इतना कार्य व इतना विकास करने के बाद अखिलेश यादव क्यों हारे?...


play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मुझे लगता है कि अखिलेश यादव अपने विकास कार्यों और डबल मिनट के लिए तो जाने जाते हैं लेकिन मुझे लगता है कि इतनी बड़ी हार अखिलेश यादव को हुई उसके पीछे बहुत सारे रीजन से जो मुझे रीजन सबसे बड़ा नजर आया तो वह यह था उनके पारिवारिक नजरिया उनकी पारिवारिक जो कल आई थी वह बाहर निकल कर आई दूसरा जिस तरह से उनके पारिवारिक झगड़े हुए वह मीडिया में आए तो मुझे लगता है कहीं ना कहीं 129 आपको जरूर धब्बा लगा उस वजह से मुझे लगता है कि बहुत ज्यादा नुकसान हुआ जिस तरह से मुलायम सिंह जी ने एक बार अखिलेश जी को पार्टी से निकाल दिया फिर पार्टी में ले लिया फिर निकाल दिया तो इस तरह की जो परिवार के अंदर कलावती मुझे लगता है उसका ला का इंतजार था कि उत्तर प्रदेश के अंदर समाजवादी पार्टी को सरकार कहानी पढ़ी थी दूसरा मैच में यह और कहना चाहूंगा जिस तरह से एक गलत मैसेज युवाओं में गया प्रदेश के अंदर गया कि जो व्यक्ति अब घर को नहीं समझ सकता हूं इतने बड़े प्रदेश को क्या संभालेगी मुझे लगता है इसका बहुत बड़ा फर्क पड़ा दूसरा मैच में यह कहना चाहूंगा राहुल गांधी जो एक देश के डूबते हुए जहाज उस जहाज में जो भी सवार बबलू भाई तुम मुझे लगता है कि क्योंकि सरकार समाजवादी पार्टी की थी उत्तर प्रदेश के अंदर बहुत और जो की पूर्ण बहुमत से आए थे मुझे नहीं लगता था कि समाजवादी पार्टी को किसी तरह के राहुल गांधी और कांग्रेस के सब अलार्म्स बनाने की जरूरत ही तो मुझे लगा उसका बहुत ज्यादा नेगेटिव इफेक्ट पड़ा इसी वजह से जो 230 235 सीटों वाली समाजवादी पार्टी थी वह जाकर 44 सीटों पर आ गई तो मुझे लगता है इसका सबसे बड़ा कारण एक पारिवारिक Laila दूसरा राहुल गांधी का साथ अगर इन दोनों में से कुछ भी नहीं होता तो मुझे लगता है डेफिनेटली हार हार जाते लेकिन इतनी बुरी हार नहीं आते डेट 2 प्लस सीटें जरूर निकालती समाजवादी पार्टी

dekhiye mujhe lagta hai ki akhilesh yadav apne vikas karyo aur double minute ke liye toh jaane jaate hain lekin mujhe lagta hai ki itni badi haar akhilesh yadav ko hui uske peeche bahut saare reason se jo mujhe reason sabse bada nazar aaya toh vaah yah tha unke parivarik najariya unki parivarik jo kal I thi vaah bahar nikal kar I doosra jis tarah se unke parivarik jhagde hue vaah media mein aaye toh mujhe lagta hai kahin na kahin 129 aapko zaroor dhabba laga us wajah se mujhe lagta hai ki bahut zyada nuksan hua jis tarah se mulayam Singh ji ne ek baar akhilesh ji ko party se nikaal diya phir party mein le liya phir nikaal diya toh is tarah ki jo parivar ke andar kalavati mujhe lagta hai uska la ka intejar tha ki uttar pradesh ke andar samajwadi party ko sarkar kahani padhi thi doosra match mein yah aur kehna chahunga jis tarah se ek galat massage yuvaon mein gaya pradesh ke andar gaya ki jo vyakti ab ghar ko nahi samajh sakta hoon itne bade pradesh ko kya sambhalegi mujhe lagta hai iska bahut bada fark pada doosra match mein yah kehna chahunga rahul gandhi jo ek desh ke dubte hue jahaj us jahaj mein jo bhi savar babaloo bhai tum mujhe lagta hai ki kyonki sarkar samajwadi party ki thi uttar pradesh ke andar bahut aur jo ki purn bahumat se aaye the mujhe nahi lagta tha ki samajwadi party ko kisi tarah ke rahul gandhi aur congress ke sab alarms banane ki zarurat hi toh mujhe laga uska bahut zyada Negative effect pada isi wajah se jo 230 235 seaton wali samajwadi party thi vaah jaakar 44 seaton par aa gayi toh mujhe lagta hai iska sabse bada karan ek parivarik Laila doosra rahul gandhi ka saath agar in dono mein se kuch bhi nahi hota toh mujhe lagta hai definetli haar haar jaate lekin itni buri haar nahi aate date 2 plus seaten zaroor nikalati samajwadi party

देखिए मुझे लगता है कि अखिलेश यादव अपने विकास कार्यों और डबल मिनट के लिए तो जाने जाते हैं ल

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  180
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने 25 वर्ष के इतिहास में समाजवादी पार्टी ने इतना खराब समय नहीं देखा 2017 पार्टी के लिए एक ही अच्छी खबर नहीं लाया पिछले 1 जनवरी को अखिलेश यादव राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया मुलायम सिंह यादव को संरक्षक तो बनाया परंतु बिना अधिकारों वाला मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश की पार्टी को अवैध और असंवैधानिक करार देते हुए आयोग से उसकी मान्यता रद्द करने की प्रार्थना की इस पारिवारिक टूटन का असर चुनावों पर भी आया समाजवादी पार्टी 403 में से महज 47 सीटें जीत की पार्टी में भी फूट पड़ गई इसका असर नगर पालिका और नगर पंचायत चुनावों पर पड़ा लेकिन इन सबके बावजूद अखिलेश ने अपनी पार्टी पर पूर्ण नियंत्रण रखा है और उसे फिर से मजबूत करने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे हैं

apne 25 varsh ke itihas mein samajwadi party ne itna kharab samay nahi dekha 2017 party ke liye ek hi achi khabar nahi laya pichle 1 january ko akhilesh yadav rashtriya adhyaksh chuna gaya mulayam Singh yadav ko sanrakshak toh banaya parantu bina adhikaaro vala mulayam Singh yadav ne akhilesh ki party ko awaidh aur asanvaidhanik karar dete hue aayog se uski manyata radd karne ki prarthna ki is parivarik tutan ka asar chunavon par bhi aaya samajwadi party 403 mein se mahaj 47 seaten jeet ki party mein bhi feet pad gayi iska asar nagar palika aur nagar panchayat chunavon par pada lekin in sabke bawajud akhilesh ne apni party par purn niyantran rakha hai aur use phir se majboot karne ke liye purjor koshish kar rahe hain

अपने 25 वर्ष के इतिहास में समाजवादी पार्टी ने इतना खराब समय नहीं देखा 2017 पार्टी के लिए ए

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!