राहुल गांधी मोदी के 'मेक इन इंडिया' को 'फेक इन इंडिया' कहते हैं, क्या आपको लगता है कि वह किसी तरह से सही हैं?...


play
user

Awdhesh Singh

Director AwdheshAcademy.com

0:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है, कि जो मेक इन इंडिया कम्पैन है, वह कामयाब नहीं हुआ है| और मैं नहीं समझता कि पिछले तीन साडे तीन सालों में जो है वह जो एनडीए की सरकार है, उसमें कोई बहुत ज्यादा इन्वेस्टमेंट मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में मंगाया हो, बुलाया हो और कोई मैन्युफैक्चरिंग मेजर यूनिट्स सेट अप की हो| तो ऐसा मुझे लगता नहीं है, तो मैं समझता हूं कि मेक इन इंडिया जो है, उसको मोर और लेस उसको एक फेलियर ही मान सकते हैं| लेकिन उसको फेक इन इंडिया तो नहीं कह सकते हैं| लेकिन यह पॉलिटिकल मुद्दा है, अगर कोई भी जो सरकार है, अगर वह कामयाब नहीं होती अपनी स्कीम्स में, जिसकी वह इतनी बढ़ चढ़ के पब्लिसिटी है| तो अपोजीशन वाले डेफिनेटली उसको मुद्दा को बनाएंगे और उसका मजाक उड़ाएंगे| तो इस तरीके से राहुल गांधी वही कर रहे हैं, जो कि ओप्पोजिशन लीडर को करना चाहिए|

mujhe aisa lagta hai ki jo make in india kampain hai vaah kamyab nahi hua hai aur main nahi samajhata ki pichle teen saade teen salon mein jo hai vaah jo nda ki sarkar hai usme koi bahut zyada investment manufacturing sector mein mangaya ho bulaya ho aur koi manufacturing major units set up ki ho toh aisa mujhe lagta nahi hai toh main samajhata hoon ki make in india jo hai usko mor aur less usko ek failure hi maan sakte hain lekin usko fake in india toh nahi keh sakte hain lekin yah political mudda hai agar koi bhi jo sarkar hai agar vaah kamyab nahi hoti apni schemes mein jiski vaah itni badh chadh ke publicity hai toh apojishan waale definetli usko mudda ko banayenge aur uska mazak udaenge toh is tarike se rahul gandhi wahi kar rahe hain jo ki oppojishan leader ko karna chahiye

मुझे ऐसा लगता है, कि जो मेक इन इंडिया कम्पैन है, वह कामयाब नहीं हुआ है| और मैं नहीं समझता

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  647
WhatsApp_icon
17 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी के कितने बेटे थे वह कैसेट इंडियन पार्टी मकान की पीओपी नंबर करेगी उसे भी करनी होती है 10:00 बजे उसे अब नहीं होती है होती है कंपनियां एकदम तैयार हो जाएगी एक नई पहचान

rahul gandhi ke kitne bete the wah kaiset indian party makan ki POP number karegi use bhi karni hoti hai 10:00 baje use ab nahi hoti hai hoti hai companiya ekdam taiyaar ho jayegi ek nayi pehchaan

राहुल गांधी के कितने बेटे थे वह कैसेट इंडियन पार्टी मकान की पीओपी नंबर करेगी उसे भी करनी ह

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1282
WhatsApp_icon
user

Kinnari Raval

Singer-Artist

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया के राहुल गांधी

make in india make in india ke rahul gandhi

मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया के राहुल गांधी

Romanized Version
Likes  191  Dislikes    views  2993
WhatsApp_icon
user

Abhinandan Kumar Tiwari

Phd, M-Tech software Expect

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेक इन इंडिया का मैच कितने तारीख नई नई कंपनी आ गया है छोटी-छोटी लिमिटेड कंपनी से बहुत ही ज्यादा जॉब अपॉर्चुनिटी क्रिएट हुआ है और हमने देखा है देखा तो मेक इन इंडिया

make in india ka match kitne tarikh nayi nayi company aa gaya hai choti choti limited company se bahut hi zyada job opportunity create hua hai aur humne dekha hai dekha toh make in india

मेक इन इंडिया का मैच कितने तारीख नई नई कंपनी आ गया है छोटी-छोटी लिमिटेड कंपनी से बहुत ही ज

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  957
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी मोदी जी को मेक इन इंडिया की जगह सेकंड ईयर कहते हैं उसका कारण का यह मानी है कि वह विपक्षी दल के नेता है जो कि मैं तो आज तक इस बात को स्वीकार करने में नहीं स्वीकार नहीं कर सकता हूं कि मोदी मोदी का विकल्प राहुल गांधी हो सकता है जल्दी मुझे कांग्रेस व बीजेपी इंदौर से कोई मतलब नहीं है किंतु राहुल गांधी की जो कुछ सुनते हैं उनके विचारों में अन्य छोटी नजर आती है मैं चोटिला मानना चाहिए उनको मेरा तो यह मानना है कि मैं शिष्टाचार का भी बहुत बड़ा हुआ है वह बोल तुमको खुद नहीं एहसास होता है कि मैं के शब्दों का प्रयोग किसके लिए कर रहा हूं और इन शब्दों का क्या अर्थ होता है यह सच्चाई है यह मैं सूत्रों समित पात्रा जी बिल्कुल सही कहते हैं यह व्यक्ति सोने का चम्मच लिए हुए मुंह में पैदा हुआ है इसलिए यह कांग्रेस पार्टी का रीडिंग कर रहे हैं सच्चाई में है यदि किसी गरीब रथ से जन्म लेते तो निश्चित रूप से यह कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष नहीं क्योंकि इनके सारे जितने भी विचार सुनेंगे वह सारे विचारों में बहुत बड़ी कमियां हैं यह बोलते कुछ निकलता कुछ उसके अर्थ दूसरों होते हैं जबकि यह कई बार आप देख रहे हो कि इनके नेतृत्व में लड़े गए कांग्रेस के जितने भी चुनाव थे उनमें अधिकांश में इनको हार मिली थी कर सकती हो कुंती बस में यदि कोई एक लीडर था तो उस श्रीमती इंदिरा गांधी थी इंदिरा गांधी जी वास्तव में बेस्ट पीएम में अकाउंट की जा सकती है किंतु बड़ा दुर्भाग्य का विषय है कि उनके परिवार में जन्म लेने के बाद भी दी राहुल गांधी जी ना तो भारतीय हिस्ट्री को समझते हैं ना बाटे कल्चर को समझते हैं ना भारती सिस्टर चारों को जानते हैं

rahul gandhi modi ji ko make in india ki jagah second year kehte hain uska karan ka yah maani hai ki vaah vipakshi dal ke neta hai jo ki main toh aaj tak is baat ko sweekar karne mein nahi sweekar nahi kar sakta hoon ki modi modi ka vikalp rahul gandhi ho sakta hai jaldi mujhe congress va bjp indore se koi matlab nahi hai kintu rahul gandhi ki jo kuch sunte hain unke vicharon mein anya choti nazar aati hai chotila manana chahiye unko mera toh yah manana hai ki main shishtachar ka bhi bahut bada hua hai vaah bol tumko khud nahi ehsaas hota hai ki main ke shabdon ka prayog kiske liye kar raha hoon aur in shabdon ka kya arth hota hai yah sacchai hai yah main sootron samit patra ji bilkul sahi kehte hain yah vyakti sone ka chammach liye hue mooh mein paida hua hai isliye yah congress party ka reading kar rahe hain sacchai mein hai yadi kisi garib rath se janam lete toh nishchit roop se yah congress ke rashtriya adhyaksh nahi kyonki inke saare jitne bhi vichar sunenge vaah saare vicharon mein bahut badi kamiya hain yah bolte kuch nikalta kuch uske arth dusro hote hain jabki yah kai baar aap dekh rahe ho ki inke netritva mein lade gaye congress ke jitne bhi chunav the unmen adhikaansh mein inko haar mili thi kar sakti ho kuntee bus mein yadi koi ek leader tha toh us shrimati indira gandhi thi indira gandhi ji vaastav mein best pm mein account ki ja sakti hai kintu bada durbhagya ka vishay hai ki unke parivar mein janam lene ke baad bhi di rahul gandhi ji na toh bharatiya history ko samajhte hain na baate culture ko samajhte hain na bharati sister charo ko jante hain

राहुल गांधी मोदी जी को मेक इन इंडिया की जगह सेकंड ईयर कहते हैं उसका कारण का यह मानी है कि

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  310
WhatsApp_icon
user

Satish gambre

Journalist

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी जी मैप इन इंडिया को लेकर पूरी तरीके से गलत और भ्रामक बातें फैला रहे हैं मैं क्या मतलब क्या काम था मोदी जी कर रहे हैं जो देश की दूसरे देश की टेक्निक अपने आप आ रहे हैं वहां चला रहे हैं यहां पर वहां का दिमाग यहां पर यूज कर रहे हैं और कभी कभी किसी को कम से कम तो आप देखेंगे कि बेरोजगारी को दूर करने में सबसे ज्यादा नकारात्मक शिक्षा के क्षेत्र में चिकित्सा के क्षेत्र में आर्थिक क्षेत्र की बातें

rahul gandhi ji map in india ko lekar puri tarike se galat aur bhramak batein faila rahe hain main kya matlab kya kaam tha modi ji kar rahe hain jo desh ki dusre desh ki technique apne aap aa rahe hain wahan chala rahe hain yahan par wahan ka dimag yahan par use kar rahe hain aur kabhi kabhi kisi ko kam se kam toh aap dekhenge ki berojgari ko dur karne mein sabse zyada nakaratmak shiksha ke kshetra mein chikitsa ke kshetra mein aarthik kshetra ki batein

राहुल गांधी जी मैप इन इंडिया को लेकर पूरी तरीके से गलत और भ्रामक बातें फैला रहे हैं मैं क्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  289
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भैया राहुल गांधी जी तो बहुत कुछ बोलते हैं मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया को प्ले इंडिया बोलते हैं वह खुद फेक आदमी हैं उनका पूरा परिवार ठीक है सपा बस्ती वालों की पार्टी लालू मुलायम इस सब ठीक हैं यह भ्रष्टाचारी हैं इनके ऊपर इतना भ्रष्टाचार का आरोप है उसके बाद भी इनको शर्म नहीं लगती है कि मेक इन इंडिया को यह फेक इंडिया बोलते आज आपके देश की ताकत इतनी है कि आप घर में घुसकर मारते हैं 21वी सदी का इंडिया है इंडिया जागरूक हो गया है भारत की जनता जागरूक हो चुकी है भारत की जनता आप कमजोर नहीं है कर्ज नहीं लेगी कर्ज़ लेगी तो भरेगी ऐसी भावना आई है ऐसी भावना अगर किस दिलाने वाला कोई है हमारे देश में तो मोदी जी के माध्यम माध्यम से ऐसी भावना आई है मध्यम वर्ग के लोगों को कांग्रेस पार्टी ने कमजोर कर दिया था करके देख कर कर्ज़ हम लेंगे तो कर्ज हम भरेंगे भी ऐसी भावना आई है तो राहुल गांधी जी तरह-तरह के गलत बयान देते हैं उनको नॉलेज नहीं है और हमको लगता है कि कांग्रेस पार्टी के जितने लीटर हैं सब भ्रष्टाचारी हैं किसी के पास थोड़ा बहुत भी नॉलेज नहीं है और दिक्कत है इनके नॉलेज में तो आइए हम सभी लोग मिलजुलकर अपना वोट भारतीय जनता पार्टी को करें बहुत चरणों का चुनाव हो चुका है लगभग 380 पचासी सीटों पर जो बचा है सीट अगर आप मतदान जरूर करिए उस सीट पर अपने सीटों पर जाकर ताकि प्रधानमंत्री मोदी जी प्रधानमंत्री बन सके और देश को तरक्की दिला सके धन्यवाद

bhaiya rahul gandhi ji toh bahut kuch bolte hain make in india make in india ko play india bolte hain vaah khud fake aadmi hain unka pura parivar theek hai sapa basti walon ki party lalu mulayam is sab theek hain yah bhrashtachaari hain inke upar itna bhrashtachar ka aarop hai uske baad bhi inko sharm nahi lagti hai ki make in india ko yah fake india bolte aaj aapke desh ki takat itni hai ki aap ghar mein ghuskar marte hain va sadi ka india hai india jagruk ho gaya hai bharat ki janta jagruk ho chuki hai bharat ki janta aap kamjor nahi hai karj nahi legi karz legi toh bharegi aisi bhavna I hai aisi bhavna agar kis dilaane vala koi hai hamare desh mein toh modi ji ke madhyam madhyam se aisi bhavna I hai madhyam varg ke logo ko congress party ne kamjor kar diya tha karke dekh kar karz hum lenge toh karj hum bharenge bhi aisi bhavna I hai toh rahul gandhi ji tarah tarah ke galat bayan dete hain unko knowledge nahi hai aur hamko lagta hai ki congress party ke jitne litre hain sab bhrashtachaari hain kisi ke paas thoda bahut bhi knowledge nahi hai aur dikkat hai inke knowledge mein toh aaiye hum sabhi log miljulakar apna vote bharatiya janta party ko kare bahut charno ka chunav ho chuka hai lagbhag 380 pachasi seaton par jo bacha hai seat agar aap matdan zaroor kariye us seat par apne seaton par jaakar taki pradhanmantri modi ji pradhanmantri ban sake aur desh ko tarakki dila sake dhanyavad

भैया राहुल गांधी जी तो बहुत कुछ बोलते हैं मेक इन इंडिया मेक इन इंडिया को प्ले इंडिया बोलते

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
user

BRAHAM SINGH

Social Activist

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेक इन इंडिया में इतनी सारी है हमारा देश बना रहा है हर स्तर पर हमारा देश बना रहा है कि एरोप्लेन में चल रहा है मेट्रो ट्रेन हो सभी तो मेक इंडिया में आ गई है क्या क्या काम अर्जुन काम होता है उनका

make in india mein itni saree hai hamara desh bana raha hai har sthar par hamara desh bana raha hai ki aeroplane mein chal raha hai metro train ho sabhi toh make india mein aa gayi hai kya kya kaam arjun kaam hota hai unka

मेक इन इंडिया में इतनी सारी है हमारा देश बना रहा है हर स्तर पर हमारा देश बना रहा है कि एरो

Romanized Version
Likes  152  Dislikes    views  2625
WhatsApp_icon
user

Kishan Kumar

Motivational speaker

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार भाइयों आपने राहुल गांधी मोदी के मेक इन इंडिया को फेंक इन इंडिया कहते हैं क्या आपको लगता है कि वह किसी तरह से सही है दोस्तों ऐसा लगता नहीं है लेकिन कहीं ना कहीं मोदी जी अच्छे काम किए हैं पहले से जो कई सारे मेक इन इंडिया का कौशल विकास और सुख सुमंगल कन्या योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सब पढ़े सब बढ़े ऐसी योजनाएं हैं जो अच्छा काम कर रहा है मेक इन इंडिया 19 मई का राज इतना होना चाहिए तो हम चाहेंगे कि इस पर और भी काम किया जाए तो काफी अच्छा होगा तो या फेक इंडिया नहीं या मेक इन इंडिया होगा थैंक यू

namaskar bhaiyo aapne rahul gandhi modi ke make in india ko fenk in india kehte kya aapko lagta hai ki vaah kisi tarah se sahi hai doston aisa lagta nahi hai lekin kahin na kahin modi ji acche kaam kiye hain pehle se jo kai saare make in india ka kaushal vikas aur sukh sumangal kanya yojana beti bachao beti padhao sab padhe sab badhe aisi yojanaye hain jo accha kaam kar raha hai make in india 19 may ka raj itna hona chahiye toh hum chahenge ki is par aur bhi kaam kiya jaaye toh kaafi accha hoga toh ya fake india nahi ya make in india hoga thank you

नमस्कार भाइयों आपने राहुल गांधी मोदी के मेक इन इंडिया को फेंक इन इंडिया कहते हैं क्या आपको

Romanized Version
Likes  141  Dislikes    views  1350
WhatsApp_icon
user
1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए राहुल गांधी एज वे कह रहे हैं मेक इन इंडिया इंडिया यह भी सही नहीं है यह तो पार्टी है भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस को यह तो है नहीं कि कांग्रेसियों है वह अपना पूरा करेगी और सुनने वाली कहीं बुरा कहेगी तो राहुल गांधी तो उसके लिए डर है वह हो यह ऐसा नहीं बोलेंगे कि मैं किंजल जा गुड क्वालिटी इंप्रूवमेंट ऑफ़ आवर कंट्री मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट को सेकंड ले कर रहे हैं और मुझे नहीं लगता यह किसी तरीके से सही है क्योंकि यह सब हो इसलिए बोल रहे हैं ताकि उन्हें अपनी पार्टी में विजय मिल सके लेकिन ऐसा कुछ नहीं होने वाला क्योंकि जनता अंधी नहीं है उसे सब दिखता है किसी के कहने से या किसी की बुक में से किसी पर कोई फर्क नहीं पड़ता और मेक इन इंडिया एक सही प्रोजेक्ट है उसे हम सेकंड इंडिया कभी नहीं कर सकते

dekhie rahul gandhi age ve keh rahe hain make in india india yeh bhi sahi nahi hai yeh toh party hai bharatiya janta party aur congress ko yeh toh hai nahi ki congressiyon hai wah apna pura karegi aur sunne wali kahin bura kahegi toh rahul gandhi toh uske liye dar hai wah ho yeh aisa nahi bolenge ki main kinjal ja good quality improvement of hour country make in india project ko second le kar rahe hain aur mujhe nahi lagta yeh kisi tarike se sahi hai kyonki yeh sab ho isliye bol rahe hain taki unhein apni party mein vijay mil sake lekin aisa kuch nahi hone vala kyonki janta andhi nahi hai use sab dikhta hai kisi ke kehne se ya kisi ki book mein se kisi par koi fark nahi padta aur make in india ek sahi project hai use hum second india kabhi nahi kar sakte

देखिए राहुल गांधी एज वे कह रहे हैं मेक इन इंडिया इंडिया यह भी सही नहीं है यह तो पार्टी है

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  370
WhatsApp_icon
user

shakti raj

Teacher

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी क्या बोलते हैं मेक इन इंडिया को फेंके इंडिया बोलते क्या बोलते हैं इसके मतलब नहीं है सबसे पहले बाद केवल अपने बारे में बताएं वह मेक इन इंडिया है कि नहीं भाई मेरे को तो डाउट है इस बात पर आता उसके दो क्लियर है जिस तरह से कि सोनिया गांधी जी इटली से आई हुई है इटालियन है और ऐसा भारत में नहीं होना चाहिए कि अगर 20 केवीए मां या पाप या नानी दादी कोई रिश्तेदार अगर देश से है मजदूर का पति को कुछ पद पर नहीं रहना चाहिए देश की सुरक्षा के साथ समझौता भी हो सकता है किसी भी तरह का खतरा भी हो सकता है ऐसा माना जाना चाहिए बाद में बताना नरेंद्र मोदी जी का मेक इन इंडिया क्या है

rahul gandhi kya bolte hain make in india ko faike india bolte kya bolte hain iske matlab nahi hai sabse pehle baad keval apne bare mein bataye wah make in india hai ki nahi bhai mere ko toh doubt hai is baat par aata uske do clear hai jis tarah se ki sonia gandhi ji italy se I hui hai italian hai aur aisa bharat mein nahi hona chahiye ki agar 20 kva maa ya paap ya naani dadi koi rishtedar agar desh se hai majdur ka pati ko kuch pad par nahi rehna chahiye desh ki suraksha ke saath samjhauta bhi ho sakta hai kisi bhi tarah ka khatra bhi ho sakta hai aisa mana jana chahiye baad mein batana narendra modi ji ka make in india kya hai

राहुल गांधी क्या बोलते हैं मेक इन इंडिया को फेंके इंडिया बोलते क्या बोलते हैं इसके मतलब नह

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  355
WhatsApp_icon
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर राहुल जी के हिसाब से जीएसटी गब्बर सिंह टैक्स हो सकता है तो मोदी जी का कोई स्कीम है मेक इन इंडिया तो मेक इन इंडिया हो सकता है आपको एक हिस्ट्री उठा लीजिए दुनिया में कहीं भी रूलिंग और रोलिंग का काम है सरकार चलाना और पोजीशन में काम है उसका विरोध करना अगर सपोर्टेड वह विरोध नहीं करेगी तो ऐसा नहीं हो पाएगा नागर विरोध करना ही पड़ेगा क्योंकि एक संविधान का आर्टिकल है जहां तक बात रह गई मेक इन इंडिया का तो चलिए हम ठीक है मेक इन इंडिया को मानते हैं भारत में किन इंडिया में इन्वेस्टमेंट कहां कर रहा है कई नई नई टेक्नोलॉजी नई नई चीजें जो जापान से कोरिया से चीन से बनकर आती है सपोर्टेड आपने दे दिया यह भी वह हमारी जनसंख्या दुनिया में दूसरे नंबर पर है हम मेक इन इंडिया के हिसाब से अपने खुद इंवेंट इन्वेस्टमेंट करते हैं खुद मोबाइल निकालते गुदगुदे बैटरी निकाल दे खुद चार्जर निकालते लेकिन सब पर मेहर में मेड इन चाइना मेड इन चाइना मेड इन हिंदी मेड इन जापान तू अगर मैं क्लीन इंडिया अगस्त सक्सेस हुआ है तो उसका इन्वेस्टमेंट होना चाहिए और उसका प्रोडक्ट होना चाहिए हालांकि आज तक तो हमने पूर्व कोई प्रोडक्ट दिखाइए कुछ दिन विवाद हुआ चलो और विवो के पोस्टर को फाड़ दे उस से क्या होगा हमें मेक इन इंडिया कर मोदी जी बना है तो उसमें इनवेस्टमेंट करना चाहिए लोग युवा को रोजगार देना चाहिए मेक इन इंडिया के हिसाब से और मेक इन इंडिया को आगे बढ़ाना चाहिए ताकि फ्यूचर में इस काम नाम ले सके लेकिन ऐसा फल है तो कुछ नहीं तू क्या करेंगे अपोजीशन तो मेक इन इंडिया क्या है वह इस बात का समर्थन करता हूं

agar rahul ji ke hisab se gst gabbar singh tax ho sakta hai to modi ji ka koi scheme hai make in india to make in india ho sakta hai aapko ek history utha lijiye duniya mein kahin bhi ruling aur rolling ka kaam hai sarkar chalana aur position mein kaam hai uska virodh karna agar supported wah virodh nahi karegi chahiye to aisa nahi ho payega nagar chahiye virodh karna hi padega kyonki ek samvidhan ka article hai jaha tak baat rah gayi make in india ka to chaliye hum theek hai make in india ko manate hain bharat mein kin india mein investment Kahan chahiye kar raha hai kai nayi nayi technology nayi nayi cheezen jo japan se korea se chin se bankar aati hai supported aapne de diya yeh bhi wah hamari jansankhya duniya mein dusre chahiye number par hai hum make in india ke hisab se apne khud invent investment karte hain khud mobile nikalate gudgude battery nikal chahiye de khud charger nikalate lekin sab par mehar mein made in china made in china made in hindi made in japan tu agar main clean india august success hua hai to uska investment hona chahiye aur uska product hona chahiye halaki aaj tak to humne purv koi product dikhaaiye chahiye kuch din vivad hua chalo aur vivo ke poster ko fad de us se kya hoga hume make in india kar modi ji bana hai to usamen chahiye investment karna chahiye log yuva ko rojgar dena chahiye make in india ke hisab se aur make in india ko aage badhana chahiye taki future mein is kaam naam le sake lekin aisa fal hai to kuch nahi tu kya karenge apojishan to make in india kya hai wah is baat ka samarthan karta hoon

अगर राहुल जी के हिसाब से जीएसटी गब्बर सिंह टैक्स हो सकता है तो मोदी जी का कोई स्कीम है मेक

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  197
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर राहुल गांधी की बात सुने जहां पर उन्होंने कहा है कि मोदी जी का मेक इन इंडिया आए जो प्रोजेक्ट जो है उसे उन्होंने बताया कि वह मेक इन इंडिया नहीं तो किसी की नहीं गया आ मेरे हिसाब से तुम राहुल गांधी जी ने जो कहा है वह बिल्कुल गलत कहा है क्योंकि आज इस प्रकार से डेवलपमेंट जो है वह पाया गया है मेक इन इंडिया के द्वारा क्योंकि आज PM मोदी जी ने कहा था कि अब समय आ चुका है कि हम क्रेडिट एबिलिटी की बात करें और जितना हो सके उतना हम दो ऐसी क्रिटिकल चीजों पर ध्यान दें जो कि भारत में सबसे ज्यादा जरूरी है पहला तो है रोजगार और दूसरा नहीं पहुंचे तो मेक इन इंडिया से जो है वह हमेशा हरी भरी फसल चक्र ध्यान रहे तो काम में काफी लेबरों एंड स्ट्रक्चर भेजो है कुछ हद तक डेवलपमेंट देखा जा चुका जा चुका है और सिर्फ यही नहीं कि जिस प्रकार से लोगों को रोजगार मिल रहा है और जिस प्रकार से भारत का जो जीडीपी पर झुका और उनका एफडीआई में इन्वेस्टमेंट जो है वह भी बढ़ चुका है क्योंकि 2014 15 की बात करें जय भीम मेक इन इंडिया लांच हुआ था तब इंडिया को लगभग 19 बिलियन डॉलर्स मिले थे फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट में अमेरिका के द्वारा से भी यही नहीं आज इस प्रकार से मेक इन इंडिया प्रोग्राम जो है जहां पर उन्होंने से प्ले वॉलपेपर नहीं जबकि 25 लोग अलग इंडस्ट्री हो पर भी फोकस किया गया है जहां पर सरकार में सौ प्रतिशत वन डेवलपमेंट मिलने का वादा दिया है और औषधीय ही नहीं कि जिस प्रकार से इन्वेस्टमेंट होते आ रहे थे लेकिन इंडिया में जस्सी लोगों को रोजगार और मिल रहा था तो मेरे हिसाब से यह पीक इन इंडिया नहीं है मेक इन इंडिया कुछ आतंकवाद सक्सेसफुल रहा है और इसका श्री मोदी जी को जाता है

agar rahul gandhi ki baat sune jaha par unhone kaha hai ki modi ji ka make in india aaye jo project jo hai use unhone bataya ki wah make in india nahi to kisi ki nahi gaya aa mere hisab se tum rahul gandhi ji ne jo kaha hai wah bilkul galat kaha hai kyonki aaj is prakar se development jo hai wah paya gaya hai make in india ke dwara kyonki aaj PM modi ji ne kaha tha ki ab samay aa chuka hai ki hum credit ability ki baat kare chahiye aur jitna ho sake utana chahiye hum do aisi critical chijon par dhyan de jo ki bharat mein sabse jyada zaroori hai pehla to hai rojgar aur doosra nahi pahuche to make in india se jo hai wah hamesha hari bhari fasal chakra dhyan rahe to kaam mein kaafi lebaron end structure bhejo hai kuch had tak development dekha ja chuka ja chuka hai aur sirf yahi nahi ki jis prakar se logo chahiye ko rojgar mil raha hai aur jis prakar se bharat ka jo gdp par jhuka aur unka IFDI mein investment jo hai wah bhi badh chuka hai kyonki 2014 15 ki baat kare chahiye jai bhim make in india launch hua tha tab india ko lagbhag 19 billion dollars mile the foreign direct investment mein america ke dwara se bhi yahi nahi aaj is prakar se make in india program jo hai jaha par unhone se play wallpaper nahi jabki 25 log alag industry ho par bhi focus kiya gaya hai jaha par sarkar mein sau pratishat van development milne ka vada diya hai aur aushadhiy hi nahi ki jis prakar se investment hote aa rahe the lekin india mein jessie logo chahiye ko rojgar aur mil raha tha to mere hisab se yeh peak in india nahi hai make in india kuch aatankwad successful raha hai aur iska shri modi ji ko jata hai

अगर राहुल गांधी की बात सुने जहां पर उन्होंने कहा है कि मोदी जी का मेक इन इंडिया आए जो प्रो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी जी मोदी जी के मेक इन इंडिया कोर्सेज इन इंडिया कहते हैं और क्या मुझे लगता है कि सैया जी नहीं मुझे बिल्कुल भी नहीं लगता कि यह सही है क्योंकि मोदी जी की मेक इन इंडिया ने बहुत ही अच्छे काम करें हैं देश के लिए और मोदी जी के मेक इन इंडिया की वजह से ही हमको आज स्किल्ड लेबर की सुविधा उपलब्ध हुई है लोगों को और योजना शेयर कौशल योजना शिविर में जाकर स्किल्ड लेबर बनने की योजना हुई है जिससे को रोजगार कर सकते हैं उनकी बेरोजगारी खत्म हो सकती है वह अपने लिए खुद कमा कर खा सकते हैं तो अगर ऐसे काम हो रहे हैं और हमारे देश में बेरोजगारी कम हो रही है तो हम सिर्फ एक इन इंडिया तो बिल्कुल भी नहीं कह सकते तो राहुल गांधी जी का यह कथन बिल्कुल ही गलत है

rahul gandhi ji modi ji ke make in india courses in india kehte hain aur kya mujhe lagta hai ki saiya ji nahi mujhe bilkul bhi nahi lagta ki yah sahi hai kyonki modi ji ki make in india ne bahut hi acche kaam kare hain desh ke liye aur modi ji ke make in india ki wajah se hi hamko aaj Skilled labour ki suvidha uplabdh hui hai logo ko aur yojana share kaushal yojana shivir mein jaakar Skilled labour banne ki yojana hui hai jisse ko rojgar kar sakte hain unki berojgari khatam ho sakti hai vaah apne liye khud kama kar kha sakte hain toh agar aise kaam ho rahe hain aur hamare desh mein berojgari kam ho rahi hai toh hum sirf ek in india toh bilkul bhi nahi keh sakte toh rahul gandhi ji ka yah kathan bilkul hi galat hai

राहुल गांधी जी मोदी जी के मेक इन इंडिया कोर्सेज इन इंडिया कहते हैं और क्या मुझे लगता है कि

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी का क्योंकि कुछ काम नहीं हुआ है मेक इन इंडिया की इंडिया से मतलब तो इंपोर्ट एक्सपोर्ट 12785 एक्सपोर्ट करने की कोशिश की लेकिन कुछ कुछ बातें चालू है बट इतना अच्छा है और अभी भी हम सपोर्ट करते हैं और फिर बहुत प्यार करते हैं करते हैं फिर भी ठीक-ठाक में नहीं है तू इस बात पर मतलब

rahul gandhi ka kyonki kuch kaam nahi hua hai make in india ki india se matlab to import export 12785 export karne ki koshish ki lekin kuch kuch batein chalu hai but itna accha hai aur abhi bhi hum support karte hain aur phir bahut pyar karte hain karte hain phir bhi theek thak mein nahi hai tu is baat par matlab

राहुल गांधी का क्योंकि कुछ काम नहीं हुआ है मेक इन इंडिया की इंडिया से मतलब तो इंपोर्ट एक्स

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्री राहुल गांधी जी ने जो मोदी जी के मेक इन इंडिया कैंपेन को सेकंड ईयर कहां है उस बात तो मुझे उस बात को सही ठहराने वाला के राहुल गांधी ने कहा है फिर भी उसको सही कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि अगर आप उसे उठाकर देखें बात की जाती है जो बाद दिखाई जा रही है आज का आज के दौर में क्या मैं आपको बहुत दिखाने वाली चीजें हैं हालांकि जवाब हकीकत जमीन पर जा कर देखने हैं तो पता चलेगा कि जो आज भी चीजें मेंथा किधर हो रही है इंडिया के अंदर उसके 5 बार संभोग किया जा रहा है अगर आप किसी मोबाइल की बात करोगे Micromax कंपनी ज्वाइन दिया की अच्छी बड़ी कंपनी है उन्होंने को मोबाइल लांच किया जो पूरा कॉपी किया है चाइना से तो उन्होंने बना बनाया मोबाइल कॉपी कर लिया उसके बाद सही से मनाया जा रहे हैं तो कहने का मतलब यह है कि अगर मेक इन इंडिया हो रहा है तो लिख क्यों नहीं रहा है क्योंकि आज आप अपने घर का कोई भी इलेक्ट्रॉनिक सामान खोल कर देख लीजिए बहुत बहुत कम ऐसा होगा कि आपको मिल जाएगी हां यह मेक इन इंडिया और अगर आप एक बहुत ही अभी जो Mi बहुत मार्केट में बनी हुई हे माई के फोन देखे जा लिखा जाता है मेरी निंदिया पर फोन को खोल कर देखेंगे तो उसके अंदर जितने भी पार्ट्स लगे हैं वह सब इंपोर्ट किया हूं तो मुझे नहीं लगता कि यह फेक इन इंडिया कहना गलत होगा लेकिन किसी तरह से अगर कोशिश की जाए तो फीट इन इंडिया होना चाहिए स्पीड ऑफ 1 इन इंडिया विकी कितना आगे तक जाती है यह मेक इन इंडिया कैंपेन कैंपेन बहुत अच्छा है लेकिन उस पर अमल नहीं है बिल्कुल भी

shri rahul gandhi ji ne jo modi ji ke make in india campaign ko second year kahaan hai us baat toh mujhe us baat ko sahi thaharane vala ke rahul gandhi ne kaha hai phir bhi usko sahi kehna bilkul galat nahi hoga ki agar aap use uthaakar dekhen baat ki jaati hai jo baad dikhai ja rahi hai aaj ka aaj ke daur mein kya main aapko bahut dikhane wali cheezen hain halaki jawab haqiqat jameen par ja kar dekhne hain toh pata chalega ki jo aaj bhi cheezen mentha kidhar ho rahi hai india ke andar uske 5 baar sambhog kiya ja raha hai agar aap kisi mobile ki baat karoge Micromax company join diya ki achi badi company hai unhone ko mobile launch kiya jo pura copy kiya hai china se toh unhone bana banaya mobile copy kar liya uske baad sahi se manaya ja rahe hain toh kehne ka matlab yah hai ki agar make in india ho raha hai toh likh kyon nahi raha hai kyonki aaj aap apne ghar ka koi bhi electronic saamaan khol kar dekh lijiye bahut bahut kam aisa hoga ki aapko mil jayegi haan yah make in india aur agar aap ek bahut hi abhi jo Mi bahut market mein bani hui hai my ke phone dekhe ja likha jata hai meri nindiya par phone ko khol kar dekhenge toh uske andar jitne bhi parts lage hain vaah sab import kiya hoon toh mujhe nahi lagta ki yah fake in india kehna galat hoga lekin kisi tarah se agar koshish ki jaaye toh feet in india hona chahiye speed of 1 in india vicky kitna aage tak jaati hai yah make in india campaign campaign bahut accha hai lekin us par amal nahi hai bilkul bhi

श्री राहुल गांधी जी ने जो मोदी जी के मेक इन इंडिया कैंपेन को सेकंड ईयर कहां है उस बात तो म

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए राहुल गांधी जी का यह कहना कि यह मेक इन इंडिया नाउ कर फेंक इन इंडिया है मेरे हिसाब से कुछ हद तक सही है और बहुत हद तक गलत भी है pk मेक इन इंडिया का भेजो इनिशिएटिव था जो नरेंद्र मोदी ने सप्टेंबर 2014 में शुरू किया था उसका मकसद था कि भारत को ट्रांसफर किया जा सके एक ग्लोबल डिजाइन और एक मैन्युफैक्चरिंग हब में यानी की चीजें भारत में ही बनाई जा सके और इसकी आप मुझसे खाने का भी tv की भी है उन्होंने मेक इन इंडिया का एक निश्चित तौर पर एक्टिव इनिशिएटिव दूसरी कंपनियों के साथ वर्ल्ड बैंक के साथ उन्होंने टाइप किया है इन्वेस्टर फैसिलिटेशन सेट बनाया गया है और जो MPSC सरकार संगीत है उनके आपकी लगातार बात की जा रही है तू और ऑन इन्वेस्टमेंट के लिए डिफेंस रेलवे स्पीच यह सब मैं भी सेक्टर की सबको ओपन किए जा रहे हैं 6 कोरिडोर इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बनाए गए हैं कंट्री के अंदर ऑल इंडस्ट्रियल सेट अप की जा रही है तो ऐसा तो नहीं है कि कुछ भी नहीं किया जा रहा तो अब राहुल गांधी ने + नरेंद्र मोदी के हमेशा अकेला ही बोलते हैं उन्होंने पत्रिका यूज़ करते हुए ट्वीट किया उस में उन्होंने लिखा गाय को एक अपडेट ऑन द स्टेट इन इंडिया प्रोग्राम राष्ट्र था लेकिन इंडिया तो ऐसा तो नहीं है किसी dp बहुत अच्छी बड़ी हो मेक इन इंडिया के बाद याद बहुत आ द प्रोग्रेस क्यों हमारे देश ने इस इनिशिएटिव के बाद लेकिन थोड़ी बहुत स्पेनिश तो आए हैं तो राहुल गांधी को ऐसे किसी से नहीं भूलनी चाहिए

dekhie chahiye rahul gandhi ji ka yeh kehna ki yeh make in india now kar fenk in india hai mere hisab se kuch had tak sahi hai aur bahut had tak galat bhi hai pk make in india ka bhejo inishietiv tha jo narendra modi ne september 2014 mein shuru kiya tha uska maksad tha ki bharat ko transfer kiya ja sake ek global design aur ek manufacturing hub mein yani ki cheezen bharat mein hi banai ja sake aur iski aap mujhse khane ka bhi tv ki bhi hai unhone make in india ka ek nishchit taur par active inishietiv dusri companion ke saath world bank ke saath unhone type kiya hai investor faisiliteshan set banaya gaya hai aur jo MPSC sarkar sangeet hai unke aapki lagatar baat ki ja rahi hai tu aur on investment ke liye defence railway speech yeh sab main bhi sector ki sabko open kiye ja rahe hain 6 koridor Industrial corridor banaye gaye hain country ke andar all Industrial set up ki ja rahi hai to aisa to nahi hai ki kuch bhi nahi kiya ja raha to ab rahul gandhi ne + narendra modi ke hamesha akela hi bolte hain unhone patrika use karte hue tweet kiya us mein unhone likha gaay ko ek update on d state in india program rashtra tha lekin india to aisa to nahi hai kisi dp bahut acchi badi ho make in india ke baad yaad bahut aa d progress chahiye kyu hamare desh ne is inishietiv ke baad lekin thodi bahut spanish to aaye hain to rahul gandhi ko aise kisi se nahi bhulni chahiye

देखिए राहुल गांधी जी का यह कहना कि यह मेक इन इंडिया नाउ कर फेंक इन इंडिया है मेरे हिसाब से

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!