पिछले हफ्ते एक रैली को संबोधित करते हुए MLA अधिवेशन में एक स्पीड दिया जो की वायरल हो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Bari khan

Practicing journalist

0:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो रे गांव में जो जिग्नेश मेवानी जी ने अपना भाषण दिया मुझे नहीं लगता वह कुत्ते चंपा क्षमता उत्तेजक अगर आप किस जगह से आप क्या समझते हैं सबसे बड़ी बात हुआ है उन्होंने से बात कही वह सच नहीं उनका लहजा थोड़ा तीखा था वह ठीक है लेकिन जब आप सही बात कह रहे हो तो और सच बात तो कई लोगों को छुट्टी बहुत है तो मुझे लगता है बिल्कुल उत्तेजक तो नहीं था जी हां जिस तरह से भाषण दोनों दिया वह उनकी अपनी शैली है तो मुझे नहीं लगता है कहीं से कहीं तक तक तक

dekho ray gaon mein jo jignesh mevani ji ne apna bhashan diya mujhe nahi lagta vaah kutte champa kshamta uttejak agar aap kis jagah se aap kya samajhte hain sabse badi baat hua hai unhone se baat kahi vaah sach nahi unka lahaja thoda teekha tha vaah theek hai lekin jab aap sahi baat keh rahe ho toh aur sach baat toh kai logo ko chhutti bahut hai toh mujhe lagta hai bilkul uttejak toh nahi tha ji haan jis tarah se bhashan dono diya vaah unki apni shaili hai toh mujhe nahi lagta hai kahin se kahin tak tak tak

देखो रे गांव में जो जिग्नेश मेवानी जी ने अपना भाषण दिया मुझे नहीं लगता वह कुत्ते चंपा क्षम

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!